स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में मनाया गया पुस्तक वाचन दिवस

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppGoogle+Share

भिलाई। विद्यार्थियों को पुस्तककालय की ओर आकर्षित करने के उद्देश्य से स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में पुस्तक वाचन दिवस का आयोजन किया गया। ग्रंथपाल श्रीमती वनिता महाले ने बताया साहित्य, अभिप्रेरक, सामान्य ज्ञान, समसमायिक घटना चक्र छ.ग. साहित्य व संस्कृति आदि से संबंधित पुस्तकों को डिसप्ले किया गया। जिससे विद्यार्थी प्राध्यापक आमंत्रित स्टेक होल्डर विषय के अतिरिक्त दूसरी पुस्तकें पढ़े व ग्रंथालय में ज्यादा समय व्यतीत करने का आदत डालें। भिलाई। विद्यार्थियों को पुस्तककालय की ओर आकर्षित करने के उद्देश्य से स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में पुस्तक वाचन दिवस का आयोजन किया गया। ग्रंथपाल श्रीमती वनिता महाले ने बताया साहित्य, अभिप्रेरक, सामान्य ज्ञान, समसमायिक घटना चक्र छ.ग. साहित्य व संस्कृति आदि से संबंधित पुस्तकों को डिसप्ले किया गया। जिससे विद्यार्थी प्राध्यापक आमंत्रित स्टेक होल्डर विषय के अतिरिक्त दूसरी पुस्तकें पढ़े व ग्रंथालय में ज्यादा समय व्यतीत करने का आदत डालें। भिलाई। विद्यार्थियों को पुस्तककालय की ओर आकर्षित करने के उद्देश्य से स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में पुस्तक वाचन दिवस का आयोजन किया गया। ग्रंथपाल श्रीमती वनिता महाले ने बताया साहित्य, अभिप्रेरक, सामान्य ज्ञान, समसमायिक घटना चक्र छ.ग. साहित्य व संस्कृति आदि से संबंधित पुस्तकों को डिसप्ले किया गया। जिससे विद्यार्थी प्राध्यापक आमंत्रित स्टेक होल्डर विषय के अतिरिक्त दूसरी पुस्तकें पढ़े व ग्रंथालय में ज्यादा समय व्यतीत करने का आदत डालें। प्राचार्या डॉ. हंसा शुक्ला ने आयोजकों को बधाई देते हुये कहा आज इलेक्ट्रॉनिक सोशल मीडिया के आ जाने से युवा वर्ग वॉटसएप्स, फेसबुक, ट्विटर आदि से जुड़े हुए है। कोई पुस्तक पढऩी हो या आलेख देखना हो तो विद्यार्थी तुरंत नेट का सहारा लेते हैं। इससे पुस्तकालय में आने वाले विद्यार्थियों की संख्या कम होती जा रही है। विद्यार्थियों को लगता है पुस्तकालयों में केवल विषय की पुस्तकों का संग्रह होता है इस प्रकार के आयोजनों से विद्यार्थी साहित्यिक मोटिवेशन अन्य पत्र-पत्रिकाओं को भी पुस्तकालय में पढ़ सकते हैं।
महाविद्यालय के सभी शैक्षणिक एवं अशैक्षणिक स्टॉफ व लगभग 200 विद्यार्थियों ने पुस्तक वाचन दिवस में पुस्तकालय में आकर अपनी रुचि की पुस्तकें पढ़ी व पुस्तकों की विषय-वस्तु पर विचार विमर्श किया। पुस्तक पठन दिवस के अवसर पर मोहन राकेश के नाटक, पतंजली योग की पुस्तकें, छ.ग. साहित्य, पंडवानी छ.ग. भाषा का सामथ्र्य, ए.पी.जी. अब्दुल कलाम की विंग ऑफ फायर, शिवखेड़ा की चेतन भगत की पुस्तकें विशेष सराही गई। विद्यार्थियों ने कहा उन्हें पता ही नहीं था इतना अच्छा संग्रह पुस्तकालय में हैं। आमंत्रित सदस्यों में ओमप्रकाश जायसवाल, रविशंकर कलौसिया, मुकेश कुमार भटनागर, प्रीति अजय बेहरा, डॉ. प्रशान्त कानस्कर आदि उपस्थित हुये। कार्यक्रम को सफल बनाने में सहायक ग्रंथपाल वत्सला साहू ने विशेष योगदान दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>