स्वरुपानंद महाविद्यालय में छात्रपरिषद का गठन

भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में वाणिज्य, गणित एवं कम्प्यूटर परिषद् का गठन किया गया। साथ ही साईबर क्राईम एवं स्नातक के बाद सरकारी नौकरी के संभावना विषय पर अतिथि व्याख्यान का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि छत्तीसगढ़ पुलिस के साईबर क्राईम इंचार्ज संकल्प रायभिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में वाणिज्य, गणित एवं कम्प्यूटर परिषद् का गठन किया गया। साथ ही साईबर क्राईम एवं स्नातक के बाद सरकारी नौकरी के संभावना विषय पर अतिथि व्याख्यान का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि छत्तीसगढ़ पुलिस के साईबर क्राईम इंचार्ज संकल्प राय एवं विशिष्ट अतिथि 4 डी के निदेशक बालाकुमारन एवं सदस्य श्रेयस थे। अध्यक्षता प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने की। भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में वाणिज्य, गणित एवं कम्प्यूटर परिषद् का गठन किया गया। साथ ही साईबर क्राईम एवं स्नातक के बाद सरकारी नौकरी के संभावना विषय पर अतिथि व्याख्यान का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि छत्तीसगढ़ पुलिस के साईबर क्राईम इंचार्ज संकल्प रायप्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने परिषद् सदस्यों को पद की शपथ दिलाते हुये कहा कि कुछ नया करने का संकल्प लें। हमारा ज्ञान मात्र टेक्नोलॉजी तक सीमित न हो उन्होंने परिषद् का नाम मुख्य अतिथि के नाम पर टेक्नो संकल्प रखने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि सकारात्मक सोच के साथ अपने लक्ष्य को प्राप्त किया जा सकता है।
श्री संकल्प राय ने छात्रों के साथ अपने जीवन के अनुभव को साझा करते हुये कहा कि हमें अपने अंदर की क्षमता को पहचानना होगा तभी हमारा और देश का विकास संभव है। असफलता सफलता की पहचान के लिये जरुरी है। जिसमें बार बार असफल होने का साहस है वही सफल हो सकता है। साईबर क्राईम के बारे में छात्रों की जिज्ञासा को शांत करते हुए उन्होंने हैंकिंग तथा इससे जुड़े कोर्सेस की जानकारी दी।
स्नातक के बाद सरकारी नौकरी की संभावना विशय पर अपने उद्बोधन में 4 डी के निदेशक बालाकुमारन तथा श्रेयस ने स्नातक के बाद नौकरी की संभावनाओं एवं तैयारी के बारे में बताते हुए कहा 2017-18 में सरकारी नौकरी की बाढ़ आने वाली है। बैंक, एस.एस.सी. रेल्वे आदि क्षेत्रों में नौकरी की अपार संभावनायें हैं। अगर हम रीजनिंग, गणित, अंग्रेजी, सामान्य ज्ञान एवं कम्पयूटर की तैयारी अच्छे से करें तो चयन निश्चित है। हमें दूसरों से कुछ बेहतर करना है। कम समय में ज्यादा प्रश्न हल करने से चयन की संभावना बढ़ जाती है। इसके लिए सतत प्रयास करते रहने की आवश्यकता है। आपमें जुनून होना चाहिए क्यों कर रहा हूँ का उत्तर है तो कैसे करना है का उत्तर मिल जाता है।
परिषद् के सदस्यों के नाम इस प्रकार है:- गणित – अध्यक्ष अविनाश देशमुख, सचिव विद्या देवी, सहसचिव जीनम बानो, कोषाध्यक्ष सानिध्य शर्मा, वाणिज्य – अध्यक्ष मनीष उबरानी, उपाध्यक्ष श्वेता मिश्रा, सचिव सुधा गुप्ता, सहसचिव आदित्य सोनी, कोषाध्यक्ष श्रुति अग्रवाल एवं कम्प्यूटर साइंस में अध्यक्ष अचर्ना दुबे, उपाध्यक्ष रोशनी खातून, सचिव मौसमी डहारे, सहसचिव जीनत, कोषाध्यक्ष सानिध्य। सामान्य सदस्यों में दीक्षा साहू, रविकांत, सोनाली, गविर्ता अग्रवाल, प्राची, चेतना, वीना होयानी, विपुल होयानी, प्रियंका चौहान, प्रतीक सिंग, नेहा रेड्डी, रवि कुमार, वंदना मिश्रा, दीपराज ओझा, आशीष आनंद, प्राची गजपाल एवं मनीष साहू शामिल हैं।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>