निदान-1100 – भिलाई निगम ने 13126 शिकायतों का समय-सीमा में किया निराकरण

Bhilai Nagar Nigam Quick Responseभिलाई। निगम प्रशासन ने निदान-1100 में शहर से ऑनलाइन दर्ज सड़क, बिजली, पानी, साफ-सफाई सहित अन्य समस्याओं का समय-सीमा में निराकरण कर नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग की ग्रेडिंग में ए ग्रेड हासिल कर रही है। निगम प्रशासन ने निदान-1100 में ऑनलाइन शिकायत प्राप्त होने के बाद न केवल निर्धारित समय सीमा में निराकरण किया, बल्कि निराकरण के बाद शिकायतकर्ता के फोन नंबर पर संपर्क कर फीडबैक लेने का कार्य भी किया है। ऑनलाइन शिकायत निवारण प्रणाली की रिपोर्ट के अनुसार शहर से निदान-1100 में 1 अप्रेल 2020 से 17 सितंबर 2020 तक कुल 17641 शिकायतें दर्ज हुई। इनमें से 13126 शिकायतों का निगम ने निर्धारित समय-सीमा में निराकरण किया। निगम के विभिन्न विभागों के कर्मचारियों ने शिकायत दर्ज होने के 24 घंटे के अंदर 74 फीसद शिकायतों का निराकरण कर लिया। बाकी 4371 आवेदनों को समय-सीमा के बाद निराकरण किया गया।
महापौर व भिलाई नगर विधायक देवेन्द्र यादव और निगम आयुक्त ऋतुराज रघुवंशी के निर्देशानुसार शिकायतों के लिए अलग-अलग मामलों में समय सीमा भी अलग-अलग निर्धारित की गई है! आयुक्त की नियमित मॉनिटरिंग से निदान में प्राप्त शिकायतों का निराकरण शीघ्रता से गंभीरता पूर्वक किया जा रहा है। नगरीय प्रशासन विभाग ने सड़क, नाली की सफाई, स्ट्रीट लाइट, मृत जानवर का उठाव, पेयजल, सार्वजनिक शौचालय, आवारा मवेशियों इत्यादि से होने वाले समस्याओं के निराकरण के लिए तीन साल पहले निदान 1100 की शुरुआत की थी। टोल फ्री नंबर के जरिए दर्ज होने वाले शिकायतों का निराकरण के लिए तीन चरण की व्यवस्था की गई है। इस प्रकिया के अंतर्गत आनलाइन दर्ज होने वाले अधिकतर शिकायतों को भिलाई निगम ने प्रथम चरण में ही 24 घंटे के अंदर मेैसेज प्राप्त होते ही निराकरण कर दिया। दूसरे व तीसरे लेबल तक शिकायतें बहुत कम पहुंचती हैं। इस श्रेणी में शिकायतें हैं सीधे आयुक्त के पास पहुंचती है! टोल फ्री नंबर 1100 पर कई तरह की शिकायतें दर्ज की जा सकती हैं। इनमें स्ट्रीट लाइट, साफ-सफाई, मलबा उठाव, मृत जानवर, पेयजल, सड़क, सार्वजनिक शौचालक, आवारा पशुओं से होने वाली परेशानियों, जाम नाली, पेंशन समस्याएं सहित अन्य छोटी-छोटी समस्याओं को ऑनलाइन दर्ज कराई जा सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *