भिलाई। मिसेज यूनिवर्स की फाइनलिस्ट शिखा साहू का मानना है कि बड़ा लक्ष्य साधना हो तो जहां से भी अवसर मिले शुरुआत कर देनी चाहिए। More »

भिलाई। माँ शारदा सामर्थ्य चैरिटेबल ट्रस्ट के सदस्य डॉ. संतोष राय ने बताया कि माँ शारदा सामर्थ्य चैरिटेबल ट्रस्ट की वार्षिक सभा एवं मेम्बर्स मीट More »

भिलाई। भूपेश बघेल 10-11 अगस्त, 2019 को शिकागो अमेरिका में प्रथम एनआरआई छत्तीसगढ़ सम्मेलन के मुख्य अतिथि होंगे। उत्तरी अमेरिका छत्तीसगढ़ संघ (नाचा) द्वारा आयोजित More »

सार्वजनिक नीति और सुशासन को बताया लोककल्याण के लिए जरूरी भिलाई। विजन इंडिया फाउंडेशन द्वारा आयोजित पॉलिसी बूटकैम्प 2019 में युवा नेतृत्व कर्ताओं के साथ More »

भिलाई। श्री शंकराचार्य महाविद्यालय जुनवानी में दस दिवसीय योग प्रशिक्षण का कार्यक्रम, योग प्रशिक्षक अरूण अग्रवाल (बिहार योग विद्यालय से प्रशिक्षित एवं वर्तमान में कबीर More »

 

Daily Archives: June 17, 2019

पेशाब रोकने में कठिनाई कर सकती है परेशान, पूर्ण इलाज संभव : डॉ दारूका

Urologist Dr Naveen Darukaभिलाई। चलते-फिरते या झुककर कोई सामान उठाने पर कभी भी पेशाब का निकल आना एक परेशान करने वाली शारीरिक अवस्था है। रोगी न केवल असहज हो जाता है बल्कि कई बार उसे शर्मिन्दगी भी उठानी पड़ती है। इस तरह की स्थिति का सामना कर रहे लोगों का सामाजिक जीवन बुरी तरह से प्रभावित हो जाता है। वरिष्ठ यूरोलॉजिस्ट डॉ नवीन राम दारूका ने बताया कि आधुनिक चिकित्सा पद्धति में इसका पूर्ण इलाज संभव है। इसका इलाज दवाओं से, कसरत द्वारा या सर्जरी द्वारा की जाती है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

इंदु आईटी के 9 बच्चों ने क्रैक किया जेईई मेन्स, 4 एडवांस में भी सफल

भिलाई। इंदु आईटी स्कूल के 4 बच्चों ने जेईई एडवांस में सफलता हासिल की है। इससे पहले 9 बच्चों ने जेईई मेन्स क्रैक किया था। विदित हो कि जेईई का आयोजन देश के शीर्ष अभियांत्रिकी महाविद्यालयों में प्रवेश के लिए किया जाता है जहां से आईआईटी में जाने का रास्ता खुलता है। बच्चों की इस सफलता पर इंदु आईटी स्कूल प्रबंधन ने उन्हें बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं।भिलाई। इंदु आईटी स्कूल के 4 बच्चों ने जेईई एडवांस में सफलता हासिल की है। इससे पहले 9 बच्चों ने जेईई मेन्स क्रैक किया था। विदित हो कि जेईई का आयोजन देश के शीर्ष अभियांत्रिकी महाविद्यालयों में प्रवेश के लिए किया जाता है जहां से आईआईटी में जाने का रास्ता खुलता है। बच्चों की इस सफलता पर इंदु आईटी स्कूल प्रबंधन ने उन्हें बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare