आत्मनिर्भर भारत के तहत स्वरूपानंद महाविद्यालय में ‘’नारियल सजाओ प्रतियोगिता’’

Coconut Decoration Competitionभिलाई। कोरोना महामारी के समय में युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महावियालय के शिक्षा विभाग द्वारा नारियल एवं उनके अवशेषों से उपयोगी सजावटी सामान बनाने की प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। देश-विदेश के प्रतिभागियों ने अपनी सहभागिता दी और अपने कौशल एवं कला का प्रदर्शन किया। यह कार्यक्रम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आत्मनिर्भर भारत अभियान के अंतर्गत अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर नारियल दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित किया गया था। प्राचार्य डॉ हंसा शुक्ला ने कहा क़ि इस तरह के छोटे-छोटे प्रयासों से हम आत्मनिर्भर बन सकते है। कार्यक्रम में विभिन्न महाविद्यालयों पाटणकर महाविद्यालय, महिला महाविद्यालय, मैत्री महाविद्यालय, डी.ए.वी. महाविद्यालय, बद्रीनाथ खंडेलवाल महाविद्यालय, शाशकीय एस. के. वाय. कॉलेज गुंडरदेही, शहीद भगत सिंह स्कूल, स्वरूपानंद महाविद्यालय के भूत-पूर्व विद्यार्थियों ने भी अपनी सहभागिता दी। आयोजन में डॉ. दुर्गावती मिश्रा, डॉ. पूनम शुक्ला, शैलजा पवार, उषा साहू ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। शिक्षा विभाग की अध्यक्ष डॉ. पूनम निकुम्भ ने भी विद्यार्थियों ने उत्साहपूर्ण सहभागिता के लिए बधाई दी।
कार्यक्रम के निर्णायकगण डॉ. शिवानी शर्मा विभागाध्यक्ष बायोटेक्नोलॉजी एवं सुनीता शर्मा विभागाध्यक्ष जूलॉजी विभाग थी।
प्रतियोगिता के परिणाम इस प्रकार रहे। प्रथम प्रतियोगिता में पूर्व विद्यार्थी चंद्रावती प्रथम, बीएड की वीनू साहू तथा डीएवी महाविद्यालय की तिकीर्ति द्वितीय तथा पोटियाकला की मेनका साहू तृतीय रहीं। सांत्वना पुरस्कार पूर्व छात्रा शीतल शर्मा को दिया गया।
इसी प्रकार दूसरी प्रतियोगिता का प्रथम स्थान महाविद्यालय के शिक्षा संकाय की संचिता पाल एवं कन्या महाविद्यालय की पायल साहू को, दूसरा स्थान महाविद्यालय की ही मिनाती बेहरा तथा तृतीय स्थान शासकीय एसकेवाय महाविद्यालय गुंडरदेही की छात्रा गुजंन चंद्राकर को दिया गया। सांत्वना पुरस्कार महाविद्यालय की बीएड छात्रा प्रियंका इक्का को दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *