धमतरी। बांस से तो हम सभी परिचित हैं। बांस से बनी सजावटी वस्तुओं के बारे में भी हम सभी जानते हैं पर बांस से जेवर More »

भिलाई। ‘न तो श्रीकृष्ण रणछोड़ थे न ही नारद जी चुगलखोर। दोनों की प्रत्येक क्रिया के पीछे गहरी सोच हुआ करती थी। श्रीकृष्ण ने कालयवन More »

भिलाई। सेन्ट्रल एवेन्यू पर धूम मचाने वाली ‘तफरीह’ एक बार फिर प्रारंभ होने जा रही है। महापौर एवं विधायक देवेन्द्र यादव की यह महत्वाकांक्षी योजना More »

भिलाई। इंदु आईटी स्कूल में प्री-प्राइमरी विंग के नर्सरी से केजी-2 तक के नन्हे-मुन्ने बच्चों द्वारा श्रीकृष्ण जन्माष्टमी बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। More »

भिलाई। केपीएस के प्रज्ञोत्सव-2019 में आज शास्त्रीय नृत्यांगनाओं ने पौराणिक कथाओं को बेहद खूबसूरती के साथ मंच पर उतारा। भरतनाट्यम एवं कूचिपुड़ी कलाकारों ने महाभारत, More »

 

Daily Archives: January 9, 2020

स्वरूपानंद महाविद्यालय ने यूनिवर्सिटी मेरिट लिस्ट में मारी बाजी

Merit List of Swaroopanand Saraswati Collegeभिलाई। हेमचंद विश्वविद्यालय दुर्ग द्वारा 2018-19 की प्रावीण्य सूची जारी की गई जिसमें स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय के नौ विद्यार्थियों ने मेरिट लिस्ट में अपना स्थान बनाया। बॉयोटेक के तीन विद्यार्थी मेरिट लिस्ट में आये। इनमें प्रथम अदिति गुप्ता, तृतीय अक्षदीप कौर भाटिया तथा छठवें स्थान पर दीपिका पटेल रहीं। इसी तरह कम्प्यूटर साइंस में प्रथम स्थान पर प्रिया तिवारी तथा सातवें स्थान पर अंजित कौर ने अपना स्थान बनाया।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

बैंकिंग तथा फिनांशियल सविर्सेस में 2020 तक 50,000 प्रफेशनल्स की जरूरत

भिलाई महिला महाविद्यालय में यूएसए से सर्टिफाइड फिनांशियल प्लानर कोर्स प्रारंभ

India needs 50k financial planners in 2020भिलाई। भिलाई एजुकेशन ट्रस्ट तथा इंटरनेशनल कॉलेज आॅफ फिनांशियल प्लानिंग के संयुक्त तत्वावधान में सर्टिफाइड फिनांशियल प्लानर विषय पर भिलाई महिला महाविद्यालय में एक-दिवसीय वर्कशॉप का आयोजन किया गया। उद्घाटन समारोह के मुख्य अतिथि तथा प्रमुख वक्ता सी.एफ.पी. प्रोग्राम हेड, आईसीओएफपी, नई दिल्ली दिनेश गुप्ता ने कहा कि आज की परिस्थिति में स्वयं को एम्प्लॉयबल बनाने परंपरागत कोर्सेस के साथ एड-आॅन कोर्सेस करना अत्यंत आवश्यक हो गया है।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

भारतीय प्राचीन अवधारणायें बनी विदेशी वैज्ञानिक शोध का आधार- डॉ. धर्मेन्द्र सिंह

विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय दुर्ग में इंस्पायर प्रोग्राम

Inspire Programme at Science College Durgदुर्ग। भारतीय प्राचीन अवधारणायें ही वर्तमान विदेशी वैज्ञानिक शोध कार्यों का आधार है। महाभारत, रामायण आदि में उल्लेखित पुष्पक विमान तथा संजय द्वारा धृतराष्ट्र को महाभारत का सम्पूर्ण चित्रण वर्तमान समय की वायुयान एवं टेलीविजन के आविष्कार के मूल आधार है। हमने अपनी प्राचीन अवधारणाओं को महत्व न देकर सदैव विदेशी शोध को महत्व दिया। हमें प्राचीन भारतीय सिध्दांतों का नवीनीकरण वर्तमान की मांग के अनुसार करने का प्रयास करना चाहिए।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

अंबेडकर जयंती के उपलक्ष्य में स्वरूपानंद कालेज में स्लोगन, भाषण व रंगोली स्पर्धा

Ambedkar Jayanti at SSSSMVभिलाई। एनसीटीई के निर्देशानुसार सभी शिक्षा महाविद्यालय में अंबेडकर जयंती के उपलक्ष्य में विविध कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। इसी तारतम्य में स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में ‘संविधान में वर्णित मौलिक कर्तव्य’ विषय पर भाषण, रंगोली एवं स्लोगन प्रतियोगिता का आयोजन शिक्षा विभाग एवं आईक्यूएसी के संयुक्त तात्वावधान में आयोजित किया गया। जिसमें विद्यार्थियों व प्राध्यापकों ने भाग लिया।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

दुर्ग साइंस कालेज में नेपाल के छात्र करेंगे रसायन शास्त्र में शोध

Research scholars of Nepal to do project work in Science College Durgदुर्ग। शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय की उपलब्धियों की श्रृंखला में एक कड़ी और जुड़ गयी। नेपाल के छात्र राजेन्द्र जोशी एवं नरेश राउत शोध संबंधी कार्य करने हेतु महाविद्यालय के रसायन शास्त्र विभाग में पहुंचे। ये शोधार्थी त्रिभुवन विश्वविद्यालय काठमांडू में प्रो. रामेश्वर अधिकारी एवं डॉ. राजेश पंडित के निर्देशन में प्रोजेक्ट कार्य कर रहे हैं। महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. आर.एन. सिंह ने बताया कि ये शोध छात्र स्टडी एक्सचेंज प्रोग्राम के अंतर्गत यहां शोध कार्य करेंगे।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

आत्मनिर्भरता व आत्मविश्वास की पाठशाला है रासेयो शिविर: प्रीति मिश्रा

Patankar Girls College Durg NSS Campदुर्ग। शासकीय डॉ. वा.वा. पाटणकर कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय के 7 दिवसीय रासेयो शिविर का समापन ग्राम कोड़िया में हुआ। मुख्यअतिथि महाविद्यालय की जनभागीदारी समिति की अध्यक्ष श्रीमती प्रीति मिश्रा ने कहा कि आत्मनिर्भरता और आत्मविश्वास की सबसे बड़ी पाठशाला राष्ट्रीय सेवा योजना का शिविर है जिससे हमें बहुत कुछ सीखने को मिलता है। सेवा कार्य से जुड़ने का सौभाग्य आपको मिला है जो अविस्मरणीय है। रासेयो ग्रामीणों से जुड़ने और सीखने सिखाने का एक सुन्दर अवसर प्रदान करता है।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare