Category Archives: Career

ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में है करियर की बेहतर संभावना : रूंगटा

राज्य में केवल संतोष रूंगटा समूह में उपलब्ध है यह ब्रांच

भिलाई। ऐसे समय में जबकि युवा इंजीनियरिंग कोर्सेस में कम्प्यूटर साइंस, आईटी, इलेक्ट्रॉनिक्स तथा कोर ब्रांचेस मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल तथा सिविल इंजीनियरिंग में से ब्रांच सिलेक्ट करने में अपनी रूचि दिखा रहे हैं वहीं ब्रांच चयन तथा इच्छित कॉलेज के अलॉट ने होने से में कुछ युवाओं तथा पालकों में इंजीनियरिंग की एडमिशन को लेकर दुविधा की स्थिति बनी हुई है ऐसी स्थिति में इंजीनियरिंग के क्षेत्र में भविष्य की संभावनाओं को देखते हुए भारत में तेजी से बढ़ रही आॅटोमोबाइल सेक्टर की ग्रोथ को देखते हुए आॅटोमोबाइल इंजीनियरिंग युवाओं के लिये बेहतर विकल्प साबित हो सकता है।भिलाई। ऐसे समय में जबकि युवा इंजीनियरिंग कोर्सेस में कम्प्यूटर साइंस, आईटी, इलेक्ट्रॉनिक्स तथा कोर ब्रांचेस मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल तथा सिविल इंजीनियरिंग में से ब्रांच सिलेक्ट करने में अपनी रूचि दिखा रहे हैं वहीं ब्रांच चयन तथा इच्छित कॉलेज के अलॉट ने होने से में कुछ युवाओं तथा पालकों में इंजीनियरिंग की एडमिशन को लेकर दुविधा की स्थिति बनी हुई है ऐसी स्थिति में इंजीनियरिंग के क्षेत्र में भविष्य की संभावनाओं को देखते हुए भारत में तेजी से बढ़ रही ऑटोमोबाइल सेक्टर की ग्रोथ को देखते हुए ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग युवाओं के लिये बेहतर विकल्प साबित हो सकता है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

रमन आईटीआई में प्रशिक्षण पश्चात प्लेसमेन्ट की सुविधा, प्रवेश प्रारंभ

भिलाई। रमन (प्रा.) आईटीआई में नए सत्र के लिए प्रवेश प्रारंभ हो गया है। रमन आईटीआई भारत सरकार के एनसीवीटी तथा डीजीटी से मान्यता प्राप्त संस्थान है। संस्था में योग्य एवं अनुभवी प्रशिक्षकों द्वारा प्रशिक्षण दिया जाता है। सफलतापूर्वक प्रशिक्षण पूर्ण करने वालों के लिए कैम्पस प्लेसमेंट की सुविधा भी उपलब्ध कराई जाती है। संस्था के संचालक अरविन्दर सिंह ने बताया कि विगत कई वर्षों से संस्था विभिन्न ट्रेडों में बच्चों को प्रशिक्षित कर रोजगार तथा स्वरोजगार के लिए तैयार कर रही है।भिलाई। रमन (प्रा.) आईटीआई में नए सत्र के लिए प्रवेश प्रारंभ हो गया है। रमन आईटीआई भारत सरकार के एनसीवीटी तथा डीजीटी से मान्यता प्राप्त संस्थान है। संस्था में योग्य एवं अनुभवी प्रशिक्षकों द्वारा प्रशिक्षण दिया जाता है। सफलतापूर्वक प्रशिक्षण पूर्ण करने वालों के लिए कैम्पस प्लेसमेंट की सुविधा भी उपलब्ध कराई जाती है। संस्था के संचालक अरविन्दर सिंह ने बताया कि विगत कई वर्षों से संस्था विभिन्न ट्रेडों में बच्चों को प्रशिक्षित कर रोजगार तथा स्वरोजगार के लिए तैयार कर रही है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

इंजीनियरिंग प्लेसमेंट में शीर्ष पर संतोष रूंगटा समूह, 75 कंपनियों ने किया जॉब आफर

भिलाई। संतोष रूंगटा समूह (आर-1) द्वारा भिलाई तथा रायपुर में संचालित इंजीनियरिंग कॉलेजों के स्टूडेंट्स ने इस वर्ष कैम्पस प्लेसमेंट में स्वर्णिम सफलता अर्जित की है। कैम्पस सीजन में विभिन्न सेक्टर्स की कई नामी-गिरामी कंपनियों ने यहां के स्टूडेंट्स को हाथों-हाथ लिया। सालाना पैकेज की कुल राशि करीब 25 करोड़ की रही। अधिकतम पैकेज 12 लाख तथा औसत पैकेज 3.25 लाख रूपये था। 5 कंपनियाँ ऐसी थीं जिन्होंने 7 लाख रूपये से अधिक का पैकेज आॅफर किया।भिलाई। संतोष रूंगटा समूह (आर-1) द्वारा भिलाई तथा रायपुर में संचालित इंजीनियरिंग कॉलेजों के स्टूडेंट्स ने इस वर्ष कैम्पस प्लेसमेंट में स्वर्णिम सफलता अर्जित की है। कैम्पस सीजन में विभिन्न सेक्टर्स की कई नामी-गिरामी कंपनियों ने यहां के स्टूडेंट्स को हाथों-हाथ लिया। सालाना पैकेज की कुल राशि करीब 25 करोड़ की रही। अधिकतम पैकेज 12 लाख तथा औसत पैकेज 3.25 लाख रूपये था। 5 कंपनियाँ ऐसी थीं जिन्होंने 7 लाख रूपये से अधिक का पैकेज आॅफर किया।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

रूंगटा के एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग सिलेबस का स्कोप अधिक, रोजगार की बेहतर संभावनायें

भिलाई। संतोष रूंगटा समूह के रूंगटा कॉलेज आॅफ इंजीनियरिंग एण्ड टेक्नालॉजी (आरसीइटी), भिलाई में संचालित बीई की एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग की ब्रांच युवाओं को उन्नत कृषि क्षेत्र के ज्ञान से परिपूर्ण बनाने में पूर्णतया सक्षम है। यह कोर्स एआईसीटीई, नई दिल्ली से मान्यता प्राप्त तथा सीएसवीटीयू, भिलाई से संबद्धता प्राप्त है। चेयरमेन संतोष रूंगटा ने बताया कि छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानन्द तकनीकी विश्वविद्यालय, भिलाई से संबद्ध एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग कोर्स में अन्य कृषि विश्वविद्यालयों द्वारा चलाये जा रहे कोर्स से भिन्नता है।भिलाई। संतोष रूंगटा समूह के रूंगटा कॉलेज आॅफ इंजीनियरिंग एण्ड टेक्नालॉजी (आरसीइटी), भिलाई में संचालित बीई की एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग की ब्रांच युवाओं को उन्नत कृषि क्षेत्र के ज्ञान से परिपूर्ण बनाने में पूर्णतया सक्षम है। यह कोर्स एआईसीटीई, नई दिल्ली से मान्यता प्राप्त तथा सीएसवीटीयू, भिलाई से संबद्धता प्राप्त है। चेयरमेन संतोष रूंगटा ने बताया कि छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानन्द तकनीकी विश्वविद्यालय, भिलाई से संबद्ध एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग कोर्स में अन्य कृषि विश्वविद्यालयों द्वारा चलाये जा रहे कोर्स से भिन्नता है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

बीएससी बायो टेक के बाद स्वरूपानंद के विद्यार्थियों ने विभिन्न क्षेत्रों में बनाया मुकाम

भिलाई। स्वरूपानंद के एलमुनाई ने छत्तीसगढ़ में अपनी प्रतिभा का परचम फैलाया व सफलता का वह मुकाम हासिल किया जिससे अन्य अभ्यर्थियों को विज्ञान के क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित कर रहा है। इन पूर्व विद्यार्थियों ने अनुसंधान सहित विज्ञान के विभिन्न क्षेत्रों में स्वयं को स्थापित किया है और निरंतर अच्छा काम कर रहे हैं। स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय के एलमुनाई डॉ.सुनील साहू ने महाविद्यालय से बीएससी बॉयोटेक्नोलॉजी करने के बाद अन्नामलाई विश्वविद्यालय, चेन्नई से इसी विषय में एमएससी किया। वर्तमान में रिसर्च साईंटिस्ट के पद पर इंस्टीट्यूट आॅफ न्यूू एग्रीकल्चर रिसर्च चायना में कार्यरत है।भिलाई। स्वरूपानंद के एलमुनाई ने छत्तीसगढ़ में अपनी प्रतिभा का परचम फैलाया व सफलता का वह मुकाम हासिल किया जिससे अन्य अभ्यर्थियों को विज्ञान के क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित कर रहा है। इन पूर्व विद्यार्थियों ने अनुसंधान सहित विज्ञान के विभिन्न क्षेत्रों में स्वयं को स्थापित किया है और निरंतर अच्छा काम कर रहे हैं। स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय के एलमुनाई डॉ.सुनील साहू ने महाविद्यालय से बीएससी बॉयोटेक्नोलॉजी करने के बाद अन्नामलाई विश्वविद्यालय, चेन्नई से इसी विषय में एमएससी किया। वर्तमान में रिसर्च साईंटिस्ट के पद पर इंस्टीट्यूट आॅफ न्यूू एग्रीकल्चर रिसर्च चायना में कार्यरत है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

मयंक की बीट-बॉक्सिंग ने बटोरी श्रोताओं की तालियां, शारदा सामर्थ्य ट्रस्ट ने दिया मौका

भिलाई। माँ शारदा सामर्थ्य चैरिटेबल ट्रस्ट के मंच पर मयंक पेटकर ने बीट-बॉक्सिंग की अद्भुत कला की प्रस्तुति देकर खूब तालियां बटोरीं। शंकराचार्य विद्यालय, हुडको की कक्षा 12वीं के छात्र मयंक ने बताया कि यह कला वेस्टर्न हिप-हॉप कल्चर का ही एक हिस्सा है। यूट्यूब ने इस विधा को सीखने में उनकी मदद की। रविवार को होटल अमित पार्क इंटरनेशनल में आयोजित माँ शारदा सामर्थ्य चैरिटेबल ट्रस्ट के कार्यक्रम में कॉमर्स गुरू डॉ संतोष राय ने मयंक का परिचय दिया। मयंक के पिता की कुछ समय पूर्व आकस्मिक मृत्यु हो गई। इस सदमे ने उसे हिला कर रख दिया था। पर पढ़ने में रुचि और हॉबी ने उसे इस सदमे से उबारा और वह एक बार फिर अपनी हुनर को निखारने में जुट गया है।भिलाई। माँ शारदा सामर्थ्य चैरिटेबल ट्रस्ट के मंच पर मयंक पेटकर ने बीट-बॉक्सिंग की अद्भुत कला की प्रस्तुति देकर खूब तालियां बटोरीं। शंकराचार्य विद्यालय, हुडको की कक्षा 12वीं के छात्र मयंक ने बताया कि यह कला वेस्टर्न हिप-हॉप कल्चर का ही एक हिस्सा है। यूट्यूब ने इस विधा को सीखने में उनकी मदद की। मयंक के पिता की कुछ समय पूर्व आकस्मिक मृत्यु हो गई। इस सदमे ने उसे हिला कर रख दिया था। पर पढ़ने में रुचि और हॉबी ने उसे इस सदमे से उबारा और वह एक बार फिर अपनी हुनर को निखारने में जुट गया है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

श्री शंकराचार्य महाविद्यालय की छात्रा को मिली कैपजैमिनी में नियुक्ति

भिलाई। श्री शंकराचार्य महाविद्यालय की बीसीए. की छात्रा कु. उक्षा गोडमकर को भारत की प्रमुख कंम्पनी कैप्जमिनी बैंगलूरू द्वारा अपने कम्पनी में कार्य करने हेतु नियुक्ति आदेश प्रदान किया गया। महाविद्यालय द्वारा कैप्जमिनी कम्पनी में विद्यार्थियों को रोजगार दिलाने हेतु 19 सितम्बर 2018 कैम्पस ड्राइव का आयोजन किया गया था। जिसमें महाविद्यालय के बीसीए. की छात्रा कु. उक्षा गोडमकर का चयन हुआ।भिलाई। श्री शंकराचार्य महाविद्यालय की बीसीए. की छात्रा कु. उक्षा गोडमकर को भारत की प्रमुख कंम्पनी कैपजैमिनी बैंगलूरू द्वारा अपने कम्पनी में कार्य करने हेतु नियुक्ति आदेश प्रदान किया गया। महाविद्यालय द्वारा कैप्जमिनी कम्पनी में विद्यार्थियों को रोजगार दिलाने हेतु 19 सितम्बर 2018 कैम्पस ड्राइव का आयोजन किया गया था। जिसमें महाविद्यालय के बीसीए. की छात्रा कु. उक्षा गोडमकर का चयन हुआ।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

श्रीशंकराचार्य महाविद्यालय की एनसीसी इकाई ने मनाया नशा निषेध दिवस

भिलाई। श्रीशंकराचार्य महाविद्यालय में अंतर्राष्ट्रीय नशा निषेध दिवस (इंटरनेशनल डे अगेन्स्ट ड्रग अब्यूस एंड इलिसिट ट्रैफिकिंग) का आयोजन किया गया। लोगों को नशे से मुक्त कराने और उन्हें जागरूक करने के उद्देश्य से यह दिवस मनाया जाता है। इस अवसर पर महाविद्यालय के 26 एस.डी. कैडेट व 11 एस.डब्लू. एन.सी.सी. कैडेट के द्वारा नशा मुक्ति व इलिसिट ट्रैफिकिंग पर शपथ दिलवाया गया।भिलाई। श्रीशंकराचार्य महाविद्यालय में अंतर्राष्ट्रीय नशा निषेध दिवस (इंटरनेशनल डे अगेन्स्ट ड्रग अब्यूस एंड इलिसिट ट्रैफिकिंग) का आयोजन किया गया। लोगों को नशे से मुक्त कराने और उन्हें जागरूक करने के उद्देश्य से यह दिवस मनाया जाता है। इस अवसर पर महाविद्यालय के 26 एस.डी. कैडेट व 11 एस.डब्लू. एन.सी.सी. कैडेट के द्वारा नशा मुक्ति व इलिसिट ट्रैफिकिंग पर शपथ दिलवाया गया।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

हेयर स्टाइलिंग व स्पा भी है करोड़ों के करियर : जस एंड सैम

भिलाई। हेयर स्टाइलिंग और स्पा आज करोड़ों रुपए रोजगार का साधन बन चुका है। यदि आप एक शानदार करियर ढूंढ रहे हैं जिसमें ग्लैमर हो, रुतबा हो और पैसा भी हो तो हेयर स्टाइलिंग एंड हेयर केयर आपके लिए एक अच्छा करियर हो सकता है। यह कहना है कि जस एंड सैम का। मुंबई में हेयर स्टाइलिंग और स्पा की दुनिया में प्रतिष्ठित होने के बाद उन्होंने ट्रेनिंग का काम शुरू किया और आज उनके सिखाए बच्चे देश के कोने कोने में सलून और स्पा का संचालन कर अच्छा पैसा कमा रहे हैं।भिलाई। हेयर स्टाइलिंग और स्पा आज करोड़ों रुपए रोजगार का साधन बन चुका है। यदि आप एक शानदार करियर ढूंढ रहे हैं जिसमें ग्लैमर हो, रुतबा हो और पैसा भी हो तो हेयर स्टाइलिंग एंड हेयर केयर आपके लिए एक अच्छा करियर हो सकता है। यह कहना है कि जस एंड सैम का। मुंबई में हेयर स्टाइलिंग और स्पा की दुनिया में प्रतिष्ठित होने के बाद उन्होंने ट्रेनिंग का काम शुरू किया और आज उनके सिखाए बच्चे देश के कोने कोने में सलून और स्पा का संचालन कर अच्छा पैसा कमा रहे हैं।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

श्री शंकराचार्य महाविद्यालय के छात्रों ने किया सांध्यदीप का मंचन

भिलाई। श्री शंकराचार्य महाविद्यालय के शिक्षा विभाग एवं समान अवसर केन्द्र के संयुक्त तत्वावधान में शुक्रवार को कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसका शीर्षक था सांध्यदीप। एससीईआरटी के संतोष कुमार तम्बोली कार्यक्रम के मुख्य अतिथि थे। सभागार में डी.एल.एड. छात्रों द्वारा स्वनिर्मित बैच, नारियल से गणेश, दीया, गमले, पॉट एवं फूलों की प्रदर्शनी का उद्घाटन किया। महाविद्यालय में यू.जी.सी द्वारा संचालित समान अवसर केन्द्र ‘अवसर’ द्वारा सत्र 2011 से निरंतर विभिन्न योजनाओं पर कार्य कर रहा है।भिलाई। श्री शंकराचार्य महाविद्यालय के शिक्षा विभाग एवं समान अवसर केन्द्र के संयुक्त तत्वावधान में शुक्रवार को कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसका शीर्षक था सांध्यदीप। एससीईआरटी के संतोष कुमार तम्बोली कार्यक्रम के मुख्य अतिथि थे। सभागार में डी.एल.एड. छात्रों द्वारा स्वनिर्मित बैच, नारियल से गणेश, दीया, गमले, पॉट एवं फूलों की प्रदर्शनी का उद्घाटन किया। महाविद्यालय में यू.जी.सी द्वारा संचालित समान अवसर केन्द्र ‘अवसर’ द्वारा सत्र 2011 से निरंतर विभिन्न योजनाओं पर कार्य कर रहा है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

11वीं-12वीं में मेहनत की तो मजबूत हो जाती है विषय पर पकड़ : डॉ संतोष राय

भिलाई। कॉमर्स एवं मैनेजमेंट गुरू डॉ संतोष राय का मानना है कि किसी भी विषय के लिए 11वीं-12वीं कक्षा वह सीढ़ी है जिसे मजबूत कर लिया तो आगे का रास्ता बेहद आसान हो जाता है। ये कक्षाएं विषय का आधार होती हैं जिनका मजबूत होना करियर में सफलता के लिए अनिवार्य है। संस्था विगत 20 वर्षों से कॉमर्स के क्षेत्र में सर्वेश्रेष्ठ परिणाम दे रही है। 196 जोनल मार्केट सेक्टर-10 संचालित संस्था में 11वीं, 12वीं कॉमर्स के छात्रों को डॉ. संतोष राय एकाउन्ट पढ़ाते हैं वहीं बिजनेस सी.ए. प्रवीण बाफना एवं मिट्ठू मैडम पढ़ाती हैं। इकोनॉमिक्स पियूष जोशी सर द्वारा छात्रों को पढ़ाया जाता हैं।भिलाई। कॉमर्स एवं मैनेजमेंट गुरू डॉ संतोष राय का मानना है कि किसी भी विषय के लिए 11वीं-12वीं कक्षा वह सीढ़ी है जिसे मजबूत कर लिया तो आगे का रास्ता बेहद आसान हो जाता है। ये कक्षाएं विषय का आधार होती हैं जिनका मजबूत होना करियर में सफलता के लिए अनिवार्य है। संस्था विगत 20 वर्षों से कॉमर्स के क्षेत्र में सर्वेश्रेष्ठ परिणाम दे रही है। 196 जोनल मार्केट सेक्टर-10 संचालित संस्था में 11वीं, 12वीं कॉमर्स के छात्रों को डॉ. संतोष राय एकाउन्ट पढ़ाते हैं वहीं बिजनेस सी.ए. प्रवीण बाफना एवं मिट्ठू मैडम पढ़ाती हैं। इकोनॉमिक्स पियूष जोशी सर द्वारा छात्रों को पढ़ाया जाता हैं।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

संजय रूंगटा ग्रुप में जॉब फेयर, 250 छात्रों को मिली कैम्पस में नौकरी

भिलाई। संजय रूंगटा ग्रुप आॅफ इंस्टीट्यूशन्स द्वारा आयोजित कैम्पस जॉब फेयर में कम्पनियों द्वारा चयनित युवा खुशी से खिलखिलाते चेहरे लेकर निकले। इस जॉब फेयर के आयोजन की प्रमुख कम्पनिया धूत ट्रांसमिशन, स्काय कलेक्शंस प्राइवेट लिमिटेड, रोंच पॉलीमर्स प्राइवेट लिमिटेड, फुंसकुल इण्डिया लिमिटेड रही। युवा छात्रों की पंजीयन प्रक्रिया के बाद विभिन्न कंपनियों के प्रतिनिधियों ने प्री-प्लेसमेंट टॉक दिया जिसमे उन्होंने कंपनी के कार्यक्षेत्र के सम्बन्ध में जानकारी दी।भिलाई। संजय रूंगटा ग्रुप आॅफ इंस्टीट्यूशन्स द्वारा आयोजित कैम्पस जॉब फेयर में कम्पनियों द्वारा चयनित युवा खुशी से खिलखिलाते चेहरे लेकर निकले। इस जॉब फेयर के आयोजन की प्रमुख कम्पनिया धूत ट्रांसमिशन, स्काय कलेक्शंस प्राइवेट लिमिटेड, रोंच पॉलीमर्स प्राइवेट लिमिटेड, फुंसकुल इण्डिया लिमिटेड रही। युवा छात्रों की पंजीयन प्रक्रिया के बाद विभिन्न कंपनियों के प्रतिनिधियों ने प्री-प्लेसमेंट टॉक दिया जिसमे उन्होंने कंपनी के कार्यक्षेत्र के सम्बन्ध में जानकारी दी।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

इंडिया टूडे, वीक एवं आउटलुक सर्वे में संतोष रूंगटा समूह का RCET नंबर वन

रिकॉर्ड प्लेसमेंट तथा उत्कृष्ट एकाडमिक एनवायरन्मेंट से मिला शीर्ष स्थान

भिलाई। संतोष रूंगटा समूह द्वारा संचालित रूंगटा कॉलेज आफ इंजीनियरिंग एण्ड टेक्नालॉजी RCET ने इस वर्ष के इंडिया टुडे, द वीक तथा आउटलुक के सर्वे में राज्य में पहला स्थान अर्जित किया है। इसके साथ ही आरसीईटी को देश के टॉप इंजीनियरिंग कालेजों की सूची में 10वें स्थान पर रखा गया है। उल्लेखनीय है कि आरसीईटी पिछले 7 वर्षों से देश के शीर्ष तकनीकी संस्थानों में अपने स्थान पर बना हुआ है। आर-1 के नाम से प्रसिद्ध आारसीईटी ने इंडिया टूडे सर्वे में देश में 19वाँ तथा राज्य में पहला, द वीक सर्वे में देश में 20वाँ तथा ईस्ट जोन में दूसरा वहीं आउटलुक सर्वे में देश के टॉप 30 इंजीनियरिंग कॉलेजों में 23वाँ स्थान हासिल किया है।भिलाई। संतोष रूंगटा समूह द्वारा संचालित रूंगटा कॉलेज आफ इंजीनियरिंग एण्ड टेक्नालॉजी RCET ने इस वर्ष के इंडिया टुडे, द वीक तथा आउटलुक के सर्वे में राज्य में पहला स्थान अर्जित किया है। इसके साथ ही आरसीईटी को देश के टॉप इंजीनियरिंग कालेजों की सूची में 10वें स्थान पर रखा गया है। उल्लेखनीय है कि आरसीईटी पिछले 7 वर्षों से देश के शीर्ष तकनीकी संस्थानों में अपने स्थान पर बना हुआ है। आर-1 के नाम से प्रसिद्ध आारसीईटी ने इंडिया टूडे सर्वे में देश में 19वाँ तथा राज्य में पहला, द वीक सर्वे में देश में 20वाँ तथा ईस्ट जोन में दूसरा वहीं आउटलुक सर्वे में देश के टॉप 30 इंजीनियरिंग कॉलेजों में 23वाँ स्थान हासिल किया है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

सही लोगों के बीच रहें, खुद को शाबासी दें तो मिलेगी मंजिल : हरीश साईरमन

भिलाई। मशहूर मोटिवेशनल स्पीकर हरीश साइरमन ने कहा है कि जीवन में रचनात्मकता के साथ निरंतर आगे बढ़ने का केवल एक ही रास्ता है। सही लोगों के बीच रहें, छोटी-छोटी उपलब्धियों पर स्वयं को शाबासी दें और अपनी क्षमताओं को कम करके न आंकें। हरीश साईरमन यहां श्री शंकराचार्य मेडिकल कालेज में टेक्विप-3 योजना के तहत मोटिवेशनल एम्पावरमेंट एवं स्ट्रेस मैनेजमेंट पर आयोजित कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे।   हरीश ने कहा कि हम सभी एक जैसी ऊर्जा के साथ जन्म लेते हैं। नेगेटिविटी या पाजीटिविटी जैसे गुण हम बड़े होने के क्रम में प्राप्त करते हैं। जिसे हम प्राप्त करते हैं, जब चाहे उसे छोड़ भी सकते हैं।भिलाई। मशहूर मोटिवेशनल स्पीकर हरीश साइरमन ने कहा है कि जीवन में रचनात्मकता के साथ निरंतर आगे बढ़ने का केवल एक ही रास्ता है। सही लोगों के बीच रहें, छोटी-छोटी उपलब्धियों पर स्वयं को शाबासी दें और अपनी क्षमताओं को कम करके न आंकें। हरीश साईरमन यहां श्री शंकराचार्य मेडिकल कालेज में टेक्विप-3 योजना के तहत मोटिवेशनल एम्पावरमेंट एवं स्ट्रेस मैनेजमेंट पर आयोजित कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे।   हरीश ने कहा कि हम सभी एक जैसी ऊर्जा के साथ जन्म लेते हैं। नेगेटिविटी या पाजीटिविटी जैसे गुण हम बड़े होने के क्रम में प्राप्त करते हैं। जिसे हम प्राप्त करते हैं, जब चाहे उसे छोड़ भी सकते हैं।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

जेईई स्टेट कोटा के प्रथम राउंड काउंसिलिंग में आरसीईटी का दिखा रुझान

आॅटोमोबाइल, एग्रीकल्चर तथा माइनिंग की पूछ बढ़ी, अन्य राज्यों से भी दिखाई रुचि

भिलाई। रूंगटा ग्रुप आॅफ इंस्टीट्यूशन्स, भिलाई-रायपुर के चेयरमेन संतोष रूंगटा ने बताया कि समूह के इंजीनियरिंग कॉलेजों में हो रहे रिकॉर्ड प्लेसमेंट तथा उत्कृष्ट एकाडमिक एनायरन्मेंट की वजह से जेईई की पहले राउण्ड की काउंसिलिंग से ही अन्य राज्यों के स्टूडेंट्स ने भी अपना अच्छा रूझान दिखाया है। झारखण्ड, बिहार तथा मध्यप्रदेश के कुल 9 स्टूडेंट्स ने जेईई के पहले राउण्ड में एडमिशन लेकर राज्य में प्रदान की जा रही उत्कृष्ट इंजीनियरिंग शिक्षा के प्रति विश्वास जताया है।भिलाई। रूंगटा ग्रुप आॅफ इंस्टीट्यूशन्स, भिलाई-रायपुर के चेयरमेन संतोष रूंगटा ने बताया कि समूह के इंजीनियरिंग कॉलेजों में हो रहे रिकॉर्ड प्लेसमेंट तथा उत्कृष्ट एकाडमिक एनायरन्मेंट की वजह से जेईई की पहले राउण्ड की काउंसिलिंग से ही अन्य राज्यों के स्टूडेंट्स ने भी अपना अच्छा रूझान दिखाया है। झारखण्ड, बिहार तथा मध्यप्रदेश के कुल 9 स्टूडेंट्स ने जेईई के पहले राउण्ड में एडमिशन लेकर राज्य में प्रदान की जा रही उत्कृष्ट इंजीनियरिंग शिक्षा के प्रति विश्वास जताया है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare