चुरू में पारा 51 पार, हरियर छत्तीसगढ़ के तहत बेमेतरा में लगेंगे 2 लाख पौधे

Bemetara to Plant 2 lac saplingsबेमेतरा। पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा देने हरियर छत्तीसगढ़ अभियान के अंतर्गत मानसून सीजन के दौरान बेमेतरा जिले में लगभग 2 लाख पौधों का रोपण किया जाएगा। कलेक्टर ने कहा कि बेमेतरा एक मैदानी जिला होने के कारण यहॉ अधिक से अधिक संख्या में वृक्षारोपण को बढ़ावा दिया जाना चाहिए। उन्होेने उदाहरण देते हुए कहा कि राजस्थान के चुरू में इस बार 51 डिग्री सेल्सियस तापमान रिकार्ड किया गया है। कलेक्टर ने अधिकारियों को मानसून पूर्व वृक्षारोपण की तैयारी करने के निर्देश दिए हैं। विभिन्न प्रजातियों की पौधों की किस्मों में साल-सैगोन, आंवला, अर्जुन, करंज, नीम, आम, गुलमोहर, कटहल, अमरूद, जामुन, करोंदा, बेल, करंज, बांस, खम्हार, शिशम, सीताफल सहित अन्य पौधें शाामिल है। इसके अलावा उद्यान विभाग की नर्सरियों में बड़ी मात्रा में मुनगा के पौधे भी तैयार कर लिया गया हैं। मुनगा के पौधे जिले के सभी स्कूल, आंगनबाड़ी, छात्रावास एवं स्वास्थ्य केन्द्र भवनों के खाली जमीन में रोपण किया जाएगा। शासकीय संस्थानों के अलावा जिले के सभी ग्राम पंचायतों में विभिन्न किस्मों के पौधें भी किसानों के लिए नि:शुल्क उपलब्ध कराया जाएगा। किसानों द्वारा पौधों को उनके खेतों में लगाने के लिए प्रेरित भी किया जाएगा। साथ ही जिले के सभी गौठानों, नदी, नरवा के किनारे भी वृहद स्तर पर पौधे रोपण किया जाएगा। इसके अलावा जिले के प्राथमिक स्कूलों में किचन गार्डन तैयार करने का लक्ष्य भी रखा गया है। इसके लिए शिक्षा विभाग को आवश्यक दिशा-निर्देेश दिए गए है।
कलेक्टर महादेव कावरे ने कल समय-सीमा की बैठक में शामिल विभिन्न एजेंड़ों के अलावा बेमेतरा जिले में इस वर्ष हरियर छत्तीसगढ़ अभियान के अंतर्गत लगाए जाने वाले पौधारोपण की तैयारियों की समीक्षा कर अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। बैठक में बताया गया कि वन विभाग की नर्सरियों में विभिन्न प्रजातियों के पौधें रोपणी के लिए तैयार कर लिए गए। इसी तरह उद्यान विभाग की नर्सरियों में फलदार के पौधे रोपणी के तैयार कर लिया गया है। कलेक्टर ने वन विभाग, पंचायत एवं ग्रमीण विकास विभाग के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि मानसून आने से पहले पौधा रोपण की आवश्यक तैयारी करे लेंवें। उन्होने महिला एवं बाल विकास विभाग, स्कूली शिक्षा विभाग और आदिम जाति विकास विभाग के अधिकारियों को आंगनबाडी, स्कूल, एवं छात्रावासों तथा स्वास्थ्य केन्द्रों के खाली भू-खण्डों में बडे पैमाने में मुनगा के पौधे लगाने की तैयारी करने के निर्देश दिए है। कलेक्टर ने इसके अलावा जिले के सभी ग्राम पंचायतों में मुनगा के अलावा अन्य फलदार किस्म के पौधे किसानों का नि:शुल्क उपलब्ध कराने के लिए कहा है। कलेक्टर ने जिला शिक्षा अधिकारी को जिले के स्कूलों में किचन गार्डन तैयार करने के लिए आवश्यक तैयारी करने के निर्देश दिए। बैठक में बताया गया कि जिले के ऐसे स्कूलों में किचन गार्डन तैयार किए जाएंगे, जहां पानी और सुरक्षा के लिए बाउड्रीवॉल हो।
विभागों को लक्ष्य- राजस्व, महिला एवं बाल विकास विभाग एवं लोक निर्माण विभाग, कृषि विज्ञान केन्द्र 05-05 हजार, खनिज, उद्यानिकी, जल संसाधान एवं कृषि विभाग, नगरीय निकाय के अंतर्गत नगरपालिका बेमेतरा, नगर पंचायत साजा, देवकर, परपोड़ी, थानखम्हरिया, बेरला, नवागढ़ एवं मारो, 10-10 हजार, जनपद पंचायत बेमेतरा, नवागढ़, साजा एवं बेरला 40-40 हजार, आबकारी एवं आदिवासी विकास विभाग, खाद्य विभाग, पशुधन विकास विभाग, विद्युत विभाग, मछली पालन, स्वास्थ्य विभाग एवं उद्योग विभाग 01-01 हजार, शिक्षा विभाग 40 हजार, वन विभाग 20 हजार, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, गा्रमीण यांत्रिकी सेवा, श्रम, खादी एवं गा्रमोद्योग विभाग, आईटीआई एवं कौशल विकास विभाग को 500-500 नग पौधे का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>