भिलाई। एमजे कालेज जुनवानी में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के उपलक्ष्य में आज प्रात: सामूहिक रूप से आसन और प्राणायाम किये गये। महाविद्यालय की डायरेक्टर More »

भिलाई। संतोष रूंगटा ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन्स कैम्पस में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर विभिन्न आयोजन किये गये। छात्राओं तथा महिला फैकल्टीज ने इस अवसर पर दीवार More »

भिलाई। अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर अखिल विश्व गायत्री परिवार के महिला प्रकोष्ठ दीया वुमन विंग छत्तीसगढ़ द्वारा नारी सशक्तिकरण दिवस के रूप में More »

भिलाई। केबिनेट मंत्री प्रेम प्रकाश पाण्डेय ने आज सोनी लिव पर प्रस्तुत सुपर डांसर चैप्टर-2 की फाइनलिस्ट शगुन सिंह परी के लिए वोट मांगा। श्री More »

रायपुर। करियर और परिवार के बीच बेहतर सामंजस्य बैठाने के लिए बेटियों को भी अपना नजरिया बदलना होगा। टाइम मैनेजमेंट, पाजीटिव सोच और तनाव कम More »

 

Daily Archives: February 20, 2018

सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद बढ़ रहे दुष्कर्म के दर्ज मामले

भिलाई। बचपन बचाओ आंदोलन की याचिका के बाद सुप्रीम कोर्ट के निर्देश का परिपालन हो रहा है। इसलिए देश भर में दुष्कर्म के दर्ज मामलों में इजाफा हो रहा है। नाबालिगों को भगाकर शादी करने और घर बसाने वालों के खिलाफ भी अब दुष्कर्म के मामले दर्ज किए जा रहे हैं। ऐसे मामलों की संख्या कुल दुष्कर्म के मामलों के लगभग 30 फीसदी हैं। वर्ष 2013 में सुप्रीम कोर्ट ने बचपन बचाओ आंदोलन की याचिका पर सुनवाई करते हुए देश के सभी प्रदेशों में नाबालिगों की गुमशुदगी के मामलों में अपहरण दर्ज कर उनकी पतासाजी करने कहा था।

minor rape diplay pic

भिलाई। बचपन बचाओ आंदोलन की याचिका के बाद सुप्रीम कोर्ट के निर्देश का परिपालन हो रहा है। इसलिए देश भर में दुष्कर्म के दर्ज मामलों में इजाफा हो रहा है। नाबालिगों को भगाकर शादी करने और घर बसाने वालों के खिलाफ भी अब दुष्कर्म के मामले दर्ज किए जा रहे हैं। ऐसे मामलों की संख्या कुल दुष्कर्म के मामलों के लगभग 30 फीसदी हैं। वर्ष 2013 में सुप्रीम कोर्ट ने बचपन बचाओ आंदोलन की याचिका पर सुनवाई करते हुए देश के सभी प्रदेशों में नाबालिगों की गुमशुदगी के मामलों में अपहरण दर्ज कर उनकी पतासाजी करने कहा था। 

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

दंतेवाड़ा की सुदरी के लिए कोरबा से आया दुर्लभ बॉम्बे ब्लड

दंतेवाड़ा। बॉम्बे ब्लड ग्रुप का एक और मरीज दंतेवाड़ा में मिला है। 24 घंटे के भीतर कोरबा से ब्लड अरेंज किया गया। ब्लड बैंक के पैथोलाजिस्ट डॉ. दीपेंद्र भदौरिया के मुताबिक दस हजार में किसी एक में बॉम्बे ब्लड ग्रुप होता है। छग में अब तक इस ग्रुप के 9 और भारत में 178 लोग ही चिन्हित हो पाए हैं। पहली बार इस ग्रुप का मरीज वर्ष 1952 में बॉम्बे के एक हॉस्पिटल में मिला था। इसलिए इस ब्लड ग्रुप का नाम बॉम्बे रखा गया।दंतेवाड़ा। बॉम्बे ब्लड ग्रुप का एक और मरीज दंतेवाड़ा में मिला है। 24 घंटे के भीतर कोरबा से ब्लड अरेंज किया गया। ब्लड बैंक के पैथोलाजिस्ट डॉ. दीपेंद्र भदौरिया के मुताबिक दस हजार में किसी एक में बॉम्बे ब्लड ग्रुप होता है। छग में अब तक इस ग्रुप के 9 और भारत में 178 लोग ही चिन्हित हो पाए हैं। पहली बार इस ग्रुप का मरीज वर्ष 1952 में बॉम्बे के एक हॉस्पिटल में मिला था। इसलिए इस ब्लड ग्रुप का नाम बॉम्बे रखा गया। रक्त की व्यवस्था छत्तीसगढ़ ब्लड डोनर फाउंडेशन के सहयोग से किया गया। फाउंडेशन के पास इस ग्रुप के 8 डोनर हैं।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare