धमतरी। बांस से तो हम सभी परिचित हैं। बांस से बनी सजावटी वस्तुओं के बारे में भी हम सभी जानते हैं पर बांस से जेवर More »

भिलाई। ‘न तो श्रीकृष्ण रणछोड़ थे न ही नारद जी चुगलखोर। दोनों की प्रत्येक क्रिया के पीछे गहरी सोच हुआ करती थी। श्रीकृष्ण ने कालयवन More »

भिलाई। सेन्ट्रल एवेन्यू पर धूम मचाने वाली ‘तफरीह’ एक बार फिर प्रारंभ होने जा रही है। महापौर एवं विधायक देवेन्द्र यादव की यह महत्वाकांक्षी योजना More »

भिलाई। इंदु आईटी स्कूल में प्री-प्राइमरी विंग के नर्सरी से केजी-2 तक के नन्हे-मुन्ने बच्चों द्वारा श्रीकृष्ण जन्माष्टमी बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। More »

भिलाई। केपीएस के प्रज्ञोत्सव-2019 में आज शास्त्रीय नृत्यांगनाओं ने पौराणिक कथाओं को बेहद खूबसूरती के साथ मंच पर उतारा। भरतनाट्यम एवं कूचिपुड़ी कलाकारों ने महाभारत, More »

 

Daily Archives: November 19, 2019

कोई भी खोज छोटी नहीं होती, समय पर ऐसे कराएं पेटेंट : डॉ दुबे

स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में आईपीआर पर अतिथि व्याख्यान

भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में माइक्रोबायोलॉजी विभाग, आइक्यूएसी, रिसर्च कमेटी द्वारा आईपीआर पर अतिथि व्याख्यान कार्यक्रम का आयोजन किया गया। मुख्य वक्ता डॉ. अमित दुबे साइंटिस्ट ‘डी’ सीजीकॉस्ट थे। उन्होंने राइट्स इन्टेक्चुअल प्रोपर्टी राइट्स पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कोई भी ऐसा काम ऐसा नही जो छोटा हो, आप कोई खोज या रीसर्च करते है उसे आप पेटेंट जरूर करा लें। किसी नवाचार का महत्व तब माना जायेगा, जब वह बाजार में उपयोगी होगा।भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में माइक्रोबायोलॉजी विभाग, आइक्यूएसी, रिसर्च कमेटी द्वारा आईपीआर पर अतिथि व्याख्यान कार्यक्रम का आयोजन किया गया। मुख्य वक्ता डॉ. अमित दुबे साइंटिस्ट ‘डी’ सीजीकॉस्ट थे। उन्होंने राइट्स इन्टेक्चुअल प्रोपर्टी राइट्स पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कोई भी ऐसा काम ऐसा नही जो छोटा हो, आप कोई खोज या रीसर्च करते है उसे आप पेटेंट जरूर करा लें। किसी नवाचार का महत्व तब माना जायेगा, जब वह बाजार में उपयोगी होगा।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

एनसीसी दिवस पर शंकराचार्य महाविद्यालय में मिनी मैराथन का आयोजन

NCC Day celebrated at Shri Shankaracharya Mahavidyalayaभिलाई। श्री शंकराचार्य महाविद्यालय में 71वां एनसीसी दिवस के अवसर पर मिनी मैराथन का आयोजन किया गया। इस अवसर पर 5 दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। इस आयोजन के प्रथम दिवस 19 नवम्बर को मिनी मैराथन का आयोजन किया गया। महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. रक्षा सिंह ने 71वां एन.सी.सी. दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि देश के नवनिर्माण में एनसीसी कैडेट का महत्वपूर्ण भूमिका होती है।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

धुम्रपान निषेध एवं स्वच्छता के लिए जागरूकता लाने विद्यार्थियों ने खेला नुक्कड़ नाटक

दुर्ग। शासकीय वीवायटी स्नानकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई द्वारा दुर्ग रेलवे स्टेशन पर स्वच्छता के क्षेत्र में जागरूकता लाने नुक्कड़ नाटक प्रस्तुत किया गया। एनएसएस के स्वयं सेवकों ने नुक्कड़ नाटकों के माध्यम से दुर्ग रेलवे स्टेशन के परिसर में यात्रियों को जागरूक करने का प्रयास किया। इस कार्यक्रम का आयोजन प्राचार्य डॉ. आर. एन. सिंह के दिशा निर्देश पर किया गया था।दुर्ग। शासकीय वीवायटी स्नानकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई द्वारा दुर्ग रेलवे स्टेशन पर स्वच्छता के क्षेत्र में जागरूकता लाने नुक्कड़ नाटक प्रस्तुत किया गया। एनएसएस के स्वयं सेवकों ने नुक्कड़ नाटकों के माध्यम से दुर्ग रेलवे स्टेशन के परिसर में यात्रियों को जागरूक करने का प्रयास किया। इस कार्यक्रम का आयोजन प्राचार्य डॉ. आर. एन. सिंह के दिशा निर्देश पर किया गया था।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

अंधानुकरण न करें, सुनें-समझें और अपने निर्णय खुद करें : रघुरामन

संतोष रूंगटा समूह  के ‘मार्गदर्शन’ कार्यक्रम में हजारों स्कूली बच्चों को मिली दिशा

N Raghuraman speaks at Aarambh organized by Santosh Rungta Groupभिलाई। संतोष रूंगटा समूह द्वारा हाई स्कूल स्टूडेंट्स के लिए आयोजित ‘मार्गदर्शन’ में सेलेब्रिटी मोटिवेशनल स्पीकर्स एन रघुरामन, दीपक वोहरा एवं जवाहर सूरीशेट्टी ने बच्चों का मार्गदर्शन किया। प्रसिद्ध स्पीकर एवं स्तंभकार रघुरामन ने बच्चों से कहा कि अपनी सुनने की क्षमता बढ़ाएं तथा विषय वस्तु को समझने के बाद स्वतंत्र सोच के साथ निर्णय लें। अपने साकार करने पूरी ताकत झोंक दें तो आशातीत सफलता मिलेगी।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

वेदों में है सूक्ष्म जीवों से होने वाली बीमारी, औषधि एवं उपचार का उल्लेख : प्रो. दुबे

भिलाई महिला महाविद्यालय में ‘वैदिक माइक्रोबायोलॉजी’ पर हुआ व्याख्यान

Diseases arising out of microorganisms has been defined in the Vedas alsoभिलाई। भिलाई एजुकेशन ट्रस्ट द्वारा संचालित भिलाई महिला महाविद्यालय के बायोटेक्नोलॉजी, माइक्रोबायोलॉजी एवं बॉटनी विभाग के संयुक्त तत्वावधान में वैदिक माइक्रोबायोलॉजी विषय पर गेस्ट लेक्चर का आयोजन किया गया। विषय विशेषज्ञ के रूप में गुरूकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय, हरिद्वार के बॉटनी एवं माइक्राबायोलॉजी विभाग के अध्यक्ष प्रोफेसर डॉ. आर.सी. दुबे उपस्थित थे।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare