राष्ट्रीय शिक्षा नीति के प्रावधानों से परिचित हुए बीएसपी स्कूलों के प्राचार्य-शिक्षक

Webinar on National Education Policy-20भिलाई। मानव संसाधन विभाग तथा शिक्षा विभाग, भिलाई इस्पात संयंत्र द्वारा संचालित स्कूलों के शिक्षकों हेतु राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 पर एक वेबिनार का आयोजन किया गया। इसमें भिलाई एवं दल्लीराजहरा में बीएसपी द्वारा संचालित शालाओं के 55 प्राचार्यों, प्रधान पाठकों एवं शिक्षकों ने भाग लिया। स्रोत व्यक्ति के रूप में डॉ महेन्द्र मिश्रा एवं राजकुमार शर्मा ने अपनी बात रखी। लेंग्वेज एंड लर्निंग फाउंडेशन नई दिल्ली में बहुभाषी शिक्षा के राष्ट्रीय सलाहकार डॉ महेन्द्र मिश्रा ने नई नीति में प्राथमिक शिक्षा और शिक्षा में भाषा से संबंधित प्रावधानों पर विस्तार से चर्चा की। उन्होंने बताया कि नई नीति बच्चों को उनकी मातृभाषा में शिक्षा देने पर जोर देती है। डॉ मिश्रा को ओडीशा एवं छत्तीसगढ़ के आदिवासी क्षेत्रों में बहुभाषी शिक्षा पर उनके योगदान के लिए 1999 में साहित्य अकादमी पुरस्कार प्रदान किया गया है।
अंचल के जाने माने शिक्षक एवं शंकराचार्य विद्यालय से अवकाश प्राप्त प्राचार्य राजकुमार शर्मा ने इस नीति के माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक स्कूली शिक्षा के प्रावधानों से प्रतिभागियों को परिचित कराया। उन्होंने बताया कि शिक्षा नीति में बच्चों में उच्च स्तरीय कौशलों के विकास के महत्वपूर्ण मुद्दे पर शिक्षकों से काम करने की बात की गई है। उन्होंने शिक्षकों से नयी शिक्षा नीति के क्रियान्वयन हेतु पूरी तैयारी करने का आह्वान किया क्योंकि इसके प्रावधानों को अगले सत्र यानी 2021-22 से लागू किया जाना है।
आरंभ में शिक्षा नीति का इतिहास, परिचय, नीति के उद्देश्य और अपेक्षित परिणामों पर इस वेबीनार के सूत्रधार संजय गुलाटी ने जानकारी दी। उन्होंने गणित अध्यापन के साथ साथ बहुभाषी शिक्षा के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान दिया है।
इस वेबिनार में भिलाई इस्पात संयंत्र की उप-महाप्रबंधक (शिक्षा) वैशाली सूपे ने शिक्षकों का उत्साह बढ़ाया और शिक्षकों के क्षमता विकास पर जोर दिया। उनके अलावा प्राचार्यों तथा शिक्षकों ने अपनी शंकाओं का समाधान प्राप्त किया।
कार्यक्रम का संचालन मानव संसाधन महाप्रबंधक सौरभ सिन्हा ने किया। उन्होंने शिक्षा विभाग में अपने कार्यकाल को साझा किया। उन्होंने सीसीई तथा शिक्षा का अधिकार कानून के क्रियान्वयन में आयी दिक्कतों का उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति की सफलता का दायित्व शिक्षकों पर निर्भर है इसलिए यह वेबिनार बेहद उपयोगी साबित होने वाली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *