Category Archives: Career

पाटणकर कन्या महाविद्यालय में गोधन के सहउत्पादों पर राष्ट्रीय वेबीनार

Cow Dung By Productsदुर्ग। शासकीय डॉ वा.वा. पाटणकर कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय दुर्ग में गोधन के सहउत्पादों में कॅरियर के अवसर पर राष्ट्रीय वेबीनार का आयोजन किया गया। गौकृति संस्थान जयपुर (राजस्थान) के डायरेक्टर भीमराज इस वेबीनार के मुख्य वक्ता थे। उन्होंने बताया कि उनकी संस्था गौकृति में गाय के गोबर से पेपर का निर्माण किया जाता है जिससे वे रजिस्टर, डायरी, कैलेण्डर और विभिन्न सजावटी उत्पाद तैयार करते है। इन उत्पादों को भारत के बाजार में ही नहीं विदेशों में भी मांग बढ़ी है। उन्होंने इस पर विस्तार से जानकारी दी।

भारतीय खादी डिजाइन परिषद एक्जीक्यूटिव कमेटी की सदस्य बनी प्रिया

Fashion Designer Priya Bawankarदुर्ग। ड्रीम जोन दुर्ग की केन्द्र प्रबंधक प्रिया बावनकर को भारतीय खादी डिजाइन परिषद की एक्जीक्यूटिव कमेटी का सदस्य मनोनीत किया गया है। परिषद खादी को लोकप्रिय बनाने तथा ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार पैदा करने के लिए काम करता है। परिषद में देश के 500 इंस्टीट्यूट तथा 50 हजार से अधिक फैशन डिजाइनर इससे जुड़े हुए हैं। यह एक गैर-लाभकारी संस्था है जो खादी के पुनरुत्थान से ग्रामोद्योग को बढ़ावा देने का प्रयास कर रही है।

सीएमए चेलापति राव के वेबिनार में शामिल हुए देश-विदेश के विद्यार्थी

International Webinar at Dr Santosh Rai Instituteभिलाई। 11वीं, 12वीं के एैसे छात्र-छात्राए जो सीएमए करना चाहते है, उसकी देश-विदेश मे क्या संभावनाए है इसपर डॉ संतोष राय इंस्टीट्यूट द्वारा एक अंतरराष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन किया गया। इस वेबिनार में न केवल भिलाई वरन् छ.ग. के विभिन्न क्षेत्र की छात्र-छात्राएं शामिल हुईं। साथ ही चन्नई, उड़ीसा, मध्यप्रदेश सहित विदेश के छात्र भी शामिल हुए। कम्बोडिया के चेलापति राय ने घाना से वेबिनार को संबोधित करते हुए बताया कि यह विश्व का दूसरा सबसे बड़ा मैनेजमेन्ट कोर्स है।

खदानों से घिरे छत्तीसगढ़ में अब छात्राएं भी बन सकेंगी माइनिंग इंजीनियर

Mining Engineering open for girlsभिलाई। कुछ साल पहले तक माना जाता था कि माइनिंग एक टफ जॉब है जिसमें लड़कियों को नहीं आना चाहिए। इस मिथक को दरकिनार करते हुए अब छात्राओं के हक में बड़ा फैसला ले लिया गया है। माइनिंग इंजीनियरिंग में अब छात्राएं भी प्रवेश ले सकेंगी। प्रदेश के 2 सरकारी व 4 निजी इंजीनियरिंग कॉलेजों में माइनिंग की पढ़ाई अब छात्राएं भी कर सकेंगी।  संतोष रूंगटा ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस में भी यह विषय उपलब्ध है। पॉलीटेक्नीक कॉलेजों में भी इस विषय में उन्हें प्रवेश मिलेगा।

स्वरूपानंद महाविद्यालय के दो विद्यार्थियों ने सेट परीक्षा उत्तीर्ण की

2 students of SSMV clear SETभिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय के शिक्षा विभाग में बी.एड. चतुर्थ सेमेस्टर में अध्ययनरत विद्यार्थी पूजा मेश्राम ने वाणिज्य विषय एवं प्रवेश प्रधान ने लाइफ साइंस विषय में छत्तीसगढ़ व्यावसायिक परीक्षा मण्डल द्वारा आयोजित सेट परीक्षा उत्तीर्ण की है। छात्रों के उत्तीर्ण होने पर श्री गंगाजली शिक्षण समिति के चेयरमेन आई.पी.मिश्रा, महाविद्यालय के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ दीपक शर्मा एवं प्राचार्य डॉ हंसा शुक्ला ने विद्यार्थियों को शुभकामनाएं दी तथा उनके उज्जवल भविष्य की कामना की है। शिक्षा विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ.पूनम निकुम्भ ने भी विद्यार्थियों को इस उपलब्धि पर बधाई दी तथा कहा कि यह महाविद्यालय के लिए गौरव की बात है। महाविद्यालय के समस्त प्राध्यापकों ने छात्रों को शुभकामनाएं एवं बधाई दी।

पुस्तक समीक्षा “उड़ान”- प्रभावित करती है भूपेन्द्र की सरल-सहज अभिव्यक्ति

Udaan by Dr Bhupendra Kuldeep inspires the reader to never lose hopeभूपेन्द्र कुलदीप की पुस्तक “उड़ान” की सरलता और सहजता प्रभावित करती है। छोटे-छोटे संवादों के सहारे कथानक द्रुत गति से आगे बढ़ता है। पाठक इस तरह खो जाता है कि कब पुस्तक समाप्त हो जाती है, पता ही नहीं लगता। इसमें प्रेम है, पिता-पुत्र और पिता-पुत्री के बीच की संवेदनाएं हैं, मदद करने वाले मित्र है। छोटी-छोटी नौकरियां हैं और बड़े-बड़े सपने हैं। स्वाध्याय और परस्पर सहयोग से बड़े लक्ष्यों की प्राप्ति का रास्ता है। भूपेन्द्र उन सफल रचनाकारों में से हैं जिन्हें पढ़ते समय मन कुछ और पन्नों को पढ़ने के लिए व्याकुल हो जाता है। यह पुस्तक लेखक के अपने जीवन संघर्ष को अभिव्यक्त करती है।

साइंस कालेज के रिकार्ड 22 विद्यार्थियों ने क्लीयर की सेट की प्रतिष्ठित परीक्षा

22 candidates from science college clear SATदुर्ग। शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय, दुर्ग हमेशा अपनी विशिष्ट उपलब्धियों के लिये जाना जाता है। महाविद्यालय की उपलब्धियों में एक कड़ी और जुड़ गई जब छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल रायपुर द्वारा कल घोषित सेट 2019 परीक्षा के परिणामों में साइंस कालेज, दुर्ग के 22 विद्यार्थी चयनित हुए। महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ आर.एन. सिंह ने प्रसन्नता पूर्वक सभी विभागाध्यक्षों, प्राध्यापकों तथा चयनित विद्यार्थियों को बधाई देते हुए बताया कि राष्ट्रीय स्तर की यह परीक्षा कठिन मानी जाती है।

विषय पर पकड़ से आता है आत्मविश्वास, यही सफलता का मूलमंत्र : अभिषेक

Grasp on subject boosts confidence Dr Abhishek Vermaदुर्ग। आत्मविश्वास ही सफलता का मूलमंत्र है। कोविड-19 की इस संकट की घड़ी में हमें स्वयं पर भरोसा रखते हुए चुनौतियों का सामना करना है। ये उद्गार प्रसिद्ध काऊसलर, मास्टर ट्रेनर एवं मेंटर महाराष्ट्र के अभिषेक वर्मा ने आज व्यक्त किये। श्री वर्मा हेमचंद यादव विश्वविद्यालय द्वारा पी.एच.डी शोध विद्यार्थियों तथा स्नातकोत्तर विद्यार्थियों हेतु आयोजित व्यक्तित्व विकास तथा इंटरव्यू स्क्ल्सि पर आयोजित ऑनलाईन आमंत्रित व्याख्यान दे रहे थे। श्री वर्मा ने बताया कि किसी भी साक्षात्कार में विद्यार्थियों की शैक्षणिक उत्कृष्ठता के साथ-साथ उनका आत्मविश्वास, बातचीत करने का तरीका, विशेषज्ञों के साथ संवाद भाषा का प्रयोग तथा समसामयिक विषयों पर आपका ज्ञान एवं दृष्टिकोण सफलता के मूलमंत्र होते है।

पावर हाउस प्रगति मार्केट में मिलेगा महिला उद्यमिता को विस्तार, खाद्य उत्पादों पर फोकस

Bhilai Nagar Nigam Meetingभिलाई। महिलाओं के लिए विशेष तौर पर बनाए जा रहे पावर हाउस के समीप प्रगति मार्केट में शहरवासियों को बेहतर खाद्य के प्रोडक्ट उपलब्ध कराने के लिए आज निगम सभागार में महिलाओं के द्वारा की जा रही तैयारियों को लेकर बैठक हुई। महापौर एवं भिलाई नगर विधायक देवेंद्र यादव एवं निगम आयुक्त ऋतुराज रघुवंशी के निर्देश पर उपायुक्त तरुण पाल लहरें ने सिटी लेवल फेडरेशन की महिलाओं की बैठक ली। इन महिलाओं को अच्छे खाद्य उत्पाद तैयार करने के लिए निर्देशित किया गया।

आत्मा योजना के अंतर्गत बेरला के शिवम ने उन्नत खेती की, बदल गए हालात

Bemetara Krishi Aatma Schemeबेमेतरा। मात्र 5 हेक्टेयर कृषि रकबे से शिवम परगनिहा आज न केवल एकाधिक फसल ले रहे हैं बल्कि आत्मा योजना के सुझावों एवं सहयोग से वे अपनी आर्थिक स्थिति को सुदृढ़ करने में भी सफल रहे हैं। अनाज उगाने के साथ ही उद्यनिकी फसल, पशुपालन एवं वर्मिकम्पोस्ट खाद बनाकर भी वे अपने परिवार की आय में वृद्धि कर रहे हैं। कृषि विभाग ने उन्हें अनुदान भी दिया है जिसका उन्होंने भरपूर सदुपयोग किया है।