SSMV Junwani rated 'A' by NAAC

शंकराचारार्य महाविद्यालय बना पहला नैक ए-ग्रेड प्राइवेट कॉलेज

भिलाई। श्री शंकराचार्य महाविद्यालय जुनवानी भिलाई को राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद (नैक) बेंगलुरु द्वारा ‘ए’ ग्रेड प्रदान किया गया है। इसके साथ ही महाविद्यालय नैक ए-ग्रेड प्राप्त छत्तीसगढ़ का पहला निजी महाविद्यालय बन गया है। महाविद्यालय को इससे पहले पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय द्वारा दो बार श्रेष्ठ निजी महाविद्यालय घोषित किया जा चुका है। हेमचंद यादव विवि की स्वच्छता रैंकिंग में भी महाविद्यालय को प्रथम स्थान प्राप्त हो चुका है। एनएसएस और एनसीसी में भी महाविद्यालय का प्रदर्शन उत्कृष्ट रहा है।उल्लेखनीय है कि 17-18 मार्च को राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद ने महाविद्यालय के समस्त क्रियाकलाप एवं गतिविधियों का अवलोकन एवं अध्ययन किया था। महाविद्यालय के समस्त विभागों द्वारा सातों क्राइटेरिया पर उत्कृष्ट प्रदर्शन किया गया। महाविद्यालय को सीजीपीए रैंक 3.10 प्रदान किया गया है। नैक विश्वविद्यालय अनुदान आयोग का स्वायत्त संस्थान संस्थान है जो भारत के उच्च शिक्षण संस्थानों को ग्रेड प्रदान करता है।
महाविद्यालय की निदेशक एवं प्राचार्य डॉ. रक्षा सिंह ने बताया कि श्री शंकराचार्य महाविद्यालय छत्तीसगढ़ का प्रथम प्राइवेट कॉलेज है जिसने यह उपलब्धि हासिल की है। हेमचंद यादव विश्वविद्यालय से संबद्ध इस महाविद्यालय ने केवल दुर्ग जिले में बल्कि पूरे छत्तीसगढ़ में अपनी अलग पहचान बनाई है। हेमचंद यादव विश्वविद्यालय द्वारा स्वच्छता रैंकिंग में भी महाविद्यालय ने प्रथम स्थान प्राप्त किया था इसके अतिरिक्त पंडित रविशंकर शुक्ला विश्वविद्यालय रायपुर द्वारा दो बार प्रथम स्थान प्राप्त करने का गौरव महाविद्यालय को प्राप्त है इसके अतिरिक्त एनएसएस में भी महाविद्यालय को उत्कृष्ट स्थान प्राप्त हुआ हैं। महाविद्यालय ना केवल शिक्षा के क्षेत्र में बल्कि अन्य क्षेत्रों में भी पूरे अंचल में अपना एक विशेष स्थान रखता है।
महाविद्यालय की इस उपलब्धि पर श्री गंगाजली शिक्षण समिति के चेयरमैन आई पी मिश्रा और समिति की अध्यक्ष जया मिश्रा ने भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुए बधाई प्रेषित की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *