संतोष रूंगटा कैम्पस में कारगिल विजय दिवस पर हुए कई कार्यक्रम

भिलाई। कोहका-कुरूद रोड स्थित संतोष रूंगटा कैम्पस (आर-1) में संचालित रूंगटा कॉलेज आॅफ इंजीनियरिंग एण्ड टेक्नालॉजी (आरसीइटी) में कारगिल युद्ध में भारत की जीत के 20 साल पूर्ण होने के अवसर पर कारगिल विजय दिवस का आयोजन किया गया। सेना के अतुल्य पराक्रम को रेखांकित करने के उद्देश्य से अस अवसर पर कॉलेज की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई आरसीइटी, भिलाई के तत्वावधान में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। आयोजित कार्यक्रम में कॉलेज में संचालित बीई, एमटेक, एमबीए कोर्स के स्टूडेंट्स के साथ-साथ रिसर्च स्कॉलर्स ने भी हिस्सा लिया।भिलाई। कोहका-कुरूद रोड स्थित संतोष रूंगटा कैम्पस (आर-1) में संचालित रूंगटा कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग एण्ड टेक्नालॉजी (आरसीइटी) में कारगिल युद्ध में भारत की जीत के 20 साल पूर्ण होने के अवसर पर कारगिल विजय दिवस का आयोजन किया गया। सेना के अतुल्य पराक्रम को रेखांकित करने के उद्देश्य से अस अवसर पर कॉलेज की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई आरसीइटी, भिलाई के तत्वावधान में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। आयोजित कार्यक्रम में कॉलेज में संचालित बीई, एमटेक, एमबीए कोर्स के स्टूडेंट्स के साथ-साथ रिसर्च स्कॉलर्स ने भी हिस्सा लिया। भिलाई। कोहका-कुरूद रोड स्थित संतोष रूंगटा कैम्पस (आर-1) में संचालित रूंगटा कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग एण्ड टेक्नालॉजी (आरसीइटी) में कारगिल युद्ध में भारत की जीत के 20 साल पूर्ण होने के अवसर पर कारगिल विजय दिवस का आयोजन किया गया। सेना के अतुल्य पराक्रम को रेखांकित करने के उद्देश्य से अस अवसर पर कॉलेज की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई आरसीइटी, भिलाई के तत्वावधान में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। आयोजित कार्यक्रम में कॉलेज में संचालित बीई, एमटेक, एमबीए कोर्स के स्टूडेंट्स के साथ-साथ रिसर्च स्कॉलर्स ने भी हिस्सा लिया।कार्यक्रम के दौरान कॉलेज के छात्र-छात्राओं ने तिरंगा लहराकर देश-प्रेम की गौरवमयी अभिव्यक्ति महसूस करते हुए कारगिल के 72 दिनों के इतिहास को जाना। इस अवसर पर विशेष रूप से उपस्थित छत्तीसगढ़ आर्म्ड फोर्स (सी.ए.एफ.) की 7वीं बटालियन ई कम्पनी के जवानों के दल से बातचीत कर एनएसएस स्वयंसेवकों ने जाना कि किस प्रकार धूप, गर्मी, बरसात, ठंड जैसे मौसम की भीषण विपरित परिस्थितियों में भी, घर-परिवार से दूर रहकर सैनिक मातृभूमि की सेवा में सदैव तत्पर रहते हैं। इसी श्रृंखला में छात्र-छात्राओं द्वारा 16 शब्दों से 32 शब्दों तक के स्लोगन तैयार किये गये जो मातृभूमि, पर सच्चे बलिदान करने वाले सैनिकों के प्रति नमन भाव को व्यक्त करने वाले थे। विभिन्न छात्र-छात्राओं ने इस अवसर पर कारगिल की यादों को ताजा करती देश-प्रेम से ओत-प्रोत स्व-रचित कविताएँ भी प्रस्तुत कीं। संपूर्ण कार्यक्रम का संचालन तथा निर्देशन एन.एस.एस. कार्यक्रम अधिकारी प्रो. एस. भारती द्वारा किया गया तथा इस अवसर पर कॉलेज के विभिन्न विभागों के फैकल्टी मेम्बर्स उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *