विद्यार्थियों के करियर का यह महत्वूपर्ण दौर है : डॉ शमा हमदानी

Counselling for students held at girls collegeदुर्ग। शासकीय डॉ वा.वा. पाटणकर कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय दुर्ग के यूथ रेडक्रॉस के तत्वाधान में छात्राओं के लिए ऑनलाईन काउंसिलिंग आयोजित की गयी। विषय-विशेषज्ञ एवं काउंसलर डॉ शमा हमदानी ने विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि यह विद्यार्थियों के करियर का महत्वपूर्ण दौर है यहाँ निराश नहीं होना है। उन्होंने विभिन्न समस्याओं के समाधान बताते हुए कहा कि परिवार के साथ समय बिताये तथा अपनी समस्याओं को शेयर करें। डॉ शमा हमदानी ने कहा कि  अपनी समस्याओं को शेयर करें। मानसिक स्वास्थ्य को महत्व दें। यदि आवश्यक हो तो काउंसलर या अपने शिक्षक से अपनी समस्याओं को सांझा करे और मार्गदर्शन ले। महाविद्यालय की छात्रा पायल साहू ने ऑनलाईन कक्षाओं को लेकर अपनी चिंता बताई। बीएससी की छात्रा आरती यादव ने परीक्षा से संबंधित प्रश्न किए। जया पाण्डेय ने पूछा कि घर पर रहकर समय का सार्थक उपयोग कैसे करें। अधिकांश छात्राओं ने कहा सबसे बड़ी समस्या घर इतने लंबे समय से रहने पर बोर लगता है इसके प्रभारी प्राध्यापक डॉ रेशमा लाकेश ने बताया कि वर्तमान परिस्थितियों में विद्यार्थियों/युवा वर्ग में व्याप्त चिंता, असुरक्षा, निराशा एवं अनिश्चितता को देखते हुए उन्हें उचित मार्गदर्शन प्रदान करने काउंसिलिंग सत्र का आयोजन किया गया। इस वैश्विक महामारी के संक्रमण काल में विद्यार्थियों के बीच जो अनिश्चितता एवं भय का वातावरण बन गया है उसके कारण उनमें क्रोध एवं चिड़िचिड़ापन आ गया है। जब हम कठिन समय से गुजरते है तो इन समस्याओं का मुकाबला करने के लिए हिम्मत, साहस और धैर्य की आवश्यकता पड़ती है। यदि उचित मार्गदर्शन मिल जाए तो सफलता सुनिश्चित हो जाती है।
काउंसिलिंग सत्र में महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ सुशील चन्द्र तिवारी ने छात्राओं को हिम्मत और साहस के साथ विषम परिस्थितियों का मुकाबला करते हुए अपने परिवार का भी ध्यान रखने को कहा। समाधान में एक्सपर्ट ने अनेक रूचिकर उपाय बताए। इस काउंसिलिंग सत्र में अभिभावकों ने भी भगीदारी की।

अधिवक्ता शकील सिद्दकी ने इस सत्र के लिए बधाई देते हुए इसे महत्वपूर्ण बताया। उन्होनें कहा कि हम सभी अपने बच्चों को लेकर चिंतित है। उनके कॅरियर की चिंता हमें भी परेशान करती है। काउंसलर ने उन्होनें धैर्य और साहस के साथ अपने एवं बच्चों के मानसिक स्वास्थ्य के लिए जागरूक रहने की सलाह दी एवं टिप्स दिए।
डॉ रेशमा लाकेश ने बताया कि विद्यार्थियों के लिए महत्वपूर्ण जानकारियों एवं मार्गदर्शन से संबंधित विडियो एवं जानकारी महाविद्यालय की वेबसाईट में भी उपलब्ध करायी गयी है। महाविद्यालय द्वारा नियमित रूप से विभिन्न आॅनलाईन प्रतियोगिताएँ भी आयोजित की जा रही है। काउंसिलिंग सत्र में महाविद्यालय के प्राध्यापकों ने भी हिस्सा लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *