Daily Archives: October 21, 2019

महिला महाविद्यालय की रासेयो ने किया भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा का आयोजन

भिलाई। भिलाई महिला महाविद्यालय की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई द्वारा 19 अक्तूबर को भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा का आयोजन किया गया। इसमें विभिन्न संकायों की छात्रायें सम्मिलित हुईं। विगत 12 वर्षों से महाविद्यालय में इस परीक्षा का आयोजन किया जा रहा है जिसका मुख्य उद्देश्य छात्राओं में नैतिक एवं मूल्य परक शिक्षा तथा भारतीय संस्कृति से अवगत कराते हुए उनका सर्वांगीण विकास करना है।भिलाई। भिलाई महिला महाविद्यालय की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई द्वारा 19 अक्तूबर को भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा का आयोजन किया गया। इसमें विभिन्न संकायों की छात्रायें सम्मिलित हुईं। विगत 12 वर्षों से महाविद्यालय में इस परीक्षा का आयोजन किया जा रहा है जिसका मुख्य उद्देश्य छात्राओं में नैतिक एवं मूल्य परक शिक्षा तथा भारतीय संस्कृति से अवगत कराते हुए उनका सर्वांगीण विकास करना है।

देश के 669 तलवारबाजों के बीच मुकाबला शुरू, फेंसिंग नॉक आउट में पहुंची टीम

भिलाई। देश के 27 राज्यों के 669 नन्हे खिलाड़ियों के बीच फेंसिंग (तलवारबाजी) का मुकाबला आज प्रारंभ हो गया। उद्घाटन के अवसर पर भिलाई विधायक देवेन्द्र यादव, दुर्ग विधायक अरुण वोरा, अर्जुन अवार्डी ओलिंपियन राजेन्द्र प्रसाद, गोपाल खंडेलवाल समेत अनेक खेल प्रेमी उपस्थित थे। छत्तीसगढ़ प्रदेश फेंसिंग एसोसिएशन द्वारा 21वीं सब जूनियर फेंसिंग प्रतियोगिता का आयोजन अग्रसेन भवन, सेक्टर-6 में 21 से 24 अक्टूबर तक आयोजित है। भारतीय फेंसिंग महासंघ, खेल एवं युवा कल्याण विभाग, छत्तीसगढ़ शासन एवं भिलाई इस्पात संयंत्र ने संयुक्त रूप से यह आयोजन किया है।भिलाई। देश के 27 राज्यों के 669 नन्हे खिलाड़ियों के बीच फेंसिंग (तलवारबाजी) का मुकाबला आज प्रारंभ हो गया। उद्घाटन के अवसर पर भिलाई विधायक देवेन्द्र यादव, दुर्ग विधायक अरुण वोरा, अर्जुन अवार्डी ओलिंपियन राजेन्द्र प्रसाद, गोपाल खंडेलवाल समेत अनेक खेल प्रेमी उपस्थित थे। छत्तीसगढ़ प्रदेश फेंसिंग एसोसिएशन द्वारा 21वीं सब जूनियर फेंसिंग प्रतियोगिता का आयोजन अग्रसेन भवन, सेक्टर-6 में 21 से 24 अक्टूबर तक आयोजित है। भारतीय फेंसिंग महासंघ, खेल एवं युवा कल्याण विभाग, छत्तीसगढ़ शासन एवं भिलाई इस्पात संयंत्र ने संयुक्त रूप से यह आयोजन किया है।

प्रदूषण नियंत्रण में एन्जाइम के उपयोग पर शंकराचार्य महाविद्यालय में व्याख्यान

भिलाई। श्री शंकराचार्य महाविद्यालय के बायोटेक्नोलॉजी विभाग द्वारा ‘एन्जाइम एंड इट्स यूटिलाइजेशन इन पोल्यूशन कंट्रोल’ विषय पर अतिथि व्याख्यान का आयोजन किया गया जिसमें भिलाई महिला महाविद्यालय की बायो टेक्नोलॉजी विषय की सहायक प्राध्यापक श्रीमती सबीहा नाज ने पर्यावरण प्रदूषण निवारण संबंधी पहलुओं पर प्रकाश डाला एवं विद्यार्थियों का ज्ञान वर्धन करने के साथ ही बढ़ते हुए प्रदूषण को एन्जाइम के द्वारा कम करने की जानकारी विद्यार्थियों को दी।भिलाई। श्री शंकराचार्य महाविद्यालय के बायोटेक्नोलॉजी विभाग द्वारा ‘एन्जाइम एंड इट्स यूटिलाइजेशन इन पोल्यूशन कंट्रोल’ विषय पर अतिथि व्याख्यान का आयोजन किया गया जिसमें भिलाई महिला महाविद्यालय की बायो टेक्नोलॉजी विषय की सहायक प्राध्यापक श्रीमती सबीहा नाज ने पर्यावरण प्रदूषण निवारण संबंधी पहलुओं पर प्रकाश डाला एवं विद्यार्थियों का ज्ञान वर्धन करने के साथ ही बढ़ते हुए प्रदूषण को एन्जाइम के द्वारा कम करने की जानकारी विद्यार्थियों को दी।

संतोष रूंगटा ग्रुप की मैनेजमेन्ट फैकल्टी पूजा को शॉपिंग पर पीएचडी

भिलाई। संतोष रूंगटा ग्रुप द्वारा संचालित बिजनेस स्कूल की फैकल्टी पूजा गौतमचंद लूनिया को छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय द्वारा पीएचडी अवार्ड किया गया है। उन्होंने रिटेल स्टोर के परिवेश का चुनिंदा वस्तुओं की ग्राहकी पर पड़ने वाले आवेगी प्रभाव पर अपना शोध पत्र प्रस्तुत किया था। उन्होंने प्रबंधन के विभागाध्यक्ष डॉ मनोज वर्गीस के निर्देशन में अपना शोध प्रस्तुत किया।भिलाई। संतोष रूंगटा ग्रुप द्वारा संचालित रूंगटा कालेज ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी की फैकल्टी पूजा गौतमचंद लूनिया को छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय द्वारा पीएचडी अवार्ड किया गया है। उन्होंने रिटेल स्टोर के परिवेश का चुनिंदा वस्तुओं की ग्राहकी पर पड़ने वाले आवेगी प्रभाव पर अपना शोध पत्र प्रस्तुत किया था। उन्होंने प्रबंधन के विभागाध्यक्ष डॉ मनोज वर्गीस के निर्देशन में अपना शोध प्रस्तुत किया।

गर्ल्स कॉलेज दुर्ग की 12 खिलाड़ी विश्वविद्यालय स्तर पर पुरस्कृत

दुर्ग। शासकीय डॉ. वा.वा. पाटणकर कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय दुर्ग की सर्वाधिक खिलाड़ियों को हेमचंद यादव विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित खिलाड़ी सम्मान समारोह में सम्मानित किया गया। महाविद्यालय की कुल 12 खिलाड़ियों को विश्वविद्यालय द्वारा सम्मानित किया गया है। इनमें महिला बास्केटबाल टीम की 7 खिलाड़ियों के अलावा हैण्डबाल की 5 खिलाड़ी शामिल हैं।दुर्ग। शासकीय डॉ. वा.वा. पाटणकर कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय दुर्ग की सर्वाधिक खिलाड़ियों को हेमचंद यादव विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित खिलाड़ी सम्मान समारोह में सम्मानित किया गया। महाविद्यालय की कुल 12 खिलाड़ियों को विश्वविद्यालय द्वारा सम्मानित किया गया है। इनमें महिला बास्केटबाल टीम की 7 खिलाड़ियों के अलावा हैण्डबाल की 5 खिलाड़ी शामिल हैं।

श्रीशंकराचार्य महाविद्यालय में महात्मा गांधी पर भाषण प्रतियोगिता

भिलाई। श्रीशंकराचार्य महाविद्यालय के शिक्षा संकाय द्वारा महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के उपलक्ष्य पर ‘गांधी जी एवं राष्ट्रवाद’ विषय पर भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। प्रतियोगिता में शिक्षा संकाय के चारों सांस्कृतिक समूह के विद्यार्थिर्याे ने भाग लिया तथा गांधी के विचारों एवं सिद्धांतों से अवगत कराया। भाषण प्रतियोगिता की निर्णायक डॉ. अर्चना झा एवं डॉ. नीता शर्मा थीं।भिलाई। श्रीशंकराचार्य महाविद्यालय के शिक्षा संकाय द्वारा महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के उपलक्ष्य पर ‘गांधी जी एवं राष्ट्रवाद’ विषय पर भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। प्रतियोगिता में शिक्षा संकाय के चारों सांस्कृतिक समूह के विद्यार्थिर्याे ने भाग लिया तथा गांधी के विचारों एवं सिद्धांतों से अवगत कराया। भाषण प्रतियोगिता की निर्णायक डॉ. अर्चना झा एवं डॉ. नीता शर्मा थीं।

‘अंडरस्टैण्डिंग द करेक्टर’ साइंस कालेज में पर सात दिवसीय नाट्य कार्यशाला

दुर्ग। शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय में साहित्य समिति द्वारा नाट्य कला पर सात दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला का संचालन आॅनसेंबल थियेटर-इन-एजुकेशन एसआरपीए, भोपाल म.प्र. के उज्जवल सिन्हा द्वारा किया गया। इन सात दिनों में छात्र-छात्राओं को रोचक गतिविधियोें द्वारा दिमाग को एकाग्रचित कर स्थिरता लाना, एक दूसरे को समझना सिखाया गया।दुर्ग। शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय में साहित्य समिति द्वारा नाट्य कला पर सात दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला का संचालन ऑनसेंबल थियेटर-इन-एजुकेशन एसआरपीए, भोपाल म.प्र. के उज्जवल सिन्हा द्वारा किया गया। इन सात दिनों में छात्र-छात्राओं को रोचक गतिविधियोें द्वारा दिमाग को एकाग्रचित कर स्थिरता लाना, एक दूसरे को समझना सिखाया गया।