Vigyan Prasar

Nature Study Activities

भिलाई। डीएवी पब्लिक स्कूल हुडको के प्राचार्य प्रशांत कुमार ने कहा कि विकास और प्रकृति सहगामी नहीं हो सकते। जब हम विकास की बात करते हैं तो कहीं न कहीं हम प्रकृति से छेड़-छाड़ कर रहे होते हैं। पर यदि हम विकास के कारण प्रकृति को हुई क्षति की भरपाई कर लेते हैं तो विकास और प्रकृति संरक्षण साथ-साथ चल सकते हैं। राजस्थान के मरूस्थल इसका सबसे अच्छा उदाहरण हैं।

Full size460 × 300

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *