हेमचंद विश्वविद्यालय विद्यापरिषद की बैठक में कॉलेजों में सीट वृद्धि का अनुमोदन

Hechand Yadav University sanctions more seats to various collegesदुर्ग। हेमचंद यादव विश्वविद्यालय, दुर्ग विद्यापरिषद की स्थायी समिति की ऑनलाईन बैठक में अनेक कॉलेजों में सीट वृद्धि का अनुमोदन किया गया। विश्वविद्यालय के अधिष्ठाता छात्र कल्याण, डॉ. प्रशांत श्रीवास्तव ने बताया कि आज आयोजित स्थायी समिति की बैठक में सभी सदस्य ऑनलाईन उपस्थित थे। बैठक की अध्यक्षता कुलपति, डॉ. अरूणा पल्टा ने की। सहा. कुलसचिव (अका.) डॉ. सुमीत अग्रवाल ने उपस्थित सभी सदस्यों का स्वागत करते हुए पिछली स्थायी समिति की बैठक का कार्यवृत्त प्रस्तुत किया। इसका सभी सदस्यों ने अनुमोदन किया। बैठक में 42 बिन्दुओं पर विस्तार से विचार विमर्श किया गया। इन बिन्दुओं में दुर्ग विश्वविद्यालय परिक्षेत्र के अंतर्गत आने वाले विभिन्न शासकीय एवं निजी महाविद्यालयों को स्थायी एवं अस्थायी सम्बद्धता प्रदान करने पर भी विचार विमर्श के बाद अनुमोदन किया गया। यह सम्बद्धता सत्र 2020-21 हेतु लागू होगी। इसी प्रकार विभिन्न महाविद्यालयों में संचालित पाठ्यक्रमों में सीट वृद्धि के प्रस्ताव पर भी गहन विचार विमर्श हुआ। डॉ. सुमीत अग्रवाल ने प्रत्येक महाविद्यालयों में सीट वृद्धि हेतु भौतिक रूप से निरीक्षण संबंधी विशेषज्ञ कमेटी की रिपोर्ट भी विस्तार से प्रस्तुत की। कुलपति डॉ अरूणा पल्टा ने निर्देश दिया कि वर्तमान स्थायी समिति की बैठक में जिन महाविद्यालयों की सीट वृद्धि का अनुमोदन किया जा रहा है उन्हें शीघ्र विश्वविद्यालय के प्रवेश पोर्टल में दर्शाया जाये जिससे संबंधित महाविद्यालयों एवं विद्यार्थियों को इसकी जानकारी एवं लाभ मिल सकें। जिन प्रमुख महाविद्यालयों द्वारा प्रस्तावित सीट वृद्धि का अनुमोदन किया गया उनमें शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय, दुर्ग , डॉ. वा. वा. पाटणकर कन्या महाविद्यालय, दुर्ग, शासकीय महाविद्यालय भिलाई-3, शासकीय महाविद्यालय, घुमका, शासकीय महाविद्यालय, ,खुर्सीपार, शासकीय महाविद्यालय,मचान्दुर, शासकीय महाविद्यालय, बोरी, शासकीय महाविद्यालय, पाटन, शासकीय महाविद्यालय, बेरला, शासकीय महाविद्यालय, डौण्डी, शासकीय महाविद्यालय, डौण्डी लोहारा, शासकीय महाविद्यालय,साल्हेवारा, शासकीय महाविद्यालय, कुईकुकदुर शासकीय महाविद्यालय, लालबहादुर नगर, शासकीय महाविद्यालय, नवीन कन्या महाविद्यालय बालोद, शासकीय पी.जी. महाविद्यालय, बालोद शामिल है। इनके अलावा निजी महाविद्यालयों में सेंट थॉमस कॉलेज भिलाई, रूंगटा कॉलेज, गंजपारा दुर्ग, देव संस्कृति कॉलेज, खपरी दुर्ग, रॉयल कॉलेज राजनांदगांव, शैलदेवी महाविद्यालय, अण्डा, छत्तीसगढ़ वाणिज्य महाविद्यालय, सेक्टर-6 भिलाई, संदीपनी अकादमी अछोटी, स्वारूपानंद कॉलेज भिलाई, शंकराचार्य महाविद्यालय, भिलाई, जी.डी. रूंगटा कॉलेज कोहका भिलाई आदि के सीट वृद्धि प्रस्तावों का भी अनुमोदन किया गया।
हेमचंद यादव विश्वविद्यालय, दुर्ग में अध्ययन शाला प्रारंभ करने हेतु एमएससी, भौतिक, रसायन, प्राणीशास्त्र, वनस्पतिशास्त्र तथा गणित विषयों के पाठ्यक्रम प्रारंभ करने हेतु पाठ्यक्रम एवं अध्यादेश का अनुमोदन भी स्थायी समिति के सभी सदस्यों ने एक मत से किया। बैठक में हेमचंद यादव विश्वविद्यालय, दुर्ग के प्रस्तावित अध्ययन शाला में ’’पांच वर्षीय इन्टीग्रेटेड सेन्टर फॉर बेसिक साइंसेस’’ के आरंभ करने के संबंधी प्रस्ताव को छत्तीसगढ़ शासन को भेजे जाने संबंधी प्रस्ताव का भी अनुमोदन किया गया। इनके अलावा बैठक में विश्वविद्यालय की धारा 28 के अंतर्गत साक्षात्कार के पश्चात् चयनित अभ्यार्थियों के अनुमोदन हेतु खालसा कॉलेज, दुर्ग सेंट थॉमस कॉलेज भिलाई, समाधान महाविद्यालय बेमेतरा तथा आयावर्त शिक्षा महाविद्यालय भिलाई शैलदेवी महाविद्यालय, अण्डा हेतु गठित निरीक्षण समिति की अनुसंशा को भी अनुमोदित किया गया।
कुलपति डॉ अरूणा पल्टा ने सभी सदस्यों की सहमति से यह निर्देश दिया कि निरीक्षण समितियों द्वारा जिन महाविद्यालयों में निर्धारित मापदण्डों में कोई कमी दर्शायी गई हो उन महाविद्यालयों को कमी पूर्ण करने के पश्चात् ही सम्बद्धता प्रदान की जावेगी।
धन्यवाद ज्ञापन कुलसचिव, डॉ. सी. एल. देवांगन ने किया। बैठक में उपस्थित स्थायी समिति के सदस्यों में डॉ एम ए सिद्धीकी, डॉ. मीता चक्रवर्ती, डॉ. देबाशीष डे, डॉ. डी. सी. अग्रवाल, डॉ. सावित्री शर्मा, डॉ. अमीता सहगल, आदि उपस्थित थें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *