Category Archives: Society

कृष्णप्रिया राष्ट्रीय अवार्ड प्रतियोगिता 17 दिसंबर से

भिलाई। देश भर के शास्त्रीय, पाश्चात्य और सुगम शैली के नृत्य व संगीत की अनूठी प्रतियोगिता भिलाई में होने जा रही है। इसमें न सिर्फ कलाकार विभिन्न वर्ग में अपनी प्रस्तुति देंगे बल्कि उत्कृष्ट प्रस्तुतियों के आधार पर इन कलाकारों को राष्ट्रीय अवार्ड से सम्मानित भी किया जाएगा। कृष्णप्रिया कथक कला केंद्र भिलाई-दुर्ग की ओर से कृष्णप्रिया राष्ट्रीय अवार्ड प्रतियोगिता एवं अखिल भारतीय नृत्य एवं संगीत प्रतियोगिता का भव्य आयोजन 17 दिसंबर से 21 दिसंबर तक एसएनजीडी सभागार सेक्टर-4 में होने जा रहा है।भिलाई। देश भर के शास्त्रीय, पाश्चात्य और सुगम शैली के नृत्य व संगीत की अनूठी प्रतियोगिता भिलाई में होने जा रही है। इसमें न सिर्फ कलाकार विभिन्न वर्ग में अपनी प्रस्तुति देंगे बल्कि उत्कृष्ट प्रस्तुतियों के आधार पर इन कलाकारों को राष्ट्रीय अवार्ड से सम्मानित भी किया जाएगा। कृष्णप्रिया कथक कला केंद्र भिलाई-दुर्ग की ओर से कृष्णप्रिया राष्ट्रीय अवार्ड प्रतियोगिता एवं अखिल भारतीय नृत्य एवं संगीत प्रतियोगिता का भव्य आयोजन 17 दिसंबर से 21 दिसंबर तक एसएनजीडी सभागार सेक्टर-4 में होने जा रहा है।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

राजनीति का अखाड़ा नहीं है चेम्बर : अमर पारवानी

रायपुर। छत्तीसगढ़ चेम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष अमर पारवानी ने कहा है कि चेम्बर राजनीति का अखाड़ा नहीं है। यह व्यापारियों का अपना मंच है जो शासन और व्यापारियों के बीच सेतु का काम करता है। नोटबंदी और जीएसटी से हमें दिक्कत हुई तो हमने अपनी बातें शासन के समक्ष रखी। शासन ने व्यावहारिक दिक्कतों को दूर करने में हमेशा व्यापारियों की बातों को महत्व दिया।रायपुर। छत्तीसगढ़ चेम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष अमर पारवानी ने कहा है कि चेम्बर राजनीति का अखाड़ा नहीं है। यह व्यापारियों का अपना मंच है जो शासन और व्यापारियों के बीच सेतु का काम करता है। नोटबंदी और जीएसटी से हमें दिक्कत हुई तो हमने अपनी बातें शासन के समक्ष रखी। शासन ने व्यावहारिक दिक्कतों को दूर करने में हमेशा व्यापारियों की बातों को महत्व दिया।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

बेटी के जन्म पर 5 हजार रुपए दे रहा है हथनीकला ग्राम पंचायत

बिलासपुर। हथनीकला ग्राम पंचायत बेटी के जन्म पर 5 हजार रुपए दे रहा है। सांसद आदर्श ग्राम हथनीकला केंद्र सरकार की बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना का गंभीरता के साथ क्रियान्वयन कर रहा है। पंचायत की बैठक में यह तय किया गया है कि गांव में किसी भी परिवार में बेटी के जन्म पर मां-पिता व परिवार को सम्मानित करेंगे।बिलासपुर। हथनीकला ग्राम पंचायत बेटी के जन्म पर 5 हजार रुपए दे रहा है। सांसद आदर्श ग्राम हथनीकला केंद्र सरकार की बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना का गंभीरता के साथ क्रियान्वयन कर रहा है। पंचायत की बैठक में यह तय किया गया है कि गांव में किसी भी परिवार में बेटी के जन्म पर मां-पिता व परिवार को सम्मानित करेंगे।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

प्रसाद के रूप में पौधे दे रहा गायत्री परिवार, 108 गांवों को जोड़ा

पर्यावरण संरक्षण के लिए गायत्री परिवार 'अपना गांव-अपना वनÓ योजना संचालित कर रहा है। परिवार से जुडऩे वाले नए सदस्यों को प्रसाद के रूप में पौधे दिए जा रहे हैं। इन पौधों को नए सदस्य तालाब किनारे या फिर अपने घरों के आंगन में लगाते हैं। साथ ही पौधों के बड़े होने तक देखभाल के लिए भी सदस्यों द्वारा संकल्प भी लिया जाता है।बिलासपुर। पर्यावरण संरक्षण के लिए गायत्री परिवार ‘अपना गांव-अपना वन’ योजना संचालित कर रहा है। परिवार से जुडऩे वाले नए सदस्यों को प्रसाद के रूप में पौधे दिए जा रहे हैं। इन पौधों को नए सदस्य तालाब किनारे या फिर अपने घरों के आंगन में लगाते हैं। साथ ही पौधों के बड़े होने तक देखभाल के लिए भी सदस्यों द्वारा संकल्प भी लिया जाता है। 

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

आज से विशाखापट्टनम स्पेशल ट्रेन पहुंचेगी किरंदुल

दंतेवाड़ा। जगदलपुर से चलने वाली विशाखापट्टनम स्पेशल रेल का विस्तार किरंदुल तक किया गया है। सोमवार से इसका नियमित संचालन होगा। जगदलपुर में जहां भाजपा के पदाधिकारी मौजूद रहेंगे वहीं किरंदुल में कांग्रेस विधायक द्वारा हरी झंडी दिखाने की तैयारी है। इस बीच छग जनता कांग्रेस ने इसे अपने आंदोलनों का सुफल बताया है। छजकां ने कहा है कि उनका लगातार संघर्ष रंग लाया और रेलवे ने इस ट्रेन को किरंदुल तक बढ़ाने का फैसला किया।दंतेवाड़ा। जगदलपुर से चलने वाली विशाखापट्टनम स्पेशल ट्रेन का विस्तार किरंदुल तक किया गया है। सोमवार से इसका नियमित संचालन होगा। जगदलपुर में जहां भाजपा के पदाधिकारी मौजूद रहेंगे वहीं किरंदुल में कांग्रेस विधायक द्वारा हरी झंडी दिखाने की तैयारी है। इस बीच छग जनता कांग्रेस ने इसे अपने आंदोलनों का सुफल बताया है। छजकां ने कहा है कि उनका लगातार संघर्ष रंग लाया और रेलवे ने इस ट्रेन को किरंदुल तक बढ़ाने का फैसला किया।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

ब्लास्ट फर्नेस-8 क्षेत्र में लगाये पौधे

भिलाई। भिलाई इस्पात संयंत्र के ब्लास्ट फर्नेस-8 में जहाँ एक ओर तकनीकी विशेषज्ञ प्रोजेक्ट्स के कार्य को मुकाम तक ले जाने के लिये अपना सर्वोतम दे रहे है वही दूसरी ओर कुछ तकनीकी विशेषज्ञ ब्लास्ट फर्नेस-8 के आसपास पर्यावरण सरंक्षण के उद्देश्य से पोधे भी लगा रहे है।भिलाई। भिलाई इस्पात संयंत्र के ब्लास्ट फर्नेस-8 में जहाँ एक ओर तकनीकी विशेषज्ञ प्रोजेक्ट्स के कार्य को मुकाम तक ले जाने के लिये अपना सर्वोतम दे रहे है वही दूसरी ओर कुछ तकनीकी विशेषज्ञ ब्लास्ट फर्नेस-8 के आसपास पर्यावरण सरंक्षण के उद्देश्य से पोधे भी लगा रहे है। बी के प्रसाद उप महाप्रबंधक (प्रोजेक्ट्स-ब्लास्ट फर्नेस) का नाम इन्ही तकनीकी विशेषज्ञों में लिया जाता है जो इस पर्यावरण सरंक्षण के महत्वपूर्ण कार्य को बखूबी अंजाम दे रहे है।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

दीया वुमन विंग ने छात्राओं को कराया नारीशक्ति का बोध

अखिल विश्व गायत्री परिवार के युवा संगठन दिव्य भारत युवा संघ छतीसगढ़ की दीया वुमन विंग ने राष्ट्र निर्माण में युवाओं की भागीदारी विषय को लेकर 15 नवम्बर 2017 को तुलाराम आर्य कन्या उ. मा. शाला एवं 16 नवम्बर को शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला कैम्प-1 भिलाई में कार्यशाला का आयोजन किया। भिलाई। अखिल विश्व गायत्री परिवार के युवा संगठन दिव्य भारत युवा संघ छतीसगढ़ की दीया वुमन विंग ने राष्ट्र निर्माण में युवाओं की भागीदारी विषय को लेकर 15 नवम्बर 2017 को तुलाराम आर्य कन्या उ. मा. शाला एवं 16 नवम्बर को शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला कैम्प-1 भिलाई में कार्यशाला का आयोजन किया। दोनों स्कूलों के 800 छात्र छात्राओं के बीच व्यक्तित्व परिष्कार कार्यशाला कर उन्हें जीवन लक्ष्य तय कर उसे प्राप्त करने के तरीके बताए।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

स्कूल से लौटकर पिता के साथ निकलती है भीख मांगने

After school she takes her handicapped father to beg for almsभिलाई। यह कोई अकेला चेहरा नहीं है। ऐसे सैकड़ों बेटियां हैं जो आंखों में सुखद भविष्य का सपना लिए शिक्षा ग्रहण कर रही हैं। घर लौटते ही या तो वो कामवाली बन जाती है या फिर भीख मांगकर घर खर्च में हाथ बंटाने को मजबूर। कुमारी बाई भी यही करती है। 7वीं की छात्रा कुमारी घर लौटती है तो अपाहिज पिता को रिक्शे पर बैठा कर भीख मांगने निकल पड़ती है। यूनिफार्म के अलावा उसके पास कोई ढंग का कपड़ा तक नहीं है। गले में लटकते स्कूल आईकार्ड को निकालना तक याद नहीं रहता।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

छत्तीसगढ़ ब्लड डोनर फाउंडेशन ने उठाया बच्चों की शिक्षा का खर्च

Chhattisgarh Blood Donor Foundation provides for education expenses for kids of a deserted mother. The mother serves in a school as class 4 staff and was unable to bear the expenses.रायपुर। प्रदेश भर में रक्तदान कर मरीजों की मदद करने वाली संस्था छत्तीसगढ़ ब्लड डोनर फाउंडेशन ने एक गरीब मां के दो बच्चों की शिक्षा का खर्च उठा लिया है। साई पब्लिक स्कूल, मंदिर हसौद में कक्षा दूसरी के छात्र राज सोनी की स्कूल फीस एवं कॉपी किताब के लिए जहां संस्था ने 8,500 रुपए प्रदान किये वहीं केजी 2 में पढऩे वाली उसकी बहन एंजल सोनी की फीस माफ करवा दी।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

यहां फुफेरी बहन से कराई जाती है शादी, अग्नि नहीं पानी के लेते हैं फेरे

रायपुर।देश के अलग-अलग अंचलों में शादी को लेकर कई रीति-रिवाज हैं। छत्तीसगढ़ के आदिवासी अंचलों में शादी को लेकर अजब-गजब मान्यताएं हैं। यहां शादी के तरीके भी अलग हैं। बस्तर अंचल में धुरवा जनजाति में तो फुफेरी बहन से ही भाई की शादी की जाती है। धुरवा जनजाति में पानी को साक्षी मानकर फेरे लिए जाते हैं।रायपुर।देश के अलग-अलग अंचलों में शादी को लेकर कई रीति-रिवाज हैं। छत्तीसगढ़ के आदिवासी अंचलों में शादी को लेकर अजब-गजब मान्यताएं हैं। यहां शादी के तरीके भी अलग हैं। बस्तर अंचल में धुरवा जनजाति में तो फुफेरी बहन से ही भाई की शादी की जाती है। धुरवा जनजाति में पानी को साक्षी मानकर फेरे लिए जाते हैं।
WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

बीएसपी के सीईओ एम रवि ने आॅफिसर्स एसोसिएशन को जताई अपेक्षाएं

BSP Officers Associationभिलाई। बीएसपी के सीईओ एम रवि ने एक नई पहल के तहत बीएसपी के आॅफिसर्स एसोसिएशन के नवनिर्वाचित पदाधिकारियों को सौजन्य भेंट हेतु सीईओ सभागार में आमंत्रित किया। ओए के अध्यक्ष एन के बंछोर, महासचिव शाहिद अहमद, कोषाध्यक्ष, अंकुर मिश्रा एवं सभी जोनल प्रतिनिधियों ने बीएसपी के सीईओ एम रवि से सौहार्द्र मुलाकात की। सीईओ सभागार में आयोजित इस बैठक में भिलाई इस्पात संयंत्र को सिरमौर बनाये रखने के लिए सार्थक चर्चा की गई।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

सुआ महोत्सव में भाग लेने रिकार्ड 12 हजार पंजीयन

Sua Mahotsav World Recordदुर्ग। रविशंकर स्टेडियम परिसर में 29 अक्टूबर को आयोजित सुवा महोत्सव में भाग लेने 12 हजार प्रतिभागी अपना पंजीयन करा चुके हैं। इसके लिए मानस भवन के अलावा भिलाई एवं आसपास के क्षेत्रों में प्रतिभागियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। भाजपा की राष्ट्रीय महासचिव डॉ. सरोज पाण्डेय ने मानस भवन में प्रशिक्षण का अवलोकन किया और उत्साह बढ़ाया। गोदना सामाजिक संस्था द्वारा आयोजित इस सुआ महोत्सव की शुरूआत डॉ. सरोज पाण्डेय ने अपने महापौर कार्यकाल के दौरान की थी। 29 अक्टूबर को इस आयोजन में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह एवं अनेक ख्यातिनाम लोक कलाकार एवं संस्कृति कर्मी उपस्थित रहेंगे। सुआ महोत्सव में 10 हजार प्रतिभागियों के भाग लेने से एक नया विश्व कीर्तिमान स्थापित होगा।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

500 से लेकर 60,000 रुपए तक में यहां किराए पर मिलती है बीवियां

Shortage of women force men to hire wife on rentनई दिल्ली। देश के कुछ हिस्सों में किराए पर मिलती है बीवियां। किराए की बीवी मासिक या सालाना किराए पर ली जा सकती हैं। ताज्जुब यह है कि अब तक इस प्रथा के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है। खराब लिंगानुपात इसकी सबसे बड़ी वजह है। मध्यप्रदेश के शिवपुरी इलाके में इसका प्रभाव देखा जा सकता है। यहां इसे दधीच प्रथा के नाम से जाना जाता है। महज 10 रुपए से लेकर 100 रुपए तक की डीड पर हस्ताक्षर के बाद महिला का पति बदल जाता है। सौदे का समय पूरा होने के बाद महिला को दूसरे व्यक्ति को बेच दिया जाता है।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

किन्नरों की इन तालियों के पीछे छिपी है शोषण उत्पीडऩ की कहानी

sigma-upadhyay-playभिलाई। किन्नरों के बारे में साधारण समाज बहुत कम जानता है। उन्हें लगता है कि बात-बात पर ताली बजाने वाले इन किन्नरों के जीवन में सिर्फ मौज मस्ती है। समाज मानता है कि किन्नर बेहद ताकतवर होते हैं और उन्हें दर्द नहीं होता। पर यह कितना बड़ा झूठ है, इसका मंचन किया एक युवा रंगकर्मी, सिग्मा उपाध्याय ने। नाटक में किन्नरों की समस्याओं को रेखांकित किया गया है। किन्नरों की कोई जुबान नहीं होती। किन्नरों के कोई अधिकार नहीं होते। किन्नरों को चिकित्सा की सुविधा हासिल नहीं है। किन्नरों का कोई घर नहीं है। तालियां बजाकर लोगों का मनोरंजन करने और शुभ अवसरों पर उनकी बलाएं अपने सिर लेकर उन्हें आशीर्वाद देने वाले किन्नरों का स्वयं का जीवन एक अंधे कुएं में ही गुजरता है। एक ऐसा अंधा कुआं जहां सभ्यता की रौशनी नहीं है, जहां सपना देखना गुनाह है, जहां चीखें घुट-घुट कर दम तोड़ देती हैं। 

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

You Light Candles, we light faces of Orphans : RPS Students

Rungta Public School BhilaiBhilai. The prefects council of RPS had taken a giant leap towards charity work. They mobilized fund collection drive by requesting the parents of RPS to donate generously for the cause of lighting faces of orphans of the District Durg. Students from LKG to Class XI donated generously and the students representative had gone to the Shashkiya Bal Griha, an Orphanage Home at Durg. The team of RPS that visited the orphanage consisted of the Prefectorial body of the school along with few teachers and some other student volunteers from classes VI to XI. They had carried Sweets, Note Books, Pencil, Diyas, Lights, Chocolates & Carrom boards.

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook