धमतरी। बांस से तो हम सभी परिचित हैं। बांस से बनी सजावटी वस्तुओं के बारे में भी हम सभी जानते हैं पर बांस से जेवर More »

भिलाई। ‘न तो श्रीकृष्ण रणछोड़ थे न ही नारद जी चुगलखोर। दोनों की प्रत्येक क्रिया के पीछे गहरी सोच हुआ करती थी। श्रीकृष्ण ने कालयवन More »

भिलाई। सेन्ट्रल एवेन्यू पर धूम मचाने वाली ‘तफरीह’ एक बार फिर प्रारंभ होने जा रही है। महापौर एवं विधायक देवेन्द्र यादव की यह महत्वाकांक्षी योजना More »

भिलाई। इंदु आईटी स्कूल में प्री-प्राइमरी विंग के नर्सरी से केजी-2 तक के नन्हे-मुन्ने बच्चों द्वारा श्रीकृष्ण जन्माष्टमी बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। More »

भिलाई। केपीएस के प्रज्ञोत्सव-2019 में आज शास्त्रीय नृत्यांगनाओं ने पौराणिक कथाओं को बेहद खूबसूरती के साथ मंच पर उतारा। भरतनाट्यम एवं कूचिपुड़ी कलाकारों ने महाभारत, More »

 

Daily Archives: November 9, 2019

मेंडलीफ ने संस्कृत को बनाया था पीरियॉडिक टेबल का आधार : डॉ घोष

साइंस कॉलेज में आवर्तसारिणी की 150 वीं वर्षगांठ पर कार्यक्रम आयोजित

 दुर्ग। अंतर्विषयक अध्ययन वर्तमान समय की आवश्यकता है। इसमें सफलता की अपार संभावनाएं हैं। रसायन शास्त्र में मेंडलीफ की आवर्त सारिणी के निर्माण के दौरान वैज्ञानिक मेंडलीफ ने संस्कृत भाषा की सहायता ली थी। ये उद्गार पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय रायपुर के रसायन शास्त्री एवं बेसिक साइंस इंस्टीट्यूट के डायरेक्टर डॉ. के.के. घोष ने आज शास. विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय के रवीन्द्रनाथ टैगोर सभागार में व्यक्त किये।दुर्ग। अंतर्विषयक अध्ययन वर्तमान समय की आवश्यकता है। इसमें सफलता की अपार संभावनाएं हैं। रसायन शास्त्र में मेंडलीफ की आवर्त सारिणी के निर्माण के दौरान वैज्ञानिक मेंडलीफ ने संस्कृत भाषा की सहायता ली थी। ये उद्गार पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय रायपुर के रसायन शास्त्री एवं बेसिक साइंस इंस्टीट्यूट के डायरेक्टर डॉ. के.के. घोष ने आज शास. विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय के रवीन्द्रनाथ टैगोर सभागार में व्यक्त किये।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

स्वरूपानन्द महाविद्यालय में विश्व कैंसर दिवस पर अतिथि व्याख्यान

भिलाई। स्वामी श्री स्वरुपानंद सरस्वती महाविद्यालय में आईक्यूएसी एवं महिला सेल के संयुक्त तात्वावधान में ‘कैंसर कारण व निदान’ पर अतिथि व्याख्यान का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि वक्ता के रूप में डॉ. मानसी गुलाटी स्त्री रोग विषेशज्ञ रमेशचन्द्र फाउंडेशन उपस्थित हुई। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने की। कार्यक्रम के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुये महिला सेल प्रभारी डॉ. तृषा शर्मा ने कहा आज भारत ही नहीं विश्व की अधिकांश महिलायें कैंसर से पीड़ित हैं।भिलाई। स्वामी श्री स्वरुपानंद सरस्वती महाविद्यालय में आईक्यूएसी एवं महिला सेल के संयुक्त तात्वावधान में ‘कैंसर कारण व निदान’ पर अतिथि व्याख्यान का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि वक्ता के रूप में डॉ. मानसी गुलाटी स्त्री रोग विशेषज्ञ रमेशचन्द्र फाउंडेशन उपस्थित हुई। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने की।कार्यक्रम के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुये महिला सेल प्रभारी डॉ. तृषा शर्मा ने कहा आज भारत ही नहीं विश्व की अधिकांश महिलायें कैंसर से पीड़ित हैं।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

शंकराचार्य महाविद्यालय परिसर में डेंगू की रोकथाम के लिए किया छिड़काव

भिलाई। श्री शंकराचार्य महाविद्यालय के कंप्यूटर विभाग द्वारा डेंगू अवेयरनेस प्रोग्राम के तहत महाविद्यालय परिसर के आसपास एंटी डेंगू ड्रग का छिड़काव किया गया। इसके साथ ही छात्र-छात्राओं को जागरूक किया गया कि वे अपने घर के आस-पास भी इस तरह के कार्य करे एवं लोगों को भी जागरूक करें। उल्लेखनीय है कि पिछले वर्ष डेंगू ने बड़ी संख्या में लोगों को अपनी चपेट में लिया था और 50 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी।भिलाई। श्री शंकराचार्य महाविद्यालय के कंप्यूटर विभाग द्वारा डेंगू अवेयरनेस प्रोग्राम के तहत महाविद्यालय परिसर के आसपास एंटी डेंगू ड्रग का छिड़काव किया गया। इसके साथ ही छात्र-छात्राओं को जागरूक किया गया कि वे अपने घर के आस-पास भी इस तरह के कार्य करे एवं लोगों को भी जागरूक करें। उल्लेखनीय है कि पिछले वर्ष डेंगू ने बड़ी संख्या में लोगों को अपनी चपेट में लिया था और 50 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare