जिनोटा में ‘सुरक्षित मातृत्व दिवस’ : मां खाए न खाए, बच्चा खींच लेता है पोषण : डॉ आकांक्षा

Safe Motherhood Day at Zinotaभिलाई। स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ आकांक्षा श्रीवास्तव दशोरे ने आज कहा कि माता का स्वास्थ्य और पोषण बहुत जरूरी है। यदि माता स्वस्थ होगी तभी प्रसव संबंधी दिक्कतें कम आएंगी और शिशु भी स्वस्थ होगा। उन्होंने कहा कि गर्भावस्था से पूर्व और दौरान माता के पोषण का खास ध्यान रखा जाना चाहिए क्योंकि वह खाए चाहे न खाए, गर्भस्थ शिशु अपनी जरूरत का पोषण सोख लेता है। डॉ आकांक्षा जिनोटा फार्मेसी में आयोजित विश्व ‘सुरक्षित मातृत्व दिवस’ संगोष्ठी को मुख्य वक्ता की आसंदी से संबोधित कर रही थीं।Zinota Pharmacy उन्होंने कहा कि भारत में माता ही अंत में बचा खुचा खाती हैं जो गलत है। देश में आज भी प्रतिवर्ष लाखों माताएं प्रसव के दौरान दम तोड़ देती है। यदि प्रसव के दौरान शिशु की मृत्यु हो जाए तो दुख होता है पर यदि माता की मृत्यु हो जाए तो शिशु का जीवन भी संकट में आ जाता है। उन्होंने स्वस्थ मातृत्व के लिए नियमित जांच एवं संस्थागत प्रसव को अनिवार्य बताया। उन्होंने महिलाओं को बच्चियों के स्वास्थ्य पर फोकस करने और अपना ख्याल रखने संबंधी विभिन्न टिप्स भी दिए।
आरंभ में स्वास्थ्य प्रथम की राज्य संयोजक बी पोलम्मा ने छत्तीसगढ़ में तीन वर्षों तक मायाराम सुरजन फाउंडेशन की अगुवाई में किए गए सर्वेक्षण का लेखा जोखा प्रस्तुत किया। उन्होंने कहा कि आरंभिक वर्षों में जहां उन्होंने प्राथमिक और सामुदायिक स्वास्थ्य सेवाओं को पूरी तरह ध्वस्त पाया वहीं लगातार सरकार के साथ डाटा शेयर करने के बाद स्थिति में कुछ सुधार आया है। पर स्थिति अभी भी संतोषजनक होने से काफी दूर है।
जिनोटा की डायरेक्टर श्रीलेखा विरुलकर ने इस अवसर पर कहा कि जिनोटा लोगों के लिए घर पहुंच स्वास्थ्य सेवा लाने की दिशा में प्रयास कर रहा है। इसके लिए देश भर में 200 से अधिक सेवा केन्द्रों की स्थापना की जा रही है। उन्होंने मौके पर उपस्थित स्वेच्छा सेवी संगठनों से सहयोग की अपील करते हुए कहा कि महिलाओं के स्वास्थ्य में सुधार की दिशा में सभी को मिलकर काम करना होगा। लोग जुड़ते जाएंगे तभी स्वस्छ और सुरक्षित मातृत्व का कारवां बन पाएगा।
धन्यवाद ज्ञापन करते हुए प्रसिद्ध कवयित्री नीलम जायसवाल ने ‘जांच कराओ-बेटी बचाओ’ का नया नारा दिया। उन्होंने गर्भवती के आहार एवं सुरक्षा संबंधी टिप्स कविता के रूप में दिए। इस कविता में गर्भवती की कैलरी आवश्यकता, भोजन में पत्तेदार सब्जियों का समावेश एवं आयरन आदि की जरूरतों से जुड़े वाक्यों को खूबसूरती से पिरोया गया था।
आयोजन में जिनोटा फार्मेसी के शशि कुमार, कमल गुरनानी के अलावा जवाहर नगर की स्वेच्छा सेवी प्रमिला पंडित, रीता मिश्रा, सुमित्रा जायसवाल, इंद्रावती गुप्ता, स्वाति गुलाटी, केम्प एवं खुर्सीपार क्षेत्र की महिलाएं, एमजे कालेज आॅफ नर्सिंग की छात्राएं तनुजा साहू, ममता वर्मा, नेहा साहू, सोहद्रा साहू, निर्मला एवं केवलिन भी मौजूद थीं।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>