भिलाई। श्री शंकराचार्य महाविद्यालय में गणेश चतुर्थी एवं विश्वकर्मा जयंती के अवसर पर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। इस अवसर पर स्नेह संपदा, भिलाई More »

भिलाई। सिविक सेन्टर की चौपाटी में लगी विशाल भारतीय सिल्क एक्सपो प्रदशर्नी का शनिवार शाम यंगिस्तान के चेयरमैन मनीष पाण्डेय ने विधिवत उद्घाटन किया। उनके More »

न्यूकैसल। कॉमनवेल्थ फेंसिंग चैम्पियनशिप, न्युकैसल, इंग्लैंड में भारत ने 03 स्वर्ण, 02 रजत एवं 08 कांस्य पदक सहित कुल 13 पदक हासिल किया। पदक तालिका More »

भिलाई। साहित्य सम्राट मुंशी प्रेमचंद की जयंती पर उनकी कृतियों की चर्चा करना और इसमें युवा पीढ़ी को शामिल करना प्रशंसनीय है। उनकी रचनाधर्मिता से More »

भिलाई। स्वच्छ भारत समर इंटर्नशिप कार्यक्रम के तहत श्रीशंकराचार्य महाविद्यालय ने ग्राम खपरी में एक वैचारिक आंदोलन खड़ा कर दिया है। महाविद्यालय के रोटरैक्ट क्लब, More »

 

Daily Archives: March 1, 2019

विंग कमांडर अभिनंदन बना देश के भाल का चंदन, सख्त नीति की जीत

Wing Commander Abhinandan Vartmanभारतीय वायु सेना के जांबाज विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान ने खुद को देश के भाल का चंदन साबित किया है। उन्होंने एक बार फिर साबित कर दिया है कि हथियार की असली ताकत उसे साधने वाले हाथों में होती है। अपने पुराने मिग-21 से अभिनंदन ने न केवल अत्याधुनिक एफ-16 को मार गिराया बल्कि दुश्मन के कब्जे में भी बहादुरी का परिचय दिया। आतंक के खिलाफ मोदी सरकार की सख्त नीति के बीच पाकिस्तान को आनन फानन में उनकी रिहाई की घोषणा करनी पड़ी और 55 घंटे के भीतर उन्हें सही सलामत भारत को लौटा देना पड़ा।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

गर्ल्स कॉलेज में विज्ञान दिवस : संचार क्रांति ने दी विज्ञान को गति

Girls college Durg Science Dayदुर्ग। गर्ल्स कालेज दुर्ग में छत्तीसगढ़ कौंसिल आॅफ साइंस एण्ड टेक्नालॉजी के तत्वाधान में आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं एवं प्रेरक व्याख्यानों का लाभ छात्राओं ने उत्साहपूर्वक उठाया। एस.एम. मोहता महाविद्यालय नागपुर के ख्याति प्राप्त प्राध्यापक डॉ. जितेन्द्र रामटेके मुख्य अतिथि थे। विशिष्ट अतिथि डॉ. रूबीदास, बी.आई.टी. तथा प्रोफेसर सुरेश पटेल थे। विज्ञान संकाय प्रभारी एवं आयोजन सचिव डॉ. मीरा गुप्ता ने बताया कि डॉ. रामटेके ने कहा कि संचार क्रांति ने विज्ञान के प्रचार-प्रसार में महती भूमिका निभायी है। संदेशों का संचार हो या जानकारी का पलक झपकते ही लंबी दूरी तक पहुंँच जाते है। वैज्ञानिक क्रांति की जानकारी आमजन तक पहुँचे और इस विज्ञान के जरिए हम अंधविश्वास और रूढ़ीवादिता को खत्म कर सके तो प्रयास सार्थक होगा।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

पर्यावरण के लिए कम करें कागज का उपयोग, तलाशें विकल्प

Save paper to save environmentभिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में कागज का प्रयोग कम करने हेतु विकल्प विषय पर परिचर्चा का आयोजन यूजीसी के निर्देशानुसार ग्रीन आॅडिट कॉमेटी द्वारा किया गया। साथ ही कागज निर्माण प्रक्रिया में पर्यावरण पर पड़ने वाले प्रभावों की भी चर्चा की गई। महाविद्यालय की ग्रीन आॅडिट कॉमेटी द्वारा संयोजक डॉ. शमा अफरोज बेग ने बताया कि पल्प और पेपर इंडस्ट्री पर्यावरण प्रदूषण में विश्व में तृतीय स्थान पर है। इसमें प्रयुक्त होने वाली क्लोरीन, पानी, वायु और मिट्टी को दूषित करता है तथा निकलने वाली मीथेन गैस-कार्बन डाईआॅक्साइड से 25 गुना अधिक हानिकारक/ विषैली है। उन्होंने बताया कि एक टन पेपर बनाने में हमें 7000 गैलन पानी, 17 पेड, 380 गैलन तेल और 4000 किलो वाट एनर्जी लगती है एक ए-4 पेपर के निर्माण में 5 लीटर पानी लगता है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

श्रीशंकराचार्य तकनीकी कैम्पस में टेक्नो कल्चरल फेस्ट ‘संविद-19′ का आगाज

SSTC SAMVID-19 Fashion Showभिलाई। श्री शंकराचार्य तकनीकी कैम्पस में टेक्नो कल्चरल फेस्ट ‘संविद-19′ का शुभारम्भ धूम-धाम के साथ किया गया। श्री गंगाजली एजुकेशन सोसाइटी के चेयरमैन आईपी मिश्रा ने संविद पोस्टर का विमोचन करते हुए संविद का आगाज किया। उन्होंने कहा कि संविद युवा शक्ति को अपनी प्रतिभा प्रस्तुत करने का एक अच्छा अवसर देती है। श्री मिश्रा ने संविद के आयोजन से जुड़े छात्रों के इस सफल प्रयास के सराहना करते हुए कहा की युवाशक्ति में बहुत ताकत है हमारा कर्तव्य है की हम इस शक्ति का सद-उपयोग सही ढंग से करने हेतु उन्हें प्रेरित करें, क्योंकि आज की युवा ही हमारे आने वाले कल का भविष्य तय करेंगे।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

शहीद सैनिकों के परिवारों को अवसाद के दायरे से बाहर निकालेगी ‘स्वयंसिद्धा’

Swayamsiddhaभिलाई। विवाहित महिलाओं की संस्था ‘स्वयंसिद्धा’ ने सैनिक परिवारों के अवसाद को दूर करने का निश्चय किया है। ‘स्वयंसिद्धा’ की संयोजक डॉ सोनाली चक्रवर्ती ने गुरुवार को जिला सैनिक कल्याण कार्यालय में आयोजित समारोह में इसकी घोषणा की। वे रावत परिवार द्वारा सैनिक कल्याण हेतु एक लाख रुपए का चेक प्रदान किए जाने के अवसर पर अपनी बात रख रही थीं। डॉ सोनाली चक्रवर्ती ने कहा कि एक सैनिक अपनी मातृभूमि की रक्षा करते हुए अपने प्राणों की आहुति दे देता है। यह उनके परिवार के लिए अपूरणीय क्षति होती है। वह किसी का बेटा, किसी का पति, किसी का भाई तो किसी का पिता भी होता है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

पार्टी से एक डिश कम करके भी कर सकते हैं सेना की मदद : सोनी

Sainik Kalyan Karyalayभिलाई। अवकाश प्राप्त कमांडर आरके सोनी का मानना है कि हम अपनी पार्टियों से एक डिश कम करके भी सेना की मदद कर सकते हैं। वे रावत परिवार द्वारा एक लाख रुपए का चेक जिला सैनिक कल्याण कार्यालय को भेंट किए जाने के अवसर पर सभा को संबोधित कर रहे थे। रावत परिवार ने मृत्युभोज का परित्याग कर यह राशि सैनिक परिवारों को दी है। श्री सोनी ने कहा कि शादियों जैसे अवसरों पर हम लाखों रुपए की पार्टी देते हैं। यदि इसमें से कोई एक डिश कम कर दें तो एक लाख रुपए बचा सकते हैं। इसका पार्टी पर भी कोई फर्क नहीं पड़ेगा।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare