Category Archives: Health

कोरोना पाजीटिव मां भी बेहिचक करा सकती है अपने शिशु को स्तनपान – डॉ सावंत

Corona Positive mothers can breastfeed their babiesभिलाई। वरिष्ठ शिशु रोग विशेषज्ञ एवं स्पर्श मल्टीस्पेशालिटी हॉस्पिटल के मेडिकल डायरेक्टर डॉ एपी सावंत ने कोरोना पाजीटिव या संदिग्ध माताओं से कहा है कि वे अपने शिशु को निःसंकोच स्तनपान करा सकती हैं। इसमें कोई खतरा नहीं है। पहले तीन दिन का मां का दूध शिशु के लिए न केवल अमृत समान है बल्कि यह उसका पहला टीका भी है। मां के दूध में शिशु की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के सभी तत्व होते हैं। डॉ सावंत ने स्पर्श अस्पताल में विश्व स्तनपान सप्ताह के दौरान आयोजित पोस्टर प्रतियोगिता के दौरान ये बातें कहीं। उन्होंने बताया, इस बात का कोई प्रमाण नहीं है कि कोरोना का संक्रमण माता से शिशु में जाता है।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

अपनी सुरक्षा को दांव पर लगाकर स्पर्श के चिकित्सकों ने बचाई दो लोगों की जान

Surgery team of Sparsh Multispeciality Hospital saves two livesभिलाई। स्पर्श मल्टीस्पेशालिटी हॉस्पिटल के चिकित्सकों की टीम ने अपनी सुरक्षा को दांव पर लगाकर इमरजेंसी में दो मरीजों की जान बचा ली। दोनों ही मरीज युवा थे और उनकी हालत बेहद नाजुक हो चुकी थी। इनमें से एक युवक था जो सड़क हादसे में घायल होकर पहुंचा था। दूसरी मरीज एक 30 वर्षीय गर्भवती महिला थी। दोनों की सर्जरी की गई और एक सप्ताह से भी कम समय में दोनों अपने अपने घर चले गए।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

स्पर्श में ओआरएस सप्ताह प्रारंभ, सिखाया सही घोल बनाना

ORS week in Sparsh Hospital Bhilaiभिलाई। स्पर्श मल्टीस्पेशालिटी हॉस्पिटल के शिशु रोग विभाग ने आज ओआरएस सप्ताह का शुभारंभ किया। मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए आयोजित इस कार्यक्रम में नर्सिंग स्टाफ, रोगी एवं उनके परिजन शामिल हुए। शिशु संरक्षण माह के अंतर्गत डायरिया नियंत्रण पखवाड़ा मनाया जा रहा है। ओआरएस सप्ताह इसी की एक कड़ी है। उल्लेखनीय है कि 5 साल से कम उम्र में अपने प्राण गंवाने वाले बच्चों में से 10 फीसद बच्चे डायरिया और डिहाइड्रेशन के कारण अपनी जान गंवा देते हैं। 

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

एक-एक किलो के जुड़वां बच्चों को स्पर्श में मिली नई जिन्दगी

Sparsh Hospital Bhilai Twins भिलाई। वह क्षण बड़ा सुखद था जब अपने बच्चों से नाउम्मीद हो चुके माता-पता अपनी गोद में दो शिशुओं को लेकर घर रवाना हुए। इन जुड़वां शिशुओं का जन्म महज 30 सप्ताह में हो गया था। लगभग एक-एक किलोग्राम वजन के इन बच्चों में एक बालक था और एक बालिका। स्पर्श मल्टीस्पेशालिटी हॉस्पिटल की अत्याधुनिक नीयोनेटल इकाई, नवजात शिशु विशेषज्ञ, इंटेंसिविस्ट की टीम ने लगातार निगरानी एवं हस्तक्षेप कर इसे अंजाम दिया।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

बेमेतरा में डायरिया नियंत्रण पखवाड़ा, सिखा रहे ओआरएस घोल बनाना

Diarrhea Control in Bemetaraबेमेतरा। जिले में गहन डायरिया नियंत्रण पखवाडा 8 से 21 जुलाई तक चलाई जा रही है। इसके तहत बाल मृत्यु के मुख्य कारण डायरिया से बचाव शीघ्र निदान एवं उपचार कर शिशु मृत्यु दर में कमी लाये जाने की कोशिश की जा रही है। गहन डायरिया नियंत्रण पखवाडे के माध्यम से घरेलू स्तर पर ओआरएस घोल बनाने की विधि, बच्चों में निर्जलीकरण के लक्षणों को पहचानने की जानकारी, निर्जलीकरण से बचाव के लिए ओआरएस व जिंक की गोली आयु अनुसार दिए जाने, स्वच्छता नियमित हाथ धुलाई की प्रक्रिया अपनाने तथा आपातकालीन स्थिति में नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्रों में ले जाने की जानकारी दी जा रही है।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

शिशु संरक्षण माह प्रारंभ, बेमेतरा में 84832 बच्चों होंगे शामिल

Vaccination Programme Bemetaraबेमेतरा। जिला बेमेतरा में शिशु संरक्षण माह अर्धवार्षिक विटामिन-ए अनुपूरक कार्यक्रम की शुरूआत 14 जुलाई 2020 से सभी विकासखण्डों में निर्धारित नियमित टीकाकरण सत्रों के माध्यम से किया गया है। यह कार्यक्रम शिव अनंत तायल कलेक्टर जिला बेमेतरा के निर्देशन में 14 अगस्त 2020 तक चलाया किया जायेगा। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एस.के. शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि शिशु संरक्षण माह को पूरे जिला बेमेतरा के समस्त ग्रामों में 14 जुलाई से आरंभ की गई है, जो कि 14 अगस्त तक नियमित टीकाकरण दिवस मंगलवार एवं शुक्रवार को एक माह तक आयोजित किया जायेगा।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

कोरोना संक्रमण से सुरक्षित रखने में काम आ सकती है लामा और ऊंटनी

Lama and Camel might help in fighting Coronaलंदन। लामा और ऊंटनी में मिलने वाले एंटीबॉडी कोरोना वायरस के इलाज में कारगर हो सकता है। वैज्ञानिकों ने लामा और ऊंटनी में ऐसे दो सूक्ष्म एंटीबॉडी की पहचान की है, जो वायरस को खत्म करने की ताकत रखते हैं। रोसैलिंड फ्रैंकलिन इंस्टीट्यूट, ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और पब्लिक हेल्थ इंग्लैंड ने मिलकर यह शोध किया है। इनके शोधकर्ताओं लामा के दूध में पाए जाने वाले नैनो एंटीबॉडी के लैब में वायरस पर असर को देखा, जो सफल रहा।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

मुख्यमंत्री के आह्वान पर स्पर्श परिवार ने अस्पताल परिसर में लगाए पौधे

Environment Day at Sparsh Multispeciaiity Hospital Bhilaiभिलाई। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के आह्वान पर स्पर्श मल्टीस्पेशालिटी हॉस्पिटल में पौधे लगाकर शासन के वन होम-वन ट्री अभियान को अमलीजामा पहनाया गया। इनमें गंधराज, बॉटल पाम, अमरूद तथा गुड़हल के पौधे शामिल थे। प्रबंध निदेशक डॉ दीपक वर्मा ने इस अवसर पर कहा कि प्रकृति से परे जीवन संभव नहीं है। हमने प्रकृति को बहुत क्षति पहुंचाई है। अब वक्त आ गया है कि हम प्रकृति की ओर लौट चलें, उसकी सुरक्षा एवं संरक्षण के साथ ही संवर्द्धन में भी अपना योगदान दें।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

एमजे कालेज ऑफ नर्सिंग में एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय वेबीनार का आयोजन

MJ College of Nursing International Webinarभिलाई। एमजे कालेज ऑफ नर्सिंग में एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय वेबीनार का आयोजन किया गया। कतर से सीएनई एजुकेटर एवं क्वालिटी चैम्पियन रेशमी जॉन, वी-केयर कॉलेज ऑफ नर्सिंग अम्बिकापुर की प्राचार्य श्रीमती मंगाय्यरकरसी, विनायक मिशन कॉलेज ऑफ नर्सिंग कराइकल की एसोसिएट प्रोफेसर श्रीमती कलाइवनी ने विभिन्न विषयों पर सारगर्भित प्रजन्टेशन दिए। प्राध्यापक एवं व्याख्याताओं सहित 100 से अधिक विद्यार्थियों ने इस वेबीनार का लाभ लिया।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

जानलेवा डेंगू-मलेरिया से करें अपने परिवार की सुरक्षा – डॉ शुमायला

Dr Shumayla Sparsh Multispeciality Hospital Bhilaiभिलाई। स्पर्श मल्टीस्पेशालिटी हॉस्पिटल की इंटरनल मेडिसिन विशेषज्ञ डॉ शुमायला असलम ने लोगों से अपील की है कि वे जानलेवा डेंगू-मलेरिया से बचने के हर संभव उपाय करें। मच्छरों से होने वाली इन दोनों बीमारियों के कुछ प्रकार हैं जो जानलेवा साबित होते हैं। पिछले वर्षों में शहर ने इसका ताण्डव देखा है और एक बार फिर मौसम बदलने के साथ ही इसके मामले आने शुरू हो गए हैं। उल्लेखनीय है कि स्पर्श मल्टीस्पेशालिटी हॉस्पिटल डेंगू के इलाज के लिए भिलाई-दुर्ग का अधिकृत केन्द्र है।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare