भिलाई। कृष्णा पब्लिक स्कूल कुटेलाभाटा ने 73वां स्वतंत्रता दिवस खुले, स्वच्छंद आकाश में ध्वजारोहण करते हर्षोल्लास के साथ मनाया। इस समारोह में स्कूल की बैण्ड More »

भिलाई। संजय रूंगटा ग्रुप ऑफ़ इंस्टीट्यूशंस द्वारा संचालित रूंगटा पब्लिक स्कूल में 15 अगस्त को स्कूल प्रांगण में कक्षा नसर्री से पहली तक के बच्चों द्वारा More »

भिलाई। डीएवी इस्पात पब्लिक स्कूल सेक्टर -2 में रक्षाबंधन मनाया गया। इस त्यौहार को अग्रिम रूप से कक्षा नसर्री, एलकेजी तथा यूकेजी के छात्रों ने More »

भिलाई। देश, संस्कृति एवं मानवता से जुड़ने के अपने नवोन्मेषी पहल के लिए पहचान बना चुके केपीएस कुटेलाभाटा के सीनियर स्टूडेन्ट्स ने भिन्नक्षम बच्चों के More »

भिलाई। रॉबिन हुड आर्मी के भिलाई अध्याय से जुड़े स्वयंसेवकों (राबिन्स) ने 11 अगस्त को पूरे जोश के साथ जेवरा-सिरसा एवं दुर्ग पद्मनाभपुर के 300 More »

 

Daily Archives: June 16, 2019

महापौर विधायक देवेन्द्र यादव ने दिल्ली में साझा किये अपने अनुभव

सार्वजनिक नीति और सुशासन को बताया लोककल्याण के लिए जरूरी

 भिलाई। विजन इंडिया फाउंडेशन द्वारा आयोजित पॉलिसी बूटकैम्प 2019 में युवा नेतृत्व कर्ताओं के साथ स्पष्ट बातचीत हुई। नई दिल्ली में 15 जून को आयोजित पॉलिसि बुटकैंप कार्यक्रम में भिलाईनगर विधायक व मेयर विभिन्न विषयों पर स्पीच दिए। श्री यादव ने अपनी राजनीतिक यात्रा पर अपने विचार और लोगों के लिए कल्याण सुनश्चिति करने में सार्वजनिक नीति और सुशासन की भूमिका को उपस्थित सभी लोगों से साझा किया। इसमें केंद्रीय इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान भी शिरकत कर रहे हैं।भिलाई। विजन इंडिया फाउंडेशन द्वारा आयोजित पॉलिसी बूटकैम्प 2019 में युवा नेतृत्व कर्ताओं के साथ स्पष्ट बातचीत हुई। नई दिल्ली में 15 जून को आयोजित पॉलिसि बुटकैंप कार्यक्रम में भिलाईनगर विधायक व मेयर देवेन्द्र यादव ने विभिन्न विषयों पर स्पीच दिए। श्री यादव ने अपनी राजनीतिक यात्रा पर अपने विचार और लोगों के लिए कल्याण सुनश्चिति करने में सार्वजनिक नीति और सुशासन की भूमिका को उपस्थित सभी लोगों से साझा किया। इसमें केंद्रीय इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान भी शिरकत कर रहे हैं।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

स्वरूपानंद महाविद्यालय में कबीर की प्रासंगिकता पर राष्ट्रीय संगोष्ठी

भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में ‘वर्तमान में कबीर की प्रासंगिकता’ विषय पर एक दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन 15 जून को किया गया। विषय में प्रकाश डालते हुये महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ हंसा शुक्ला ने कहा कबीर के दोहे वर्तमान समय में भी प्रासंगिक है। पंद्रहवीं शताब्दी में उनके द्वरा कहे गए दोहे आज भी समसामयिक है। आतंकवाद हिंदू और मुस्लिम धर्म के लोगों के आपसी तनाव को कबीर ने दूर करने का प्रयास किया। कबीर ही ऐसे संत हैं जिनके दोहों और साखियों से हर बच्चे को एक अच्छा इंसान बनने की प्रेरणा मिलती है। उनके दोहे ‘हिन्दू कहे मोहे राम प्यारा, तुर्क कहे रहिमाना’ जिसमें भक्ति में भावना प्रमुख होती है सच्चे भक्ति भाव से पत्थर में भी ईश्वर का दर्शन किया जा सकता है। भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में‘वर्तमान में कबीर की प्रासंगिकता विषय पर एक दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन 15 जून को किया गया। विषय में प्रकाश डालते हुये महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ हंसा शुक्ला ने कहा कबीर के दोहे वर्तमान समय में भी प्रासंगिक है। पंद्रहवीं शताब्दी में उनके द्वरा कहे गए दोहे आज भी समसामयिक है। आतंकवाद हिंदू और मुस्लिम धर्म के लोगों के आपसी तनाव को कबीर ने दूर करने का प्रयास किया। कबीर ही ऐसे संत हैं जिनके दोहों और साखियों से हर बच्चे को एक अच्छा इंसान बनने की प्रेरणा मिलती है। उनके दोहे ‘हिन्दू कहे मोहे राम प्यारा, तुर्क कहे रहिमाना’ जिसमें भक्ति में भावना प्रमुख होती है सच्चे भक्ति भाव से पत्थर में भी ईश्वर का दर्शन किया जा सकता है। 

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare