कोरोना : रूंगटा कालेज की इंजीनियरिंग स्टूडेन्ट ने बनाए मास्क, गरीबों तक पहुंचाया

RCET girls make and distribute masks to the needyभिलाई। संतोष रूंगटा समूह (आर-1) द्वारा संचालित तकनीकी महाविद्यालय की छात्राओं ने गरीब बस्तियों तक मास्क पहुंचाने का काम किया है। इन छात्राओं ने अपने साधनों से कपड़ों की व्यवस्था की और फिर खुद ही उसे सीलकर मास्क बनाया। एनएसएस इकाई के स्वयंसेवकों के सहयोग से उन्होंने इसका वितरण गरीबों के बीच किया। कोरोना के कारण महाविद्यालय भले ही बंद हो किन्तु इन छात्राओं ने अपने लिए काम निकाल ही लिया है। इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की सातवें सेमेस्टर की छात्रा शेख हबीबिया ने यह पहल की। कोरोना लॉकडाउन के बीच उसने देखा कि गरीब परिवारों की महिलाएं आंचल से मुंह ढांककर ही बाजारों तक जा रही हैं। उसके मन में इन तक मास्क पहुंचाने की इच्छा जागी। उसने अपनी सहेलियों से इस पर चर्चा की और जल्द ही एक टीम बन गई। इस टीम में श्रद्धा पांडेय, रिया गुलहारे, रागिनी कुशवाहा, शदब मनसूरी आदि शामिल हैं। इनमें से कुछ ने पहले भी सिलाई मशीन चलाई हुई थी, कुछ ने अभी अभी सीखा है।
हबीबिया बताती है कि संस्था के चेयरमैन संतोष रूंगटा, डायरेक्टर सौरभ रूंगटा एवं सोनल रूंगटा ने उनका मनोबल बढ़ाया और वे इसे अंजाम देने में जुट गईं।
वितरण को सुचारू बनाने के लिए उन्होंने महाविद्यालय की एनएसएस इकाई की मदद ली। एनएसएस के स्वयं सेवकों ने खुशी खुशी उनका साथ दिया और तैयार मास्क को जरूरमंदों तक पहुंचाने का काम किया।
एनएसएस विंग के स्वयंसेवकों ने इसके साथ ही एक काम यह भी किया कि लोगों के फोन में आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड कर उसकी उपयोगिता के बारे में उन्हें जानकारी दी। साथ ही उसका इस्तेमाल करने का तरीका भी सिखा दिया। उन्होंने लोगों को कोरोना संक्रमण से मुक्त रहने के टिप्स भी दिये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *