भिलाई। श्री शंकराचार्य महाविद्यालय में गणेश चतुर्थी एवं विश्वकर्मा जयंती के अवसर पर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। इस अवसर पर स्नेह संपदा, भिलाई More »

भिलाई। सिविक सेन्टर की चौपाटी में लगी विशाल भारतीय सिल्क एक्सपो प्रदशर्नी का शनिवार शाम यंगिस्तान के चेयरमैन मनीष पाण्डेय ने विधिवत उद्घाटन किया। उनके More »

न्यूकैसल। कॉमनवेल्थ फेंसिंग चैम्पियनशिप, न्युकैसल, इंग्लैंड में भारत ने 03 स्वर्ण, 02 रजत एवं 08 कांस्य पदक सहित कुल 13 पदक हासिल किया। पदक तालिका More »

भिलाई। साहित्य सम्राट मुंशी प्रेमचंद की जयंती पर उनकी कृतियों की चर्चा करना और इसमें युवा पीढ़ी को शामिल करना प्रशंसनीय है। उनकी रचनाधर्मिता से More »

भिलाई। स्वच्छ भारत समर इंटर्नशिप कार्यक्रम के तहत श्रीशंकराचार्य महाविद्यालय ने ग्राम खपरी में एक वैचारिक आंदोलन खड़ा कर दिया है। महाविद्यालय के रोटरैक्ट क्लब, More »

 

Monthly Archives: May 2017

ताम्रध्वज : निर्भीक निरंतरता के तीन वर्ष

दुर्ग। छत्तीसगढ़ से कांग्रेस के एकमात्र कांग्रेस सांसद ताम्रध्वज साहू अपनी सोच की स्पष्टता और अभिव्यक्ति की निडरता के लिए भी जाने जाते हैं। सरल सौम्य स्वभाव के ताम्रध्वज सभी वर्ग के लोगों में सहजता से घुलमिल जाते हैं और बेबाकी के साथ अपनी राय भी रखते हैं। अपने संसदीय कार्यकाल के तीन वर्षों में वे अकेले ऐसे सांसद हैं जिन्होंने अपनी निधि के पूरे पांच करोड़ रुपयों से विकास कार्यों की अनुशंसा की और कार्यप्रगति की निरंतर समीक्षा करते रहे।

दुर्ग। छत्तीसगढ़ से कांग्रेस के एकमात्र सांसद ताम्रध्वज साहू अपनी सोच की स्पष्टता और अभिव्यक्ति की निडरता के लिए भी जाने जाते हैं। सरल सौम्य स्वभाव के ताम्रध्वज सभी वर्ग के लोगों में सहजता से घुलमिल जाते हैं और बेबाकी के साथ अपनी राय भी रखते हैं। अपने संसदीय कार्यकाल के तीन वर्षों में वे अकेले ऐसे सांसद हैं जिन्होंने अपनी निधि के पूरे पांच करोड़ रुपयों से विकास कार्यों की अनुशंसा की और कार्यप्रगति की निरंतर समीक्षा करते रहे। लोग उनसे अपने दिल की बात कहने में जरा भी संकोच नहीं करते। राजनीतिक उठापटक से वे स्वयं को पृथक ही रखते हैं और अपने समय का सदुपयोग करने में यकीन करते हैं। वे वैज्ञानिक परम्पराओं और आधुनिक विकास के बीच की कड़ी तलाशते दिखते हैं। उनके वक्तव्यों में बार-बार प्रकृति से सामंजस्य बैठाने का जिक्र आता है। उनकी वाणी भी उनकी सोच की तरह ही स्पष्ट है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

अधिवक्ता संघ चुनाव 3 जून को

अधिवक्ता संघ चुनाव 3 जून को दुर्ग। जिला अधिवक्ता संघ दुर्ग के चुनाव कार्यक्रम की घोषणा हो गई है। 18 मई  को  संध्या मुख्य चुनाव अधिकारी बृजेन्द्र गुप्ता ने अधिवक्ता संघ चुनाव 2017-19 हेतु 8 पदाधिकारियों व 6 कार्यकारिणी सदस्यों के निर्वाचन कार्यक्रम की घोषणा की। इस अवसर पर उप मुख्य चुनाव अधिकारीगण मुरली मनोहर देवांंगन, राजेन्द्र बेहरा, राजेश महाडि़क, धनंजय शिरके एवं शिव प्रसाद कापसे उपस्थित थे।दुर्ग। जिला अधिवक्ता संघ दुर्ग के चुनाव कार्यक्रम की घोषणा हो गई है। 18 मई को संध्या मुख्य चुनाव अधिकारी बृजेन्द्र गुप्ता ने अधिवक्ता संघ चुनाव 2017-19 हेतु 8 पदाधिकारियों व 6 कार्यकारिणी सदस्यों के निर्वाचन कार्यक्रम की घोषणा की। इस अवसर पर उप मुख्य चुनाव अधिकारीगण मुरली मनोहर देवांंगन, राजेन्द्र बेहरा, राजेश महाडि़क, धनंजय शिरके एवं शिव प्रसाद कापसे उपस्थित थे। घोषित कार्यक्रम के अनुसार 19 मई दिन शुक्रवार को दोपहर 2 बजे प्रारंभिक मतदाता सूची का प्रकाशन किया जायेगा। 22 मई को दोपहर 2 बजे तक जिला अधिवक्ता संघ के चुनाव कार्यालय में प्रारंभिक मतदाता सूची पर आपत्ति दावा प्रस्तुत किया जा सकेगा।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

टीचर्स के लिए स्वरूपानंद कॉलेज में ओपन कैंपस

टीचर्स के लिए स्वरूपानंद कॉलेज में ओपन कैंपस भिलाई। विवेकानंद केन्द्र विद्यालय की चौतीस शाखाएं अरूणाचल प्रदेश में हैं। विवेकानंद केन्द्र विद्यालय अरूणाचल प्रदेश के विद्यालयों में विभिन्न शैक्षिक पदों के लिए रिक्तियाँ हैं। इस हेतु विद्यालय का ओपन कैंपस स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में 21मई 2017 को आयोजित है। कैंपस में किसी भी संकाय के स्नातक एवं स्नातकोत्तर प्रतिभागी भाग ले सकते हैं, बी.एड., एम.एड. विद्यार्थियों को प्राथमिकता दी जाएगी। कैंपस डाईव के लिए प्रतिभागियों को अपना बायोडाटा, फोटोग्राफ और अन्य सभी दस्तावेज लेकर सुबह दस बजे महाविद्यालय महाविद्यालय परिसर में उपस्थित होना है।भिलाई। विवेकानंद केन्द्र विद्यालय की चौतीस शाखाएं अरूणाचल प्रदेश में हैं। विवेकानंद केन्द्र विद्यालय अरूणाचल प्रदेश के विद्यालयों में विभिन्न शैक्षिक पदों के लिए रिक्तियाँ हैं। इस हेतु विद्यालय का ओपन कैंपस स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में 21मई 2017 को आयोजित है। कैंपस में किसी भी संकाय के स्नातक एवं स्नातकोत्तर प्रतिभागी भाग ले सकते हैं, बी.एड., एम.एड. विद्यार्थियों को प्राथमिकता दी जाएगी। कैंपस डाईव के लिए प्रतिभागियों को अपना बायोडाटा, फोटोग्राफ और अन्य सभी दस्तावेज लेकर सुबह दस बजे महाविद्यालय महाविद्यालय परिसर में उपस्थित होना है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

डॉ. रक्षा सिंह बीएचयू (BHU) के द कोर्ट में

डॉ. रक्षा सिंह बीएचयू के द कोर्ट में भिलाई। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने श्रीशंकराचार्य महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. रक्षा सिंह को बनारस काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) का द कोर्ट मेम्बर नियुक्त किया है। बीएचयू के कुलपति प्रो. गिरीशचंद्र त्रिपाठी द्वारा इसकी सूचना पत्र द्वारा डॉ रक्षा सिंह को प्रदान की गई है। केन्द्रीय विश्वविद्यालय के अनुक्रम में कुलाधिपति राष्ट्रपति एवं कुलपति के बाद द कोर्ट का स्थान है। इसका स्थान विश्वविद्यालय की विद्यापरिषद व कार्यपरिषद से ऊपर आता है। बनारस (काशी) हिन्दू विश्वविद्यालय के द कोर्ट परिषद में छत्तीसगढ़ से किसी के चुने जाने का यह पहला मामला है। इस कोर्ट में नियुक्ति के साथ डॉ. रक्षा सिंह ने पूरे प्रदेश को गौरवान्वित किया है। उनकी इस उपलब्धि पर श्रीगंगाजलि एजुकेशन सोसायटी के अध्यक्ष आईपी मिश्रा, उपाध्यक्ष जया मिश्रा, निदेशक जे दुर्गा प्रसाद राव एवं शिक्षकवृंद ने उन्हें बधाई दी है।भिलाई। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने श्रीशंकराचार्य महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. रक्षा सिंह को बनारस काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) का द कोर्ट मेम्बर नियुक्त किया है। बीएचयू के कुलपति प्रो. गिरीशचंद्र त्रिपाठी द्वारा इसकी सूचना पत्र द्वारा डॉ रक्षा सिंह को प्रदान की गई है। केन्द्रीय विश्वविद्यालय के अनुक्रम में कुलाधिपति राष्ट्रपति एवं कुलपति के बाद द कोर्ट का स्थान है। इसका स्थान विश्वविद्यालय की विद्यापरिषद व कार्यपरिषद से ऊपर आता है।बनारस (काशी) हिन्दू विश्वविद्यालय के द कोर्ट परिषद में छत्तीसगढ़ से किसी के चुने जाने का यह पहला मामला है। इस कोर्ट में नियुक्ति के साथ डॉ. रक्षा सिंह ने पूरे प्रदेश को गौरवान्वित किया है। उनकी इस उपलब्धि पर श्रीगंगाजलि एजुकेशन सोसायटी के अध्यक्ष आईपी मिश्रा, उपाध्यक्ष जया मिश्रा, निदेशक जे दुर्गा प्रसाद राव एवं शिक्षकवृंद ने उन्हें बधाई दी है।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

डॉ संतोष राय की गिनीज टीम का सम्मान

भिलाई। मध्यभारत से गिनीज बुक में शामिल होने वाले प्रथम शिक्षाविद कॉमर्स गुरू डॉ संतोष राय की गिनीज टीम का रविवार को गरिमामय वातावरण में सम्मान किया गया। गिनीज बुक में अपना नाम दर्ज करवाने वाले के सहयोगियों को स्वयं गिनीज की तरफ से सहयोग का यह प्रमाणपत्र दिया जाता है। डॉ संतोष राय की इस टीम में लायन विभा भूटानी, लायन अमरजीत सिंह दत्ता, लायन मोहन सिंह छाबड़ा, राजेश श्रीवास्तव, लायन फजल फारूखी, रोटे. रमेश पटेल, सतीष जैन, मिस मिट्ठू, सी.ए. प्रवीण बाफना, सी.ए. केतन ठक्कर, मारिया रिजवी, सी.ए. दिव्या रत्नानी, सी.ए. सुचेता शर्मा, पियूश जोशी, केशव राव, अभिषेक राय, अपूर्वा मिश्रा, जसलीन कौर ओबेरॉय, तेजस साहू, पियूश जैन, अरूण सिंह शामिल थे।भिलाई। मध्यभारत से गिनीज बुक में शामिल होने वाले प्रथम शिक्षाविद कॉमर्स गुरू डॉ संतोष राय की गिनीज टीम का रविवार को गरिमामय वातावरण में सम्मान किया गया। गिनीज बुक में अपना नाम दर्ज करवाने वाले के सहयोगियों को स्वयं गिनीज की तरफ से सहयोग का यह प्रमाणपत्र दिया जाता है। डॉ संतोष राय की इस टीम में लायन विभा भूटानी, लायन अमरजीत सिंह दत्ता, लायन मोहन सिंह छाबड़ा, राजेश श्रीवास्तव, लायन फजल फारूखी, रोटे. रमेश पटेल, सतीष जैन, मिस मिट्ठू, सी.ए. प्रवीण बाफना, सी.ए. केतन ठक्कर, मारिया रिजवी, सी.ए. दिव्या रत्नानी, सी.ए. सुचेता शर्मा, पियूश जोशी, केशव राव, अभिषेक राय, अपूर्वा मिश्रा, जसलीन कौर ओबेरॉय, तेजस साहू, पियूश जैन, अरूण सिंह शामिल थे।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare