भिलाई। ‘न तो श्रीकृष्ण रणछोड़ थे न ही नारद जी चुगलखोर। दोनों की प्रत्येक क्रिया के पीछे गहरी सोच हुआ करती थी। श्रीकृष्ण ने कालयवन More »

भिलाई। सेन्ट्रल एवेन्यू पर धूम मचाने वाली ‘तफरीह’ एक बार फिर प्रारंभ होने जा रही है। महापौर एवं विधायक देवेन्द्र यादव की यह महत्वाकांक्षी योजना More »

भिलाई। इंदु आईटी स्कूल में प्री-प्राइमरी विंग के नर्सरी से केजी-2 तक के नन्हे-मुन्ने बच्चों द्वारा श्रीकृष्ण जन्माष्टमी बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। More »

भिलाई। केपीएस के प्रज्ञोत्सव-2019 में आज शास्त्रीय नृत्यांगनाओं ने पौराणिक कथाओं को बेहद खूबसूरती के साथ मंच पर उतारा। भरतनाट्यम एवं कूचिपुड़ी कलाकारों ने महाभारत, More »

भिलाई। कृष्णा पब्लिक स्कूल कुटेलाभाटा ने 73वां स्वतंत्रता दिवस खुले, स्वच्छंद आकाश में ध्वजारोहण करते हर्षोल्लास के साथ मनाया। इस समारोह में स्कूल की बैण्ड More »

 

Daily Archives: March 4, 2020

मातृभाषा दिवस पर भिलाई महिला महाविद्याल्लय में भारतीय भाषाएं हुईं  मुखर

MatruBhasha Divasभिलाई। विभिन्न मातृभाषाओं के महत्व को रेखांकित करते हुए इनके उपयोग को बढ़ावा देने के उद्देश्य से अन्तर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस के उपलक्ष्य में भिलाई महिला महाविद्यालय में अंतर्राष्ट्रीय ‘मातृभाषा दिवस’ मनाया गया। छात्राओं को अपनी मातृभाषा के अलावा अन्य मातृभाषाओं के प्रति उत्प्रेरित करने हेतु एवं शिक्षकों को भी अपनी मातृभाषा के अतिरिक्त़ अन्य मातृभाषाओं के ज्ञान के साथ शिक्षण को भी रुचिकर एवं छात्राओं हेतु अतिउपयोगी बनाने की दिशा में अभिनव प्रयास किया गया।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

पाटणकर गर्ल्स कॉलेज में भारतीय संविधान पर प्रश्नोत्तरी स्पर्धा का आयोजन

Patankar Girls College Durgदुर्ग। शासकीय डॉ. वा. वा. पाटणकर कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय में भारतीय संविधान की 70वीं सालगिरह के अवसर पर आयोजित किए जा रहे विभिन्न कार्यक्रमों की श्रृंखला में ‘संविधान प्रश्नोत्तरी’ का आयोजन किया गया। प्राचार्य डॉ. सुशील चन्द्र तिवारी ने बताया कि विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा इस वर्ष संविधान की 70वीं वषर्गांठ के अवसर पर पूरे देश में उच्च शैक्षणिक संस्थाओं में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित कर विद्याथिर्यों को मौलिक कर्तव्यों की जानकारी प्रदान की जा रही है।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

महिला महाविद्यालय ने वरिष्ठ नागरिकों के लिए लगाया शिविर, मिलेंगे उपकरण

Aid camp for Senior Citizens at BMMभिलाई। समाज कल्याण विभाग दुर्ग एवं भारत सरकार का उपक्रम एलिम्को के संयुक्त़ तत्वाधान में भिलाई महिला महाविद्यालय सेक्टर – 09 में वरिष्ठ नागरिकों को विभिन्न प्रकार के सहायक उपकरण जैसे – व्हीलचेयर, बैशाखी, कृत्रिम दांत, छड़ी, चश्मा, वाकिंग स्टिक नि:शुल्क उपलब्ध कराया गया। इसके लिए आयोजित शिविर में जबलपुर के विशेषज्ञ डाक्टरों द्वारा नेत्रबाधित, श्रवणबाधित, अस्थि बाधित व दांत से संबंधित वरिष्ठ नागरिकों का परीक्षण कर चिन्हांकित किया गया। इन मरीजों को नि:शुल्क सामग्री वितरित किया जायेगा। कुल 113 वृद्धजन लाभान्वित हुए, जिनमें 48 पुरुष एवं 65 महिलायें हैं।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

आंवले का पौधा रोपकर संतोष रूंगटा ग्रुप के विद्यार्थियों ने दिया ‘गो ग्रीन’ का संदेश

रूंगटा कॉलेज के नंदनवन परिसर में व्योम 2020 का आगाज

Vyom-2020 starts at Santosh Rungta Campusरायपुर। संतोष रूंगटा ग्रूप ऑफ़ इंस्टीट्यूसंस रायपुर (नंदनवन) में एनुवल फंक्शन ‘व्योम 2020’ का आगाज दीप प्रज्ज्वलन व आकाश में बलून छोड़कर किया गया। इस बार की थीम ‘सेव एनवायरमेंट, गो ग्रीन’ के तहत अतिथियों ने व्योम आगाज की घोषणा करते हुए परिसर में आंवले के पौधे रोपे। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सीएसवीटीयू के पूर्व कुलपति डॉ. बीके स्थापक व अन्य अतिथियों में मोटिवेट गुरु डॉ. सुरी सेट्टी, डायरेक्टर वाईएम गुप्ता, आरसीईटी के प्राचार्य डॉ. डीएन देवांगन उपस्थित थे। बुधवार को दिनभर अनेक आयोजनों के साथ रात में गीत-संगीत की महफील शाम से सजेगी।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

विषय की मास्टरी के साथ ही टेक्नोफ्रेंडली हों शिक्षक : प्रशांत कुमार

भिलाई महिला महाविद्यालय के शिक्षा विभाग में अतिथि व्याख्यान का आयोजन

Orientation programme for BEd Students in Bhilai Mahila Mahavidyalayaभिलाई। भिलाई महिला महाविद्यालय के शिक्षा विभाग में डीएवी पब्लिक स्कूल हुडको के प्राचार्य प्रशांत कुमार के अतिथि व्याख्यान का आयोजन किया गया। प्रशांत कुमार ने शालाओं में शिक्षकों की नियुक्ति हेतु आवश्यक योग्यता तथा अपने सुझाव दिए। उन्होंने कहा कि शिक्षक की अपने विषय में मास्टरी तथा आत्मविश्व़ास होना चाहिए। आज के परिपेक्ष्य में शिक्षक को टेक्नोफ्रेन्डली होना चाहिए। उन्होंने इस बात की भी चर्चा की कि छात्राओं को एक साक्षात्कार के लिए क्या – क्या तैयारी करनी चाहिए।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

आंचलिक देशज शब्दों के उपयोग से समृद्ध होगी ओड़िया भाषा : संजीव होता

संबलपुर विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय भाषा सम्मेलन

Bhasha Sammelan in Sambalpur Universityसंबलपुर। आंचलिक देशज शब्दों के व्यवहार से ओड़िया भाषा और भी समृद्ध हो पाएगी। आंचलिक देशज शब्दों का व्यवहार ही आत्मियता को बढ़ाता है। भाषा के विकास में आंचलिकता तो रहेगी, किन्तु यह विभाजन नहीं होगा। आंचलिक भाषा के गीत को लेकर शास्त्रीय ओड़िया भाषा संपूर्ण नहीं हो सकती। उक्त उद्गार साहित्यकार एवं पूर्व प्रशासक संजीव चन्द्र होता ने संबलपुर विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय भाषा सम्मेलन के उद्घाटन सत्र को मुख्य अतिथि की आसंदी से संबोधित करते हुए कहीं।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

भाषायी तथा सांस्कृतिक विविधता को बचाए रखने मातृभाषा आवश्यक – डॉ. जय प्रकाश

VYT Science College Durgदुर्ग। मातृभाषा हम सबको प्यारी होती है। जिन्दगी की शुरूवात हम मां की भाषा से ही करते हैं। जब हम दुख में होते हैं तो और अत्याधिक खुशी के क्षणों में सबसे पहले मां को याद करते हैं। किसी भी विषय को व्यक्त करने के लिए मातृभाषा सबसे अधिक सहायक होती है। उक्त विचार शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्वशासी स्नातकोत्तर महाविद्यालय में हिन्दी विभाग द्वारा आयोजित विश्व मातृभाषा दिवस का उद्घाटन करते हुए प्रभारी प्राचार्य डॉ. एम.के. सिद्दीकी ने व्यक्त किये।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare