भिलाई। इंदु आईटी स्कूल में प्री-प्राइमरी विंग के नर्सरी से केजी-2 तक के नन्हे-मुन्ने बच्चों द्वारा श्रीकृष्ण जन्माष्टमी बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। More »

भिलाई। केपीएस के प्रज्ञोत्सव-2019 में आज शास्त्रीय नृत्यांगनाओं ने पौराणिक कथाओं को बेहद खूबसूरती के साथ मंच पर उतारा। भरतनाट्यम एवं कूचिपुड़ी कलाकारों ने महाभारत, More »

भिलाई। कृष्णा पब्लिक स्कूल कुटेलाभाटा ने 73वां स्वतंत्रता दिवस खुले, स्वच्छंद आकाश में ध्वजारोहण करते हर्षोल्लास के साथ मनाया। इस समारोह में स्कूल की बैण्ड More »

भिलाई। संजय रूंगटा ग्रुप ऑफ़ इंस्टीट्यूशंस द्वारा संचालित रूंगटा पब्लिक स्कूल में 15 अगस्त को स्कूल प्रांगण में कक्षा नसर्री से पहली तक के बच्चों द्वारा More »

भिलाई। डीएवी इस्पात पब्लिक स्कूल सेक्टर -2 में रक्षाबंधन मनाया गया। इस त्यौहार को अग्रिम रूप से कक्षा नसर्री, एलकेजी तथा यूकेजी के छात्रों ने More »

 

Daily Archives: July 11, 2019

Stereotactic Radiation Treatment is a boon for cancer patients

SRT for treatment of CancerDr. Gourav Gupta/ “Stereotactic radiation treatment is an effective and accurate treatment for cancer; Recently we have treated 2 patients of brain metastasis ( when cancer spreads to brain) with stereotactic radiation treatment. In this radiation treatment 5 to 10 times of daily dose is delivered in 1 to 5 fractions with extreme accuracy , this treatment significantly improves effectiveness of treatment with less time and more patient comfort.

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

रमन आईटीआई में प्रशिक्षण पश्चात प्लेसमेन्ट की सुविधा, प्रवेश प्रारंभ

भिलाई। रमन (प्रा.) आईटीआई में नए सत्र के लिए प्रवेश प्रारंभ हो गया है। रमन आईटीआई भारत सरकार के एनसीवीटी तथा डीजीटी से मान्यता प्राप्त संस्थान है। संस्था में योग्य एवं अनुभवी प्रशिक्षकों द्वारा प्रशिक्षण दिया जाता है। सफलतापूर्वक प्रशिक्षण पूर्ण करने वालों के लिए कैम्पस प्लेसमेंट की सुविधा भी उपलब्ध कराई जाती है। संस्था के संचालक अरविन्दर सिंह ने बताया कि विगत कई वर्षों से संस्था विभिन्न ट्रेडों में बच्चों को प्रशिक्षित कर रोजगार तथा स्वरोजगार के लिए तैयार कर रही है।भिलाई। रमन (प्रा.) आईटीआई में नए सत्र के लिए प्रवेश प्रारंभ हो गया है। रमन आईटीआई भारत सरकार के एनसीवीटी तथा डीजीटी से मान्यता प्राप्त संस्थान है। संस्था में योग्य एवं अनुभवी प्रशिक्षकों द्वारा प्रशिक्षण दिया जाता है। सफलतापूर्वक प्रशिक्षण पूर्ण करने वालों के लिए कैम्पस प्लेसमेंट की सुविधा भी उपलब्ध कराई जाती है। संस्था के संचालक अरविन्दर सिंह ने बताया कि विगत कई वर्षों से संस्था विभिन्न ट्रेडों में बच्चों को प्रशिक्षित कर रोजगार तथा स्वरोजगार के लिए तैयार कर रही है।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

30 तक उतर आई थी दिल की धड़कनें, आ रहे थे चक्कर, स्पर्श हॉस्पिटल में बची जान

Dr Vivek Dashore Cardiologistभिलाई। स्पर्श मल्टीस्पेशालिटी हॉस्पिटल में एक ऐसे मरीज की जान बचाई गई जिसके दिल की धड़कनें प्रति मिनट आधे से भी कम (30) हो चुकी थी। मरीज को चक्कर आ रहे थे और सबकुछ डूबता हुआ सा महसूस हो रहा था। मरीज डायबिटीज से पीड़ित था। दरअसल उसके हृदय के दाहिने भाग को रक्त पहुंचाने वाली मुख्य धमनी 100 फीसदी ब्लाक हो चुकी थी। आसपास की धमनियां भी ब्लाक हो रही थीं। स्पर्श के इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजिस्ट डॉ विवेक दशोरे ने तत्काल एंजियोप्लास्टी कर ब्लाकेज हटाया और मरीज की जान बचा ली।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

जनसंख्या दिवस : कड़े नियम बनाए बिना आबादी पर नियंत्रण संभव नहीं

एमजे कालेज में विश्व जनसंख्या दिवस पर वैचारिक संगोष्ठि

भिलाई। दुनिया की आबादी बढ़ कर जुलाई 2019 तक 750 करोड़ हो चुकी है। यदि इसी रफ्तार से आबादी बढ़ती गई तो पृथ्वी पर मनुष्यों का भी जीवन संकट में आ जाएगा। एमजे कालेज में आज विश्व जनसंख्या दिवस पर आयोजित संगोष्ठि में आबादी वृद्धि के कारण और इसे रोकने के विकल्पों पर सार्थक चर्चा की गई। यह पाया गया कि कठिन नियम कानून के बिना आबादी को रोकना संभव नहीं होगा।भिलाई। दुनिया की आबादी बढ़ कर जुलाई 2019 तक 750 करोड़ हो चुकी है। यदि इसी रफ्तार से आबादी बढ़ती गई तो पृथ्वी पर मनुष्यों का भी जीवन संकट में आ जाएगा। एमजे कालेज में आज विश्व जनसंख्या दिवस पर आयोजित संगोष्ठि में आबादी वृद्धि के कारण और इसे रोकने के विकल्पों पर सार्थक चर्चा की गई। यह पाया गया कि कठिन नियम कानून के बिना आबादी को रोकना संभव नहीं होगा।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

बड़ा लक्ष्य साधना हो तो कहीं से भी करें शुरुआत, खुलते जाएंगे रास्ते : शिखा

मिसेज डिवा इंटरनेशनलभिलाई। मिसेज यूनिवर्स की फाइनलिस्ट शिखा साहू का मानना है कि बड़ा लक्ष्य साधना हो तो जहां से भी अवसर मिले शुरुआत कर देनी चाहिए। 2017 में प्राइड आफ छत्तीसगढ़ से अपनी यात्रा प्रारंभ करने वाली शिखा साहू फिलहाल मिसेज डिवा इंटरनेशनल में भाग लेने के लिए नई दिल्ली में हैं। अपने निवास पर इस प्रतिनिधि से चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि उनके लिये यह सफर आसान नहीं रहा। पर पति के प्रोत्साहन एवं स्वयं की मेहनत से वे धीरे-धीरे आगे बढ़ती रहीं।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare