Tag Archives: स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय

स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय ने लिया डेंगू, मलेरिया को दूर रखने का संकल्प

swaroopand collegeभिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय हुडको भिलाई के राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई ने गोद ग्राम मोहलई में हरेली का त्यौहार मनाया इस अवसर पर गाँव में रासेयो की तरफ से पौधे वितरित किये गये। ग्राम वासियों ने संकल्प लिया इन पौधों को वे घर में लायेंगे साथ ही इसे सवंर्धित व संरक्षित भी करेंगे, महाविद्यालय के छात्रों को भी पौधे वितरित किये गये उन्होने भी अपने घर में पौधों को लगाने व सुरक्षित रखने का संकल्प लिया।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

स्वामी श्रीस्वरुपानंद सरस्वती महाविद्यालय बीसीए के उत्कृष्ट परिणाम

SSSSMV Toppersभिलाई। हेमचंद यादव विश्वविद्यालय द्वारा बीसीए प्रथम व द्वितीय वर्ष का परीक्षा परिणाम जारी किया गया जिसमें स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय के विद्यार्थियों ने उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है। बीसीए द्वितीय वर्ष का दुर्ग विश्वविद्यालय का रिजल्ट 53.06 प्रतिशत रहा वहीं महाविद्यालय का प्रतिशत 90 रहा। बीसीए प्रथम में विश्वविद्यालय का परीक्षा परिणाम 22 प्रतिशत रहा जबकि महाविद्यालय का परीक्षा परिणाम 71.42 प्रतिशत रहा। स्वरूपानंद महाविद्यालय की पहचान अपनी उत्कृष्ट व रोजगारोन्मुखी शिक्षा के लिये है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

स्वरुपानंद सरस्वती महाविद्यालय में कॉमर्स क्विज का आयोजन

Commerce Quizभिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय आमदी नगर हुडको, भिलाई में कैरियर लॉन्चर के सौजन्य से ईनक्विजाईटव माईंड्स काम्पीटिशन का आयोजन किया गया जिसमें बीएससी, बीकॉम प्रथम वर्ष व बीबीए प्रथम सेमेस्टर के विद्यार्थियों ने भाग लिया जिसमें मैथ्स, रिजनिंग व जी.के. के प्रश्न पूछे गये। इस क्विज कार्यक्रम में पहले महाविद्यालय स्तर से दो विद्यार्थी का चयन किया जायेगा। यह प्रतियोगिता राष्ट्रीय स्तर तक आयोजित की जायेगी जिसमें प्रथम स्थान प्राप्त करने पर एक 75 हजार व तृतीय स्थान प्राप्त करने पर 50 हजार व सांत्वना पुरस्कार, ट्रॉफी व प्रमाण पत्र प्रदान किया जायेगा।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

स्वरूपानंद महाविद्यालय में एल्यूमनी मीट का आयोजन

Swaroopanand Mahavidyalayaभिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में एल्यूमनी मीट का आयोजन किया गया। उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुये एल्यूमनी सदस्य श्रीमती मंजु कनौजिया ने बताया महाविद्यालय से पास हुये विद्यार्थी जो उच्च शिक्षा या अनुसंधान कार्य में लगे हैं, या अपना व्यवसाय चला रहे हैं अथवा नौकरी में लगे हैं उनके सहयोग से महाविद्यालय के विद्यार्थियों का प्लेसमेंट करवाना, महाविद्यालय के उन्नति के बारे में उनकी सलाह जानना व कमियों को जानना जिससे उन्हें दूरकर महाविद्यालय को प्रगति के पथ पर ले जाया जा सके। आयोजन में इस अवसर पर महाविद्यालय की 2006 बैच की बीएड विद्यार्थी कुत्सिया अली को सम्मानित किया गया। यह सम्मान उन्हे नेशनल टीचर अवार्ड से सम्मानित होने पर दिया गया।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

‘कल्पतरू’ से सकारात्मकता के बीज बो रहा स्वरूपानंद महाविद्यालय परिवार

Swaroopanand Saraswati Mahavidyalayaभिलाई। आज जब लोग थोड़ी अतिरिक्त कमाई के लिए ड्यूटी के बाद भी कोई न कोई ऊठापटक करते रहते हैं तब ‘कल्पतरू’ जैसी इकाइयां आशा जगाती हैं। ‘कल्पतरू’ निजी क्षेत्र में कार्यरत शिक्षकों की एक ऐसी इकाई है जो अपने वेतन में से थोड़ा थोड़ा अंशदान कर सीमित साधनों वाले बच्चों की मदद करती है, पर्यावरण के प्रति लोगों को जागरूक करती है। ‘कल्पतरू’ इकाई स्वरूपानंद महाविद्यालय के शैक्षणिक स्टॉफ के आर्थिक सहयोग से चलाई जाने वाली संस्था है। इस संस्था के माध्यम से सामाजिक व आर्थिक रूप से पिछड़े सामाजिक सहभागिता व पर्यावरण संरक्षण संबंधी कार्य किये जाते है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

माईक्रोबायोलॉजी और बायोटेक्नोलॉजी में भी है अच्छा करियर

Microbiology careerभिलाई। विज्ञान के विषयों के साथ 12वीं पास करने के बाद इंजीनियरिंग और मेडिकल बच्चों की फर्स्ट च्वाइस होती है। पर यदि इन क्षेत्रों में जाना संभव नहीं हुआ तो भी ढेरों ऐसे विकल्प हैं जिसे चुनकर विद्यार्थी बेहतर करियर का निर्माण कर सकते हैं। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ हंसा शुक्ला ने बताया कि अधिकांश बच्चों में ग्रेजुएशन के विषय को लेकर कोई दुविधा नहीं होती। पर ऐसे भी विद्यार्थी होते हैं जो महाविद्यालय की दहलीज पर आकर विषय का चयन नहीं कर पाते। ऐसे विद्यार्थियों एवं उनके पालकों के लिए यहां मुफ्त काउंसलिंग की व्यवस्था है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

योग दिवस पर स्वरूपानंद महाविद्यालय में प्राध्यापकों ने किया योग

SSSSMV Hudcoभिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय हुडको में विश्व योग दिवस के अवसर पर पाँच दिवसीय योग शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें योगाचार्य श्री कृष्णाजी दिल्लीवार ने प्राध्यापकों व अकादमिक स्टॉफ को योग का प्रशिक्षण दिया। करो योग रहो निरोग मूल मंत्र के साथ योग शिविर का शुभारंभ किया गया। जिसमें श्री कृष्णाजी ने बताया स्वस्थ शरीर में ही मानसिक शांति व स्फूर्ति बनीं रहती है। कार्यक्रम प्रभारी सहा.प्रा. दीपक सिंह ने कार्यक्रम के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुये अतिथियों का स्वागत किया।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

स्वरुपानंद महाविद्यालय में पर्यावरण को बचाने की शपथ

भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय, हुडको में विश्व पर्यावरण दिवस के उपलक्ष्य में महाविद्यालय की प्राचार्य द्वारा सभी शैक्षणिक एवं गैर शैक्षणिक स्टॉफ को पर्यावरण सुरक्षा की शपथ दिलाई गई। प्लास्टिक वस्तुओं का उपयोग नहीं करने ॉतथा इसके प्रति अपने आस-पास के लोगों को भी जागरूक करने की शपथ ली गई। इसके साथ ही अपने घर या आस-पास दो छायादार आर फलदार पौधे लगाकर उसकी रक्षा करने का भी संकल्प लिया गया ताकि वातावरण को प्रदूषण से बचाया जा सके।भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय, हुडको में विश्व पर्यावरण दिवस के उपलक्ष्य में महाविद्यालय की प्राचार्य द्वारा सभी शैक्षणिक एवं गैर शैक्षणिक स्टॉफ को पर्यावरण सुरक्षा की शपथ दिलाई गई। प्लास्टिक वस्तुओं का उपयोग नहीं करने ॉतथा इसके प्रति अपने आस-पास के लोगों को भी जागरूक करने की शपथ ली गई। इसके साथ ही अपने घर या आस-पास दो छायादार आर फलदार पौधे लगाकर उसकी रक्षा करने का भी संकल्प लिया गया ताकि वातावरण को प्रदूषण से बचाया जा सके।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

स्वरूपानंद महाविद्यालय में विश्व धूम्रपान निषेध पर गोलमेज चर्चा

भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय आमदी नगर हुडको भिलाई में 31 मई को विश्व धूम्रपान निषेध दिवस के उपलक्ष्य में गोल मेज चर्चा का आयोजन किया गया जिसमें महाविद्यालय के शैक्षणिक एवं गौरशैक्षणिक स्टाफ ने अपने-अपने विचार प्रस्तुत किये। महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने कहा कि विदेशों में मौसम के अनुसार निकोटिन की आवश्यकता रहती है। जिससे वहाँ के लोग उसका सेवन करते हैं। वहां की संस्कृति का प्रभाव भारत देश पर भी पड़ा किन्तु यहां के लोग विदेशी संस्कृति को अपना प्रतिष्ठा का प्रतीक मानते हुये इस धूम्रपान के सेवन अपनी आदत बना लिये हैं। जो उनके लिये हानिकारक है।भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय आमदी नगर हुडको भिलाई में 31 मई को विश्व धूम्रपान निषेध दिवस के उपलक्ष्य में गोल मेज चर्चा का आयोजन किया गया जिसमें महाविद्यालय के शैक्षणिक एवं गौरशैक्षणिक स्टाफ ने अपने-अपने विचार प्रस्तुत किये। महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने कहा कि विदेशों में मौसम के अनुसार निकोटिन की आवश्यकता रहती है। जिससे वहाँ के लोग उसका सेवन करते हैं। वहां की संस्कृति का प्रभाव भारत देश पर भी पड़ा किन्तु यहां के लोग विदेशी संस्कृति को अपना प्रतिष्ठा का प्रतीक मानते हुये इस धूम्रपान के सेवन अपनी आदत बना लिये हैं। जो उनके लिये हानिकारक है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

स्वरूपानंद कालेज की शामिन का चयन इंफोटेक मुद्राक में

भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में बीबीए चतुर्थ सेम की छात्रा शामिन अजीम का प्लेसमेंट मुद्राक इन्फोटेक में मार्केटिंग एक्जिक्यूटिव के पद पर आकर्षक पैकेज में हुआ। उसकी इस उपलब्धि पर श्री गंगाजली शिक्षण समिति के चेयरमेन आई.पी. मिश्रा, महाविद्यालय के सीओओ दीपक शर्मा एवं प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने बधाई दी एवं उनके उज्जवल भविष्य की कामना की।भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में बीबीए चतुर्थ सेम की छात्रा शामिन अजीम का प्लेसमेंट मुद्राक इन्फोटेक में मार्केटिंग एक्जिक्यूटिव के पद पर आकर्षक पैकेज में हुआ। उसकी इस उपलब्धि पर श्री गंगाजली शिक्षण समिति के चेयरमेन आई.पी. मिश्रा, महाविद्यालय के सीओओ दीपक शर्मा एवं प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने बधाई दी एवं उनके उज्जवल भविष्य की कामना की।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

देश की कुल आबादी में 10 फीसदी दिव्यांग, दया नहीं सहयोग करें

भिलाई। देश की आबादी का दस प्रतिशत दिव्यांगों का है। अनेक ऐसे हैं जिनकी विकलांगता अंशत: या पूर्णत: ठीक हो सकती है, आवश्यकता है उपचार की व उपकरणों की। दिव्यांग दया के पात्र नहीं है वरन सहयोग के आकांक्षी हैं वे आत्म निर्भर होना चाहते है। समाज में इनके प्रति अभी भी उपेक्षा का भाव है। दिव्यांग को समाज की मुख्य धारा से जोड़ना आवश्यक है, जिसके लिये लोगों को जागरूक करना होगा। इन्हीं उद्देश्यों की पूर्ति हेतु अखिल भारतीय विकलांग चेतना परिषद व स्वरूपानंद महाविद्यालय के संयुक्त तत्वावधान में राज्य स्तरीय निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसका पुरस्कार वितरण समारोह छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग के अध्यक्ष डॉ. विनय पाठक के मुख्य आतिथ्य में तथा अध्यक्षता दुर्ग विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. शौलेन्द्र सराफ की उपस्थिति में संपन्न हुआ। विशिष्ट अतिथि के रूप में श्री गंगाजली शिक्षण समिति के चेयरमेन आईपी मिश्रा, अखिल भारतीय विकलांग चेतना परिषद छ.ग. के अध्यक्ष, डी.पी. अग्रवाल, श्री मदनमोहन अग्रवाल, राष्ट्रीय महामंत्री अखिल भारतीय विकलांग चेतना परिषद् एवं प्राचार्य डॉ. श्रीमती हंसा शुक्ला उपस्थित थीं। भिलाई। भिलाई। देश की आबादी का दस प्रतिशत दिव्यांग है. अनेक ऐसे हैं जिनकी विकलांगता अंशत: या पूर्णत: ठीक हो सकती है, आवश्यकता है उपचार की व उपकरणों की। दिव्यांग दया के पात्र नहीं है वरन सहयोग के आकांक्षी हैं वे आत्म निर्भर होना चाहते है। समाज में इनके प्रति अभी भी उपेक्षा का भाव है। दिव्यांग को समाज की मुख्य धारा से जोड़ना आवश्यक है, जिसके लिये लोगों को जागरूक करना होगा। इन्हीं उद्देश्यों की पूर्ति हेतु अखिल भारतीय विकलांग चेतना परिषद व स्वरूपानंद महाविद्यालय के संयुक्त तत्वावधान में राज्य स्तरीय निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसका पुरस्कार वितरण समारोह छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग के अध्यक्ष डॉ. विनय पाठक के मुख्य आतिथ्य में तथा अध्यक्षता दुर्ग विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. शौलेन्द्र सराफ की उपस्थिति में संपन्न हुआ। विशिष्ट अतिथि के रूप में श्री गंगाजली शिक्षण समिति के चेयरमेन आईपी मिश्रा, अखिल भारतीय विकलांग चेतना परिषद छ.ग. के अध्यक्ष, डी.पी. अग्रवाल, श्री मदनमोहन अग्रवाल, राष्ट्रीय महामंत्री अखिल भारतीय विकलांग चेतना परिषद् एवं प्राचार्य डॉ. श्रीमती हंसा शुक्ला उपस्थित थीं। 

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

स्वरूपानंद महाविद्यालय में कौशल विकास पर अतिथि व्याख्यान

भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय हुडको, भिलाई में टीएनपी तथा आईक्यूएसी प्रकोष्ठ के द्वारा कौशल विकास के लिए व्याख्यान का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्देश्य विद्यार्थियों को यह बताना था कि उपलब्ध रोजगार के लिये स्वयं को सक्षम बनाना जरूरी है जिससे आज के प्रतिस्पर्धा के युग में अपनी कौशल और योग्यता के अनुसार आपको सहीं रोजगार प्राप्त हो सके।भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय हुडको, भिलाई में टीएनपी तथा आईक्यूएसी प्रकोष्ठ के द्वारा कौशल विकास के लिए व्याख्यान का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्देश्य विद्यार्थियों को यह बताना था कि उपलब्ध रोजगार के लिये स्वयं को सक्षम बनाना जरूरी है जिससे आज के प्रतिस्पर्धा के युग में अपनी कौशल और योग्यता के अनुसार आपको सहीं रोजगार प्राप्त हो सके।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

स्वास्थ्य के लिए मौसम के अनुरूप भोजन आवश्यक : आईपी मिश्रा

भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में विश्व स्वास्थ्य दिवस के उपलक्ष्य में 'हेल्दी प्रैक्टिसेस सेलÓ द्वारा स्वास्थ्य संबंधी जागरुकता लाने एक परिचर्चा का आयोजन किया। श्री गंगाजली शिक्षण समिति के चेयरमेन श्री आई.पी. मिश्रा ने कहा कि स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क का वास होता है अत: अपने स्वास्थ्य की नियमित जांच करवाते रहना चाहिए और मौसम के अनुरुप ही खान-पान पर विशेष ध्यान देना चाहिए। भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में विश्व स्वास्थ्य दिवस के उपलक्ष्य में ‘हेल्दी प्रैक्टिसेस सेलÓ द्वारा स्वास्थ्य संबंधी जागरुकता लाने एक परिचर्चा का आयोजन किया। श्री गंगाजली शिक्षण समिति के चेयरमेन श्री आई.पी. मिश्रा ने कहा कि स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क का वास होता है अत: अपने स्वास्थ्य की नियमित जांच करवाते रहना चाहिए और मौसम के अनुरुप ही खान-पान पर विशेष ध्यान देना चाहिए। 

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

स्वच्छता को लेकर आई जागरूकता पर लक्ष्य अभी दूर : स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय ने किया सर्वे

भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय के शिक्षा विभाग द्वारा सामुदायिक गतिविधि के अन्तर्गत दुर्ग-भिलाई शहर के विभिन्न क्षेत्रों का सर्वे स्वच्छता कार्यक्रम के अंतर्गत कराया गया। सर्वे हेतु बी.एड. के छात्र-छात्राओं को दस-दस के समूह में बांटा गया तथा सर्वे हेतु दी गई प्रश्नावली को समूह के छात्र-छात्राओं ने अपने-अपने क्षेत्र के रहवासियों, दुकानदारों एवं खोमचे वालो का यादृच्छिक आधार पर किये गये सर्वे से स्पश्ट हुआ कि स्वच्छता अभियान से ग्रामीण क्षेत्र, कस्बो एवं शहरी क्षेत्रों में स्वच्छता के प्रति लोगों में जागरुकता आई है।भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय के शिक्षा विभाग द्वारा सामुदायिक गतिविधि के अन्तर्गत दुर्ग-भिलाई शहर के विभिन्न क्षेत्रों का सर्वे स्वच्छता कार्यक्रम के अंतर्गत कराया गया। सर्वे हेतु बी.एड. के छात्र-छात्राओं को दस-दस के समूह में बांटा गया तथा सर्वे हेतु दी गई प्रश्नावली को समूह के छात्र-छात्राओं ने अपने-अपने क्षेत्र के रहवासियों, दुकानदारों एवं खोमचे वालो का यादृच्छिक आधार पर किये गये सर्वे से स्पश्ट हुआ कि स्वच्छता अभियान से ग्रामीण क्षेत्र, कस्बो एवं शहरी क्षेत्रों में स्वच्छता के प्रति लोगों में जागरुकता आई है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

स्वरुपानंद महाविद्यालय में आंतरिक गुणवत्ता आश्वासन प्रकोष्ठ की बैठक

स्वरुपानंद महाविद्यालय में आंतरिक गुणवत्ता आश्वासन प्रकोष्ठ की बैठकभिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय हुडको के आंतरिक गुणवत्ता आश्वासन प्रकोष्ठ के स्टेक होल्डर्स की बैठक संपन्न हुई। बैठक में श्री गंगाजली शिक्षण समिति की अध्यक्ष श्रीमती जया मिश्रा प्रबंधन सदस्य थीं। अध्यक्षता प्राचार्या डॉ. हंसा शुक्ला ने की। डॉ. प्रशांत श्रीवास्तव, स.प्रा. साईंस कॉलेज, डॉ. अनिता सहगल, स.प्रा. गल्र्स कॉलेज दुर्ग से बाह्य विशेषज्ञ के रुप में उपस्थित थे। मीटिंग में अब्लान सिन्हा (मिडीया पर्सन), अतुल तिवारी, (प्रशासनिक अधिकारी), स.प्रा. मनोज पाण्डेय (टीपीओ) के साथ भविष्या तलरेजा (छात्रा), चेतना गौर (भूतपूर्व छात्रा) भी उपस्थित थे।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare