संतोष रूंगटा कैम्पस में 7-दिवसीय फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम प्रारंभ

भिलाई। संतोष रूंगटा समूह (आर-1) द्वारा कोहका-कुरूद रोड स्थित कैम्पस में संचालित रूंगटा कॉलेज आॅफ इंजीनियरिंग एण्ड टेक्नालॉजी (आरसीइटी) के आॅडीटोरियम में एनबीए अवेयरनेस - सार फीलिंग एण्ड प्रिपेयडर्नेस फॉर असेसमेन्ट विषय पर 7-दिवसीय फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम प्रारंभ हो गया। इस प्रोग्राम के स्पॉन्सर एसपीआईयू, छ.ग. तथा छ.ग. स्वामी विवेकानन्द यूनिवर्सिटी, भिलाई टेकिप-3 प्रोजेक्ट हैं, जिसमें सीएसवीटीयू से संबद्ध राज्य के समस्त इंजीनियरिंग कॉलेजों के फैकल्टी मेम्बर्स आमंत्रित किये गये हैं।भिलाई। संतोष रूंगटा समूह (आर-1) द्वारा कोहका-कुरूद रोड स्थित कैम्पस में संचालित रूंगटा कॉलेज आॅफ इंजीनियरिंग एण्ड टेक्नालॉजी (आरसीइटी) के आॅडीटोरियम में एनबीए अवेयरनेस – सार फीलिंग एण्ड प्रिपेयडर्नेस फॉर असेसमेन्ट विषय पर 7-दिवसीय फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम प्रारंभ हो गया। इस प्रोग्राम के स्पॉन्सर एसपीआईयू, छ.ग. तथा छ.ग. स्वामी विवेकानन्द यूनिवर्सिटी, भिलाई टेकिप-3 प्रोजेक्ट हैं, जिसमें सीएसवीटीयू से संबद्ध राज्य के समस्त इंजीनियरिंग कॉलेजों के फैकल्टी मेम्बर्स आमंत्रित किये गये हैं। भिलाई। संतोष रूंगटा समूह (आर-1) द्वारा कोहका-कुरूद रोड स्थित कैम्पस में संचालित रूंगटा कॉलेज आॅफ इंजीनियरिंग एण्ड टेक्नालॉजी (आरसीइटी) के आॅडीटोरियम में एनबीए अवेयरनेस - सार फीलिंग एण्ड प्रिपेयडर्नेस फॉर असेसमेन्ट विषय पर 7-दिवसीय फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम प्रारंभ हो गया। इस प्रोग्राम के स्पॉन्सर एसपीआईयू, छ.ग. तथा छ.ग. स्वामी विवेकानन्द यूनिवर्सिटी, भिलाई टेकिप-3 प्रोजेक्ट हैं, जिसमें सीएसवीटीयू से संबद्ध राज्य के समस्त इंजीनियरिंग कॉलेजों के फैकल्टी मेम्बर्स आमंत्रित किये गये हैं।संतोष रूंगटा समूह के डायरेक्टर टेक्निकल डॉ. सौरभ रूंगटा ने बताया कि कार्यक्रम का उद्देश्य एनबीए एक्रीडीयेशन से संबंधित नवीनतम जानकारी, मूल्यांकन पद्धति तथा इसके अंतर्गत शिक्षण संस्थानों के इम्प्रुवमेंट तथा डेवलपमेंट संबंधी जानकारी प्रदान करना है। इसके अलावा विभिन्न एजुकेशनल प्रोग्राम्स की गाईडलाइन्स तथा इससे संबंधित जानकारी उपलब्ध कराना है।
कार्यक्रम के 7-दिवसों में रिसोर्स पर्सन के रूप में डॉ. बी.एल. गुप्ता, प्रोफेसर एनटीटीआर-भोपाल, डॉ. सत्यजीत गुप्ता, असि. प्रोफेसर, आईआईटी-भिलाई, डॉ. अरविन्द अग्रवाल, एचआरडीसी, पं. रविवि-रायपुर, डॉ. सुनील मोरे, नासिक-महाराष्ट्र, डॉ. विश्वनाथ राजू, जेएनटीयू-हैदराबाद तथा डॉ. चन्द्रशेखर, जेएनटीयू-हैदराबाद प्रतिभागियों को विषय संबंधित विस्तृत जानकारी प्रदान करेंगे।
उद्घाटन दिवस पर प्रोग्राम के पहले दिन के स्पीकर आईआईटी-भिलाई के असि. प्रोफेसर डॉ. सत्यजीत गुप्ता ने अपने सेशन में असेसमेन्ट एण्ड एकाडमिक स्किल्स के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी साथ ही रिसर्च पेपर तथा पूस्तक लेखन की तकनीक संबंधित अत्यंत महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की।
इससे पूर्व आयोजित उद्घाटन समारोह में मुख्य अतिथि के तौर पर उपस्थित सीएसवीटीयू के पूर्व-कुलपति तथा सतोष रूंगटा समूह के ग्रुप डायरेक्टर डॉ. बी.के. स्थापक ने इंजीनियरिंग इंस्टीट्यूशन्स में क्वालिटी एजुकेशन के लिये आज एनबीए एक्रीडीयेशन की महती आवश्यकता, मानदण्डों तथा प्रक्रिया के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि एनबीए के चार महत्वपूर्ण पहलू प्रोडक्ट अर्थात स्टूडेंट्स का नॉलेज, स्किल्स, एटीट्यूड तथा बिहेवियर हैं। इसके अलावा सबसे महत्वपूर्ण सेल्फ असेसमेंट रिपोर्ट भरना होता है जिसके लिये आपके एचीवमेंट्स होना सबसे जरूरी है। स्वागत भाषण कार्यक्रम की संयोजक डॉ. मनीषा अग्रवाल ने दिया जिसमें उन्होंने कार्यक्रम के उद्देश्य के बारे में बताया। आरसीइटी-भिलाई के डायरेक्टर डॉ. वाय.एम. गुप्ता ने भी प्रतिभागियों को संबोधित किया। कार्यक्रम में संतोष रूंगटा समूह के कॉलेजों आरसीइटी-भिलाई तथा आरसीइटी-रायपुर सहित सीएसआईटी-दुर्ग, आरआईटी-रायपुर आदि कॉलेजों के फैकल्टी मेम्बर्स प्रतिभागियों के रूप में शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *