जागरूकता ही जानलेवा कैंसर से बचाव का सर्वोत्तम उपाय : डॉ. अर्पण

Cancer Day celebrated in Girls College Durgभिलाई। शास. डॉ. वा. वा. पाटणकर कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय में विश्व कैंसर दिवस के अवसर पर जागरूकता व्याख्यान माला का आयोजन किया गया। महाविद्यालय की यूथ रेडक्रॉस ईकाई के तत्वाधान में आयोजित कार्यक्रम में संजीवनी कैंसर हास्पीटल रायपुर के वरिष्ठ कैंसर सर्जन डॉ. अर्पण चतुरमोहता एवं रक्त रोग विशेषज्ञ डॉ. अम्बरगर्ग द्वारा छात्राओं को कैंसर रोग के संबंध में विस्तृत जानकारी दी। डॉ. अर्पण चतुरमोहता ने बताया की आजकल दिनचर्या में बदलाव के कारण कैंसर रोग बहुत ज्यादा देखने को मिल रहा है। खासकर महिलाओं में स्तन कैंसर के मरीज की संख्या बड़ी है। जिसका मुख्य कारण मोटापा, आलस्य जीवन, बच्चो को दूध ना पिलाना, बांझपन है। आज आधुनिक मशीनो की मदद से 80 प्रतिशत स्तन कैंसर मरीजों में स्तन को बचाया जा सकता है।
डॉ. अर्पण ने बताया की जेनेटीक टेस्ट से पता चल सकता है कि मरीज को कीमोथेरेपी की जरुरत है या नहीं। पेट सीटीस्कैन से देखा जा सकता है कि कैंसर कौन से स्टेज में है और कैसे ईलाज किया जा सकता है।
रक्त रोग विशेषज्ञ डॉ. अम्बरगर्ग ने बताया की ऐनीमिया महिलाओं में बहुत अधिक मात्रा में पायी जाती है। खून की कमी के कारण जैसे आयरन बिटामीन की कमी रक्त रोगो को जन्मदेती है। उन्होने बताया की ऐनीमिया का बचाव संतुलित भोजन से संभव है। इसके लिये आयरन युक्त भोजन, हरि सब्जिया, केला, अनार, गुड़ का सेवन करना चाहिए इस अवसर पर महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. सुशील चन्द्र तिवारी ने कहा की यूथ रेडक्रॉस की छात्राओं को आज के इस जानकारी युक्त व्याख्यान से प्राप्त जानकारी से कैंसर रोग के संबंध में जागरुकता के लिये प्रयास किये जाने चाहिये।
जागरुकता ही इस रोग के बचाव का सबसे बड़ा माध्यम है। कार्यक्रम का संचालन डॉ. रेश्मा लाकेश ने किया तथा आभार प्रदर्शन डॉ. अनुजा चैहान ने किया। इस अवसर पर प्राध्यापक, छात्राएं बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *