स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में हिन्दी सप्ताह का आयोजन

Hindi week at Swaroopanand Mahavidyalayaभिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद महाविद्यालय में फेरो स्क्रैप निगम लिमिटेड एवं हिन्दी विभाग के संयुक्त तत्वावधान में हिन्दी सप्ताह का आयोजन किया गया। समारोह के अंतिम दिवस साहित्य परिषद् का गठन एवं प्रश्नमंच कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि छगनलाल नागवंशी राजभाषा अधिकारी एफएसएनएल थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने की। कार्यक्रम के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुये कार्यक्रम संयोजिका डॉ. श्रीमती सुनीता वर्मा विभागाध्यक्ष हिन्दी ने कहा हिन्दी हमारी संस्कृति, संवेदना व सपनों की भाषा है। प्रश्न मंच में विद्यार्थियों को राजभाषा हिन्दी से संबंधित प्रश्न पूछे गये। पर्यायवाची शब्द, विलोमार्थी शब्द उपसर्ग प्रत्यय, संधि, दोहे पूरा करो विभिन्न विद्वानों के हिन्दी संबंधि विचार, राजभाषा अधिनियम चित्र देख मुहावरे पहचाने आदि प्रश्न पूछे गये। विद्यार्थियों ने कार्यक्रम में उत्साहपूर्वक भाग लिया।
श्री नागवंशी ने कहा कि स्वरुपानंद महाविद्यालय सरस्वती का मंदिर है। हिन्दी विभाग की सराहना करते हुये कहा रचनात्मक क्षेत्र में विभाग की रुचि अद्भुत है। आज मुझे ऐसा लगा आज मैं कौन बनेगा करोड़पति कार्यक्रम में बैठा हूं। भाषा संवाद का सशक्त माध्यम है हिन्दी बोलने वाले हमें हर जगह मिल जाते है सबसे ज्यादा बोलने वाली भाषा के लोग हेय दृष्टि से देखते है यह अत्यंत दुख की बात है। आज लोग आवेदन पत्र भी हिन्दी में सही तरीके से नहीं लिख पाते। आज इस कार्यक्रम को देख मैं आाशान्वित हूं आज के विद्यार्थी हमारी संस्कृति व भाषा को लेकर आगे बढ़ेंगे। हिन्दी को संस्कृति की संवाहिका बनायेंगे।
प्राचार्य डॉ हंसा शुक्ला ने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में कहा पिछले पंद्रह दिन से वर्मा मैम ने जो मेहनत की आज वह फलीभूत हुआ है। दूसरे देश के लोग जब हिन्दी बोलते हैं, दूसरे हमारी भाषा को सम्मान देते है तो गर्व महसूस होता है पर स्वयं अपनी भाषा बोलने में झिझक महसूस करते है। अंग्रेजी भाषा हमारी नहीं है उसे बोलने नहीं आता तो शर्म महसूस न करें। हिन्दी का झगड़ा अंग्रेजी से नहीं है झगड़ा भाव की है जब तक हम हिन्दी को बोलने में गर्व महसूस नहीं करेंगे। तब तक हम उसे राष्ट्रभाषा के रुप में प्रतिष्ठित नहीं कर सकते है।
इन सात दिनों में हिन्दी विभाग द्वारा जीएसटी पर कार्टूनिंग, पत्र लेखन, डेंगू से बचाव पर स्लोगन, कोलॉज आदि प्रतियोगिताएं रखी गर्इं। कोलाज में विद्यार्थियों ने स्व. अटलजी की तस्वीरों के कोलाज बनाए। 19 को पर्व एवं उत्सव पर आधारित कहानी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया तथा अंतिम दिन 20 सितम्बर को प्रश्नमंच का आयोजन किया गया।
हिन्दी विभाग की वर्ष भर चलने वाली विविध गतिविधियों का संचालन करने के लिये साहित्य परिषद् का गठन किया गया जिसके सदस्य निम्न है:- अध्यक्ष श्वेता मिश्रा, बी.कॉम तृतीय, उपाध्यक्ष नेहा चंद्राकर, बीएससी द्वितीय वर्श, सचीव प्रिया अग्रवाल – बीबीए तृतीय सेमेस्टर, सहसचीव गर्विता अग्रवाल, बीएससी द्वितीय, सदस्य बी. लावण्या, बीसीए प्रथम, राजश्री बीबीए प्रथम, मोनिका त्रिपाठी, बीबीए तृतीय सेमेस्टर, रूचिका चक्रवर्ती, बी.कॉम द्वितीय, गीतांजली साहू, बीएससी है।
कार्यक्रम में निर्णायक के रूप में डॉ. रजनी मुद्लियार, (विभागाध्यक्ष रसायन विभाग), श्रीमती आरती गुप्ता (विभागाध्यक्ष प्रबंधन विभाग) डॉ. पूनम निकुंभ, (विभागाध्यक्ष शिक्षा विभाग), डॉ. तृषा शर्मा, (एसोसिएट प्रोफेसर, शिक्षा विभाग), डॉ. अजीता सजिथ, (स.प्रा. वाणिज्य), श्रीमती मीना मिश्रा (विभागाध्यक्ष गणित), डॉ. शिवानी शर्मा (विभागाध्यक्ष बायोटेक), श्रीमती नीलम गांधी (विभागाध्यक्ष वाणिज्य) उपस्थित हुये। कार्यक्रम में मंच संचालन श्रीमती नीलम गांधी, विभागाध्यक्ष वाणिज्य व धन्यवाद ज्ञापन डॉ. सुनीता वर्मा (विभागाध्यक्ष हिन्दी) ने दिया।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>