स्वरुपानंद सरस्वती महाविद्यालय में आईक्यूएसी की बैठक रखी गयी

भिलाई। स्वामी श्री स्वरुपानंद सरस्वती महाविद्यालय में आईक्यूएसी हितधारकों की बैठक रखी गई जिसमें डॉ. डीएन शर्मा प्रो. कल्याण महाविद्यालय, डॉ. अनिता सहगल एवं डॉ. नसरीन हुसैन कन्या महाविद्यालय दुर्ग, डॉ. मोनिषा शर्मा प्रतिनिधि प्रबंधन समिति, डॉ. श्रीमती हंसा शुक्ला प्राचार्य, डॉ. सुनीता वर्मा एवं डॉ. अजीता सजीत शिक्षक प्रतिनिधि, श्रीमती भावना चौहान पालक प्रतिनिधि, कुमारी प्रियंका चैहान, कुमारी स्मृद्धि तिवारी छात्र प्रतिनिधि, कुमारी चेतना एल्मुनायी उपस्थित हुए।भिलाई। स्वामी श्री स्वरुपानंद सरस्वती महाविद्यालय में आईक्यूएसी हितधारकों की बैठक रखी गई जिसमें डॉ. डीएन शर्मा प्रो. कल्याण महाविद्यालय, डॉ. अनिता सहगल एवं डॉ. नसरीन हुसैन कन्या महाविद्यालय दुर्ग, डॉ. मोनिषा शर्मा प्रतिनिधि प्रबंधन समिति, डॉ. श्रीमती हंसा शुक्ला प्राचार्य, डॉ. सुनीता वर्मा एवं डॉ. अजीता सजीत शिक्षक प्रतिनिधि, श्रीमती भावना चौहान पालक प्रतिनिधि, कुमारी प्रियंका चैहान, कुमारी स्मृद्धि तिवारी छात्र प्रतिनिधि, कुमारी चेतना एल्मुनायी उपस्थित हुए।भिलाई। स्वामी श्री स्वरुपानंद सरस्वती महाविद्यालय में आईक्यूएसी हितधारकों की बैठक रखी गई जिसमें डॉ. डीएन शर्मा प्रो. कल्याण महाविद्यालय, डॉ. अनिता सहगल एवं डॉ. नसरीन हुसैन कन्या महाविद्यालय दुर्ग, डॉ. मोनिषा शर्मा प्रतिनिधि प्रबंधन समिति, डॉ. श्रीमती हंसा शुक्ला प्राचार्य, डॉ. सुनीता वर्मा एवं डॉ. अजीता सजीत शिक्षक प्रतिनिधि, श्रीमती भावना चौहान पालक प्रतिनिधि, कुमारी प्रियंका चैहान, कुमारी स्मृद्धि तिवारी छात्र प्रतिनिधि, कुमारी चेतना एल्मुनायी उपस्थित हुए।आइक्यूएसी प्रभारी डॉ. निहारिका देवांगन ने कार्यक्रम के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुये विगत वर्ष आईक्यएसी द्वारा आयोजित कार्यक्रमों का समीक्षात्मक प्रतिवेदन प्रस्तुत किया व नैक की तैयारी के लिये हितधारकों की सलाह मांगी।
डॉ. डी.एन. शर्मा ने कहा नैक में सात मानदंड होते हैं। इसी के अनुसार एक्टिीविटी प्लान करें। टीचिंग लरनिंग में अधिक नंबर है अत: इस पर ज्यादा ध्याद दिया जाना चाहिए। हर वर्ष स्पाट एनालिसिस करना चाहिये। इससे हमारी कमजोरी व स्ट्रैण्थ का पता चलता है आईक्यूएसी का मुख्य उद्देश्य क्वालिटी बढ़ाने की है।
डॉ. अनिता सहगल ने अपने उद्बोधन में कहा सात क्राइटेरिया पर टीम बनाईये, हर हफ्ते वैबसाईट को अपडेट करें। आईक्यूएसी का अलग साईट होना चाहिए व विद्यार्थियों को रोज कॉलेज साईट खोलने की आदत डलवानी चाहिए। हर सप्ताह महाविद्यालयीन गतिविधियों को अपडेट करे, क्रायटैरिया वाईस कार्यक्रम को बाटना चाहिए व महाविद्यालय में होने वाले कार्यक्रमों की जानकारी विद्याथिर्यों को होना चाहिये इसके लिये उन्हें रोज नोटिस बोर्ड देखने के लिये प्रेरित करना चाहिए। आज विद्यार्थियों में तनाव बहुत बढ़ रहा है अत: हफ्ते में एक दिन काउंसलर को बुलाना चाहिये।
डॉ. नसरीन हुसैन ने बताया विज्ञान व सांस्कृतिक कार्यक्रम अलग-अलग रखे प्राध्यापकों का व्यक्तिगत बायोडेटा अपडेट होना चाहिये। उसमें रिसर्च सेमीनार सेवार्ड, सामाजिक कार्य उपब्लियां आदि की जानकारी हो, विद्यार्थियों की उपलब्धि, प्लैसमेंट आदि की जानकारी रखने की बात कही। विद्याथिर्यों के लिये कैरियर काउंसलिंग की व्यवस्था होनी चाहिए।
पालक संघ से शामिल श्रीमती भावना चौहान ने कहा यहां के शिक्षक विद्यार्थियों को पढ़ाई कैरियर व अन्य गतिविधियों के लिये प्रोत्साहित करते है।
डॉ. मोनिषा शर्मा मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने कहा गांव को गोद लेकर उनके शिक्षा, खेल, रोजगार, स्वच्छता अभियान आदि के लिये कार्य करना चाहिये। उन्होंने बताया महाविद्यालय में सोलर प्लान लगाया जा रहा है साथ ही बायोफर्टिलाईजर के लिये विषद योजना है।
छात्र समृद्धि ने कहा साईन लैंग्वेज की क्लास लगाने व ओपन स्टेज होना चाहिये जिससे हम अपनी प्रतिभा प्रदर्शित कर सके।
चेतना गौर ने मीटिंग में कहा यहां कमजोर छात्रों के लिये अतिरिक्त कक्षायें लगाई जाती है।
प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने महाविद्यालय की उपलब्धियों पर प्रकाश डाला व बताया यहॉं परीक्षा परिणाम शतप्रतिशत रहता है, अच्छे पैकेज में बच्चों का प्लैसमेंट होता है, हमने मोहलई गांव व ज्ञानोदय स्कूल रुआबांधा को गोद लिया हुआ है, समय-समय पर कैरियर पर काउंसलिंग व पसर्नाल्टी डैवलमेंट की कक्षायें व नेट सैट की नि:शुल्क कोचिंग करायी जाती है। कार्यक्रम को सफल बनाने में स.प्रा. षैलजा पवार, टी. बबीता ने विशेष सहयोग दिया। कार्यक्रम में मंच संभाला व धन्यवाद ज्ञापन डॉ. निहारिका देवांगन विभागाध्यक्ष वनस्पति षास्त्र ने किया।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>