भिलाई। श्री शंकराचार्य महाविद्यालय में गणेश चतुर्थी एवं विश्वकर्मा जयंती के अवसर पर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। इस अवसर पर स्नेह संपदा, भिलाई More »

भिलाई। सिविक सेन्टर की चौपाटी में लगी विशाल भारतीय सिल्क एक्सपो प्रदशर्नी का शनिवार शाम यंगिस्तान के चेयरमैन मनीष पाण्डेय ने विधिवत उद्घाटन किया। उनके More »

न्यूकैसल। कॉमनवेल्थ फेंसिंग चैम्पियनशिप, न्युकैसल, इंग्लैंड में भारत ने 03 स्वर्ण, 02 रजत एवं 08 कांस्य पदक सहित कुल 13 पदक हासिल किया। पदक तालिका More »

भिलाई। साहित्य सम्राट मुंशी प्रेमचंद की जयंती पर उनकी कृतियों की चर्चा करना और इसमें युवा पीढ़ी को शामिल करना प्रशंसनीय है। उनकी रचनाधर्मिता से More »

भिलाई। स्वच्छ भारत समर इंटर्नशिप कार्यक्रम के तहत श्रीशंकराचार्य महाविद्यालय ने ग्राम खपरी में एक वैचारिक आंदोलन खड़ा कर दिया है। महाविद्यालय के रोटरैक्ट क्लब, More »

 

Daily Archives: July 6, 2018

ब्रह्मकुमारीज का स्व परिवर्तन शिविर 8 एवं 9 जुलाई को

Bramhakumarisभिलाई। प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय द्वारासेक्टर-7, सड़क-2 के पीस आॅडिटोरियम में दो दिवसीय स्व परिवर्तन योग तपस्या का कार्यक्रम 8 एवं 9 जुलाई को आयोजित किया गया है। कार्यक्रम प्रात: 6 बजे प्रारंभ हो जाएगा। राजस्थान के जयपुर से ब्रह्माकुमारीज संस्थान की वरिष्ठ योग विशेषज्ञ राजयोगिनी सुषमा दीदी का इस्पात नगरी भिलाई में प्रथम आगमन है। आपने अपनी बाल्यकाल और स्नातक की पढ़ाई पंजाब से की है। आप उच्च शिक्षित एवं सम्पन्न परिवार से रही है। आप सन् 1971 से समर्पित रूप से प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय में अपनी सेवाएं दे रही है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

श्रीशंकराचार्य महाविद्यालय ने मनाया अपना 21वां स्थापना दिवस

SSMV Foundation Dayभिलाई। श्रीशंकराचार्य महाविद्यालय परिवार ने अपना 21वां स्थापना दिवस हर्षोल्लास के साथ मनाया। इस अवसर पर अनेक उल्लासपूर्ण प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया तथा सत्र 2017-18 में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले टीचिंग एवं नॉन टीचिंग स्टाफ को सम्मानित भी किया गया। स्टार परफॉर्मर्स आॅफ द ईयर का पुरस्कार टीचिंग में डॉ अर्चना झा, ठाकुर देवराज सिंह, तथा नॉन टीचिंग में राजकुमार वर्मा एवं रमेश पासवान को प्रदान किया गया। उन्हें महाविद्यालय की प्राचार्य सह निदेशक डॉ रक्षा सिंह एवं निदेशक जे दुर्गा प्रसाद राव ने पुरस्कार प्रदान किये।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

‘कल्पतरू’ से सकारात्मकता के बीज बो रहा स्वरूपानंद महाविद्यालय परिवार

Swaroopanand Saraswati Mahavidyalayaभिलाई। आज जब लोग थोड़ी अतिरिक्त कमाई के लिए ड्यूटी के बाद भी कोई न कोई ऊठापटक करते रहते हैं तब ‘कल्पतरू’ जैसी इकाइयां आशा जगाती हैं। ‘कल्पतरू’ निजी क्षेत्र में कार्यरत शिक्षकों की एक ऐसी इकाई है जो अपने वेतन में से थोड़ा थोड़ा अंशदान कर सीमित साधनों वाले बच्चों की मदद करती है, पर्यावरण के प्रति लोगों को जागरूक करती है। ‘कल्पतरू’ इकाई स्वरूपानंद महाविद्यालय के शैक्षणिक स्टॉफ के आर्थिक सहयोग से चलाई जाने वाली संस्था है। इस संस्था के माध्यम से सामाजिक व आर्थिक रूप से पिछड़े सामाजिक सहभागिता व पर्यावरण संरक्षण संबंधी कार्य किये जाते है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare