बेटे ने मांगे पैसे तो 3 लाख रुपए की सुपारी देकर उसे मरवा दिया

Father gets son killed for 3 lacsकोरबा। दादी को मुआवजे में एसईसीएल से 28 लाख रुपए मिले थे। पोते ने उसमें अपना जायज हिस्सा मांगा। पर दूसरी पत्नी बना चुके बाप को यह बात रास नहीं आई। उसने तीन लाख रुपए की सुपारी देकर अपने पुत्र का कत्ल अपनी आंखों के सामने करवा दिया। घटना कोरबा के भिलाई बाजार क्षेत्र का है। उमेंदीभाठा में रहने वाले फोटोलाल अनंत ने अपनी पहली पत्नी संतरा बाई व पुत्र विनोद को अलग कर दिया था। वह अपनी दूसरी पत्नी सरिता और एक बेटी के साथ रहता था। फोटोलाल के पिता फिरतराम ने एसईसीएल को कुछ जमीन दी थी। एसईसीएल ने हाल ही में इसके मुआवजे के तौर पर 28 लाख रुपए फोटोलाल की मां मेहतरीन बाई के खाते में ट्रांसफर किया था। चूंकि यह दादा की संपत्ति थी, पहली पत्नी से उत्पन्न पुत्र विनोद ने अपना हिस्सा मांगा। फोटोलाल और सरिता ने उसे रास्ते से हमेशा के लिए हटाने का फैसला कर लिया।
फोटोलाल ने सरिता और अपने दामाद धीरेंद्र कुमार के साथ मिलकर विनोद को हमेशा के लिए रास्ते से हटाने की योजना बनाई। धीरेंद्र ने रेंकी के ललमटिया में रहने वाले दो शातिर अपराधी दिनेश चौहान व राजा पटेल को 3 लाख रुपए के ऐवज में इस काम के लिए राजी कर लिया। उन्होंने विनोद को सरिता के यहां बुलाया और सरिये से पीट-पीट कर उसकी हत्या कर दी।
इसके बाद लाश को बोरे में भरकर घर पर ही रखे रहे। देर शाम 7 बजे शव को बाइक से बाम्हनपाट ले गए और उसे ठिकाने लगा दिया। इस बीच फोटोलाल, सौतेली मां सरिता, दामाद धीरेंद्र और बहन रेशम बाई पति रामनिहोर कुर्रे, दादी महेतरीन बाई ने घर में बिखरे खून को धो-पोंछकर साफ कर दिया। ऊपर से गोबर लीप दिया।
ऐसे खुली हत्या की कहानी : विनोद की मां ने उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखा दी थी पर पुलिस बहुत देर से हरकत में आई। पुलिस ने दादी का खाता चेक किया तो घटना दिनांक से एक दिन पहले उससे तीन लाख रुपए निकाले जाने की खबर मिली। पुलिस ने इसके बाद फोटोलाल से पूछताछ की तो वह गोलमोल जवाब देता रहा। उसने कहा कि विनोद को देने के लिए रकम निकाले थे पर वह नहीं आया। वह यह नहीं बता पाया कि राशि कहां गई। इसपर पुलिस ने उसे वायदा माफ गवाह बनाने का झांसा दिया और थोड़ी सख्ती करते ही उसने इस रोमहर्षक कहानी बयान कर दी।
सीएसपी दर्री पुष्पेंद्र बघेल ने बताया कि मुआवजे की राशि को लेकर पिता और पुत्र के बीच विवाद चल रहा था। हत्या की घटना के एक दिन पहले 9 जुलाई को भी विनोद घर आया था और किसी भी हाल में पैसे देने पड़ेंगे, इसकी चेतावनी देकर गया था। फोटोलाल ने 3 लाख की सुपारी दे हत्या करा दी। शव बरामद करने की कोशिश की जा रही, साथ ही फरार सुपारी किलर की तलाश भी की जा रही।

WhatsAppTwitterGoogle GmailShare

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>