भिलाई। सिविक सेन्टर की चौपाटी में लगी विशाल भारतीय सिल्क एक्सपो प्रदशर्नी का शनिवार शाम यंगिस्तान के चेयरमैन मनीष पाण्डेय ने विधिवत उद्घाटन किया। उनके More »

न्यूकैसल। कॉमनवेल्थ फेंसिंग चैम्पियनशिप, न्युकैसल, इंग्लैंड में भारत ने 03 स्वर्ण, 02 रजत एवं 08 कांस्य पदक सहित कुल 13 पदक हासिल किया। पदक तालिका More »

भिलाई। साहित्य सम्राट मुंशी प्रेमचंद की जयंती पर उनकी कृतियों की चर्चा करना और इसमें युवा पीढ़ी को शामिल करना प्रशंसनीय है। उनकी रचनाधर्मिता से More »

भिलाई। स्वच्छ भारत समर इंटर्नशिप कार्यक्रम के तहत श्रीशंकराचार्य महाविद्यालय ने ग्राम खपरी में एक वैचारिक आंदोलन खड़ा कर दिया है। महाविद्यालय के रोटरैक्ट क्लब, More »

भिलाई। 11वें भारत संस्कृति उत्सव एवं 16वें इंटरनेशनल फेस्टिवल आॅफ इंडियन आर्ट एंड कल्चर का आयोजन 21 अक्टूबर से होने जा रहा है। चार चरणों More »

 

Monthly Archives: May 2018

एमजे कालेज में ‘नो टोबैको डे’ : स्वयं तम्बाकू छोड़ें और एक व्यक्ति का छुड़ाएं

भिलाई। एमजे कालेज में आज एमजे कॉलेज आॅफ नर्सिंग द्वारा वर्ल्ड ‘नो टोबैको डे’ के अवसर पर एक गोष्ठी का आयोजन किया गया। संस्था की निदेशक डॉ श्रीलेखा विरुलकर ने कहा कि चीन के बाद भारत तम्बाकू के उपभोग एवं तम्बाकू जनित रोगों में दूसरे स्थान पर है। यदि आज हम यह संकल्प लें कि स्वयं तम्बाकू छोड़ेंगे और किसी एक को तम्बाकू छोड़ने के लिए प्रेरित करेंगे तो यह समाज के प्रति एक बड़ा योगदान होगा।भिलाई। एमजे कालेज में आज एमजे कॉलेज आॅफ नर्सिंग द्वारा वर्ल्ड ‘नो टोबैको डे’ के अवसर पर एक गोष्ठी का आयोजन किया गया। संस्था की निदेशक डॉ श्रीलेखा विरुलकर ने कहा कि चीन के बाद भारत तम्बाकू के उपभोग एवं तम्बाकू जनित रोगों में दूसरे स्थान पर है। यदि आज हम यह संकल्प लें कि स्वयं तम्बाकू छोड़ेंगे और किसी एक को तम्बाकू छोड़ने के लिए प्रेरित करेंगे तो यह समाज के प्रति एक बड़ा योगदान होगा।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

स्वरूपानंद के अवधराम ने मेरिट में बनाया स्थान

भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में बी.एड. के विद्यार्थी अवधराम पटेल ने व्यापम द्वारा आयोजित व्याख्याता पंचायत भर्ती परीक्षा में उत्कृष्ट प्रदर्षन करते हुये वर्ग एक प्रावीण्य सूची में चौथा स्थान प्राप्त किया। ओबीसी वर्ग में उन्होंने प्रथम स्थान प्राप्त किया है। श्री अवधराम कबीरधाम, करकहा में जिला पंचायत कर्मी वर्ग एक में कार्यरत है। भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में बी.एड. के विद्यार्थी अवधराम पटेल ने व्यापम द्वारा आयोजित व्याख्याता पंचायत भर्ती परीक्षा में उत्कृष्ट प्रदर्षन करते हुये वर्ग एक प्रावीण्य सूची में चौथा स्थान प्राप्त किया। ओबीसी वर्ग में उन्होंने प्रथम स्थान प्राप्त किया है। श्री अवधराम कबीरधाम, करकहा में जिला पंचायत कर्मी वर्ग एक में कार्यरत है। अवधराम पटेल ने अपनी इस उपलब्धि का श्रेय महाविद्यालय में समय-समय में आयोजित किये जाने वाले विविध परीक्षाओं की तैयारी के लिये दिये जाने वाले दिषा निर्देशन व शिक्षकों के मार्गदर्शन को दिया। उनकी इस उपलब्धि पर गंगाजली शिक्षण समिति के चेयरमेन आई.पी. मिश्रा, महाविद्यालय के सीओओ डॉ. दीपक शर्मा एवं प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला तथा सभी प्राध्यापकों ने बधाई दी एवं उनके उज्जवल भविष्य की कामना की।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

‘आस्था’ के माध्यम से मानवता के 10 पुजारियों ने की देहदान की घोषणा

भिलाई। दो दम्पतियों व छह अन्य लोगों ने मृत्युपश्चात अपनी देह को मेडिकल कॉलेज को बच्चों की शिक्षा हेतु दान करने की घोषणा की है। इन्हें आस्था सामाजिक संस्था के संचालक प्रकाश गेडाम से देहदान की प्रेरणा मिली। इस अवसर पर संस्था के संरक्षक व पूर्व संसदीय सचिव छ.ग. विजय बघेल जी ने सभी देहदानियों को प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया व सभी के स्वस्थ जीवन एवं उज्जवल भविष्य की कामना की।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

कल्याण महाविद्यालय के एनसीसी कैडेट्स ने सीखा योग

भिलाई। 37 छत्तीसगढ़ बटालियन एनसीसी के कमान अधिकारी कर्नल राजेश सेठी के निर्देशन एवं प्राचार्य डॉ एआर वर्मा के मार्गदर्शन में कल्याण स्नातकोत्तर महाविद्यालय के एनसीसी कैडेट्स ने योग का सात दिवसीय प्रशिक्षण प्राप्त किया। योग का प्रशिक्षण आर्ट ऑफ लिविंग से प्रशिक्षित दुर्ग जिला नागरिक सहकारी बैंक के प्रबंधक अशोक शर्मा ने प्रदान किया।भिलाई। 37 छत्तीसगढ़ बटालियन एनसीसी के कमान अधिकारी कर्नल राजेश सेठी के निर्देशन एवं प्राचार्य डॉ एआर वर्मा के मार्गदर्शन में कल्याण स्नातकोत्तर महाविद्यालय के एनसीसी कैडेट्स ने योग का सात दिवसीय प्रशिक्षण प्राप्त किया। योग का प्रशिक्षण आर्ट ऑफ लिविंग से प्रशिक्षित दुर्ग जिला नागरिक सहकारी बैंक के प्रबंधक अशोक शर्मा ने प्रदान किया।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

डायबिटीज को नियंत्रण में रखना हो तो सुबह थोड़ा टहल कर और शाम ढलते ही करें भोजन : डॉ शिवेन्द्र

स्पर्श मल्टीस्पेशालिटी हॉस्पिटल ने लगाया बीईसी में शिविर
भिलाई। डायबिटीज को ठीक नहीं किया जा सकता पर इसे नियंत्रण में रखा जा सकता है। इसके लिए जरूरी है कि सुबह उठने के बाद थोड़ा टहलें, थोड़ी कसरत करें और फिर नाश्ता करें। इसी तरह शाम को सूरज ढलते ही भोजन कर लें। यह कहना है कि मधुमेह विशेषज्ञ डॉ शिवेन्द्र बहादुर श्रीवास्तव का। उन्होंने कहा कि प्यास, थकान आदि से डायबिटीज को पकडऩा केवल किताबों में ही संभव है। इसके लिए समय समय पर रक्त शर्करा की जांच करवाते रहना चाहिए।भिलाई। डायबिटीज को ठीक नहीं किया जा सकता पर इसे नियंत्रण में रखा जा सकता है। इसके लिए जरूरी है कि सुबह उठने के बाद थोड़ा टहलें, थोड़ी कसरत करें और फिर नाश्ता करें। इसी तरह शाम को सूरज ढलते ही भोजन कर लें। यह कहना है कि मधुमेह विशेषज्ञ डॉ शिवेन्द्र बहादुर श्रीवास्तव का। उन्होंने कहा कि प्यास, थकान आदि से डायबिटीज को पकडऩा केवल किताबों में ही संभव है। इसके लिए समय समय पर रक्त शर्करा की जांच करवाते रहना चाहिए।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

इंसुलिन का 24 से 36 घंटे तक असर साबित होगा वरदान

बिलासपुर। नई तरह की इंसुलिन का असर 24 से 36 घंटे तक रहेगा। यह पीड़ितों के लिए वरदान साबित होने वाला है। इसके साथ ही वजन बढ़ने की शिकायत भी नहीं रहेगी। यह बात डॉ प्रवीण कालवीट ने मधुमेह की अत्याधुनिक चिकित्सा से संबंधित एपीआइ के सेमिनार में कही। उन्होंने कहा कि उन्होंने अमेरिका के कॉन्फ्रेस के अनुभवों को भी साझा किया। एसोसिएशन आॅफ फिजिशियन आॅफ इंडिया के रायपुर चेप्टर की ओर से यह आयोजन किया गया।बिलासपुर। नई तरह की इंसुलिन का असर 24 से 36 घंटे तक रहेगा। यह पीड़ितों के लिए वरदान साबित होने वाला है। इसके साथ ही वजन बढ़ने की शिकायत भी नहीं रहेगी। यह बात डॉ प्रवीण कालवीट ने मधुमेह की अत्याधुनिक चिकित्सा से संबंधित एपीआइ के सेमिनार में कही। उन्होंने कहा कि उन्होंने अमेरिका के कॉन्फ्रेस के अनुभवों को भी साझा किया। एसोसिएशन आॅफ फिजिशियन आॅफ इंडिया के रायपुर चेप्टर की ओर से यह आयोजन किया गया।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

मधुमक्खियों के परागण से 30 फीसदी बढ़ता है फसल उत्पादन

कटघोरा, कोरबा । हनी बी यानि मधुमक्खियों को न केवल शहद की मिठास और उत्पादन में विशेषज्ञता हासिल है, परागण क्रिया के माध्यम से फसल उत्पादकता में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। वैज्ञानिकों के शोध में यह स्पष्ट हो चुका है कि मधुमक्खी पालन से केंद्र के आसपास के खेतों-बाड़ियों में ली जाने वाली फसल का उत्पादन 10 से 30 फीसदी तक ज्यादा प्राप्त होता है। यही वजह है जो शासन-प्रशासन मधुमक्खी पालन की दिशा में ज्यादा से ज्यादा किसानों की भागीदारी अर्जित करने पर जोर दे रही।कटघोरा, कोरबा । हनी बी यानि मधुमक्खियों को न केवल शहद की मिठास और उत्पादन में विशेषज्ञता हासिल है, परागण क्रिया के माध्यम से फसल उत्पादकता में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। वैज्ञानिकों के शोध में यह स्पष्ट हो चुका है कि मधुमक्खी पालन से केंद्र के आसपास के खेतों-बाड़ियों में ली जाने वाली फसल का उत्पादन 10 से 30 फीसदी तक ज्यादा प्राप्त होता है। यही वजह है जो शासन-प्रशासन मधुमक्खी पालन की दिशा में ज्यादा से ज्यादा किसानों की भागीदारी अर्जित करने पर जोर दे रही।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में विश्व मंच पर उभर रहा भारत : पाण्डेय

 जल्द ही काबू में होंगे पेट्रोल डीजल के दाम
भिलाई। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार के चार वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर आज वरिष्ठ केबिनेट मंत्री प्रेम प्रकाश पाण्डेय ने कहा कि श्री मोदी के नेतृत्व में भारत ने तेजी से विश्व मंच पर अपनी मजबूत छवि स्थापित की है। श्री पाण्डेय ने कहा कि 2014 में जब लोकसभा के चुनाव हो रहे थे तो जनता के मन में अज्ञात का भय था कि न जाने इस देश का क्या होगा। देश में जबरदस्त नेतृत्व संकट और अकुशल नेतृत्व देखा था। एक लंबे अंतराल के बाद देश को एक ऐसी सरकार मिली जो प्रत्येक मोर्चे पर काम कर रही है। एक भी दाग इस सरकार पर इन चार वर्षों में नहीं लगा है। देश के प्रधानमंत्री श्री मोदी ने 4 साल में 4 मिनट के लिए भी अवकाश नहीं लिया है।भिलाई। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार के चार वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर आज वरिष्ठ केबिनेट मंत्री प्रेम प्रकाश पाण्डेय ने कहा कि श्री मोदी के नेतृत्व में भारत ने तेजी से विश्व मंच पर अपनी मजबूत छवि स्थापित की है। श्री पाण्डेय ने कहा कि 2014 में जब लोकसभा के चुनाव हो रहे थे तो जनता के मन में अज्ञात का भय था कि न जाने इस देश का क्या होगा। देश में जबरदस्त नेतृत्व संकट और अकुशल नेतृत्व देखा था। एक लंबे अंतराल के बाद देश को एक ऐसी सरकार मिली जो प्रत्येक मोर्चे पर काम कर रही है। एक भी दाग इस सरकार पर इन चार वर्षों में नहीं लगा है। देश के प्रधानमंत्री श्री मोदी ने 4 साल में 4 मिनट के लिए भी अवकाश नहीं लिया है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

सोलार पैनल पर ‘पार्थ’ को लगा लिया तो लाइफ झींगालाला

भिलाई। लगातार महंगी होती बिजली के बीच सोलार पैनल न केवल अक्षय ऊर्जा का स्रोत है बल्कि इससे प्रदूषण, पानी और र्इंधन की भी बचत होती है। पर सौर किरणों को ऊर्जा में बदलने के लिए लगने वाले सोलार पैनलों की सफाई अपने आप में एक बड़ा सिरदर्द रहा है। टेक बिल्ड का ‘पार्थ’ इस समस्या का सस्ता एवं बेहतर साधन है। सोराल पैनलों को साफ और ठंडा रखना इसके उत्पादन क्षमता को 15 से 45 फीसदी तक बढ़ा सकता है।भिलाई। लगातार महंगी होती बिजली के बीच सोलार पैनल न केवल अक्षय ऊर्जा का स्रोत है बल्कि इससे प्रदूषण, पानी और र्इंधन की भी बचत होती है। पर सौर किरणों को ऊर्जा में बदलने के लिए लगने वाले सोलार पैनलों की सफाई अपने आप में एक बड़ा सिरदर्द रहा है। टेक बिल्ड का ‘पार्थ’ इस समस्या का सस्ता एवं बेहतर साधन है। सोराल पैनलों को साफ और ठंडा रखना इसके उत्पादन क्षमता को 15 से 45 फीसदी तक बढ़ा सकता है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

शासकीय कन्या महाविद्यालय में प्रवेश प्रारंभ

दुर्ग। शासकीय डॉ. वा.वा. पाटणकर स्नातकोत्तर कन्या महाविद्यालय दुर्ग में नये सत्र में प्रवेश प्रारंभ हो गया है। शासन द्वारा इस वर्ष आॅफलाईन प्रवेश देने के निर्णय से प्रवेश प्रक्रिया महाविद्यालयों द्वारा सुनिश्चित की जायेगी। दुर्ग संभाग के सबसे बड़े कन्या महाविद्यालय में नये सत्र में प्रवेश की प्रक्रिया प्रारंभ हो गयी है। विगत वर्ष भी कन्या महाविद्यालय छात्राओं की पहली पसंद रहा है। यहाँ कला, वाणिज्य, विज्ञान एवं गृहविज्ञान संकाय में स्नातकोत्तर कक्षाओं तक पढ़ाई की सुविधा है।दुर्ग। शासकीय डॉ. वा.वा. पाटणकर स्नातकोत्तर कन्या महाविद्यालय दुर्ग में नये सत्र में प्रवेश प्रारंभ हो गया है। शासन द्वारा इस वर्ष आॅफलाईन प्रवेश देने के निर्णय से प्रवेश प्रक्रिया महाविद्यालयों द्वारा सुनिश्चित की जायेगी। दुर्ग संभाग के सबसे बड़े कन्या महाविद्यालय में नये सत्र में प्रवेश की प्रक्रिया प्रारंभ हो गयी है। विगत वर्ष भी कन्या महाविद्यालय छात्राओं की पहली पसंद रहा है। यहाँ कला, वाणिज्य, विज्ञान एवं गृहविज्ञान संकाय में स्नातकोत्तर कक्षाओं तक पढ़ाई की सुविधा है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

स्वरूपानंद कालेज की शामिन का चयन इंफोटेक मुद्राक में

भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में बीबीए चतुर्थ सेम की छात्रा शामिन अजीम का प्लेसमेंट मुद्राक इन्फोटेक में मार्केटिंग एक्जिक्यूटिव के पद पर आकर्षक पैकेज में हुआ। उसकी इस उपलब्धि पर श्री गंगाजली शिक्षण समिति के चेयरमेन आई.पी. मिश्रा, महाविद्यालय के सीओओ दीपक शर्मा एवं प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने बधाई दी एवं उनके उज्जवल भविष्य की कामना की।भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में बीबीए चतुर्थ सेम की छात्रा शामिन अजीम का प्लेसमेंट मुद्राक इन्फोटेक में मार्केटिंग एक्जिक्यूटिव के पद पर आकर्षक पैकेज में हुआ। उसकी इस उपलब्धि पर श्री गंगाजली शिक्षण समिति के चेयरमेन आई.पी. मिश्रा, महाविद्यालय के सीओओ दीपक शर्मा एवं प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने बधाई दी एवं उनके उज्जवल भविष्य की कामना की।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

भिलाई के राजू हिरवानी ने मुंबई में बनाया मुकाम, लेकर आ रहे खुद का टीवी चैनल

भिलाई। भिलाई में पढ़े-बढ़े राजू हिरवानी 20 साल के संघर्ष के बाद मुंबई में जम गए हैं। वे इन दिनों सीरियल महफिले उमराव जान के एक शेड्यूल की शूटिंग के सिलसिले में भिलाई आए हुए हैं। उनका इरादा भिलाई में एक इंस्टीट्यूट खोलने का इरादा है जहां फिल्म मेकिंग से संबंधित अनेक विधाओं का प्रशिक्षण मिले। राजू हिरवानी (ताकेशचंद साहू) पी-3 मोशन्स पिक्चर्स प्राइवेट लि. के फाउंडर-डायरेक्टर हैं। भिलाई विद्यालय से 1996 में पास आउट राजू हिरवानी ने 20 साल पहले मुंबई की ओर रुख किया।भिलाई। भिलाई में पढ़े-बढ़े राजू हिरवानी 20 साल के संघर्ष के बाद मुंबई में जम गए हैं। वे इन दिनों सीरियल महफिले उमराव जान के एक शेड्यूल की शूटिंग के सिलसिले में भिलाई आए हुए हैं। उनका इरादा भिलाई में एक इंस्टीट्यूट खोलने का इरादा है जहां फिल्म मेकिंग से संबंधित अनेक विधाओं का प्रशिक्षण मिले। राजू हिरवानी (ताकेशचंद साहू) पी-3 मोशन्स पिक्चर्स प्राइवेट लि. के फाउंडर-डायरेक्टर हैं। भिलाई विद्यालय से 1996 में पास आउट राजू हिरवानी ने 20 साल पहले मुंबई की ओर रुख किया।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

कोटमसर गुफा में सबसे गहरे बोरिंग का रिकॉर्ड, 1270 फीट की गहराई से निकाला पानी

जगदलपुर। विश्व प्रसिध्द कोटमसर गुफा देखने आने वाले सैलानियों ओर कांगेर घाटी में 10 हेक्टेयर में विस्तारित डियर पार्क को अब जल संकट से जूझना नही प़ड़ेगा। इनके लिए पानी की व्यवस्था करने के जूनून में कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान ने कोटमसर और कामानार में कर्नाटक के कंप्रेशर मशीन से दो ऐसा बोर करवाया है जो अपने आप में रिकार्ड बन गया है। कोटमसर गुफा के सामने कराया गया बोर 1270 फीट गहरा तो कामालार का बोर 1360 फीट गहरा है दोनों से क्रमश छह और पांच इंच पानी मिला है।जगदलपुर। विश्व प्रसिध्द कोटमसर गुफा देखने आने वाले सैलानियों ओर कांगेर घाटी में 10 हेक्टेयर में विस्तारित डियर पार्क को अब जल संकट से जूझना नही प़ड़ेगा। इनके लिए पानी की व्यवस्था करने के जूनून में कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान ने कोटमसर और कामानार में कर्नाटक के कंप्रेशर मशीन से दो ऐसा बोर करवाया है जो अपने आप में रिकार्ड बन गया है। कोटमसर गुफा के सामने कराया गया बोर 1270 फीट गहरा तो कामालार का बोर 1360 फीट गहरा है दोनों से क्रमश छह और पांच इंच पानी मिला है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

नेहरु आर्ट गैलरी में श्री बृजेश कुमार तिवारी की एकल प्रदर्शनी उद्घाटित

भिलाई इस्पात संयंत्र के जनसम्पर्क विभाग द्वारा संचालित एवं सिविक सेेेंटर स्थित नेहरु आर्ट गैलरी में दिनाँक 24 मईए 2018 को श्री बृजेश कुमार तिवारी द्वारा निर्मित पेंटिंग्स एवं मूर्तिशिल्प की एकल प्रदर्शनी लगाई गई है। संयंत्र के महाप्रबंधक (मेकेनिकलद्) जगदीश उमरे ने मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थिति प्रदान कर उक्त प्रदर्शनी का उद्घाटन किया।भिलाई इस्पात संयंत्र के जनसम्पर्क विभाग द्वारा संचालित एवं सिविक सेेेंटर स्थित नेहरु आर्ट गैलरी में दिनाँक 24 मईए 2018 को श्री बृजेश कुमार तिवारी द्वारा निर्मित पेंटिंग्स एवं मूर्तिशिल्प की एकल प्रदर्शनी लगाई गई है। संयंत्र के महाप्रबंधक (मेकेनिकलद्) जगदीश उमरे ने मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थिति प्रदान कर उक्त प्रदर्शनी का उद्घाटन किया।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

कुपोषण मुक्ति के प्रयासों के लिए छत्तीसगढ़ को राष्ट्रीय पुरस्कार

रायपुर। कुपोषण मुक्ति के लिए छत्तीसगढ़ में चलाई जा रही इस्निप परियोजना को राष्ट्रीय पुरस्कार मिला है। केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्रालय और विश्व बैंक ने यह पुरस्कार दिया है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और महिला एवं बाल विकास मंत्री रमशीला साहू ने इस उपलब्धि पर इस्निप परियोजना में शामिल जिलों की जनता को बधाई दी है। मंत्री साहू ने कहा कि इस्निप परियोजना के बेहतर क्रियान्वयन के लिए आंगनबाड़ी केंद्रों की कार्यकर्ता और सहायिका बधाई की पात्र हैं। रायपुर। कुपोषण मुक्ति के लिए छत्तीसगढ़ में चलाई जा रही इस्निप परियोजना को राष्ट्रीय पुरस्कार मिला है। केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्रालय और विश्व बैंक ने यह पुरस्कार दिया है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और महिला एवं बाल विकास मंत्री रमशीला साहू ने इस उपलब्धि पर इस्निप परियोजना में शामिल जिलों की जनता को बधाई दी है। मंत्री साहू ने कहा कि इस्निप परियोजना के बेहतर क्रियान्वयन के लिए आंगनबाड़ी केंद्रों की कार्यकर्ता और सहायिका बधाई की पात्र हैं। नई दिल्ली में आयोजित समारोह में केंद्र सरकार के महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के सचिव राकेश श्रीवास्तव और विश्व बैंक की प्रैक्टिस मैनेजर रेखा मेनन के हस्ताक्षर से छत्तीसगढ़ को यह पुरस्कार और प्रशस्तिपत्र दिया गया।
Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare