स्वरूपानंद कालेज में हिन्दी दिवस – राष्ट्रभाषा बिना देश गूंगा : महात्मा गांधी

भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में हिन्दी विभाग एवं स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया अस्पताल परिसर सेक्टर - 9 के संयुक्त तत्वावधान में हिन्दी सप्ताह का आयोजन किया जा रहा है। डॉ. सुनीता वर्मा विभागाध्यक्ष हिन्दी ने बताया हिन्दी हमारी राष्ट्रभाषा है। महात्मा गांधी ने भी कहा है कि राष्ट्रभाषा के बिना देश गूंगा है। कार्यक्रम के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुये डॉ वर्मा ने बताया हिन्दी के प्रति जागरुकता व रुचि उत्पन्न करने के उद्देश्य से सप्ताह भर विविध कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। राष्ट्रभाषा राष्ट्र की अस्मिता का प्रतीक है। राष्ट्रभाषा से देश की आवाज आवाम तक व विदेशों में भी पहुंचती है।भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में हिन्दी विभाग एवं स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया अस्पताल परिसर सेक्टर – 9 के संयुक्त तत्वावधान में हिन्दी सप्ताह का आयोजन किया जा रहा है। डॉ. सुनीता वर्मा विभागाध्यक्ष हिन्दी ने बताया हिन्दी हमारी राष्ट्रभाषा है। महात्मा गांधी ने भी कहा है कि राष्ट्रभाषा के बिना देश गूंगा है। कार्यक्रम के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुये डॉ वर्मा ने बताया हिन्दी के प्रति जागरुकता व रुचि उत्पन्न करने के उद्देश्य से सप्ताह भर विविध कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। राष्ट्रभाषा राष्ट्र की अस्मिता का प्रतीक है। राष्ट्रभाषा से देश की आवाज आवाम तक व विदेशों में भी पहुंचती है।भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में हिन्दी विभाग एवं स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया अस्पताल परिसर सेक्टर - 9 के संयुक्त तत्वावधान में हिन्दी सप्ताह का आयोजन किया जा रहा है। डॉ. सुनीता वर्मा विभागाध्यक्ष हिन्दी ने बताया हिन्दी हमारी राष्ट्रभाषा है। महात्मा गांधी ने भी कहा है कि राष्ट्रभाषा के बिना देश गूंगा है। कार्यक्रम के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुये डॉ वर्मा ने बताया हिन्दी के प्रति जागरुकता व रुचि उत्पन्न करने के उद्देश्य से सप्ताह भर विविध कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। राष्ट्रभाषा राष्ट्र की अस्मिता का प्रतीक है। राष्ट्रभाषा से देश की आवाज आवाम तक व विदेशों में भी पहुंचती है।प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने आयोजन के लिये हिन्दी विभाग को बधाई देते हुये कहा कार्यक्रम में प्रतिभागियों की संख्या विभाग की हिन्दी के प्रति प्रतिवद्धता व विद्यार्थियों के हिन्दी के प्रति समपर्ण व रुचि को प्रकट करता है। हिन्दी हमारी आत्मा की भाषा है। जब हिन्दी में अपनी संवेदनाओं को व्यक्त करते है तो वह दिन हिन्दी दिवस है।
कार्यक्रम में विद्यार्थियों ने उत्साहपूर्वक भाग लिये जिसमें धारा 370 पर निबंध लिखे। वहीं शिक्षकों को आमंत्रित करने के लिये निमंत्रण पत्र लिखे साथ ही स्वच्छ भारत को साकार करते सुंदर व स्वच्छ भारत के चित्र उकेरे। वहीं जल की महत्ता को प्रदर्षित करते हुये ह्यजल है तो कल हैह्ण पर मन को छू लेने वाले स्लोगन (नारे) लिखे व जल की कमी से होने वाले समस्याओं से परिचित कराया। निमंत्रण पत्र विद्याथिर्यों ने इतने कलात्मक बनाये के निर्णायक ही असमंजस्य में पड़ गये।
निर्णायक के रुप में डॉ. नीलम गांधी विभागाध्यक्ष वाणिज्य, डॉ. निहारिका देवांगन विभागाध्यक्ष वनस्पति शास्त्र, डॉ. तृषा शर्मा एसोसियेट प्रोफेसर शिक्षा विभाग, डॉ. अजीता सजीत स.प्रा. वाणिज्य श्रीमती मीना मिश्रा विभागाध्यक्ष गणित, श्रीमती सुनीता शर्मा स.प्रा. जन्तुविज्ञान, उपस्थित हुए।
विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेताओं के नाम इस प्रकार हैं। नारा लेखन – दिव्या तिवारी, दीपक पुरसेठ, पूजा रावटे एवं सरिता साहू को क्रमश: प्रथम, द्वितीय, तृतीय एवं सांत्वना पुरस्कार दिया गया। निमंत्रण पत्र स्पर्धा में दिव्या तिवारी एवं रितेश वर्मा प्रथम, योग प्रज्ञा द्वितीय, प्रियंका चौहान तृतीय तथा दीपा पुरसेठ को सांत्वना पुरस्कार प्रदान किया गा।
निबंध प्रतियोगिता में दिव्या तिवारी, पूनम शर्मा, प्रियंका चौहान तथा माधुरी साहू, पोस्टर प्रतियोगिता में उपासना साहू, योग प्रज्ञा साहू, खेमा साहू तथा शीतल राजपूत क्रमश: प्रथम, द्वितीय, तृतीय एवं चतुर्थ पुरस्कार प्रदान किया गया।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>