Category Archives: articles

स्वयंसिद्धा ने माउंट आबू में मातृत्व के अधिकार पर दी भावपूर्ण प्रस्तुति

भिलाई। गर्भधारण से लेकर एक शिशु को जन्म देने का सर्वाधिकार उसकी मां के पास सुरक्षित होता है। स्वयंसिद्धा समूह ने एक मां के संघर्ष की भावपूर्ण प्रस्तुति प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के माउंट आबू स्थित मुख्यालय में आयोजित राष्ट्रीय कलाकार महासम्मेलन में दी। देश के कोने-कोने से आए संस्कृति एवं रंगकर्मियों ने मुक्त कंठ से इस प्रस्तुति की सराहना की। नाटक ‘अपराजिता’ के लिए इन कलाकारों ने महीने भर जमकर अभ्यास किया था।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

बच्चों को झिड़कने के बजाय उनके सवालों का जवाब दें, वरना… : भूपेश

रूंगटा कैम्पस से मेरा प्लेसमेन्ट नगर निगम में हो गया : देवेन्द्र

Bhupesh Baghelभिलाई। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पालकों से आग्रह किया है कि वे अपने बच्चों को उनके सवालों पर झिड़कें नहीं बल्कि उनसे बातचीत करें और उनके सवालों का समाधान करने का ईमानदारी से प्रयत्न करें। उन्होंने कहा कि यदि बच्चों को अपने सवालों पर केवल झिड़कियां मिलीं तो वे सवाल पूछना बंद कर देंगे और फिर संवादहीनता की स्थिति बन जाएगी। मुख्यमंत्री बघेल यहां संतोष रूंगटा कैम्पस में आयोजित मेगा जॉब फेयर ‘प्लेसमेंटनामा’ के बाद आयोजित ‘सच हुए सपने’ कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

विश्व मातृत्व दिवस : किशोरावस्था से ही रखें बच्चियों के पोषण का ख्याल : डॉ आकांक्षा

विश्व मातृत्व दिवस पर जिनोटा पॉलीक्लिनिक में आयोजन

Mothers day celebration at Zinota Polyclinicभिलाई। शास्त्री मार्केट स्थित जिनोटा पॉलीक्लिनिक एवं फार्मेसी में विश्व मातृत्व दिवस पर स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ डॉ आकांक्षा श्रीवास्तव दशोरे ने कहा कि हमें बेटियों के पोषण का ख्याल किशोरावस्था से ही रखना चाहिए। बेटी स्वस्थ और सुपोषित होगी तभी आगे जाकर सुरक्षित और स्वस्थ मातृत्व का सुख लिया जा सकता है। वरिष्ठ साहित्यकार एवं कवि अमीरचंद अरोरा के मुख्य आतिथ्य तथा जिनोटा की डायरेक्टर श्रीलेखा विरुलकर की अध्यक्षता में आयोजित इंटरनेशनल मदर्स डे पर माताओं के सम्मान में इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया था।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

रेन वाटर हार्वेस्टिंग के लिए निगम मुख्यालय सहित अन्य स्थानों पर बन रहा सिस्टम

Rain Water Harvestingभिलाई। नगर पालिक निगम भिलाई के आयुक्त एस.के. सुंदरानी ने निगम मुख्य कार्यालय मे वैज्ञानिक तरीके से बनाएं जा रहे वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम तथा कंपोस्ट किट सह बायोगैस का अवलोकन किया तथा आवश्यक दिशा-निर्देश उपस्थित अधिकारियों को दिए! निगम मुख्य परिसर में पूर्व से ही वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम बना हुआ है जिसे वैज्ञानिक तरीके से बनाकर आधुनिकीकरण किया जा रहा है ताकि वर्षा का जल एवं व्यर्थ बहने वाला जल, वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम के माध्यम से भूगर्भ में समाहित हो जाए!

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

पेन का निर्माण कर अपना भविष्य गढ़ रही है महामाया SHG की महिलाएं

Pen Manufacturingबेमेतरा। पेन का निर्माण कर अपना भविष्य गढ़ रही हैं ग्राम मटका की महामाया स्व-सहायता समूह की बहनें। जी हां हम बात कर रहें हैं बेमेतरा जिले के ग्राम पंचायत मटका के महामाया स्व सहायता समूह की। जहां चाह वहां राह इस कहावत को चरितार्थ कर दिखाया है महामाया स्व-सहायता समूह की बहनों ने। जो राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन बिहान अंतर्गत 2019 में पंजीकृत हुए है। कलेक्टर महादेव कावरे से स्व-सहायता समूह की महिलाओं ने समूह द्वारा तैयार किया गया पेन भेंट किया।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

स्पर्श मल्टीस्पेशालिटी में टोटल हिप रिप्लेसमेंट सर्जरी, मरीज तीन साल से था परेशान

Total Hip Replacementभिलाई। स्पर्श मल्टीस्पेशालिटी हॉस्पिटल में एक 54 वर्षीय व्यक्ति की टोटल हिप रिप्लेसमेंट सर्जरी की गई। व्यक्ति तीन साल पहले एक हादसे का शिकार हो गया था जिसके बाद से ही वह लगातार तकलीफ में था। बिहार निवासी इस व्यक्ति का पुत्र यहां सीआइएसएफ में नियुक्त है। वह अपने पिता को यहां लेकर पहुंचा जहां उनकी सर्जरी की गई। मरीज को दूसरे ही दिन उनके पैरों पर खड़ा कर चला दिया गया और तीन दिन बाद उसकी छुट्टी कर के घर भेज दिया गया।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

केपीएस सेवाश्रम में लगा श्रीराम का दरबार, गूंजी कबीर की संगीतमय वाणी

KPS Kutela Bhata Kabira Khada Bazar Meinभिलाई। केपीएस सेवाश्रम कुटेलाभाठा में शनिवार की शाम भक्तिमय संगीत के नाम रहा। सुमधुर स्वरलहरियों में कबीर की वाणी श्रोताओं को पुलकित करती रही और उन्हें जीवन जीने का सलीका सिखाती रही। बच्चों ने श्रीराम, लक्ष्मण, माता सीता एवं भक्त हनुमान के रूप में झांकियां प्रस्तुत की। सम्पूर्ण कार्यक्रम केपीएस के संगीत शिक्षकों ने बच्चों के सहयोग से सम्पन्न किया।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

कृष्णप्रिया कथक केंद्र ने मंच पर उकेरा शास्त्रीय नृत्यों का इतिहास

Kathak A tale of Indian Dancesभिलाई। अंतरराष्ट्रीय नृत्य दिवस के अवसर पर कृष्णप्रिया कथक केंद्र भिलाई-दुर्ग की ओर से राजधानी रायपुर के दीनदयाल सभागार में नृत्य नाटिका ‘इतिहास-अ टेल आफ डांस’ का मंचन किया गया। सरल और मनोरंजक रूप से नृत्य की विकास यात्रा से दशर्कों को अवगत कराने के मकसद से इस नृत्य नाटिका में वैदिक काल से आधुनिक काल तक नृत्य की यात्रा व उसके उतार-चढ़ाव का प्रदर्शन किया गया।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

एमजे कालेज में स्पर्श का कैम्पस प्लेसमेन्ट, 5 नर्सों का हुआ चयन

MJ College of Nursingभिलाई। एमजे कालेज ऑफ नर्सिंग में आज स्पर्श मल्टीस्पेशालिटी हॉस्पिटल ने कैम्पस सेलेक्शन किया। अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक एवं जाने माने निश्चेतना विशेषज्ञ डॉ संजय गोयल ने नर्सों का स्वयं उपस्थित होकर साक्षात्कार लिया। मौके पर एमजे कालेज की डायरेक्टर श्रीलेखा विरुलकर भी मौजूद थीं। स्पर्श मल्टीस्पेशालिटी हॉस्पिटल द्वारा आयोजित इस प्लेसमेंट कैम्प में कुल 14 नर्सों ने हिस्सा लिया। इनमें से 5 नर्सों का चयन किया गया।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

विद्वान बनने से ज्यादा जरूरी है बुद्धिमान बनना ताकि ज्ञान का सदुपयोग हो : श्रीलेखा

shreelekha virulkarभिलाई। एमजे कालेज की डायरेक्टर श्रीलेखा विरुलकर का मानना है कि इंसान बनने के लिए विद्वान बनने से भी कहीं ज्यादा जरूरी है बुद्धिमान बनना ताकि उचित अनुचित का फैसला किया जा सके। सामूहिक नरसंहार के हथियारों के पीछे भी विज्ञान है और जीवन की रक्षा करने में भी विज्ञान ही काम आता है। मानवता की रक्षा के लिए ज्ञान और विज्ञान को सही दिशा दिये जाने की जरूरत है। जल संरक्षण पर टीम एमजे को संबोधित करते हुए श्रीलेखा ने कहा कि वैज्ञानिक प्रगति ने जहां जीवन को आसान बनाने के लिए कई उपकरण दिए वहीं सामूहिक नरसंहार के हथियार भी दिए।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

प्रकृति के अंधाधुंध दोहन से मानव सहित सभी जीव जंतुओं का अस्तित्व संकट में

Kalyan Mahavidyalayaभिलाई। “अधिक से अधिक लाभ कमाने के लालच से प्रकृति का अंधाधुंध दोहन हो रहा है जिससे प्राकृतिक असुंतलन की स्थिति बन रही है और नई-नई बीमारियां, आपदाओं व जीवन की विषम परिस्थियों से न केवल मानव जाति बल्कि सम्पूर्ण जीव-जगत को जूझना पड़ रहा है।” उपरोक्त विचार छत्तीसगढ़ विज्ञान व प्रौद्योगिकी परिषद् के महानिदेशक डॉ के सुब्रमणियम ने कल्याण महाविद्यालय में आयोजित ‘राष्ट्रीय विज्ञान दिवस उत्सव 2019′ के उद्घाटन के अवसर पर व्यक्त किये। डॉ सुब्रमणियम ने युवाओं से कहा कि संसाधनों को बचाने का प्रयास करें और कोई भी कार्य या उद्यम करने से पहले यह सोचें कि ऐसा करने से कहीं प्रकृति का कोई नुकसान तो नहीं हो रहा है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

भिलाई में शिशु रोग विभाग के अधिष्ठाता डॉ मदान का अवसान

Dr MS Madanभिलाई। भिलाई इस्पात संयंत्र के मुख्य चिकित्सालय सेक्टर-9 में शिशु रोग विभाग (नियोनेटल डिपार्टमेंट) प्रारंभ करने वाले डॉ एमएस मदान का आज तड़के देहावसान हो गया। लगभग 90 वर्षीय डॉ मदान नेहरू नगर गुरुद्वारे में संचालित धर्मार्थ चिकित्सालय के भी अधिष्ठाता हैं। जीवन के अंतिम वर्षों में भी वे बेहतर शिशु स्वास्थ्य की दिशा में स्वयं के साधनों से काम करते रहे। सन् 1962 में डॉ मदान युनाइटेड किंगडम की नौकरी छोड़कर भिलाई इस्पात संयंत्र से जुड़ गए। उन्होंने शिशु रोग विभाग की स्थापना की। यह देश का सातवां शिशु रोग विभाग था। तब तक जनरल फिजिशियन ही बच्चों से लेकर बड़ों तक का इलाज करते थे। जल्द ही इस यूनिट का नाम तत्कालीन मध्यप्रदेश समेत आसपास के राज्यों तक फैल गया। 1969 में यहां पहला इंक्यूबेटर स्थापित किया गया। यह देश का सातवां नियोनेटल केयर यूनिट था।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

निगम क्षेत्र में पूजा के फूल से बन रहा है गुलाल, बढ़ी मांग

Gulal from Puja Flowersभिलाई। नगर पालिक निगम भिलाई के आयुक्त एसके सुंदरानी द्वारा चालू की गई पूजा एक्सप्रेस होली से पहले अपने मंजिल तक पहुंची। छग एजुकेशनल रिसर्च एण्ड वेलफेयर सोसायटी एवं एनयूएलएम के सहयोग से भिलाई नगर के विभिन्न मदिरों में एकत्रित होने वाले फूल, पत्ती, नारियल और अन्य कचरों का संग्रहण कर फूलों की पंखुड़ियों से तीन रंगों के गुलाल का निर्माण बिना जटिल मशीनीकरण के किया जा रहा है। इसकी मांग भी बढ़ रही है। भूरे, पीले और नारंगी रंगों में उपलब्ध गुलाल न सिर्फ होली के गुलाल की जगह ले रहा है बल्कि यह बहुत अच्छा फेस पैक भी है जिससे रासायनिक रंगों से होने वाली एलर्जी भी नहीं होती बल्कि चेहरे की त्वचा में निखार भी आ जाता है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

भिलाई के तीन कोरियाग्राफर्स का टेन सेंटीडोज के लिए चयन, पर नहीं हैं पैसे

choreographersभिलाई। इस्पात नगरी के तीन युवा कोरियाग्राफर्स  का चयन स्पेन में आयोजित होने वाले प्रतिष्ठित टेन सेंटीडोज अंतरराष्ट्रीय कोरियोग्राफी प्रतियोगिता के लिए हुआ है लेकिन आर्थिक तंगी उनका रास्ता रोक रही है। दुनिया के हजारों लोगों के बीच ये युवा टॉप टेन में अपना स्थान बनाने में कामयाब हुए हैं। तीनों युवाओं की नजरें समाज और शासन-प्रशासन की ओर से है, ताकि ये स्पेन जाकर भिलाई और छत्तीसगढ़ राज्य के साथ देश का नाम रौशन कर सकें। रामनगर निवासी रौशन घड़ेकर, स्टेशन मरोदा निवासी प्रदीप गुप्ता और सेक्टर-10 निवासी पुरेंद्र मेश्राम ने इस प्रतिष्ठित प्रतियोगिता के लिए अपनी कोरियोग्राफी का वीडियो अपलोड कर इंट्री ली थी।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में राष्ट्रीय शोध संगोष्ठी का समापन

National Workshop on Research Paperभिलाई। हेमचंद यादव विश्वविद्यालय एवं स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय के संयुक्त तत्वावधान में शोधपत्र लेखन विधि एवं प्रविधि विषय पर दो दिवसीय राष्ट्रीय शोध संगोष्ठी का समापन डॉ. संदीप अवस्थी, एसोसिएट प्रोफेसर, भगवंत विश्वविद्यालय, अजमेर, शिक्षाविद एवं साहित्यकार के मुख्य आतिथ्य में संपन्न हुआ। सहसंयोजक डॉ. वी. सुजाता ने उभरे बिंदुओं को प्रतिवेदन के रूप में प्रस्तुत किया व कहा हमें शोधपत्र बनाते समय समाज की समस्याओं को भी ध्यान में रखना होगा जिससे लोगों को फायदा हो।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare