मच्छरों के लार्वा मिलने की आशंका वाले 3914 घरों में टेमीफास का उपयोग

भिलाई। निगम क्षेत्रान्तर्गत मौसमी एवं जलजनित बीमारियों (पीलिया, उल्टी-दस्त) वेक्टर जनित रोग (डेंगू/मलेरिया) के रोकथाम एवं बचाव के लिए नगर निगम भिलाई और शहरी परिवार कल्याण केंद्र सुपेला की संयुक्त टीम ने सघन अभियान चलाकर मच्छरों के लार्वा मिलने की आशंका वाले घरों में टेमीफास का उपयोग किया। 1463 कूलर व 620 टंकी की जांच की गई।भिलाई। निगम क्षेत्रान्तर्गत मौसमी एवं जलजनित बीमारियों (पीलिया, उल्टी-दस्त) वेक्टर जनित रोग (डेंगू/मलेरिया) के रोकथाम एवं बचाव के लिए नगर निगम भिलाई और शहरी परिवार कल्याण केंद्र सुपेला की संयुक्त टीम ने सघन अभियान चलाकर मच्छरों के लार्वा मिलने की आशंका वाले घरों में टेमीफास का उपयोग किया। 1463 कूलर व 620 टंकी की जांच की गई।Cement-Water-Tank-Check भिलाई। निगम क्षेत्रान्तर्गत मौसमी एवं जलजनित बीमारियों (पीलिया, उल्टी-दस्त) वेक्टर जनित रोग (डेंगू/मलेरिया) के रोकथाम एवं बचाव के लिए नगर निगम भिलाई और शहरी परिवार कल्याण केंद्र सुपेला की संयुक्त टीम ने सघन अभियान चलाकर मच्छरों के लार्वा मिलने की आशंका वाले घरों में टेमीफास का उपयोग किया। 1463 कूलर व 620 टंकी की जांच की गई।स्वास्थ्य विभाग की टीम ने आज भिलाई निगम क्षेत्र अंतर्गत रामनगर, वैशालीनगर, बापूनगर, खुर्सीपार, छावनी, बैकुण्ठधाम, कोसानगर और टंकी मड़ौदा सहित 8 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के तहत आने वाले क्षेत्रों में डेंगू मलेरिया जैसी जलजनित बीमारियों से बचाव के लिए सघन अभियान जारी रखा है। इसी कड़ी में आज नगर निगम व स्वास्थ्य विभाग का अमला 3914 घरों में पहुंच कर कूलर, पानी की टंकी, पुराने टायर, कंटेनर व घर में रखे अन्य सामान जिसमें पानी भरा हुआ था उसमें मच्छर के लार्वा की जांच कर टेमीफास का उपयोग किया।
1463 कूलर व 620 टंकी की गई जांच
नगर निगम व स्वास्थ्य विभाग के अमले ने आज अभियान के दौरान घरों में पड़े 1463 कुलरो के पानी की जांच की। इसके अलावा 620 घरों की पानी टंकी, 220 स्थानों से पुराने टायर व कन्टेनर में जमा का निरीक्षण किया जिसमें कूलर में टेमीफास का उपयोग किया। अभियान में निगम का अमला मच्छरों के काटने व जल जनित रोगों से रोकथाम के उपाय, घर के आस पास साफ सफाई की जानकारी उपलब्ध करा रहे हैं।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>