स्वरुपानंद सरस्वती महाविद्यालय में छात्रसंघ का शपथ ग्रहण संपन्न

SSSSMV Students Unionभिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय भिलाई में छात्रसंघ का शपथ ग्रहण समारोह हेमचंद यादव विश्वविद्यालय दुर्ग के कुलसचिव डॉ. राजेश पांडेय के मुख्य आतिथ्य में संपन्न हुआ। कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री गंगाजली शिक्षण समिति के अध्यक्ष आईपी मिश्रा ने की। प्रोटोकॉल अधिकारी प्राचार्य डॉ हंसा शुक्ला ने बच्चों को शपथ दिलाई। कुलसचिव डॉ. राजेश पांडेय ने अपने उद्बोधन में कहा महाविद्यालय छात्रसंघ लोकतंत्र की पाठशाला होता है इससे वे प्रजातंत्र का पाठ सीखते हैं व निर्वाचन पद्धति से परिचित होते हैं। आज लीडरशिप की अवधारणा बदल गई है, पहले राजा महाराजा प्रतिनिधित्व करते थे वे मात्र अपने राज्य की सीमाओं को आगे बढ़ाते थे, फिर चुने हुये प्रतिनिधि को लीडर कहा जाने लगा। SSSSMV Students Union Oath Ceremonyआज जब लीडरशिप का मतलब हर क्षेत्र में प्रतिनिधित्व करना है। लीडरशिप का मतलब अपने विचारों को दूसरों पर डालना नहीं है। बाबा आम्टे, महात्मा गांधी, विनोबा भावे ने कभी चुनाव नहीं जीते पर वे श्रेष्ठ लीडर थे, उन्होंने समाज को बहुत कुछ दिया। अच्छा लीडर अपने समाज के हित में काम करता है जो दूसरों को अपनी बात मानने के लिये कहते हैं तब आप मात्र डिटेक्टर होते हैं।
आपको लीडर बनने के लिये चुनाव लड़ने की जरूरत नहीं है आप अगर अपने महाविद्यालय में दस पेड़ लगाते हैं उसकी देखभाल करते हैं आपको देखकर कुछ विद्यार्थी पेड़ लगाते व उसकी देखभाल करते है तब भी आप नेतृत्व कर रहे होते हैं। आज सिर्फ ज्ञान नहीं अपितु ओवर आॅल पसर्नाल्टी देखी जाती है।
चुनाव के लिये प्रेरित करते हुये कहा आप वोट जरूर डालें। जब पढ़े लिखे व्यक्ति वोट करते हैं तो सोच समझकर वोट करते है। आपका मतदान भ्रश्टाचार मुक्त व श्रेश्ठ प्रजातंत्र की स्थापना में सहायक सिद्ध होगा।
श्री आईपी मिश्रा ने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में कहा आज का दिन आपके लिये जिम्मेदारियों का दिन है। भारत सम्मान की जगह है देष के विकास में नारियों का महत्वपूर्ण योगदान है। सत्युग, त्रेतायुग, द्वापर यहां तक कलयुग में इसके अनेक उदाहरण देखे जा सकते हैं। छात्रसंघ में तेईस सदस्य हैं जिसमें से मात्र तीन पुरूश है। ऐसी नारी षक्ति को मैं नमन करता हूँ। आज महिलायें भी आगे बढ़ रही हैं हमें एक बार मानव जन्म मिला है अब यह हमारे उपर है हम इसका सदुपयोग करें या दुरूपयोग। भारत युवाओं का देश है, ऊर्जा से भरा है इन ऊर्जाओं का प्रयोग आप देश के विकास के लिये करें।
छात्रसंघ प्रभारी श्रीमती नीलम गांधी विभागाध्यक्ष वाणिज्य ने कहा विद्यार्थियों में लोकतंत्र की भावना का विकास करना, अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर हो रहे आविष्कारों से छात्रोें को अवगत कराना, छात्रों के मध्य अनुशासन एवं भाईचारा की भावना का विकास करना व लोकतंत्र में नागरिक के अधिकारों व कर्तव्यों से परिचित कराना ही छात्रसंघ का उद्देश्य है।
प्राचार्य डॉ. श्रीमती हंसा शुक्ला ने नवमनोनित छात्रसंघ के सदस्यों को शपथ दिलाई व अपने उद्बोधन में कहा छात्रसंघ के पदाधिकारी आज शपथ ग्रहण कर रहे हैं। जब आप किसी पद की शपथ लेते हैं तो आपकी जिम्मेदारी बढ़ जाती है। विश्वविद्यालयीन अध्यादेश के अनुसार पांच क्लब बनाये गये हैं इन पांच क्लबों के माध्यम से विविध कार्यक्रम आयोजित कर अपनी सहभागिता निभाते हुये छात्रसंघ को मजबूत बनायें। महाविद्यालय स्तर पर नहीं अपितु राज्य स्तर पर अपने काम के लिये विद्यार्थी अपने अंचल में जाना जाये।
मनोनीत छात्रसंघ पदाधिकारियों के नाम इस प्रकार है:-
अध्यक्ष अमृता दास एस.एस.सी.-अंतिम माइक्रो, उपाध्यक्ष प्रियंका भगत-बी.एस.सी.-अंतिम माइक्रो, सचिव वंदना वर्मा- एमएससी.-पूर्व बायोटेक, सह-सचिव आकांक्षा मानिकपुरी बी.सी.ए.-द्वितीय वर्ष। कक्षा प्रतिनिधियों में ऋषभ मिश्रा, गर्विता अग्रवाल, अनामिका, मोनालिसा पाढी, शिवानी सिंह, रवि रंजन जायसवाल, सोनाली, के. आदित्य, रिचा पटेल, नेहा रेडडी, सुरभि गुप्ता, धात्री वर्मा, रौशनी देवांगन, अनन्या सिंह, आकांक्षा साहू, लीना, खुशी जैन, रुचिता चक्रवर्ती, लोकेश्वरी, रिया नायक, नेहा चन्द्राकर, आयुषी भगत, बबीता मंडल, सुखदेव, गायत्री चन्द्राकर।
इस अवसर पर कुलसचिव डॉ. राजेश पाण्डेय ने विद्यार्थियों को वोट देने के लिये शपथ दिलाई व महाविद्यालय की त्रैमासिक पत्रिका प्रतिध्वनि का विमोचन किया। संचालन स.प्रा. साक्षी मिश्रा ने व धन्यवाद ज्ञापन डॉ. शिवानी शर्मा, विभागाध्यक्ष, बायोटेक ने किया। कार्यक्रम में महाविद्यालय के समस्त प्राध्यापक/प्राध्यापिकायें व छात्र/छात्रायें सम्मलित हुए। कार्यक्रम को सफल बनाने में छात्रसंघ सदस्य डॉ. शिवानी शर्मा विभागाध्यक्ष, बायोटेक, कृष्णकांत दुबे, विभागाध्यक्ष कम्प्यूटर साईंस ने विशेष योगदान दिया।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>