Category Archives: Education

स्वरूपानंद कालेज के बीकॉम अंतिम का शत प्रतिशत परिणाम

भिलाई। हेमचंद यादव विश्वविद्यालय, दुर्ग द्वारा बी.कॉम अंतिम वर्ष का परीक्षा परिणाम घोषित किया गया। स्वरुपानंद महाविद्यालय बी.कॉम अंतिम वर्ष का परीक्षा परिणाम 99 प्रतिशत रहा जिसमें 44 विद्यार्थी प्रथम श्रेण्ी में उत्तीर्ण हुये तथा शेष विद्यार्थी द्वितीय श्रेणी में उत्तीर्ण हुये। महाविद्यालय की प्रावीण्य सूची में आने वाले विद्यार्थी- तारनी कोसमा 84, लोकेश्वरी 82, युकृति रानी तिवारी 81.6, शुभांश देवांगन 80.83, शुभम गोस्वामी 80.33, बबली यादव 79.33, अस्मिता तेडस 78.66 प्रतिशत रहा।भिलाई। हेमचंद यादव विश्वविद्यालय, दुर्ग द्वारा बीकॉम अंतिम वर्ष का परीक्षा परिणाम घोषित किया गया। स्वरुपानंद महाविद्यालय बीकॉम अंतिम वर्ष का परीक्षा परिणाम 99 प्रतिशत रहा जिसमें 44 विद्यार्थी प्रथम श्रेण्ी में उत्तीर्ण हुये तथा शेष विद्यार्थी द्वितीय श्रेणी में उत्तीर्ण हुये। महाविद्यालय की प्रावीण्य सूची में आने वाले विद्यार्थी- तारनी कोसमा 84, लोकेश्वरी 82, युकृति रानी तिवारी 81.6, शुभांश देवांगन 80.83, शुभम गोस्वामी 80.33, बबली यादव 79.33, अस्मिता तेडस 78.66 प्रतिशत रहा।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

हल भैंसा लेकर स्वयं खेत में उतरे कलेक्टर, जुताई के साथ ही की बुआई

बेमेतरा। कृषि कार्य में आधुनिक बदलाव आने से अब नांगर (हल) बैल के बदले ट्रेक्टर से जुताई करने लगे है। फिर भी कहीं-कहंी खेती किसानी कार्य में अब भी हल का उपयोग किया जा रहा है। कलेक्टर महादेव कावरे 8 जुलाई को ग्रामीण क्षेत्र के दौरे पर निकले थे। इस दौरान उन्हे ग्राम खिलोरा का एक किसान सोयाबीन बोता हुआ दिखाई दिया। उन्होंने अपना वाहन रूकवाया और खेत में जा पहुंचे। खिलोरा निवासी किसान दशरथ साहू उस वक्त हल चला रहे थे। कलेक्टर ने भी हल चलाने की इच्छा जाहिर की और दशरथ साहू से हल की पड़की (मुठ) पकड़कर खेत की जुताई की। इससे उन्हें अपना बचपन भी याद आ गया। बेमेतरा। कृषि कार्य में आधुनिक बदलाव आने से अब नांगर (हल) बैल के बदले ट्रेक्टर से जुताई करने लगे है। फिर भी कहीं-कहीं खेती किसानी कार्य में अब भी हल का उपयोग किया जा रहा है। कलेक्टर महादेव कावरे 8 जुलाई को ग्रामीण क्षेत्र के दौरे पर निकले थे। इस दौरान उन्हे ग्राम खिलोरा का एक किसान सोयाबीन बोता हुआ दिखाई दिया। उन्होंने अपना वाहन रूकवाया और खेत में जा पहुंचे। खिलोरा निवासी किसान दशरथ साहू उस वक्त हल चला रहे थे। कलेक्टर ने भी हल चलाने की इच्छा जाहिर की और दशरथ साहू से हल की पड़की (मुठ) पकड़कर खेत की जुताई की। इससे उन्हें अपना बचपन भी याद आ गया।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

रूंगटा इंजीनियरिंग कॉलेज में टोस्टमास्टर्स क्लब का गठन, पदाधिकारी हुए नियुक्त

भिलाई। संतोष रूंगटा एजुकेशनल कैम्पस (आर-1) में रूंगटा कॉलेज आॅफ इंजीनियरिंग एण्ड टेक्नालॉजी (आरसीइटी) में स्टूडेंट्स में बिजनेस लैंग्वेज अंग्रेजी भाषा के बोल-चाल में बढ़ावा देने तथा निरंतर साहित्यिक गंतिविधियां आयोजित कर युवाओं को इस क्षेत्र में तराशने हेतु टोस्टमास्टर्स क्लब का गठन किया गया है। टोस्टमास्टर्स क्लब एक ऐसी संस्था है जिसके माध्यम से इंग्लिश पब्लिक स्पीकिंग तथा लीडरशिप क्वालिटी को बढ़ावा देकर एक संपूर्ण व्यक्तित्व निर्माण पर जोर दिया जाता है।भिलाई। संतोष रूंगटा एजुकेशनल कैम्पस (आर-1) में रूंगटा कॉलेज आॅफ इंजीनियरिंग एण्ड टेक्नालॉजी (आरसीइटी) में स्टूडेंट्स में बिजनेस लैंग्वेज अंग्रेजी भाषा के बोल-चाल में बढ़ावा देने तथा निरंतर साहित्यिक गंतिविधियां आयोजित कर युवाओं को इस क्षेत्र में तराशने हेतु टोस्टमास्टर्स क्लब का गठन किया गया है। टोस्टमास्टर्स क्लब एक ऐसी संस्था है जिसके माध्यम से इंग्लिश पब्लिक स्पीकिंग तथा लीडरशिप क्वालिटी को बढ़ावा देकर एक संपूर्ण व्यक्तित्व निर्माण पर जोर दिया जाता है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

स्वरुपानंद महाविद्यालय की कल्पतरु इकाई ने बच्चों को दिए स्कूल बैग, लगाए पौधे

भिलाई। स्वामी श्री स्वरुपानंद सरस्वती महाविद्यालय के शिक्षकों के आर्थिक सहयोग से संचालित कल्पतरु सेवा समिति द्वारा नक्सल प्रभावित विद्यार्थियों को स्कूल बैग एवं खाद्य सामग्री का वितरण किया गया। राजनांदगांव में संचालित मां भगवती वात्सल्य निकेतन नक्सल प्रभावित व वनांचल के बच्चों की शिक्षा स्वावलंबन एवं उनके सर्वांगीण विकास के लिये प्रयासरत है।भिलाई। स्वामी श्री स्वरुपानंद सरस्वती महाविद्यालय के शिक्षकों के आर्थिक सहयोग से संचालित कल्पतरु सेवा समिति द्वारा नक्सल प्रभावित विद्यार्थियों को स्कूल बैग एवं खाद्य सामग्री का वितरण किया गया। राजनांदगांव में संचालित मां भगवती वात्सल्य निकेतन नक्सल प्रभावित व वनांचल के बच्चों की शिक्षा स्वावलंबन एवं उनके सर्वांगीण विकास के लिये प्रयासरत है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

डॉ संतोष राय इंस्टीट्यूट में कॉमर्स टीचिंग टेक्नीक का फ्री डेमो

भिलाई। छत्तीसगढ़ में कामर्स के क्षेत्र में निरंतर सर्वश्रेष्ठ परिणाम देने वाली संस्था डॉ. संतोष राय इंस्टीट्यूट द्वारा 11वीं, 12वीं के छात्रों के लिए 2 दिन का टिचिंग टेकनिक क्लास (डेमो क्लास) का आयोजन 13 जुलाई और 14 जुलाई को किया जा रहा हैंैं। इसके तहत एकाउन्ट्स, इकोनॉमिक्स, बिजनेस की कक्षाएं आयोजित की जाएंगी। 196 जोनल मार्केट सेक्टर-10 संचालित संस्था में शनिवार और रविवार को आयोजित नि:शुल्क डेमो क्लास में छात्र-छात्राओं के साथ उनके पैरेन्टस भी बैठ सकते हैं और पढ़ाने की तकनीक देख सकते हैं।भिलाई। छत्तीसगढ़ में कॉमर्स के क्षेत्र में निरंतर सर्वश्रेष्ठ परिणाम देने वाली संस्था डॉ. संतोष राय इंस्टीट्यूट द्वारा 11वीं, 12वीं के छात्रों के लिए 2 दिन का टिचिंग टेकनिक क्लास (डेमो क्लास) का आयोजन 13 जुलाई और 14 जुलाई को किया जा रहा हैंैं। इसके तहत एकाउन्ट्स, इकोनॉमिक्स, बिजनेस की कक्षाएं आयोजित की जाएंगी। 196 जोनल मार्केट सेक्टर-10 संचालित संस्था में शनिवार और रविवार को आयोजित नि:शुल्क डेमो क्लास में छात्र-छात्राओं के साथ उनके पैरेन्टस भी बैठ सकते हैं और पढ़ाने की तकनीक देख सकते हैं।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

अचार और इंसान में होता है फर्क, करना पड़ता है श्रम : डॉ वर्गीस

एमजे कालेज में स्टूडेन्ट डेवलपमेंट प्रोग्राम का सफल आयोजन

भिलाई। मैनेजमेन्ट गुरू एवं रूंगटा कालेज आफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नालॉजी के डीन स्टूडेन्ट डेवलपमेन्ट प्रो. डॉ मनोज वर्गीस ने आज एमजे कालेज के विद्यार्थियों एवं शिक्षा विभाग के प्राध्यापकों को सेल्फ मैनेजमेन्ट के गुर सिखाए। उन्होंने कहा कि अचार और इंसान में फर्क होता है। अचार बर्नी में पड़े-पड़े अपनी गुणवत्ता बढ़ा लेता है जबकि मनुष्य को प्रति दिन स्वयं में सुधार के लिए चेष्टा करनी पड़ती है। भिलाई। मैनेजमेन्ट गुरू एवं रूंगटा कालेज आफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नालॉजी के डीन स्टूडेन्ट डेवलपमेन्ट प्रो. डॉ मनोज वर्गीस ने आज एमजे कालेज के विद्यार्थियों एवं शिक्षा विभाग के प्राध्यापकों को सेल्फ मैनेजमेन्ट के गुर सिखाए। उन्होंने कहा कि अचार और इंसान में फर्क होता है। अचार बर्नी में पड़े-पड़े अपनी गुणवत्ता बढ़ा लेता है जबकि मनुष्य को प्रति दिन स्वयं में सुधार के लिए चेष्टा करनी पड़ती है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

सांसद चुन्नीलाल साहू से मिले शिक्षाविद चिन्ना, दिए कई सुझाव

भिलाई। आर्याज क्लासेस एवं द्रोणाचार्य पब्लिक स्कूल के संचालक वरिष्ठ शिक्षाविद नीलम चिन्ना केशवलू ने आज महासमुन्द के सांसद चुन्नीलाल साहू से मुलाकात की। इस दौरान छत्तीसगढ़ में गुणवत्तापरक शिक्षा की चुनौतियों पर सारगर्भित चर्चाएं हुर्इं। सांसद ने श्री चिन्ना के सुझावों को गौर से सुना तथा उन्हें संसद में संबंधित लोगों तक पहुंचाने का आश्वासन दिया।भिलाई। आर्याज क्लासेस एवं द्रोणाचार्य पब्लिक स्कूल के संचालक वरिष्ठ शिक्षाविद नीलम चिन्ना केशवलू ने आज महासमुन्द के सांसद चुन्नीलाल साहू से मुलाकात की। इस दौरान छत्तीसगढ़ में गुणवत्तापरक शिक्षा की चुनौतियों पर सारगर्भित चर्चाएं हुर्इं। सांसद ने श्री चिन्ना के सुझावों को गौर से सुना तथा उन्हें संसद में संबंधित लोगों तक पहुंचाने का आश्वासन दिया।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

श्री शंकराचार्य महाविद्यालय के 22वें स्थापना दिवस पर दिखी गतिविधियों की झलक

भिलाई। श्री शंकराचार्य महाविद्यालय ने अपना 22वां स्थापना दिवस शुक्रवार 5 जुलाई को मनाया। इस अवसर पर महाविद्यालय ने शैक्षणिक एवं शिक्षणेत्तर गतिविधियों की एक झलक प्रस्तुत की। कार्यक्रम की विशेष अतिथि आईआईटी मुम्बई की नैनो फैब्रिकेशन विभाग की अध्यक्ष तथा आईआईटी भिलाई की समन्वयक श्रीमती रजनी मूना ने महाविद्यालय की गतिविधियों की जमकर प्रशंसा की।भिलाई। श्री शंकराचार्य महाविद्यालय ने अपना 22वां स्थापना दिवस शुक्रवार 5 जुलाई को मनाया। इस अवसर पर महाविद्यालय ने शैक्षणिक एवं शिक्षणेत्तर गतिविधियों की एक झलक प्रस्तुत की। कार्यक्रम की विशेष अतिथि आईआईटी मुम्बई की नैनो फैब्रिकेशन विभाग की अध्यक्ष तथा आईआईटी भिलाई की समन्वयक श्रीमती रजनी मूना ने महाविद्यालय की गतिविधियों की जमकर प्रशंसा की।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

‘छई छपा छई, छपाक छई’, केपीएस कुटेला भाठा के नौनिहालों ने किया बारिश का स्वागत

भिलाई। नित नए प्रयोगों के इस दौर में जब लोगों पर बच्चों को कम्प्यूटर कीड़ा बनाने का जुनून सवार है तब केपीएस कुटेलाभाठा ने उन्हें प्रकृति से जोड़ने का अनूठा प्रयोग किया। बच्चों ने बारिश की बूंदों के साथ नृत्य किया और निचले हिस्सों में जमा पानी में ‘छपाक-छई’ भी किया। शिक्षकों ने बच्चों को बारिश के विषय में अनेक रोचक जानकारियां दीं और बारिश में भीगने के किस्से भी सुनाए। इस स्कूल ने पहले भी रंग बिरंगे प्लास्टिक के टिफिन बाक्स की छुट्टी कर बच्चों को स्टील के टिफिन बाक्स प्रदान कर एक मिसाल कायम की थी।भिलाई। नित नए प्रयोगों के इस दौर में जब लोगों पर बच्चों को कम्प्यूटर कीड़ा बनाने का जुनून सवार है तब केपीएस कुटेला भाठा ने उन्हें प्रकृति से जोड़ने का अनूठा प्रयोग किया। बच्चों ने बारिश की बूंदों के साथ नृत्य किया और निचले हिस्सों में जमा पानी में ‘छपाक-छई’ भी किया। शिक्षकों ने बच्चों को बारिश के विषय में अनेक रोचक जानकारियां दीं और बारिश में भीगने के किस्से भी सुनाए। इस स्कूल ने पहले भी रंग बिरंगे प्लास्टिक के टिफिन बाक्स की छुट्टी कर बच्चों को स्टील के टिफिन बाक्स प्रदान कर एक मिसाल कायम की थी।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

इंदु आईटी स्कूल के बच्चों ने ‘मैंगो मैनिया डे’ पर बनाया चित्र, चखा आम

भिलाई। नित नए प्रयोगों के लिए परिचित इंदु आईटी स्कूल में मैंगो मैनिया डे मनाया गया। दिवस विशेष पर बच्चों ने आम के चित्र बनाए तथा उसके गुणों के बारे में जाना। स्कूल की तरफ से बच्चों को आम खिलाया गया। बच्चे आम के विषय में रोचक जानकारियां पाकर बेहद हर्षित हुए।26 जून 2019 को मैंगो मैनिया डे दुनिया भर में मनाया जाता है। भारत में इसका विशेष जोर रहता है। इस कार्यक्रम में कक्षा नर्सरी से के.जी- 2 तक के बच्चों ने बड़े उत्सह के साथ भाग लिया।भिलाई। नित नए प्रयोगों के लिए परिचित इंदु आईटी स्कूल में ‘मैंगो मैनिया डे’ मनाया गया। दिवस विशेष पर बच्चों ने आम के चित्र बनाए तथा उसके गुणों के बारे में जाना। स्कूल की तरफ से बच्चों को आम खिलाया गया। बच्चे आम के विषय में रोचक जानकारियां पाकर बेहद हर्षित हुए।26 जून 2019 को ‘मैंगो मैनिया डे’ दुनिया भर में मनाया जाता है। भारत में इसका विशेष जोर रहता है। इस कार्यक्रम में कक्षा नर्सरी से के.जी- 2 तक के बच्चों ने बड़े उत्सह के साथ भाग लिया।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

इंदु आई टी स्कूल में वन महोत्सव का आयोजन, बच्चों ने रोपे पौधे

भिलाई। इंदु आई टी विद्यालय वन महोत्सव का आयोजन, पर्यावरण संरक्षण एव जागरूकता हेतु हर्षोल्लास के साथ आयोजित किया गया। इस अवसर पर कक्षा 1 से कक्षा 8 के विद्यार्थियों ने वृक्षारोपण किया तथा अपने स्लोगन "पेड़-पौधे मत करो नष्ट, सांस लेने में होगा कष्ट" तथा पर्यावरण को प्रदूषण से बचाने के लिए प्रति व्यक्ति 5 पेड़ लगाने की शपथ भी ली गयी। वन महोत्सव के अवसर पर शाला के डायरेक्टर एसएम उमक, डायरेक्टर श्रीमती मीनल उमक, यशोवर्धन उमक, प्राचार्य आलोक श्रीवास्तव, एक्टिविटी इंचार्ज श्रीमती रश्मि भटनागर, श्रीमती मीता गोस्वामी व सभी शिक्षक-शिक्षिकाओं व बच्चों के द्वारा पौधारोपण करते हुए धरती पर हरियाली लाने का संदेश दिया गया।भिलाई। इंदु आई टी विद्यालय वन महोत्सव का आयोजन, पर्यावरण संरक्षण एव जागरूकता हेतु हर्षोल्लास के साथ आयोजित किया गया। इस अवसर पर कक्षा 1 से कक्षा 8 के विद्यार्थियों ने वृक्षारोपण किया तथा अपने स्लोगन “पेड़-पौधे मत करो नष्ट, सांस लेने में होगा कष्ट” तथा पर्यावरण को प्रदूषण से बचाने के लिए प्रति व्यक्ति 5 पेड़ लगाने की शपथ भी ली गयी। वन महोत्सव के अवसर पर शाला के डायरेक्टर एसएम उमक, डायरेक्टर श्रीमती मीनल उमक, यशोवर्धन उमक, प्राचार्य आलोक श्रीवास्तव, एक्टिविटी इंचार्ज श्रीमती रश्मि भटनागर, श्रीमती मीता गोस्वामी व सभी शिक्षक-शिक्षिकाओं व बच्चों के द्वारा पौधारोपण करते हुए धरती पर हरियाली लाने का संदेश दिया गया।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

यदि आपकी राह में कष्ट नहीं हैं तो आप गलत रास्ते पर हैं : विवेकानंद

स्वरूपांद महाविद्यालय में विवेकानंद स्मृति दिवस पर परिचर्चा का आयोजन

 भिलाई। यदि आपकी राह में कष्ट नहीं हैं तो आप गलत रास्ते पर हैं। यह कहना था स्वामी विवेकानंद का। स्वामी विवेकानंद स्मृति दिवस के अवसर पर स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय के शिक्षा विभाग द्वारा आयोजित ‘स्वामी विवेकानंद और युवा’ विषय पर परिचर्चा में उक्त वक्तव्य का उल्लेख किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने किया। प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में कहा कि हमारा धर्म कर्म पर आधारित है। कर्म आधारित धर्म के कारण भारत में विश्व गुरू बनने की क्षमता है। युवावस्था उत्कर्ष काल है यह युवाओं के कर्म करने का काल है।भिलाई। यदि आपकी राह में कष्ट नहीं हैं तो आप गलत रास्ते पर हैं। यह कहना था स्वामी विवेकानंद का। स्वामी विवेकानंद स्मृति दिवस के अवसर पर स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय के शिक्षा विभाग द्वारा आयोजित ‘स्वामी विवेकानंद और युवा’ विषय पर परिचर्चा में उक्त वक्तव्य का उल्लेख किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने किया। प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में कहा कि हमारा धर्म कर्म पर आधारित है। कर्म आधारित धर्म के कारण भारत में विश्व गुरू बनने की क्षमता है। युवावस्था उत्कर्ष काल है यह युवाओं के कर्म करने का काल है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

इंजीनियरिंग प्लेसमेंट में शीर्ष पर संतोष रूंगटा समूह, 75 कंपनियों ने किया जॉब आफर

भिलाई। संतोष रूंगटा समूह (आर-1) द्वारा भिलाई तथा रायपुर में संचालित इंजीनियरिंग कॉलेजों के स्टूडेंट्स ने इस वर्ष कैम्पस प्लेसमेंट में स्वर्णिम सफलता अर्जित की है। कैम्पस सीजन में विभिन्न सेक्टर्स की कई नामी-गिरामी कंपनियों ने यहां के स्टूडेंट्स को हाथों-हाथ लिया। सालाना पैकेज की कुल राशि करीब 25 करोड़ की रही। अधिकतम पैकेज 12 लाख तथा औसत पैकेज 3.25 लाख रूपये था। 5 कंपनियाँ ऐसी थीं जिन्होंने 7 लाख रूपये से अधिक का पैकेज आॅफर किया।भिलाई। संतोष रूंगटा समूह (आर-1) द्वारा भिलाई तथा रायपुर में संचालित इंजीनियरिंग कॉलेजों के स्टूडेंट्स ने इस वर्ष कैम्पस प्लेसमेंट में स्वर्णिम सफलता अर्जित की है। कैम्पस सीजन में विभिन्न सेक्टर्स की कई नामी-गिरामी कंपनियों ने यहां के स्टूडेंट्स को हाथों-हाथ लिया। सालाना पैकेज की कुल राशि करीब 25 करोड़ की रही। अधिकतम पैकेज 12 लाख तथा औसत पैकेज 3.25 लाख रूपये था। 5 कंपनियाँ ऐसी थीं जिन्होंने 7 लाख रूपये से अधिक का पैकेज आॅफर किया।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

तकनीकी स्नातकों के लिए एक दिवसीय औद्योगिक भ्रमण

भिलाई। श्री शंकराचार्य टेक्निकल कैंपस में इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग विभाग द्वारा टेक्विप- 3 के अंतर्गत तकनीकी छात्रों के लिये हेतु एक दिवसीय औद्योगिक भ्रमण का आयोजन किया गया, जिसमे से लगभग 60 से ज्यादा छात्रों ने अपनी सहभागिता दर्ज करते हुए इंडस्ट्रियल भ्रमण का आनंद उठाया और हाइड्रो पावर प्लांट के बारे में जानकारी प्राप्त की। इसके तहत धमतरी स्थित 10 मेगा वाट हाइड्रो पावर प्लांट का इंडस्ट्रियल भ्रमण किया गया। जहां छात्रों को पावर प्लांट की कार्यशैली से अवगत कराया गया। हाइड्रो पावर प्लांट में कार्यरत कार्यपालक इंजीनियर मनीष दानी द्वारा छात्रों को पावर प्लांट की विधवत जानकारी प्रदान की जिसमे से जनरेशन, कण्ट्रोल एवं टरबाइन सेक्शन प्रमुख हैं।भिलाई। श्री शंकराचार्य टेक्निकल कैंपस में इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग विभाग द्वारा टेक्विप- 3 के अंतर्गत तकनीकी छात्रों के लिये हेतु एक दिवसीय औद्योगिक भ्रमण का आयोजन किया गया, जिसमे से लगभग 60 से ज्यादा छात्रों ने अपनी सहभागिता दर्ज करते हुए इंडस्ट्रियल भ्रमण का आनंद उठाया और हाइड्रो पावर प्लांट के बारे में जानकारी प्राप्त की। इसके तहत धमतरी स्थित 10 मेगा वाट हाइड्रो पावर प्लांट का इंडस्ट्रियल भ्रमण किया गया। जहां छात्रों को पावर प्लांट की कार्यशैली से अवगत कराया गया।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

श्री शंकराचार्य टेक्निकल कैम्पस के महेश सिंह को पीएचडी की उपाधि

Prof Mahesh Singh of SSTC awarded PhDभिलाई। श्री शंकराचार्य टेक्निकल कैम्पस में कार्यरत इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रोनिक्स इंजीनियरिंग के प्रो महेश सिंह को उनके शोध कार्य के लिए स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय ने डॉक्टर आॅफ फिलॉसफी पीएचडी की उपाधि प्रदान की है। प्रो महेश सिंह ने अपना शोध कार्य राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआईटी) में कार्यरत डॉ आरएन पटेल एवं युगांतर इंस्टिट्यूट आॅफ टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट में कार्यरत डॉ डीडी नेमा के निर्देशन में पूरा किया। उनके शोध का विषय इम्प्रूविंग स्टेबिलिटी इन ए पावर सिस्टम नेटवर्क यूजिंग आॅप्टीमाइज़्ड तुनेड कंट्रोलर था। उनके शोध का मुख्य कार्य आॅप्टिमाइज्ड ट्यूनड कंट्रोलर का उपयोग कर पावर सिस्टम नेटवर्क की स्थिरता में सुधार करना है। उनकी उपलब्धि पर एसजीईएस के चेयरमैन आईपी मिश्रा, अध्यक्ष जया मिश्रा, एसएसटीसी के निदेशक डॉ पीबी देशमुख ने शुभकामनाएं दी हैं।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare