Category Archives: Education

एमजे कालेज के शिक्षा संकाय में पेंटिंग और क्राफ्ट की पखवाड़ा व्यापी कार्यशाला

Wall painting workshop at MJ College Bhilaiभिलाई। एमजे कालेज के शिक्षा संकाय द्वारा पेंटिंग एवं क्राफ्ट की कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। कार्यशाला 2 मार्च से 16 मार्च तक चलेगी। इस दौरान बीएड प्रशिक्षु राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस, अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस, धूम्रपान निषेध दिवस एवं राष्ट्रीय टीकाकरण दिवस के उपलक्ष्य में विशेष वॉल पेंटिंग बनाए जाएंगे। महाविद्यालय की निदेशक डॉ श्रीलेखा विरुलकर के निर्देशन में आयोजित इस कार्यशाला में बीएड प्रशिक्षु 4-4 के समूह में अलग अलग कृतियों का निर्माण करेंगे।

एनसीसी काडर परेड में वेपन ट्रेनिंग एवं मैप रीडिंग का प्रशिक्षण

Map reading and Prismatic Compass usage दुर्ग। 37 छत्तीसगढ़ एनसीसी बटालियन दुर्ग के द्वितीय वर्ष के सीनियर विंग के छात्र एवं छात्रा केडेट्स के लिए तीन दिवसीय (डे केयर) काडर परेड के दूसरे दिन 2 मार्च को वेपन ट्रेनिंग के अंतर्गत एलएमजी, एसएलआर तथा मैप रीडिंग स्किल के तहत कम्पास का उपयोग करना सिखाया गया। कैडेट्स ने टारगेट पर निशाना लगाने का अभ्यास भी किया। शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय, दुर्ग के प्रांगण में चल रहे इस काडर परेड शिविर का मुख्य उद्देष्य द्वितीय वर्ष के छात्र एवं छात्रा केडेटों को एन.सी.सी. के अधीन संचालित होने वाली नियमित गतिविधियों का आवश्यक प्रशिक्षण प्रदान करना था।

एमजे कालेज में नशा उन्मूलन पर पेंटिंग प्रतियोगिता का आयोजन

Painting competition on Drug Abuseभिलाई। एमजे कालेज की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई द्वारा नशा उन्मूलन पर उन्नत भारत अभियान के तहत एक चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन ऑनलाइन किया गया। महात्मा गांधी की पुण्य तिथि के उपलक्ष्य में आयोजित इस प्रतियोगिता में 50 से अधिक बच्चों ने भागीदारी दी। सर्वश्रेष्ठ पेंटिंग्स को पुरस्कृत किया गया। सभी प्रतिभागियों को सर्टिफिकेट प्रदान किया गया। राष्ट्रीय सेवा योजना प्रभारी डॉ जेपी कन्नौजे ने बताया कि प्रतियोगिता का पहला पुरस्कार श्रीयांजली पाणिग्रही को तथा दूसरा एवं तीसरा पुरस्कार क्रमशः अदिति रामटेके एवं प्रेरणा वर्मा को प्रदान किया गया। ऑनलाइन आयोजित इस प्रतियोगिता में सभी प्रतिभागियों को ई-सर्टिफिकेट प्रदान किया गया।

डॉ संतोष राय इंस्टीट्यूट के सीएमए फाउण्डेशन कोर्स के लिए प्रवेश प्रारंभ

CMA Foundation Classes begin at Dr Santosh Rai Instituteभिलाई। कॉमर्स के क्षेत्र मे अग्रणी संस्था डॉ. संतोष राय इंस्टीट्यूट में 11वीं एवं 12वीं के छात्रों के लिये सीएमए फाउण्डेशन की कक्षाओं में प्रवेश प्रारंभ हो गया है। संस्था संचालक डॉ संतोष राय ने बताया कि 11वीं, 12वीं के ऐसे छात्र जो 11वीं, 12वीं से ही प्रोफेशनल कोर्स ज्वाईन करना चाहते है, उनके लिये सी.एम.ए. एक बेहतर कैरियर है जो कि 11वीं, 12वीं की पढ़ाई के साथ-साथ ही शुरू किया जा सकता है। तीन स्तर पर आयोजित होने वाली यह परीक्षा फाउण्डेशन/इंटर/फाइनल होती है।

कोरोना काल में भी प्लेसमेंट दिलाने में सफल रहा संजय रूंगटा समूह

45 students secure job offers in Sanjay Rungta Campus Driveभिलाई। कोरोना महामारी के कारण सबसे बड़ा संकट युवाओं के रोजगार पर आया है, लेकिन इस दौरान भी संजय रूंगटा समूह में कंपनियो का ऑनलाइन व ऑफ लाइन प्लेसमेंट ड्राइव लगातार जारी है। इसी क्रम में विगत दिवस ऑटोमोबाइल सेक्टर की अग्रणी कंपनी धूत ट्रांसमिशन व केंट आर. ओ. की उत्पादक कंपनी राँच पॉलिमर ने संजय रूंगटा समूह में कैंपस ड्राइव का आयोजन किया। समूह के बीई व पॉलिटेक्निक के मैकेनिकल व इलेक्ट्रिकल ब्रांच के छात्रों ने इस कैंपस ड्राइव में भाग लिया। 45 छात्रों का चयन हुआ।

साइंस कॉलेज दुर्ग वनस्पति शास्त्र विभाग के एलमनाई मीटिंग में जुड़े भूतपूर्व छात्र

Alumni Meet in VYT Science College Durgदुर्ग। शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय के वनस्पति विज्ञान विभाग द्वारा आयोजित एलमनाई मीटिंग में छत्तीसगढ़ के विभिन्न अंचल के साथ ही प्रदेश से बाहर रह रहे सैकड़ों भूतपूर्व छात्र-छात्राएं ऑनलाइन शामिल हुए। यह जानकारी वनस्पति शास्त्र की विभागाध्यक्ष डॉ रंजना श्रीवास्तव व मीटिंग के आयोजक सचिव डॉ जी. एस. ठाकुर ने दी। महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ आर एन सिंह ने सभी छात्रों से महाविद्यालय एवं वनस्पति शास्त्र विभाग की श्रेष्ठता के लिए अपना योगदान देने को कहा।

शिक्षा एवं वाणिज्य का शोध केन्द्र बना श्री शंकराचार्य महाविद्यालय

SSMV gets Research Centre in the field of Education and Commerceभिलाई। श्री शंकराचार्य महाविद्यालय जुनवानी को हेमचंद यादव विश्वविद्यालय दुर्ग द्वारा वाणिज्य एवं शिक्षा विषय में शोध केन्द्र बनाया गया है। महाविद्यालय की निदेशक एवं प्राचार्य डॉ रक्षा सिंह ने बताया कि शोध को बढ़ावा देने के लिए विश्वविद्यालय द्वारा नये शोध केन्द्र बनाने एवं शोध निर्देशकों के लिए कार्ययोजना बनाई गई है। इसी तारतम्य में शोध के लिए आवश्यक अधोसंरचना एवं अन्य आवश्यक बातों के लिए विश्वविद्यालय द्वारा निरीक्षण के लिए टीम का गठन किया गया था।

साइंस कॉलेज दुर्ग के मेरिट विद्यार्थियों को स्वर्णपदक देने दानदाताओं से अपील

Science College invites sponsors for Gold Medalदुर्ग। शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय, दुर्ग प्रशासन द्वारा स्वशासी पद्धति के अंतर्गत प्रावीण्य सूची में प्रथम स्थान प्राप्त विद्यार्थियों हेतु स्वर्णपदक प्रदान करने हेतु दानदाताओं से अपील की गई है। महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ आर.एन. सिंह ने बताया कि इस योजना के तहत कोई भी दानदाता स्वयं अपने नाम पर अथवा अपने परिजनों की स्मृति में 30 हजार रूपये राशि महाविद्यालय में जमा कर रसीद प्राप्त कर सकता है। स्नातक एवं स्नातकोत्तर कक्षाओं की किस कक्षा एवं किस विषय में सर्वाधिक अंक प्राप्त करने हेतु स्वर्ण पदक दिया जावे यह दानदाता की इच्छा पर निर्भर करेगा। महाविद्यालय दानदाताओं से प्राप्त राशि को फिक्स डिपाजिट में जमा कर उससे प्राप्त होने वाली ब्याज राशि को प्रतिवर्ष स्वर्णपदक निर्माण में व्यय होने वाली राशि के रूप में उपयोग करेगा।

शंकराचार्य महाविद्यालय में “इंटरनेट ऑफ थिंग्स” पर ऑनलाइन सर्टिफिकेट ट्रेनिंग का आयोजन

IOT Training at SSMV Bhilaiभिलाई। श्री शंकराचार्य महाविद्यालय के कम्प्युटर विभाग द्वारा “इंटरनेट ऑफ थिंग्स” विषय पर आयोजित 15 दिवसीय ऑनलाइन सर्टिफिकेट कार्यक्रम में बीआईटी दुर्ग की डॉ ज्योति पिल्लई द्वारा आईओटी एवं बिग डेटा की विस्तृत जानकारी दी गई। 8 फरवरी 2021 से प्रारंभ इस कार्यक्रम का समापन 25 फरवरी को ऑनलाइन सर्टिफिकेट प्रदान कर किया गया। कार्यक्रम में महाविद्यालय के बीसीए, एमएससी कम्प्यूटर सांइस एवं बीएससी के 167 से अधिक विद्यार्थियों ने भाग लिया।

प्रकृति से छेड़-छाड़ के दुष्परिणामों से भावी पीढ़ियों का जीवन हुआ मुश्किल : डॉ दुबे

Environmental degradation has made life difficult for coming generationsभिलाई। भारतीय सांस्कृतिक निधि (इंटैक) नई दिल्ली द्वारा ‘प्रकृति खतरे में-देखभाल व संरक्षण’ विषय पर स्कूली बच्चों के लिए एक अखिल भारतीय प्रोजेक्ट प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। इसमें शामिल होने वाले विद्यार्थियों के लिए इंटैक के दुर्ग-भिलाई चैप्टर द्वारा स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में आयोजित ओरिएंटेशन कार्यक्रम में रसायन विज्ञान विशेषज्ञ डॉ एच एन दुबे ने प्रकृति के समक्ष खतरों की चर्चा की। उन्होंने कहा, “उम्र दराजों की पीढ़ी ने अगली पीढ़ी के लिए प्रकृति को कुरूप और कठिनाइयों से जीने लायक छोड़ा है। प्रकृति से यह छेड़-छाड़ बढ़ती ही जा रही है जिसके दुष्परिणाम हमारे सामने नित नए रूपों में आते जा रहे हैं।”