भिलाई। ‘न तो श्रीकृष्ण रणछोड़ थे न ही नारद जी चुगलखोर। दोनों की प्रत्येक क्रिया के पीछे गहरी सोच हुआ करती थी। श्रीकृष्ण ने कालयवन More »

भिलाई। सेन्ट्रल एवेन्यू पर धूम मचाने वाली ‘तफरीह’ एक बार फिर प्रारंभ होने जा रही है। महापौर एवं विधायक देवेन्द्र यादव की यह महत्वाकांक्षी योजना More »

भिलाई। इंदु आईटी स्कूल में प्री-प्राइमरी विंग के नर्सरी से केजी-2 तक के नन्हे-मुन्ने बच्चों द्वारा श्रीकृष्ण जन्माष्टमी बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। More »

भिलाई। केपीएस के प्रज्ञोत्सव-2019 में आज शास्त्रीय नृत्यांगनाओं ने पौराणिक कथाओं को बेहद खूबसूरती के साथ मंच पर उतारा। भरतनाट्यम एवं कूचिपुड़ी कलाकारों ने महाभारत, More »

भिलाई। कृष्णा पब्लिक स्कूल कुटेलाभाटा ने 73वां स्वतंत्रता दिवस खुले, स्वच्छंद आकाश में ध्वजारोहण करते हर्षोल्लास के साथ मनाया। इस समारोह में स्कूल की बैण्ड More »

 

स्वरूपानंद महाविद्यालय में विज्ञान परिषद् के गठन पर लो-कैलोरी खाद्य प्रतिस्पर्धा

भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में विज्ञान संकाय की गतिविधियों के सुचारू संचालन के लिये विज्ञान परिषद् का गठन किया गया। वावा पाटणकर शासकीय कन्या महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. सुशील चन्द्र तिवारी कार्यक्रम के मुख्य अतिथि थे। अध्यक्षता प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने की। रसायन शास्त्र विभाग की अध्यक्ष एवं कार्यक्रम प्रभारी डॉ. रजनी मुदलियार ने परिषद् की विगत वर्ष की गतिविधियों का सारांश प्रस्तुत किया।भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में विज्ञान संकाय की गतिविधियों के सुचारू संचालन के लिये विज्ञान परिषद् का गठन किया गया। वावा पाटणकर शासकीय कन्या महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. सुशील चन्द्र तिवारी कार्यक्रम के मुख्य अतिथि थे। अध्यक्षता प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने की। रसायन शास्त्र विभाग की अध्यक्ष एवं कार्यक्रम प्रभारी डॉ. रजनी मुदलियार ने परिषद् की विगत वर्ष की गतिविधियों का सारांश प्रस्तुत किया।SSSSMV-01 SSSSMV-02 SSSSMV-04 भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में विज्ञान संकाय की गतिविधियों के सुचारू संचालन के लिये विज्ञान परिषद् का गठन किया गया। वावा पाटणकर शासकीय कन्या महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. सुशील चन्द्र तिवारी कार्यक्रम के मुख्य अतिथि थे। अध्यक्षता प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने की। रसायन शास्त्र विभाग की अध्यक्ष एवं कार्यक्रम प्रभारी डॉ. रजनी मुदलियार ने परिषद् की विगत वर्ष की गतिविधियों का सारांश प्रस्तुत किया।मुख्य अतिथि डॉ. सुशील चन्द्र तिवारी ने छात्रों को प्रोत्साहित करते हुए स्नातक स्तर से ही शोध कार्य प्रारंभ करने की सलाह दी। उन्होंने छात्रों को बताया कि छोटे स्तर पर ही शोध कार्य प्रारंभ कर सकते है जैसे तालाबों से पानी का सैम्पल लाकर, उसमें पाये जाने वाले जैविक तथा अजैविक पदार्थों का विश्लेषण कर सकते है व उनके तथ्यात्मक निष्कर्श प्रस्तुत कर सकते है इस पर अपने आलेख तैयार कर सकते हैं।
डॉ. हंसा शुक्ला ने साइस के दैनिक प्रभाव व उपयोगिता के बारे में बताया और कहा आज हम सुविधापूर्व जीवन जी रहे हैं वह विज्ञान की देन है। आज हमारी जिंदगी के हर कार्य में विज्ञान व तकनीकी का महत्वपूर्ण स्थान है।
विज्ञान विभाग के छात्रों द्वारा स्वास्थ्यवर्धक भोजन की प्रतियोगिता करायी गयी जिसका लुत्फ शिक्षकों व विद्यार्थियों ने उठाया। विद्यार्थियों ने पौष्टिक व कम कैलोरी युक्त भोजन गाजर, पुदीना, चुकंदर की इडली, चॉकलेट, चीज कॉर्न व पीनट बटर का सैंडवीज, कॉर्न, मटर व शिमला मिर्च का अप्पे, जूस, फू्रट सैलेड, खीर, अंकुरित दाने आदि हैल्दी भोज्य पदार्थ रख विद्याथिर्यों को कैलोरी व ऊर्जा से भरपूर खाना खाने की सलाह दी।
विद्यार्थियों ने अपनी कलात्मक प्रतिभा का परिचय देते हुये गीले नारियल के वेस्ट में पौधा लगाकर प्रकृति को हरा भरा व साफ-सुथरा रखने का संदेश भी दिया।
प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने विद्यार्थियों को विज्ञान परिषद् की शपथ दिलाई। विज्ञान परिषद् के सदस्य इस प्रकार है अध्यक्ष वंदना वर्मा (एमएससी बायोटेक तृतीय सेमेस्टर), उपाध्यक्ष एकता गुप्ता (एमएससी बायोटेक- प्रथम सेमेस्टर), सचिव देवयानी सोनी (एमएससी माइक्रो – तृतीय वर्ष), कोषाध्यक्ष कृतांजली केरकेटटा (बीएससी-द्वितीय वर्ष) तथा सदस्य मनीष पाल, आदिरा रघु, मनीषा साहू, सुनिधि पटेल व समृध्दि तिवारी को मनोनीत किया गया।
सप्ताह भर विज्ञान विभाग द्वारा संपन्न हुये विविध प्रतियोगिता का प्रमाण पत्र का वितरण मुख्य अतिथि द्वारा किया गया। पुरस्कृत प्रतिभागियों के नाम इस प्रकार है-
लेट्स हील जोन : होमेन्द्र साहू, मनीष पाल, श्रेया जसवाल एवं एकता गुप्ता को क्रमश: प्रथम, द्वितीय, तृतीय एवं सांत्वना पुरस्कार प्रदान किया गया।
ओजोन डे पोस्टर प्रतियोगिता : पूजा साहू, समीक्षा मिश्रा, विंध्या सेन को क्रमश: प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरस्कार प्रदान किया गया।
वर्ल्ड हेपेटाइटिस डे : पूजा संचेती, दिव्याश्री बी को प्रथम, अमन, नेहा, रजिया, पूर्णिमा सहारे को द्वितीय एवं लेमिन, मेघा, पायल, श्रद्धा बी को तृतीय पुरस्कार दिया गया।
कार्यक्रम को सफल बनाने में स.प्रा. डॉ. शमा ए. बेग, स.प्रा. सुनीता शर्मा, स.प्रा. डॉ. चेताली यादव, स.प्रा. भागवत प्रसाद देवांगन, स.प्रा. शिरीन अनवर, स.प्रा. राखी अरोरा, स.प्रा. हेमपुष्पा उवर्षा विशेष योगदान दिया। मंच संचालन स.प्रा. श्वेता दवे बायोटेक व धन्यवाद ज्ञापन डॉ. निहारिका देवांगन विभागाध्यक्ष वनस्पति शास्त्र, ने किया। कार्यक्रम में महाविद्यालय के सभी प्राध्यापक/प्राध्यापिकायें व विज्ञान संकाय की छात्र-छात्रायें उपस्थित हुये।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>