भिलाई। श्री शंकराचार्य महाविद्यालय में गणेश चतुर्थी एवं विश्वकर्मा जयंती के अवसर पर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। इस अवसर पर स्नेह संपदा, भिलाई More »

भिलाई। सिविक सेन्टर की चौपाटी में लगी विशाल भारतीय सिल्क एक्सपो प्रदशर्नी का शनिवार शाम यंगिस्तान के चेयरमैन मनीष पाण्डेय ने विधिवत उद्घाटन किया। उनके More »

न्यूकैसल। कॉमनवेल्थ फेंसिंग चैम्पियनशिप, न्युकैसल, इंग्लैंड में भारत ने 03 स्वर्ण, 02 रजत एवं 08 कांस्य पदक सहित कुल 13 पदक हासिल किया। पदक तालिका More »

भिलाई। साहित्य सम्राट मुंशी प्रेमचंद की जयंती पर उनकी कृतियों की चर्चा करना और इसमें युवा पीढ़ी को शामिल करना प्रशंसनीय है। उनकी रचनाधर्मिता से More »

भिलाई। स्वच्छ भारत समर इंटर्नशिप कार्यक्रम के तहत श्रीशंकराचार्य महाविद्यालय ने ग्राम खपरी में एक वैचारिक आंदोलन खड़ा कर दिया है। महाविद्यालय के रोटरैक्ट क्लब, More »

 

Daily Archives: April 19, 2018

संचिता ने किया अहिल्या की पीड़ा का मार्मिक वर्णन

भिलाई। नृत्यधाम व कृष्णा पब्लिक स्कूल के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित राममूर्ति भागावतार उत्सव-2018 की पहली शाम कोलकाता की ओडिशी गुरू संचिता भट्टाचार्य ने अपनी प्रसिद्ध कृति अहिल्या को प्रस्तुत किया। इस नृत्य में संचिता ने देवी अहिल्या की खूबसूरती का मोहक चित्रण करने के साथ ही, इंद्र का उसपर मोहित होना, ऋषि गौतम का रूप धारण कर उसे धोखा देना और देवी अहिल्या द्वारा भ्रम में स्वयं को ऋषि रूपी इंद्र के आगे समर्पण की खूबसूरत प्रस्तुति दी।भिलाई। नृत्यधाम व कृष्णा पब्लिक स्कूल के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित राममूर्ति भागावतार उत्सव-2018 की पहली शाम कोलकाता की ओडिशी गुरू संचिता भट्टाचार्य ने अपनी प्रसिद्ध कृति अहिल्या को प्रस्तुत किया। इस नृत्य में संचिता ने देवी अहिल्या की खूबसूरती का मोहक चित्रण करने के साथ ही, इंद्र का उसपर मोहित होना, ऋषि गौतम का रूप धारण कर उसे धोखा देना और देवी अहिल्या द्वारा भ्रम में स्वयं को ऋषि रूपी इंद्र के आगे समर्पण की खूबसूरत प्रस्तुति दी।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

नृत्यधाम के राममूर्ति भागावतार उत्सव-2018 का रंगारंग आगाज

भिलाई। नृत्यधाम एवं कृष्णा पब्लिक स्कूल नेहरू नगर के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित 12वें राममूर्ति भागावतार उत्सव-2018 का रंगारंग आगाज अक्षय तृतीया के दिन हो गया। कार्यक्रम का आरंभ ख्यातिलब्ध नृत्य संस्था नृत्यथि कलाक्षेत्रम के बच्चों के समूह नृत्य से हुआ। नृत्यगुरू पार्श्वनाथ उपाध्ये, गुरू अमृता दास व गुरू संचिता भट्टाचार्य ने अपनी भावपूर्ण प्रस्तुतियों से कार्यक्रम को चार चांद लगा दिये। संगत प्रसिद्ध मृदंग वादक तंजावुर आर. केशवन ने अपने साथियों के साथ दी।भिलाई। नृत्यधाम एवं कृष्णा पब्लिक स्कूल नेहरू नगर के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित 12वें राममूर्ति भागावतार उत्सव-2018 का रंगारंग आगाज अक्षय तृतीया के दिन हो गया। कार्यक्रम का आरंभ ख्यातिलब्ध नृत्य संस्था नृत्यथि कलाक्षेत्रम के बच्चों के समूह नृत्य से हुआ। नृत्यगुरू पार्श्वनाथ उपाध्ये, गुरू अमृता दास व गुरू संचिता भट्टाचार्य ने अपनी भावपूर्ण प्रस्तुतियों से कार्यक्रम को चार चांद लगा दिये। संगत प्रसिद्ध मृदंग वादक तंजावुर आर. केशवन ने अपने साथियों के साथ दी।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

पार्श्वनाथ की जीवंत प्रस्तुति ने प्रेक्षकों को भावविभार कर दिया

भिलाई। नृत्यधाम व कृष्णा पब्लिक स्कूल के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित राममूर्ति भागावतार उत्सव-2018 की पहली शाम बेंगलुरू के पार्श्वनाथ उपाध्ये की जीवंत प्रस्तुति ने प्रेक्षकों को भाव विभोर कर दिया। पाश्र्वनाथ ने श्रीहनुमान के जीवन के प्रसंगों को मंच पर जीवंत बना दिया। उनकी भाव भंगिमा तथा मुद्राओं ने एक तरफ जहां लोगों को भाव विह्वल किया वहीं वानर कौतुक के दृश्यों ने बच्चों को हर्षोल्लास से भर दिया। बालक हनुमान द्वारा सूर्य का भक्षण करने से लेकर श्रीराम के दर्शन की उनकी अभिलाषा एवं अंत में सीना चीर कर अपने प्रभु श्रीराम की प्रतिछवि दिखाने तक की इस लंबी प्रस्तुति ने दशर्कों को मंत्रमुग्ध कर दिया। तीव्र गति के इस नृत्य में हर्षित श्रीहनुमान ने जहां लंबी छलांगें लगार्इं वहीं कार्टव्हील के मिश्रण ने इसे नयनाभिराम बना दिया।भिलाई। नृत्यधाम व कृष्णा पब्लिक स्कूल के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित राममूर्ति भागावतार उत्सव-2018 की पहली शाम बेंगलुरू के पार्श्वनाथ उपाध्ये की जीवंत प्रस्तुति ने प्रेक्षकों को भाव विभोर कर दिया। पाश्र्वनाथ ने श्रीहनुमान के जीवन के प्रसंगों को मंच पर जीवंत बना दिया। उनकी भाव भंगिमा तथा मुद्राओं ने एक तरफ जहां लोगों को भाव विह्वल किया वहीं वानर कौतुक के दृश्यों ने बच्चों को हर्षोल्लास से भर दिया।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare