• Sun. Jul 21st, 2024

Sunday Campus

Health & Education Together Build a Nation

मां शारदा ट्रस्ट ने किया बेटियों का सम्मान

May 10, 2016

dr-santosh-rai-maa-sharda-samarthya-charitable-trust2भिलाई। मां शारदा सामथ्र्य चैरिटेबल ट्रस्ट के द्वारा 10 बेटियों का सम्मान किया गया। सम्मानित होने वाली बेटियों में सुरभी वर्मा (प्रथम महिला सीएमए फाउन्डेशन), एक-एक बार में सीएमए उत्तीर्ण करने वाली प्रियंका दास, पंडवानी में भारत का नाम विदेशों तक पहुंचाने वाली रितू वर्मा, रायपुर की लेखिका सोनल राजेश शर्मा (इंडिया रिकॉर्ड होल्डर), रायपुर की चांदनी दुबे सीए का सम्मान किया गया। Read More
dr-santosh-rai-maa-sharda-samarthya-charitable-trust1प्रियंका दास के पिता का स्वर्गवास हो चुका है। उनकी माता ने संघर्ष करते हुए उन्हें उच्च शिक्षा दिलाई। वहीं सीएस करने के बाद चांदनी दुबे सीएस के छात्रों को प्रशिक्षित करती हैं।
आर्थिक रूप से जिन बच्चों को सहायता दी जाएगी उसमें प्रमुख रूप से गीत साहू (नर्सरी), वंदना पासवान (पांचवी) दोनों बच्चियों के पिता का स्वर्गवास हो चुका हैं। वही चंचल साहू, फुलेश्वरी साहू, नूरशबा को माँ शारदा सामथ्र्य चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा 10000/- स्कूल शाँती कान्वेंट मरौदा स्टेशन को दिया गया।
dr-santosh-rai-maa-sharda-samarthya-charitable-trustअमित इंटरनेशनल मे नई दिल्ली के राजेश अग्रवाल ने ‘सभी सफल व्यक्ति रोल मॉडल नहीं होतेÓ विषय पर अपना उद्बोधन दिया। प्रमुख रूप से संतोष गोलछा, श्रीलेखा विरूलकर, डा. दिलीप रत्नानी, उद्योगपति सतीश झाम्ब, फजल फारूखी, संदीप गुप्ता, चिरंजीव जैन (सचदेवा न्यू.पी.टी. कॉलेज) राजेश चौहान (अंतरराष्टरीय क्रिकेट खिलाड़ी) योगेश गुप्ता, कुलदीप कप्पुरिया, मृदुला रोजिन्दर, विपिन बंसल, रतन खटवानी, दर्शन सांखला, (रायपुर), डा. नवीन कौरा, देवरथ साहु प्रमुख रूप से उपस्थित थे।
मां शारदा सामथ्र्य चैरिटेबल ट्रस्ट का उद्देश्य गरीब और आर्थिक रूप से पिछड़े बच्चों की न केवल मदद करना है वरन् आने वाले समय में उन्हें प्रशिक्षित कर अपने पैरों पर खड़े होने के योग्य बनाना है।

Leave a Reply