दुर्ग| रविशंकर स्टेडियम में रविवार को 10 हजार से अधिक महिलाओं ने एकसाथ सुआ नृत्य किया। यह पहला मौका है जब छत्तीसगढ़ के इस पारंपरिक More »

Santosh Rungta Campus में सजा TEDxRCET का ग्लोबल मंच भिलाई। संतोष रूंगटा कैम्पस में टेडेक्स आरसीईटी का आयोजन हुआ। इस ग्लोबल मंच से अपने जीवन में बड़ी More »

भिलाई संडे TAFREE में हुई छोटी सी मुलाकात भिलाई। भिलाई इस्पात संयंत्र के सेवानिवृत्त डीजीएम और पेशे से मेकानिकल इंजीनियर दीपक ताहिल संगीत से खुशियां बांटते More »

भिलाई। शहर के युवा महापौर देवेन्द्र यादव का जन्मदिन आज भिलाई ने स्वस्फूर्त होकर मनाया। सुबह जहां संडे तफरी में कई केक कटे वहीं दोपहर More »

श्री हरिकोटा। आंध्रप्रदेश स्थित श्री हरिकोटा अत्याधुनिक स्पेस सेंटर से सिंगल रॉकेट के जरिये 104 सैटलाइट लांच करके एक तरफ जहां इसरो ने नया इतिहास More »

 

नि:शब्दों के हाथों ने दी स्वाद को जुबान, बोल पड़े व्यंजन

भिलाई। नि:शब्दों के हाथों ने दी स्वाद को जुबान तो व्यंजन भी बोल पड़े। अवसर था प्रयास श्रवण विकलांग संस्थान में आयोजित आनंद मेले का जिसमें इन दिव्यांग बच्चों ने अपनी प्रतिभा का परिचय दिया। प्रयास श्रवण विकलांग संस्थान में आयोजित आनंद मेला में लोगों ने जमकर व्यंजनों का लुत्फ उठाया तो वहीं बच्चों ने विभिन्न गेम का का खूब इंज्वाय किया। भिलाई। नि:शब्दों के हाथों ने दी स्वाद को जुबान तो व्यंजन भी बोल पड़े। अवसर था प्रयास श्रवण विकलांग संस्थान में आयोजित आनंद मेले का जिसमें इन दिव्यांग बच्चों ने अपनी प्रतिभा का परिचय दिया। प्रयास श्रवण विकलांग संस्थान में आयोजित आनंद मेला में लोगों ने जमकर व्यंजनों का लुत्फ उठाया तो वहीं बच्चों ने विभिन्न गेम का का खूब इंज्वाय किया। प्रयास श्रवण विकलांग संस्थान दिव्यांग बच्चों (श्रवण बाधित) की दुनिया का अनुभव नजदीक से कराने हेतु इस मेले का आयोजन किया गया। 

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

कृष्णप्रिया राष्ट्रीय अवार्ड : युवा प्रतिभाओं को मिला कला वैभव सम्मान

भिलाई। एसएनजी, सेक्टर-4 में शुरू हुई कृष्णप्रिया राष्ट्रीय अवार्ड प्रतियोगिता एवं अखिल भारतीय नृत्य एवं संगीत प्रतियोगिता में पहले दिन रविवार को देश भर से पहुंचे कलाकारों ने वाद्य संगीत का जादू जगाया। निर्णायकों ने इन प्रस्तुतियों को बेहद सराहा। उत्कृष्ट प्रस्तुति देने वाले कलाकारों को कला वैभव सम्मान दिया गया।भिलाई। एसएनजी, सेक्टर-4 में शुरू हुई कृष्णप्रिया राष्ट्रीय अवार्ड प्रतियोगिता एवं अखिल भारतीय नृत्य एवं संगीत प्रतियोगिता में पहले दिन रविवार को देश भर से पहुंचे कलाकारों ने वाद्य संगीत का जादू जगाया। निर्णायकों ने इन प्रस्तुतियों को बेहद सराहा। उत्कृष्ट प्रस्तुति देने वाले कलाकारों को कला वैभव सम्मान दिया गया। सुबह उद्घाटन अवसर पर वरिष्ठ संगीतज्ञ एसआर शेवलीकर, इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ़ के प्रो. सतीश इंदुरकर, वरिष्ठ तबला वादक रवींद्र कर्मकार व कृष्णप्रिया कथक केंद्र की संचालक उपासना तिवारी ने मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित कर प्रतियोगिता की विधिवत शुरूआत की। इस दौरान संगीत गुरुजनों को श्रीमती तिवारी ने शॉल व श्रीफल से सम्मानित किया।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय के बच्चों ने किया वोटर आईडी के लिए आवेदन

भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय हुडको, भिलाई में स्वीप कार्यक्रम 2017 के अंतर्गत महाविद्यालय परिसर में विद्यार्थियों के मतदाता परिचय पत्र बनवाने हेतु नगर निगम, भिलाई के सहयोग से एक दिवसीय शिविर का आयोजन किया गया जिसमें युवराज साहू, कमल ठाकुर, राहुल भोसले, कैलाश निहाल के सहयोग से सौ से अधिक विद्यार्थियों को फॉर्म 6 का वितरण किया गया तथा चालिस से अधिक विद्यार्थियों ने सारी औपचारिकताओं को पूरा करके फॉर्म जमा कराया।भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय हुडको, भिलाई में स्वीप कार्यक्रम 2017 के अंतर्गत महाविद्यालय परिसर में विद्यार्थियों के मतदाता परिचय पत्र बनवाने हेतु नगर निगम, भिलाई के सहयोग से एक दिवसीय शिविर का आयोजन किया गया जिसमें युवराज साहू, कमल ठाकुर, राहुल भोसले, कैलाश निहाल के सहयोग से सौ से अधिक विद्यार्थियों को फॉर्म 6 का वितरण किया गया तथा चालिस से अधिक विद्यार्थियों ने सारी औपचारिकताओं को पूरा करके फॉर्म जमा कराया।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

हेरिटेज इंटरनेशनल के बच्चों ने बिखेरे इंद्रधनुषी रंग

भिलाई। हेरिटेज इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल में वार्षिकोत्सव का शानदार आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि एडिशनल एसपी श्रीमती सुरेशा चौबे ने बच्चों को प्रोत्साहित कर उनके उज्जवल भविष्य कि कामना करते हुए विद्यालय के सर्वागर्णीय विकास की शुभकामनाएं दीं।भिलाई। हेरिटेज इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल में वार्षिकोत्सव का शानदार आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि एडिशनल एसपी श्रीमती सुरेशा चौबे ने बच्चों को प्रोत्साहित कर उनके उज्जवल भविष्य कि कामना करते हुए विद्यालय के सर्वागर्णीय विकास की शुभकामनाएं दीं। दीप्ति तिवारी, डायरेक्टर एकेडमिक ने पालकों एवं अतिथियों को स्कूल की प्रगति से अवगत कराते हुए बताया कि 2018- 2019 से उच्च माध्यामिक (हायर सेकंडरी स्कूल) की विज्ञान, गणित – बॉयो एवं वाणिज्य, ( कॉमर्स ) की कक्षा 11वी प्रारंभ की जा रही हैं। उन्होंने कहा की उन्हें यह बताते हुए हर्ष हो रहा है की शाला भवन के द्वितीय एवं तृतीय तल का निमार्ण शीघ्र शुरू होने जा रहा है।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

मन की शांति के लिए इगो को त्यागना जरूरी : ब्रह्मकुमारी उषा

भिलाई। प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के 80 वर्ष पूर्ण होने पर 15 से 20 दिसंबर तक प्रात: सत्र सुबह 6:30 से 8 बजे तक पीस आॅडिटोरियम, सड़क-2, सेक्टर-7, में तथा संध्या 7 से 8.30 बजे तक सेक्टर 6, पुलिस र्ग्राउंड में विशेष शिविर का आयोजन किया जा रहा है। इस नि:शुल्क शिविर में अंतर्राष्ट्रीय मुख्यालय माउण्ट आबू की वरिष्ठ राजयोग शिक्षिका और मैनेजमेंट ट्रेनर ब्रह्माकुमारी उषा के तनावमुक्ति और सकारात्मकता के राजयोग के प्रेरक मंत्र के साथ संस्था की विकास यात्रा पर आयोजित प्रदशर्नी आकर्षण का प्रमुख केंद्र होगी।

ब्रह्माकुमारी उषा

भिलाई। ब्रह्मकुमारी उषा बहन ने कहा कि मन की शांति के लिए सबसे पहले इगो को त्यागना जरूरी है। इगो को त्यागकर सबसे प्रेमपूर्ण व्यवहार करने पर हमें न केवल मन की शांति मिलती है बल्कि दुआएं भी मिलती हैं। ब्रह्मकुमारी उषा बहन प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय द्वारा संस्था के 80 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में आयोजित राजयोग शिविर को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि आज हम सत्य से दूर हो रहे है, ईश्वर के बारे में कन्फ्यूज़ है, विभिन्न मत-मतांतर है, संसार में कितने भगवान हो गये है, मनुष्य भी स्वयं को भगवान कहने लगा है, जिससे सभी का विश्वास डगमगा रहा है।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

पाटणकर गर्ल्स कालेज के बच्चों ने देखा भिलाई इस्पात संयंत्र

भिलाई। शा. डॉ. वा. वा. पाटणकर गर्ल्स कालेज के अथर्शास्त्र विभाग की छात्राओं का एक दल भिलाई इस्पात संयंत्र के भ्रमण के लिये गया। भ्रमण उपरांत छात्राओं ने अपने अनुभवों के द्वारा इस्पात संयंत्र की विभिन्न गतिविधियों का एवं लोहे को फौलाद बनाने की निर्माण विधि की जानकारी विभाग को प्रस्तुत की।भिलाई। शा. डॉ. वा. वा. पाटणकर गर्ल्स कालेज के अथर्शास्त्र विभाग की छात्राओं का एक दल भिलाई इस्पात संयंत्र के भ्रमण के लिये गया। भ्रमण उपरांत छात्राओं ने अपने अनुभवों के द्वारा इस्पात संयंत्र की विभिन्न गतिविधियों का एवं लोहे को फौलाद बनाने की निर्माण विधि की जानकारी विभाग को प्रस्तुत की। छात्राओं को सहा. महाप्रबंधक जेएन ठाकुर एवं उनकी टीम ने संयंत्र की विभिन्न गतिविधियों से छात्राओं को रूबरू कराया।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

साइंस और इंजीनियरिंग से ही लागत कम करना संभव : संतोष रूंगटा

भिलाई। संतोष रूंगटा ग्रुप के चेयरमैन संतोष रूंगटा का मानना है कि आज अनेक क्षेत्रों में नवीन शोधकार्य की आवश्यकता है। कम लागत में अधिक उपयोगी वस्तु का निर्माण केवल साइंस और इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी द्वारा ही संभव है। ऐसे आविष्कार ही समाज के लिए उपयोगी हो सकते हैं।भिलाई। संतोष रूंगटा ग्रुप के चेयरमैन संतोष रूंगटा का मानना है कि आज अनेक क्षेत्रों में नवीन शोधकार्य की आवश्यकता है। कम लागत में अधिक उपयोगी वस्तु का निर्माण केवल साइंस और इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी द्वारा ही संभव है। ऐसे आविष्कार ही समाज के लिए उपयोगी हो सकते हैं। श्री रूंगटा यहां संतोष रूंगटा कैम्पस में आयोजित इंटरनेशनल कांफ्रेंस शास्त्रार्थ को अध्यक्ष की आसंदी से संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आज कई क्षेत्रों में नवीन शोधकार्य अत्यंत आवश्यक हैं जो कि ज्वलंत सामाजिक आवश्यकताओं से जुड़े हुए हैं।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में दीनदयाल पर प्रश्नोत्तरी

भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपांनद सरस्वती महाविद्यालय में शिक्षा विभाग द्वारा पं. दीनदयाल उपाध्याय के सौ वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में त्वरीत प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें सभी विभागों के 113 प्रतिभागियों की सहभागिता रही। पं.दीनदयाल जी के जीवन के विभिन्न पहलुओं पर आधारित तीस बहुविकल्पीय प्रश्न दिये गये। प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला एवं शिक्षा विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ. श्रीमती पूनम निकुंभ ने कार्यक्रम की सराहना करते हुये विद्यार्थियों को बधाई दी।भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में शिक्षा विभाग द्वारा पं. दीनदयाल उपाध्याय के सौ वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में त्वरीत प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें सभी विभागों के 113 प्रतिभागियों की सहभागिता रही। पं.दीनदयाल जी के जीवन के विभिन्न पहलुओं पर आधारित तीस बहुविकल्पीय प्रश्न दिये गये। प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला एवं शिक्षा विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ. श्रीमती पूनम निकुंभ ने कार्यक्रम की सराहना करते हुये विद्यार्थियों को बधाई दी।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में दीनदयाल पर प्रश्नोत्तरी

भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपांनद सरस्वती महाविद्यालय में शिक्षा विभाग द्वारा पं. दीनदयाल उपाध्याय के सौ वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में त्वरीत प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें सभी विभागों के 113 प्रतिभागियों की सहभागिता रही। पं.दीनदयाल जी के जीवन के विभिन्न पहलुओं पर आधारित तीस बहुविकल्पीय प्रश्न दिये गये। प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला एवं शिक्षा विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ. श्रीमती पूनम निकुंभ ने कार्यक्रम की सराहना करते हुये विद्यार्थियों को बधाई दी।भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में शिक्षा विभाग द्वारा पं. दीनदयाल उपाध्याय के सौ वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में त्वरीत प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें सभी विभागों के 113 प्रतिभागियों की सहभागिता रही। पं.दीनदयाल जी के जीवन के विभिन्न पहलुओं पर आधारित तीस बहुविकल्पीय प्रश्न दिये गये। प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला एवं शिक्षा विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ. श्रीमती पूनम निकुंभ ने कार्यक्रम की सराहना करते हुये विद्यार्थियों को बधाई दी।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

देश की सबसे बड़ी समस्या हमारा एजुकेशन सिस्टम : कोठारी

भिलाई। शिक्षा बचाओ आंदोलन समिति के सह-संयोजक, शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास के सह-सचिव तथा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ प्रचारक, शिक्षाविद् अतुल कोठारी का मानना है कि आज देश की सबसे बड़ी समस्या हमारा एजुकेशन सिस्टम है। इस सिस्टम से नौजवान या तो नौकर बन रहा है या बेकार। स्थिति यह है कि यदि किसी नौजवान ने इंजीनियरिंग की शिक्षा हासिल की है तो वह इकॉनॉमिक्स के संबंध में कोई ज्ञान नहीं रखता। शिक्षा को बांटने से समग्र व्यक्तित्व का निर्माण ने होकर खंडित व्यक्तित्व का निर्माण हो रहा है।भिलाई। शिक्षा बचाओ आंदोलन समिति के सह-संयोजक, शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास के सह-सचिव तथा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ प्रचारक, शिक्षाविद् अतुल कोठारी का मानना है कि आज देश की सबसे बड़ी समस्या हमारा एजुकेशन सिस्टम है। इस सिस्टम से नौजवान या तो नौकर बन रहा है या बेकार। स्थिति यह है कि यदि किसी नौजवान ने इंजीनियरिंग की शिक्षा हासिल की है तो वह इकॉनॉमिक्स के संबंध में कोई ज्ञान नहीं रखता। शिक्षा को बांटने से समग्र व्यक्तित्व का निर्माण ने होकर खंडित व्यक्तित्व का निर्माण हो रहा है।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

संतोष रूंगटा कैम्पस में शास्त्रार्थ: ठहर सा गया है कौशल का पारम्परिक हस्तांतरण : पाण्डेय

भिलाई। छत्तीसगढ़ के उच्च शिक्षा मंत्री प्रेम प्रकाश पाण्डेय का मानना है कि कौशल पीढ़ी दर पीढ़ी पारम्परिक रूप से हस्तांतरित होती रही है। बढ़ई का बेटा बढ़ईगिरी, लोहार का बेटा लुहारी बहुत कम उम्र से सीखता था। किशोरावस्था आते तक वह इस ज्ञान में परिपक्व हो जाता और स्वयं उसे आगे बढ़ाता था। इसी गैप को दूर करने के लिए शासन ने स्किल डेवलपमेंट स्कीम शुरू की ताकि लोग रोजगार परक शिक्षा हासिल कर सकें। श्री पाण्डेय संतोष रूंगटा कैम्पस में आयोजित अंतरराष्ट्रीय कांफ्रेंस शास्त्रार्थ के उद्घाटन सत्र को संबोधित कर रहे थे।भिलाई। छत्तीसगढ़ के उच्च शिक्षा मंत्री प्रेम प्रकाश पाण्डेय का मानना है कि कौशल पीढ़ी दर पीढ़ी पारम्परिक रूप से हस्तांतरित होती रही है। बढ़ई का बेटा बढ़ईगिरी, लोहार का बेटा लुहारी बहुत कम उम्र से सीखता था। किशोरावस्था आते तक वह इस ज्ञान में परिपक्व हो जाता और स्वयं उसे आगे बढ़ाता था। इसी गैप को दूर करने के लिए शासन ने स्किल डेवलपमेंट स्कीम शुरू की ताकि लोग रोजगार परक शिक्षा हासिल कर सकें। श्री पाण्डेय संतोष रूंगटा कैम्पस में आयोजित अंतरराष्ट्रीय कांफ्रेंस शास्त्रार्थ के उद्घाटन सत्र को संबोधित कर रहे थे।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

सेल्फ डिसिप्लिन से आती है व्यवहार में कुशलता :ब्रह्मकुमारी उषा

भिलाई। सेल्फ डिसिप्लिन से व्यवहार में कुशलता आती है। भौतिक योग, व्यक्ति से योग, समय के साथ योग सभी योगों का सार है बैलेंस प्लस सेल्फ डिसिप्लिन। मन की अशांति का मुख्य कारण है ब्रेन के राईट और लेफ्ट दोनों भाग का इनबैलेंस होना, मानव का राईट ब्रेन का भाग इमोशनल और लेफ्ट ब्रेन का भाग लॉजिक से संबधित होता है। इसे हम सामान्य भाषा में दिल और दिमाग का कनेक्श्न कहते है। जिसका संतुलन नहीं होने से ईगो क्लेश होता है। उक्त बातें वरिष्ठ राजयोग शिक्षिका एवं मैनेजमेंट ट्रेनर ब्रह्माकुमारी उषा ने प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के 80 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में आयोजित विशाल राजयोग शिविर में कहीं।भिलाई। सेल्फ डिसिप्लिन से व्यवहार में कुशलता आती है। भौतिक योग, व्यक्ति से योग, समय के साथ योग सभी योगों का सार है बैलेंस प्लस सेल्फ डिसिप्लिन। मन की अशांति का मुख्य कारण है ब्रेन के राईट और लेफ्ट दोनों भाग का इनबैलेंस होना, मानव का राईट ब्रेन का भाग इमोशनल और लेफ्ट ब्रेन का भाग लॉजिक से संबधित होता है। इसे हम सामान्य भाषा में दिल और दिमाग का कनेक्श्न कहते है। जिसका संतुलन नहीं होने से ईगो क्लेश होता है। उक्त बातें वरिष्ठ राजयोग शिक्षिका एवं मैनेजमेंट ट्रेनर ब्रह्माकुमारी उषा ने प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के 80 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में आयोजित विशाल राजयोग शिविर में कहीं।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

आलू-प्याज के साथ लगती हैं झोलाछाप डॉक्टरों की भी दुकानें

छिंदवाड़ा। जिला मुख्यालय से 80 किलोमीटर दूर आदिवासी गांव कटकुही में डाक्टरों का भी साप्ताहिक बाजार लगता है। प्रत्येक शुक्रवार लगने वाले हाट में आलू-प्याज की दुकानों के बीच डाक्टरों की भी दुकान लगती है। गले में स्टेथोस्कोप और हाथ में इंजेक्शन लिए ये डाक्टर दवाओं के साथ यहां अपनी टेबल लगाते हैं।छिंदवाड़ा। जिला मुख्यालय से 80 किलोमीटर दूर आदिवासी गांव कटकुही में डाक्टरों का भी साप्ताहिक बाजार लगता है। प्रत्येक शुक्रवार लगने वाले हाट में आलू-प्याज की दुकानों के बीच झोलाछाप डाक्टरों की भी दुकान लगती है। गले में स्टेथोस्कोप और हाथ में इंजेक्शन लिए ये डाक्टर दवाओं के साथ यहां अपनी टेबल लगाते हैं। इन चिकित्सकों के पास कोई डिग्री नहीं है। इनका दावा है कि ये अपने अनुभव से बीमारियों को ताड़ लेते हैं और उसका सस्ता इलाज भी कर देते हैं। मरीज ठीक नहीं हुआ या उसकी हालत और बिगड़ गई तो वह सरकारी अस्पताल जा ही सकता है। 

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

नेहरू नगर का गुरुद्वारा गुरूनानकसर रात को हो जाता है स्वर्ग से भी सुन्दर

भिलाई। वैसे तो अद्वितीय वास्तुशिल्प और निपुण कारीगरी के कारण नेहरू नगर का गुरुद्वारा गुरूनानकसर वैसे ही विख्यात है पर रात को इसकी अनुपम अद्भुत छटा कुछ और ही हो जाती है। दुर्ग या राजनांदगांव की तरफ से आने वाले लोगों को स्वर्ग में होने जैसी अनुभूति दे जाता है।भिलाई। वैसे तो अद्वितीय वास्तुशिल्प और निपुण कारीगरी के कारण नेहरू नगर का गुरुद्वारा गुरूनानकसर वैसे ही विख्यात है पर रात को इसकी अनुपम अद्भुत छटा कुछ और ही हो जाती है। दुर्ग या राजनांदगांव की तरफ से आने वाले लोगों को स्वर्ग में होने जैसी अनुभूति दे जाता है। यह गुरुद्वारा अपने धर्मार्थ चिकित्सालय और प्रतिदिन होने वाले लंगर की वजह से भी लोगों में खासा लोकप्रिय है।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

बच गए अनाज व्यापारियों के 45 लाख रुपए

भिलाई। भिलाई के अनाज व्यापारियों के लगभग 45 लाख रुपए बच गए हैं। इस राशि के लिए कृषि उपज मण्डी ने व्यापारियों को नोटिस दे रखा था और राशि नहीं जमा कराने पर लाइसेंस निरस्त कर देने की चेतावनी भी दी थी। नोटिस के खिलाफ लिंक रोड व्यापारी संघ के अध्यक्ष प्रमोद अग्रवाल के नेतृत्व में संघर्ष किया गया और अंतत: नोटिस वापस हो गई। प्रमोद अग्रवाल छत्तीसगढ़ चेम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के मंत्री पद पर चुनाव लड़ रहे हैं। भिलाई। भिलाई के अनाज व्यापारियों के लगभग 45 लाख रुपए बच गए हैं। इस राशि के लिए कृषि उपज मण्डी ने व्यापारियों को नोटिस दे रखा था और राशि नहीं जमा कराने पर लाइसेंस निरस्त कर देने की चेतावनी भी दी थी। नोटिस के खिलाफ लिंक रोड व्यापारी संघ के अध्यक्ष प्रमोद अग्रवाल के नेतृत्व में संघर्ष किया गया और अंतत: नोटिस वापस हो गई। प्रमोद अग्रवाल छत्तीसगढ़ चेम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के मंत्री पद पर चुनाव लड़ रहे हैं। 

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook