Category Archives: Health

आलू-प्याज के साथ लगती हैं झोलाछाप डॉक्टरों की भी दुकानें

छिंदवाड़ा। जिला मुख्यालय से 80 किलोमीटर दूर आदिवासी गांव कटकुही में डाक्टरों का भी साप्ताहिक बाजार लगता है। प्रत्येक शुक्रवार लगने वाले हाट में आलू-प्याज की दुकानों के बीच डाक्टरों की भी दुकान लगती है। गले में स्टेथोस्कोप और हाथ में इंजेक्शन लिए ये डाक्टर दवाओं के साथ यहां अपनी टेबल लगाते हैं।छिंदवाड़ा। जिला मुख्यालय से 80 किलोमीटर दूर आदिवासी गांव कटकुही में डाक्टरों का भी साप्ताहिक बाजार लगता है। प्रत्येक शुक्रवार लगने वाले हाट में आलू-प्याज की दुकानों के बीच झोलाछाप डाक्टरों की भी दुकान लगती है। गले में स्टेथोस्कोप और हाथ में इंजेक्शन लिए ये डाक्टर दवाओं के साथ यहां अपनी टेबल लगाते हैं। इन चिकित्सकों के पास कोई डिग्री नहीं है। इनका दावा है कि ये अपने अनुभव से बीमारियों को ताड़ लेते हैं और उसका सस्ता इलाज भी कर देते हैं। मरीज ठीक नहीं हुआ या उसकी हालत और बिगड़ गई तो वह सरकारी अस्पताल जा ही सकता है। 

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

अस्पताल ने की आनाकानी, प्रसूता ने नाले में दिया बच्चे को जन्म

कांकेर। राज्य की सीमा से लगे कोरापुट (ओडिशा) के जिला अस्पताल में प्रसव कराने पहुंची गर्भवती को अस्पताल में भर्ती नहीं किया गया। इससे महिला ने अस्पताल के पास ही सूखे नाले में नवजात को जन्म दिया।कांकेर। राज्य की सीमा से लगे कोरापुट (ओडिशा) के जिला अस्पताल में प्रसव कराने पहुंची गर्भवती को अस्पताल में भर्ती नहीं किया गया। इससे महिला ने अस्पताल के पास ही सूखे नाले में नवजात को जन्म दिया। बताया जा रहा कि प्रसूता प्रसव पीड़ा के चलते अपने पति रघु मृदुली के साथ अस्पताल पहुंची थी, मगर दस्तावेज न होने से अस्पताल प्रबंधन ने प्रसूता को भर्ती करने में आनाकानी की। 

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

विवाह से पहले रक्‍तदान करेंगे दूल्हा-दुल्हन और बाराती

उज्जैन। इंदौर रोड स्थित जैन तीर्थ तपोभूमि में बुधवार को अनोखी शादी होगी। दूल्हा-दूल्हन और करीब 30 बाराती विवाह संस्कार से पहले थैलीसिमिया पीड़ित बच्चों की जिंदगी बचाने के लिए रक्तदान करेंगे।उज्जैन। इंदौर रोड स्थित जैन तीर्थ तपोभूमि में बुधवार को अनोखी शादी होगी। दूल्हा-दूल्हन और करीब 30 बाराती विवाह संस्कार से पहले थैलीसिमिया पीड़ित बच्चों की जिंदगी बचाने के लिए रक्तदान करेंगे। दूल्हा डॉ. गुंजन जैन और दुल्हन औशिन जैन हैं। दोनों उत्तरप्रदेश के अलग-अलग स्थानों से हैं, जो उज्जैन में सादगी से विवाह करने आए हैं। डॉ. गुंजन मुरैना में बैंकर पदमकुमार जैन के पुत्र हैं। वे अपने जीवन में अब तक 34 बार रक्तदान कर चुके हैं। उनकी शादी को लेकर दो ही जिद थी कि वे विवाह सादगी से करेंगे और फेरे लेने से पहले थैलीसिमिया बीमारी से पीड़ित बच्चों के लिए रक्तदान करेंगे। उनकी इस जिद से प्रेरित होकर ललितपुर (उप्र) की दुल्हन औशिन और तकरीबन 30 बारातियों ने भी रक्तदान की इच्छा जताई है। दोनों पक्ष के लोगों ने डिस्पोजल मुक्त विवाह समारोह करने का बंदोबस्त किया है।
WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

ठंड में सूर्योदय से पहले मॉर्निंग वॉक से परहेज करें बुजुर्ग : डॉ रत्नानी

हृदय रोग से मौत का खतरा कम करती है कसरत, पर रखें टारगेट हार्टबीट रेट का ख्याल

Dr Dilip Ratnani, Interventional Cardiologist

ठंड में बुजुर्ग सुबह 5 बजे से घूमने न जाएं बल्कि जब सूर्योदय हो जाए उसके बाद घूमने निकलें। ठंड में सुबह की सर्द हवाओं के कारण सांस की बीमारी से पीडि़तों को तकलीफ हो सकती है। बुजुर्गों को ठंड में परेशानी होती है। उन्हें ठंड में हड्डी, मांस पेशियों में दर्द हो सकता है। इससे वे घर के बाहर गर्म कपड़े पहनकर मॉर्निंग वॉक के लिए निकलें। छाती में दर्द के लिए ईसीजी करवाएं। इससे इस दर्द के बारे में पता चलेगा। यह कहना है सीरियर इंटरवेंशन कार्डियोलॉजिस्ट डॉ दिलीप रत्नानी का। 

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

गुरुदेव के आशीर्वाद के साथ शुरू हुआ एसआर हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर चिखली

sr hospitalभिलाई। अहिवारा विधानसभा के ग्राम चिखली में गुरूवार को एसआर हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर का शुभारंभ हो गया। अस्पताल के निदेशक संजय तिवारी, डॉ शीतल यादव एवं डॉ दिनेश जैन ने इस अवसर पर अंचल के विधायक, पूर्व मंत्री एवं अपने गुरू श्रद्धेय श्री कृष्णानन्द जी स्वामी का आशीर्वाद लिया। अतिथियों ने कहा कि यह अंचल के लिए एक बड़ी सौगात है तथा आशीर्वाद दिया कि अस्पताल लोगों का विश्वास अर्जित करे और घोषित सेवाओं को निरंतर जारी रख सके।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

शंकराचार्य महाविद्यालय में एड्स जागरूकता कार्यक्रम

भिलाई। श्री शंकराचार्य महाविद्यालय जुनवानी के शिक्षा विभाग द्वारा एड्स जागरूकता दिवस मनाया गया। जिसमें बी.एड. की छात्रा निधि साहू ने एड्स से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी दी साथ ही साथ एड्स से बचाव के बारे में भी जानकारी प्रदान की गयी। शिक्षा संकाय की विभागाध्यक्ष डॉ. नीरा पाण्डेय ने भी एड्स विषय पर अपना व्यक्तव्य दिया।भिलाई। श्री शंकराचार्य महाविद्यालय जुनवानी के शिक्षा विभाग द्वारा एड्स जागरूकता दिवस मनाया गया। जिसमें बी.एड. की छात्रा निधि साहू ने एड्स से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी दी साथ ही साथ एड्स से बचाव के बारे में भी जानकारी प्रदान की गयी। शिक्षा संकाय की विभागाध्यक्ष डॉ. नीरा पाण्डेय ने भी एड्स विषय पर अपना व्यक्तव्य दिया।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

एड्स दिवस पर भिलाई-3 कालेज ने बनाई रंगोली

भिलाई-3। डॉ खूबचंद बघेल शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय भिलाई -3 के राष्ट्रीय सेवा योजना बालिका इकाई द्वारा विश्व एड्स दिवस पर स्वयं सेवकों ने रंगोली द्वारा प्रतीक चिन्ह बनाया। प्राचार्य डॉ व्ही. के. गोयल वरिष्ठ, प्रध्यापक डॉ के.के. अग्रवाल, कार्यक्रम अधिकारी डॉ अल्पना देशपांडे एवं स्वयं सेवकों ने कैंडल जलाकर महाविद्यालय के छात्रों में जागरूकता फैलाई। भिलाई-3। डॉ खूबचंद बघेल शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय भिलाई -3 के राष्ट्रीय सेवा योजना बालिका इकाई द्वारा विश्व एड्स दिवस पर स्वयं सेवकों ने रंगोली द्वारा प्रतीक चिन्ह बनाया। प्राचार्य डॉ व्ही. के. गोयल वरिष्ठ, प्रध्यापक डॉ के.के. अग्रवाल, कार्यक्रम अधिकारी डॉ अल्पना देशपांडे एवं स्वयं सेवकों ने कैंडल जलाकर महाविद्यालय के छात्रों में जागरूकता फैलाई। डॉ के. के. अग्रवाल ने कहा कि एड्स कोई बीमारी नहीं है। बीमारियों का समूह (सिन्ड्रोम) है। इससे व्यक्ति की रोग प्रतिरोधक क्षमता समाप्त हो जाती है जिसके कारण वह अनेक प्रकार के रोगों का शिकार हो जाता है।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

भिलाई दुर्ग को हिट एंड फिट रखने 24 दिसम्बर को योग ऑन स्ट्रीट

अपने से अपनों तक संपूर्ण स्वास्थ्य की परिकल्पना को लेकर भारतीय विज्ञान के समावेश के साथ भिलाई दुर्ग की संपूर्ण जनता   के स्वास्थ्य संवर्धन के लिए पतंजलि योग समिति के तत्वाधान में आगामी 24 दिसम्बर को योग ऑन स्ट्रीट का कार्यक्रम अयोजित किया जा रहा है।भिलाई दुर्ग. अपने से अपनों तक संपूर्ण स्वास्थ्य की परिकल्पना को लेकर भारतीय विज्ञान के समावेश के साथ भिलाई दुर्ग की संपूर्ण जनता के स्वास्थ्य संवर्धन के लिए पतंजलि योग समिति के तत्वाधान में आगामी 24 दिसम्बर को योग ऑन स्ट्रीट का कार्यक्रम अयोजित किया जा रहा है। जिसके तैयारी के लिए पतंजलि , महिला पतंजलि योग समिति , युवा भारत व् भारत स्वाभिमान की बैठक दुर्ग के झाड़ू राम देवांगन शासकीय विद्यालय में बैठक सम्पन्न हुई।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

चेहरे की झुर्रियां और आंखों के काले घेरे हटाती है मूंग दाल

झुर्रियां और आंखों के काले घेरे हटाती है मूंग दाल मूंग की दाल न केवल सहज सुपाच्य है बल्कि यह हमारी सेहत के लिए बेहद उपयोगी भी है। मूंग की दाल में सबसे कम प्रोटीन होता है, इसे यूरिक एसिड से परेशान लोग खा सकते हैं। इसके अलावा यह चेहरे की झुर्रियों को कम करने के साथ ही आंखों के आसपास के काले घेरों को भी हटाकर आपको खूबसूरत बनाता है।मूंग दाल का सेवन कम लोग करते हैं। मूंग की दाल न केवल सहज सुपाच्य है बल्कि यह हमारी सेहत के लिए बेहद उपयोगी भी है। मूंग की दाल में सबसे कम प्रोटीन होता है, इसे यूरिक एसिड से परेशान लोग खा सकते हैं। इसके अलावा यह चेहरे की झुर्रियों को कम करने के साथ ही आंखों के आसपास के काले घेरों को भी हटाकर आपको खूबसूरत बनाता है। लेकिन अगर रोज इसे खाया जाए तो कई फायदे होते हैं।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

दूध और शहद साथ लेने से बरकरार रहती है जवानी

दूध और शहद अलग अलग तो फायदेमंद हैं ही, पर साथ लेने से ये हमारी सेहत पर कुछ खास तरह का असर करता है। इससे स्टेमिना बढ़ता है, त्वचा पर निखार आता है, सर्दी खांसी भागती है और हड्डियां मजबूत बनती हैं। यानी जवानी बरकरार रहती है। दूध व शहद साथ लेना, अनद्रिा दूर करने का सबसे प्राचीन नुस्खा है। दूध व शहद इन्सुलिन के स्राव को नियंत्रित करता है जिससे ब्रेन में ट्रिप्टोफेन का सही मात्रा में स्राव होता है। बेहतर नींद और याददाश्त के लिए भी गर्म दूध में शहद मिलाकर पीना फायदेमंद होता है। दूध और शहद अलग अलग तो फायदेमंद हैं ही, पर साथ लेने से ये हमारी सेहत पर कुछ खास तरह का असर करता है। इससे स्टेमिना बढ़ता है, त्वचा पर निखार आता है, सर्दी खांसी भागती है और हड्डियां मजबूत बनती हैं। यानी जवानी बरकरार रहती है। दूध व शहद साथ लेना, अनद्रिा दूर करने का सबसे प्राचीन नुस्खा है। दूध व शहद इन्सुलिन के स्राव को नियंत्रित करता है जिससे ब्रेन में ट्रिप्टोफेन का सही मात्रा में स्राव होता है। बेहतर नींद और याददाश्त के लिए भी गर्म दूध में शहद मिलाकर पीना फायदेमंद होता है।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

मुंह से सांप का जहर खींचकर सुन्दर ने बचाई 167 लोगों की जिन्दगी

जगदलपुर। बस्तर के चोकावाड़ा के वैद्यराज सुंदर सेना मुंह से सांप का जहर खींचकर पिछले 15 साल में 167 लोगों को नहीं जिंदगी दे चुके हैं। विष पुरुष के रूप में उनकी पूरे बस्तर में पहचान है। वे नि:शुल्क इलाज करते हैं।छत्तीसगढ़ और ओडिशा राज्य की सीमा पर स्थित ग्राम धनपुंजी में वन विभाग द्वारा स्थापित वन औषधालय में सुंदर सेना वर्ष 2002 से वैद्यराज के पद पर कार्यरत हैं। उन्हें 3000 रुपए मानदेय मिलता है। बस्तर के वनौषधियों की उन्हें अच्छी जानकारी है। यह हुनर उन्हें अपने गुरु मानसाय से मिला था। सर्दी-खांसी से लेकर कुष्ठ जैसी बीमारियों का इलाज वे वनौषधियों से करते हैं। जगदलपुर। बस्तर के चोकावाड़ा के वैद्यराज सुंदर सेना मुंह से सांप का जहर खींचकर पिछले 15 साल में 167 लोगों को नहीं जिंदगी दे चुके हैं। विष पुरुष के रूप में उनकी पूरे बस्तर में पहचान है। वे नि:शुल्क इलाज करते हैं।छत्तीसगढ़ और ओडिशा राज्य की सीमा पर स्थित ग्राम धनपुंजी में वन विभाग द्वारा स्थापित वन औषधालय में सुंदर सेना वर्ष 2002 से वैद्यराज के पद पर कार्यरत हैं। उन्हें 3000 रुपए मानदेय मिलता है। बस्तर के वनौषधियों की उन्हें अच्छी जानकारी है। यह हुनर उन्हें अपने गुरु मानसाय से मिला था। सर्दी-खांसी से लेकर कुष्ठ जैसी बीमारियों का इलाज वे वनौषधियों से करते हैं। 

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

72 घंटे तक रहता है क्रोध का असर, हृदय, गुर्दा और पाचन होती है प्रभावित

72 घंटे तक रहता है क्रोध का असर, हृदय, गुर्दा और पाचन होती है प्रभावित क्रोध के दौरान कई बार लोग कुछ ऐसे काम भी कर बैठते हैं, जिनके बारे में हम सामान्य परिस्थितियों में सोच भी नहीं सकते हैं। एक बार क्रोध करने का नकारात्मक असर हमारे मन-मस्तिष्क पर प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष रूप से करीब 72 घंटों तक बना रहता है। इससे हृदय, गुर्दा और पाचन अंगों के साथ-साथ मानसिकता भी प्रभावित होती है। इसलिए जहां तक संभव हो क्रोध न करें।क्रोध के दौरान कई बार लोग कुछ ऐसे काम भी कर बैठते हैं, जिनके बारे में हम सामान्य परिस्थितियों में सोच भी नहीं सकते हैं। एक बार क्रोध का असर हमारे मन-मस्तिष्क पर प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष रूप से करीब 72 घंटों तक बना रहता है। इससे हृदय, गुर्दा और पाचन अंगों के साथ-साथ मानसिकता भी प्रभावित होती है। इसलिए जहां तक संभव हो क्रोध न करें।
WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

हर तीसरे बच्चे का फेफड़ा वायु प्रदूषण से खराब: CSE

नई दिल्ली। दिल्ली में हर तीसरे बच्चे के फेफड़े प्रदूषण से प्रभावित हैं जबकि दिल्ली-एनसीआर सहित देश के अधिकांश हिस्सों में हर साल होने वाली कुल मौतों में 61 फीसदी जीवनशैली और गैर संक्रमित बीमारियों की वजह से होती हैं। 2020 तक हर साल देशभर में कैंसर के 17.3 लाख नए मामले सामने आने का भी अनुमान है। इस सबकी बड़ी वजह है हवा में बढ़ता प्रदूषण, तंबाकू और खानपान में हो रहा बदलाव।नई दिल्ली। दिल्ली में हर तीसरे बच्चे के फेफड़े प्रदूषण से प्रभावित हैं जबकि दिल्ली-एनसीआर सहित देश के अधिकांश हिस्सों में हर साल होने वाली कुल मौतों में 61 फीसदी जीवनशैली और गैर संक्रमित बीमारियों की वजह से होती हैं। 2020 तक हर साल देशभर में कैंसर के 17.3 लाख नए मामले सामने आने का भी अनुमान है। इस सबकी बड़ी वजह है हवा में बढ़ता प्रदूषण, तंबाकू और खानपान में हो रहा बदलाव।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

Life Style : आयुर्वेद में सेक्स का यह है सही समय

रहन सहन के साथ ही हमारी पूरी दिनचर्या भी बदल गई है। इसके चलते शरीर नाना प्रकार के रोगों से घिर गया है। इसे ही हम Life Style Disease कहते हैं। आयुर्वेद के मुताबिक देर रात को सेक्स करना सही नहीं है। आयुर्वेद में सेक्स करने का सही समय सुबह सूर्योदय के बाद लेकिन सुबह 10 बजे से पहले माना गया है । वहीं शाम के वक्त की बात करें तो रात में 10 से 11 के बीच सेक्स का अच्छा समय माना जाता है क्योंकि इस वक्त शरीर में सबसे ज्यादा ऊर्जा होती है। साथ ही आयुर्वेद में खाने के दो घंटे बाद सेक्स की सलाह दी जाती है।रहन सहन के साथ ही हमारी पूरी दिनचर्या भी बदल गई है। इसके चलते शरीर नाना प्रकार के रोगों से घिर गया है। इसे ही हम Life Style Disease कहते हैं। आयुर्वेद के मुताबिक देर रात को सेक्स करना सही नहीं है। आयुर्वेद में सेक्स करने का सही समय सुबह सूर्योदय के बाद लेकिन सुबह 10 बजे से पहले माना गया है । वहीं शाम के वक्त की बात करें तो रात में 10 से 11 के बीच सेक्स का अच्छा समय माना जाता है क्योंकि इस वक्त शरीर में सबसे ज्यादा ऊर्जा होती है। साथ ही आयुर्वेद में खाने के दो घंटे बाद सेक्स की सलाह दी जाती है।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook

सेहत के लिहाज से बेहद फायदेमंद है गाय का दूध

मजबूत बनाने में सहायता करता है। गाय का दूध प्रोटीन का भी बेहतरीन स्रोत होता है। इसके अलावा इसमें विटमिन बी 2 और विटमिन बी 12 भी पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। ये दोनों विटमिन शरीर को ऊर्जान्वित रखने में मदद करते हैं। शरीर में मसल्स और ऊतकों के निर्माण में भी यह बेहद लाभदायक होता है। यह कैंसर, एचआईवी, दिल संबंधी बीमारियां, हाई ब्लडप्रेशर और माइग्रेन जैसी समस्याओं से बचाव करने में भी सक्षम है।सेहत के लिहाज से बेहद फायदेमंद है गाय का दूध। इसमें कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो हड्डियों को मजबूत बनाने में सहायता करता है। गाय का दूध प्रोटीन का भी बेहतरीन स्रोत होता है। इसके अलावा इसमें विटमिन बी 2 और विटमिन बी 12 भी पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। ये दोनों विटमिन शरीर को ऊर्जान्वित रखने में मदद करते हैं। शरीर में मसल्स और ऊतकों के निर्माण में भी यह बेहद लाभदायक होता है।

WhatsAppGoogle GmailTwitterFacebook