भिलाई। ‘न तो श्रीकृष्ण रणछोड़ थे न ही नारद जी चुगलखोर। दोनों की प्रत्येक क्रिया के पीछे गहरी सोच हुआ करती थी। श्रीकृष्ण ने कालयवन More »

भिलाई। सेन्ट्रल एवेन्यू पर धूम मचाने वाली ‘तफरीह’ एक बार फिर प्रारंभ होने जा रही है। महापौर एवं विधायक देवेन्द्र यादव की यह महत्वाकांक्षी योजना More »

भिलाई। इंदु आईटी स्कूल में प्री-प्राइमरी विंग के नर्सरी से केजी-2 तक के नन्हे-मुन्ने बच्चों द्वारा श्रीकृष्ण जन्माष्टमी बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। More »

भिलाई। केपीएस के प्रज्ञोत्सव-2019 में आज शास्त्रीय नृत्यांगनाओं ने पौराणिक कथाओं को बेहद खूबसूरती के साथ मंच पर उतारा। भरतनाट्यम एवं कूचिपुड़ी कलाकारों ने महाभारत, More »

भिलाई। कृष्णा पब्लिक स्कूल कुटेलाभाटा ने 73वां स्वतंत्रता दिवस खुले, स्वच्छंद आकाश में ध्वजारोहण करते हर्षोल्लास के साथ मनाया। इस समारोह में स्कूल की बैण्ड More »

 

Monthly Archives: October 2019

महिला महाविद्यालय की खिलाड़ी अर्चना एवं प्रीति ने ईस्ट जोन में कायम किया दबदबा

भिलाई। भिलाई महिला महाविद्यालय की छात्राओं ने न केवल शैक्षणिक बल्कि खेलकूद के क्षेत्र में भी अपना दबदबा कायम किया है। महाविद्यालय की छात्रा अर्चना शोम एवं प्रीति यादव को ईस्ट जोन खेल प्रतियोगिताओं में प्रथम तथा द्वितीय पुरस्कार प्राप्त होने पर विश्वविद्यालय द्वारा उनका नगद पुरस्कार से सम्मान किया गया। यह पुरस्कार गृह, जेल, लोकनिर्माण, पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री ताम्रध्वज साहू ने उन्हें प्रदान किया।भिलाई। भिलाई महिला महाविद्यालय की छात्राओं ने न केवल शैक्षणिक बल्कि खेलकूद के क्षेत्र में भी अपना दबदबा कायम किया है। महाविद्यालय की छात्रा अर्चना शोम एवं प्रीति यादव को ईस्ट जोन खेल प्रतियोगिताओं में प्रथम तथा द्वितीय पुरस्कार प्राप्त होने पर विश्वविद्यालय द्वारा उनका नगद पुरस्कार से सम्मान किया गया। यह पुरस्कार गृह, जेल, लोकनिर्माण, पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री ताम्रध्वज साहू ने उन्हें प्रदान किया।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

स्वरूपानंद महाविद्यालय में राष्ट्रीय एकता दिवस एवं सतर्कता सप्ताह का आयोजन

भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपांनद सरस्वती महाविद्यालय में राष्ट्रीय एकता दिवस के अवसर पर राष्ट्रीय सेवा योजना एवं शिक्षा विभाग के संयुक्त तात्वावधान में राष्ट्रीय एकता दिवस एवं सतर्कता सप्ताह का आयोजन किया गया। इस अवसर पर विद्यार्थियों व प्राध्यापकों ने देश की एकता व अखण्डता को बनाये रखने की शपथ ली। कार्यक्रम के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुये एन.एस.एस. प्रभारी दीपक सिंह ने कहा राष्ट्रीय एकता दिवस एवं सतर्कता दिवस का आयोजन विद्यार्थियों को राष्ट्रीय एकता एवं अखण्डता की शपथ दिलाने के लिये व सावधानी से दुर्घटनाओं से कैसे बचा जा सकता है के प्रति जागरूक किया जा सके।भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपांनद सरस्वती महाविद्यालय में राष्ट्रीय एकता दिवस के अवसर पर राष्ट्रीय सेवा योजना एवं शिक्षा विभाग के संयुक्त तात्वावधान में राष्ट्रीय एकता दिवस एवं सतर्कता सप्ताह का आयोजन किया गया। इस अवसर पर विद्यार्थियों व प्राध्यापकों ने देश की एकता व अखण्डता को बनाये रखने की शपथ ली। कार्यक्रम के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुये एन.एस.एस. प्रभारी दीपक सिंह ने कहा राष्ट्रीय एकता दिवस एवं सतर्कता दिवस का आयोजन विद्यार्थियों को राष्ट्रीय एकता एवं अखण्डता की शपथ दिलाने के लिये व सावधानी से दुर्घटनाओं से कैसे बचा जा सकता है के प्रति जागरूक किया जा सके।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

एमजे कालेज में राष्ट्रीय एकता दिवस पर एकजुट रहने की शपथ

भिलाई। एमजे कालेज में आज राष्ट्रीय सेवा योजना की इकाई द्वारा राष्ट्रीय एकता दिवस समारोह का आयोजन किया गया। इस अवसर पर विशेष वक्ता दीपक रंजन ने कहा कि सरदार पटेल ने 562 देसी रियासतों को भारतीय गणराज्य में शामिल कर एक नए भारत का निर्माण किया था। हमें फूट डालने और आपसी संबंधों में तनाव पैदा करने के हर कोशिश को नाकाम करना है। तभी भारत एक राष्ट्र के रूप में प्रगति कर सकता है।भिलाई। एमजे कालेज में आज राष्ट्रीय सेवा योजना की इकाई द्वारा राष्ट्रीय एकता दिवस समारोह का आयोजन किया गया। इस अवसर पर विशेष वक्ता दीपक रंजन ने कहा कि सरदार पटेल ने 562 देसी रियासतों को भारतीय गणराज्य में शामिल कर एक नए भारत का निर्माण किया था। हमें फूट डालने और आपसी संबंधों में तनाव पैदा करने के हर कोशिश को नाकाम करना है। तभी भारत एक राष्ट्र के रूप में प्रगति कर सकता है।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

गौरी-गौरा पर्व : विघ्नों का नाश करने मुख्यमंत्री ने बांह पर झेली कोड़े की मार

दुर्ग। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने गौरी-गौरा पूजन के अवसर पर सभी परम्पराओं का पालन किया। ग्राम जंजगिरी में उन्होंने गौरी-गौरा एवं गोवर्धन पूजा के बाद परम्परा के अनुसार बांह पर कोड़े खाए और प्रदेशवासियों की मंगल कामना की। बांह पर यह प्रहार कुश से बने सोंटे से किया जाता है। मान्यता है कि इससे सभी कष्टों और विघ्नों का नाश हो जाता है। वे कुम्हारी के लिट्टी बाबा चौक पर आयोजित पूजा में भी सम्मिलित हुए।दुर्ग। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने गौरी-गौरा पूजन के अवसर पर सभी परम्पराओं का पालन किया। ग्राम जंजगिरी में उन्होंने गौरी-गौरा एवं गोवर्धन पूजा के बाद परम्परा के अनुसार बांह पर कोड़े खाए और प्रदेशवासियों की मंगल कामना की। बांह पर यह प्रहार कुश से बने सोंटे से किया जाता है। मान्यता है कि इससे सभी कष्टों और विघ्नों का नाश हो जाता है। वे कुम्हारी के लिट्टी बाबा चौक पर आयोजित पूजा में भी सम्मिलित हुए।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

पाटणकर शासकीय कन्या महाविद्यालय में ब्रेस्ट कैन्सर अवेरनस कैम्पेन

भिलाई। शास. डॉ. वावा पाटणकर कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय की यूथ रेडक्रॉस इकाई द्वारा ब्रेस्ट कैन्सर अवेरनस कैम्पेन चलाया गया जिसमें रेडक्रॉस प्रभारी डॉ. रेशमा लाकेश ने बताया कि शरीर के किसी अंग में होने वाली कोशिकाओं की अनियंत्रित वृद्धि कैन्सर का प्रमुख कारण होती है। शरीर में आवश्यकतानुसार यह कोशिकायें बट जाती हैं, लेकिन जब यह लगातार वृद्धि करती है तो कैन्सर का रूप ले लेती है। इस प्रकार स्तन कोशिकाओं में होने वाली अनियंत्रित वृद्धि स्तन कैन्सर का प्रमुख कारण है।भिलाई। शास. डॉ. वावा पाटणकर कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय की यूथ रेडक्रॉस इकाई द्वारा ब्रेस्ट कैन्सर अवेरनस कैम्पेन चलाया गया जिसमें रेडक्रॉस प्रभारी डॉ. रेशमा लाकेश ने बताया कि शरीर के किसी अंग में होने वाली कोशिकाओं की अनियंत्रित वृद्धि कैन्सर का प्रमुख कारण होती है। शरीर में आवश्यकतानुसार यह कोशिकायें बट जाती हैं, लेकिन जब यह लगातार वृद्धि करती है तो कैन्सर का रूप ले लेती है। इस प्रकार स्तन कोशिकाओं में होने वाली अनियंत्रित वृद्धि स्तन कैन्सर का प्रमुख कारण है।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

शंकराचार्य महाविद्यालय में ई-बुक्स के उपयोग पर कार्यशाला का आयोजन

भिलाई। श्री शंकराचार्य महाविद्यालय के ग्रंथालय विभाग के द्वारा ई-बुक्स का उपयोग कैसे करें विषय पर 3 दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में महाविद्यालय की निदेशक/प्राचार्या डॉ. रक्षा सिंह, महाविद्यालय के अतिरिक्त निदेशक डॉ. जे. दुर्गा प्रसाद राव, कॉपी किताब डाट कॉम के टेक्नीकल विशेषज्ञ रूक्सिंदर कौर एवं कंचन विशेष रूप से उपस्थित थी। कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती के तैल चित्र पर माल्यार्पण एवं द्वीप प्रज्वलन से हुआ।भिलाई। श्री शंकराचार्य महाविद्यालय के ग्रंथालय विभाग के द्वारा ई-बुक्स का उपयोग कैसे करें विषय पर 3 दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में महाविद्यालय की निदेशक/प्राचार्या डॉ. रक्षा सिंह, महाविद्यालय के अतिरिक्त निदेशक डॉ. जे. दुर्गा प्रसाद राव, कॉपी किताब डाट कॉम के टेक्नीकल विशेषज्ञ रूक्सिंदर कौर एवं कंचन विशेष रूप से उपस्थित थी। कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती के तैल चित्र पर माल्यार्पण एवं द्वीप प्रज्वलन से हुआ।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

उतना भी अच्छा नहीं रोज-रोज का नहाना : हार्वर्ड मेडिकल स्कूल

नई दिल्ली। रोज सुबह नहाना, वह भी गर्म पानी से, आपकी दिनचर्या का हिस्सा मात्र है। यह सिर्फ एक आदत है जिसे बचपन में डाल दिया जाता है। भारतीयों के लिए यह धार्मिक कर्मकाण्ड का हिस्सा है। इसका स्वच्छता या स्वास्थ्य से कोई लेना देना नहीं है। रोज नहाना सेहत के लिए जितना अच्छा है, उससे कहीं बुरा हो सकता है। यह कहना है हार्वर्ड मेडिकल स्कूल के रिसर्च का जिसने वैश्विक स्तर पर एक सर्वे किया और इसके स्वास्थ्य पर पड़ने वाले प्रभाव का आकलन किया।नई दिल्ली। रोज सुबह नहाना, वह भी गर्म पानी से, आपकी दिनचर्या का हिस्सा मात्र है। यह सिर्फ एक आदत है जिसे बचपन में डाल दिया जाता है। भारतीयों के लिए यह धार्मिक कर्मकाण्ड का हिस्सा है। इसका स्वच्छता या स्वास्थ्य से कोई लेना देना नहीं है। रोज नहाना सेहत के लिए जितना अच्छा है, उससे कहीं अधिक बुरा हो सकता है। यह कहना है हार्वर्ड मेडिकल स्कूल के रिसर्च का जिसने वैश्विक स्तर पर एक सर्वे किया और इसके स्वास्थ्य पर पड़ने वाले प्रभाव का आकलन किया।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

पतियों की पिटाई के मामले में तीसरे स्थान पर भारत, इजिप्ट शीर्ष पर

Wife Beats Husbandनई दिल्ली। बीवी को पीटने वाले मर्दों के बारे में तो सभी ने देखा-सुना-पढ़ा होगा पर यहां हम बात कर रहे हैं उन मर्दों की जो स्वयं अपनी बीवियों के हाथों पिटते हैं। अपने पतियों को पीटने के मामले में भारतीय महिलाएं दुनिया में तीसरे स्थान पर हैं। यह पिटाई बेल्ट, जूता-चप्पल, झाड़ू, बेलन, बच्चों की हाकी-बैट से की जाती है। संयुक्त राष्ट्र द्वारा 2016 में किये गये एक सर्वे के मुताबिक इजिप्ट और यूके की तरह भारतीय पति भी अपनी पत्नियों के हाथों पिटते हैं।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

सुन्दरता तो चली जाएगी, रह जाएगा केवल आपका खूबसूरत कार्य : मिसेस इंडिया यूनिवर्स तृषा

भिलाई। मिसेस इंडिया यूनिवर्स-अर्थ तृषा बी. तोमर का मानना है कि दैहिक सुन्दरता की एक उम्र होती है जिसके बाद उसे जाना होता है। पीछे रह जाता है केवल आपका सुन्दर कार्य। इसलिए वे कुछ ऐसा करना चाहेंगी जिससे न केवल उन्हें व्यक्तिगत सुकून मिले बल्कि लोगों को भी इसका लाभ मिले और मिलता रहे। तृषा ने हाल ही में मॉरीशस में यह खिताब जीता। उन्हें आइकोनिक आईज और ब्यूटीफुल वुमन ऑफ़ द ईयर का खिताब भी दिया गया।भिलाई। मिसेस इंडिया यूनिवर्स-अर्थ तृषा बी. तोमर का मानना है कि दैहिक सुन्दरता की एक उम्र होती है जिसके बाद उसे जाना होता है। पीछे रह जाता है केवल आपका सुन्दर कार्य। इसलिए वे कुछ ऐसा करना चाहेंगी जिससे न केवल उन्हें व्यक्तिगत सुकून मिले बल्कि लोगों को भी इसका लाभ मिले और मिलता रहे। तृषा ने हाल ही में मॉरीशस में यह खिताब जीता। उन्हें आइकोनिक आईज और ब्यूटीफुल वुमन ऑफ़ द ईयर का खिताब भी दिया गया।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

साहित्य के माध्यम से जीवन को बेहतर ढंग से समझा जा सकता है – डॉ. शार्वा

दुर्ग। साहित्य परिषद साहित्य के विद्यार्थियों के लिए विमर्श का एक बेहतर मंच है। इसके माध्यम से वे साहित्य मनीषियों की जयंती या पुण्यतिथि पर उनका स्मरण कर सकते हैं। उक्त विचार शास. वि. या. ता. स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय के हिन्दी विभाग के स्नातकोत्तर हिन्दी परिषद के उद्घाटन के अवसर पर मुख्य अतिथि डॉ. कोमल सिंह शार्वा (प्राचार्य शास. भानुप्रताप देव स्नातकोतर महाविद्यालय, कांकेर) ने व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि साहित्य के माध्यम से आज के जीवन को बेहतर ढंग से समझ सकते हैं।  डॉ. शार्वा ने ‘पत्रकारिता आज का समय और पत्रकारिता का स्वरूप’ विषय पर विस्तृत व्याख्यान दिया।दुर्ग। साहित्य परिषद साहित्य के विद्यार्थियों के लिए विमर्श का एक बेहतर मंच है। इसके माध्यम से वे साहित्य मनीषियों की जयंती या पुण्यतिथि पर उनका स्मरण कर सकते हैं। उक्त विचार शास. वि. या. ता. स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय के हिन्दी विभाग के स्नातकोत्तर हिन्दी परिषद के उद्घाटन के अवसर पर मुख्य अतिथि डॉ. कोमल सिंह शार्वा (प्राचार्य शास. भानुप्रताप देव स्नातकोतर महाविद्यालय, कांकेर) ने व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि साहित्य के माध्यम से आज के जीवन को बेहतर ढंग से समझ सकते हैं। 

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare