हमारे बुजुर्ग हमारी धरोहर और पथ प्रदर्शक, उनका इतिहास में महत्वपूर्ण योगदान : मुख्यमंत्री

ग्राम सिलघट में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी नाथूराम, सुकलाल एवं गोकुल की प्रतिमा का अनावरण

बेमेतरा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये बेमेतरा जिले के विकासखण्ड बेरला के ग्राम सिलघट (भिंभौरी) में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्व. नाथूराम टिकरिहा, स्व. सुकलाल टिकरिहा एवं समाजसेवी स्व. गोकुल प्रसाद टिकरिहा की प्रतिमा का अनावरण किया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि हमारे बुजुर्ग हमारी धरोहर और पथ प्रदर्शक हैं। उनका हमारे समाज के साथ-साथ देश के इतिहास में भी महत्वपूर्ण योगदान रहा।उन्होंने कहा कि ग्राम सिलघट राजनीतिक, सामाजिक और शैक्षणिक रूप से प्रगति शील गांव रहा है जहां अनेक विभूतियों ने यहां जन्म लिया। स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्व. नाथूराम टिकरिहा और स्व. सुकलाल टिकरिहा ने आजादी की लड़ाई में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। इन महान विभूतियों ने आचार्य विनोवा भावे के साथ भू-दान आंदोलन में भी महत्वपूर्ण योगदान दिया । समाजसेवी स्व. गोकुल प्रसाद टिकरिहा 25 साल तक सरपंच रहे। उन्होंने भी भू-दान आंदोलन में महत्वपूर्ण योगदान दिया था। वे हमेशा किसानों और मजदूरों की समस्याओं के समाधान के लिए प्रयासरत रहे।
मुख्यमंत्री श्री बघेल ने बताया कि धान खरीदी के लिए राज्य सरकार द्वारा बारदानों की व्यवस्था के हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। राइस मिलर्स, पीडीएस और किसानों के पास उपलब्ध बारदानों का उपयोग धान खरीदी में करने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने इस अवसर पर ग्राम सिलघट में मंगल भवन की स्वीकृति की भी घोषणा की।
राज्यसभा सांसद श्रीमती छाया वर्मा ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की। इस अवसर पर बेमेतरा कलेक्टर शिव अनंत तायल, जिला पंचायत बेमेतरा के सदस्य राहुल योगराज टिकरिहा, बेरला जनपद पंचायत की सदस्य कुमारी पूजा टिकरिहा, ग्राम पंचायत सिलघट की सरपंच श्रीमती संध्या टिकरिहा सहित सर्वश्री योगानंद टिकरिहा, आदित्य टिकरिहा समेत टिकरिहा परिवार के सभी सदस्य व ग्राम पंचायत सिलघट के ग्रामीण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *