आजादी की लड़ाई थी कठिन, पर उससे भी कठिन है इसे बनाए रखना : श्रीलेखा

भिलाई। एमजे कालेज की निदेशक श्रीलेखा विरुलकर ने 73वें स्वतंत्रता दिवस पर ध्वजारोहण करने बाद आज कहा कि आजादी की लड़ाई बेशक बहुत कठिन और लंबी थी पर उससे भी ज्यादा कठिन है इस आजादी को बनाए रखना। हमें इस आजादी का उपयोग सभी क्षेत्रों में अपने विकास के लक्ष्य को प्राप्त कर देश को आगे ले जाने के लिए करना चाहिए।  उन्होंने कहा कि आजादी को बनाए रखना और इसका सकारात्मक प्रयोग करना ठीक वैसा ही है जैसा कि अपने प्रतिष्ठानों को दिन भर स्वच्छ बनाए रखना होता है। सुबह सफाई कर्मी परिसर को झाड़ू पोंछा लगाकर साफ-सुथरा कर देते हैं पर शाम तक वह फिर वैसे का वैसा गंदा हो जाता है। उन्होंने कहा कि हममे से प्रत्येक को अपनी अपनी क्षमता के अनुसार देशवासियों की मदद करनी चाहिए।भिलाई। एमजे कालेज की निदेशक श्रीलेखा विरुलकर ने 73वें स्वतंत्रता दिवस पर ध्वजारोहण करने बाद आज कहा कि आजादी की लड़ाई बेशक बहुत कठिन और लंबी थी पर उससे भी ज्यादा कठिन है इस आजादी को बनाए रखना। हमें इस आजादी का उपयोग सभी क्षेत्रों में अपने विकास के लक्ष्य को प्राप्त कर देश को आगे ले जाने के लिए करना चाहिए। उन्होंने कहा कि आजादी को बनाए रखना और इसका सकारात्मक प्रयोग करना ठीक वैसा ही है जैसा कि अपने प्रतिष्ठानों को दिन भर स्वच्छ बनाए रखना होता है। सुबह सफाई कर्मी परिसर को झाड़ू पोंछा लगाकर साफ-सुथरा कर देते हैं पर शाम तक वह फिर वैसे का वैसा गंदा हो जाता है। उन्होंने कहा कि हममे से प्रत्येक को अपनी अपनी क्षमता के अनुसार देशवासियों की मदद करनी चाहिए।भिलाई। एमजे कालेज की निदेशक श्रीलेखा विरुलकर ने 73वें स्वतंत्रता दिवस पर ध्वजारोहण करने बाद आज कहा कि आजादी की लड़ाई बेशक बहुत कठिन और लंबी थी पर उससे भी ज्यादा कठिन है इस आजादी को बनाए रखना। हमें इस आजादी का उपयोग सभी क्षेत्रों में अपने विकास के लक्ष्य को प्राप्त कर देश को आगे ले जाने के लिए करना चाहिए।  उन्होंने कहा कि आजादी को बनाए रखना और इसका सकारात्मक प्रयोग करना ठीक वैसा ही है जैसा कि अपने प्रतिष्ठानों को दिन भर स्वच्छ बनाए रखना होता है। सुबह सफाई कर्मी परिसर को झाड़ू पोंछा लगाकर साफ-सुथरा कर देते हैं पर शाम तक वह फिर वैसे का वैसा गंदा हो जाता है। उन्होंने कहा कि हममे से प्रत्येक को अपनी अपनी क्षमता के अनुसार देशवासियों की मदद करनी चाहिए।प्राचार्य डॉ कुबेर सिंह गुरुपंच ने इस अवसर पर राष्ट्र के प्रति प्रतिबद्धता को दोहराते हुए सभी का आह्वान किया कि वे राष्ट्रीय लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए प्रयास करें। प्रभारी प्राचार्य डॉ अनिल चौबे ने कहा कि सीमा की रक्षा करने के लिए जवान तैनात हैं। हमें अपने अपने कर्म को पूर्ण प्रतिबद्धता एवं सतत् सुधार की चेष्टाओं के साथ करना चाहिए। हमारी व्यक्तिगत चेष्टाएं ही परिवार, समाज, राज्य और फिर देश की चेष्टा बन जाती है।
फार्मेसी कालेज के प्राचार्य डॉ टिकेश्वर कुमार ने महाविद्यालय परिसर की स्वच्छता को रेखांकित करते हुए विद्यार्थियों एवं शिक्षकों का आह्वान किया कि वे इस 2 अक्टूबर तक महाविद्यालय को 100 फीसदी स्वच्छता की कसौटी पर खरा उतारें। एमजे कालेज आॅफ नर्सिंग की प्राचार्य डॉ सी कन्नम्मल ने राष्ट्र के सामने गरीबी, भुखमरी, कुपोषण, भ्रष्टाचार जैसी समस्याओं को रेखांकित करते हुए कहा कि इनसे निपटने के लिए हम सभी को प्रयास करने की जरूरत है।
भिलाई। एमजे कालेज की निदेशक श्रीलेखा विरुलकर ने 73वें स्वतंत्रता दिवस पर ध्वजारोहण करने बाद आज कहा कि आजादी की लड़ाई बेशक बहुत कठिन और लंबी थी पर उससे भी ज्यादा कठिन है इस आजादी को बनाए रखना। हमें इस आजादी का उपयोग सभी क्षेत्रों में अपने विकास के लक्ष्य को प्राप्त कर देश को आगे ले जाने के लिए करना चाहिए।  उन्होंने कहा कि आजादी को बनाए रखना और इसका सकारात्मक प्रयोग करना ठीक वैसा ही है जैसा कि अपने प्रतिष्ठानों को दिन भर स्वच्छ बनाए रखना होता है। सुबह सफाई कर्मी परिसर को झाड़ू पोंछा लगाकर साफ-सुथरा कर देते हैं पर शाम तक वह फिर वैसे का वैसा गंदा हो जाता है। उन्होंने कहा कि हममे से प्रत्येक को अपनी अपनी क्षमता के अनुसार देशवासियों की मदद करनी चाहिए।मौके पर बीकॉम की छात्रा सबा परवीन ने देशभक्ति गीत प्रस्तुत किया वहीं छात्र साहिल किस्सी ने देशभक्ति गीत पर एकल नृत्य प्रस्तुत किया। फार्मेसी कालेज की प्रथम वर्ष की मोनाली राजाभोज, पलक देवांगन एवं अनमोल देवांगन ने देशभक्ति गीत पर सामूहिक नृत्य प्रस्तुत किया। कार्यक्रम का संचालन आईक्यूएसी प्रभारी अर्चना त्रिपाठी एवं ममता एस राहुल ने किया।
इस अवसर पर एनएसएस प्रभारी डॉ जेपी कन्नौजे ने सी सर्टिफिकेट प्राप्त करने वाले एनएसएस स्वयं सेवकों को प्रमाण पत्रों का वितरण किया।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>