Daily Archives: October 17, 2019

स्वरूपानंद महाविद्यालय में खाद्य सुरक्षा दिवस पर परिचर्चा का आयोजन

भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपांनद सरस्वती महाविद्यालय हुडको भिलाई में शिक्षा विभाग द्वारा विश्व खाद्य दिवस के अवसर पर खाद्य सुरक्षा सभी का सरोकार विषय पर परिचर्चा एवं अंतराश्ट्रीय गरीबी उन्मूलन दिवस का आयोजन तथा गरीब बस्तियों में वस्त्रों का वितरण किया गया। गरीबी उन्मूलन पर प्रकाश डालते हुये कार्यक्रम प्रभारी डॉ. रचना पाण्डेय ने कहा कि गरीबी किसी भी देश की एक गंभीर बीमारी है।भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपांनद सरस्वती महाविद्यालय हुडको भिलाई में शिक्षा विभाग द्वारा विश्व खाद्य दिवस के अवसर पर खाद्य सुरक्षा सभी का सरोकार विषय पर परिचर्चा एवं अंतराश्ट्रीय गरीबी उन्मूलन दिवस का आयोजन तथा गरीब बस्तियों में वस्त्रों का वितरण किया गया। गरीबी उन्मूलन पर प्रकाश डालते हुये कार्यक्रम प्रभारी डॉ. रचना पाण्डेय ने कहा कि गरीबी किसी भी देश की एक गंभीर बीमारी है।

श्री शंकराचार्य महाविद्यालय में खाद्य दिवस : फूड एंड न्यूट्रिशन पर बनाए पोस्टर

भिलाई। श्री शंकराचार्य महाविद्यालय जुनवानी, भिलाई के सूक्ष्मजीव विज्ञान विभाग द्वारा विश्व खाद्य दिवस पर फूड और न्यूट्रिशन विषय पर पोस्टर प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। संतुलित भोजन मनुष्य को सभी प्रकार की बिमारियों से सुरक्षित रखता है वतर्मान में भावी पीढ़ी इसे दरकिनारा कर केवल फास्ट फूड के रसास्वादन में लिप्त है। जिसके भयानक दुष्परिणाम भी हो रहे है। इन्हें पोस्टर के माध्यम से भोजन एवं पोषण के महत्व के बारे में दर्शाया गया।भिलाई। श्री शंकराचार्य महाविद्यालय जुनवानी, भिलाई के सूक्ष्मजीव विज्ञान विभाग द्वारा विश्व खाद्य दिवस पर फूड और न्यूट्रिशन विषय पर पोस्टर प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। संतुलित भोजन मनुष्य को सभी प्रकार की बिमारियों से सुरक्षित रखता है वतर्मान में भावी पीढ़ी इसे दरकिनारा कर केवल फास्ट फूड के रसास्वादन में लिप्त है। जिसके भयानक दुष्परिणाम भी हो रहे है। इन्हें पोस्टर के माध्यम से भोजन एवं पोषण के महत्व के बारे में दर्शाया गया।

महिला महाविद्यालय के वाणिज्य संकाय में अधिष्ठापन कार्यक्रम का आयोजन

भिलाई। भिलाई एजुकेशन ट्रस्ट द्वारा संचालित भिलाई महिला महाविद्यालय में कॉलेज के बी.कॉम. पार्ट-1 के स्टूडेंट्स के लिये इंडक्शन प्रोग्राम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि तथा कॉलेज के अध्यक्ष शासी निकाय व मैनेजमेंट एक्सपर्ट के. पटेल ने छात्राओं को मैनेजमेंट गेम्स की सहायता से प्रभावी कम्यूनिकशन स्किल्स डेवलप करने की कला सिखाई।भिलाई। भिलाई एजुकेशन ट्रस्ट द्वारा संचालित भिलाई महिला महाविद्यालय में कॉलेज के बी.कॉम. पार्ट-1 के स्टूडेंट्स के लिये इंडक्शन प्रोग्राम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि तथा कॉलेज के अध्यक्ष शासी निकाय व मैनेजमेंट एक्सपर्ट के. पटेल ने छात्राओं को मैनेजमेंट गेम्स की सहायता से प्रभावी कम्यूनिकशन स्किल्स डेवलप करने की कला सिखाई।

संतोष रूंगटा परिसर में रक्षा टीम : सोशल मीडिया पर न पीटें बाहर जाने का ढिंढोरा

भिलाई। अतिरिक्त जिला पुलिस अधीक्षक प्रज्ञा मेश्राम ने आज महाविद्यालयीन छात्राओं को चकाचौंध से बचने एवं सोशल मीडिया का संभल कर उपयोग करने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा के लिए तमाम कानून और तंत्र हैं जिसका भरपूर इस्तेमाल करें। किसी भी प्रकार के यौन दुर्व्यवहार या शोषण की अनदेखी न कर पुलिस से सम्पर्क करें। मेश्राम यहां संतोष रूंगटा ग्रुप कैम्पस में विद्यार्थियों को संबोधित कर रही थीं।भिलाई। अतिरिक्त जिला पुलिस अधीक्षक प्रज्ञा मेश्राम ने आज महाविद्यालयीन छात्राओं को चकाचौंध से बचने एवं सोशल मीडिया का संभल कर उपयोग करने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा के लिए तमाम कानून और तंत्र हैं जिसका भरपूर इस्तेमाल करें। किसी भी प्रकार के यौन दुर्व्यवहार या शोषण की अनदेखी न कर पुलिस से सम्पर्क करें। मेश्राम यहां संतोष रूंगटा ग्रुप कैम्पस में विद्यार्थियों को संबोधित कर रही थीं।

साइंस कालेज में अनौपचारिक संस्कृत शिक्षण केन्द्र का उद्घाटन

दुर्ग। शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय में वाल्मीकि जयंती मनाने के साथ अनौपचारिक संस्कृत शिक्षण का शुभारंभ किया गया। जिसमें छात्र संस्कृत में सम्भाषण करना सीखेगें। महर्षि वाल्मिकि संस्कृत साहित्य के आदि कवि कहे जाते है। जिन्होंने रामायण महाकाव्य की रचना की। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. आर.एन. सिंह, विषिष्ट अतिथि हिन्दी विभागाध्यक्ष डॉ. अभिनेष सुराना एवं डॉ. शंकर निषाद थे।दुर्ग। शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय में वाल्मीकि जयंती मनाने के साथ अनौपचारिक संस्कृत शिक्षण का शुभारंभ किया गया। जिसमें छात्र संस्कृत में सम्भाषण करना सीखेगें। महर्षि वाल्मिकि संस्कृत साहित्य के आदि कवि कहे जाते है। जिन्होंने रामायण महाकाव्य की रचना की। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. आर.एन. सिंह, विषिष्ट अतिथि हिन्दी विभागाध्यक्ष डॉ. अभिनेष सुराना एवं डॉ. शंकर निषाद थे।

स्वरूपानंद महाविद्यालय में विज्ञान परिषद् के गठन पर लो-कैलोरी खाद्य प्रतिस्पर्धा

भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में विज्ञान संकाय की गतिविधियों के सुचारू संचालन के लिये विज्ञान परिषद् का गठन किया गया। वावा पाटणकर शासकीय कन्या महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. सुशील चन्द्र तिवारी कार्यक्रम के मुख्य अतिथि थे। अध्यक्षता प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने की। रसायन शास्त्र विभाग की अध्यक्ष एवं कार्यक्रम प्रभारी डॉ. रजनी मुदलियार ने परिषद् की विगत वर्ष की गतिविधियों का सारांश प्रस्तुत किया।भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में विज्ञान संकाय की गतिविधियों के सुचारू संचालन के लिये विज्ञान परिषद् का गठन किया गया। वावा पाटणकर शासकीय कन्या महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. सुशील चन्द्र तिवारी कार्यक्रम के मुख्य अतिथि थे। अध्यक्षता प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने की। रसायन शास्त्र विभाग की अध्यक्ष एवं कार्यक्रम प्रभारी डॉ. रजनी मुदलियार ने परिषद् की विगत वर्ष की गतिविधियों का सारांश प्रस्तुत किया।

शंकराचार्य महाविद्यालय में मनाई गई डॉ. अब्दुल कलाम की जयंती

भिलाई। श्री शंकराचार्य महाविद्यालय के सूक्ष्मजीव विज्ञान विभाग द्वारा भूतपूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम की जयंती मनाई गई। इस अवसर पर उनके जीवनी व व्यक्तित्व के बारे में एमएससी तृतीय सेमेस्टर की छात्रा जैशमीन रजा ने अपने विचार व्यक्त किए तथा सहायक प्राध्यापक आफरीन खानम ने पावर पाइंट प्रजेन्टेशन व यूटूब विडियो के माध्यम से उनके जीवन के विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डाला।भिलाई। श्री शंकराचार्य महाविद्यालय के सूक्ष्मजीव विज्ञान विभाग द्वारा भूतपूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम की जयंती मनाई गई। इस अवसर पर उनके जीवनी व व्यक्तित्व के बारे में एमएससी तृतीय सेमेस्टर की छात्रा जैशमीन रजा ने अपने विचार व्यक्त किए तथा सहायक प्राध्यापक आफरीन खानम ने पावर पाइंट प्रजेन्टेशन व यूटूब विडियो के माध्यम से उनके जीवन के विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डाला।

कृतज्ञ होना सीख लिया तो आ जाएगी जिन्दगी जीने की कला : डॉ दीक्षित

मां शारदा सामर्थ्य चैरिटेबल ट्रस्ट के सम्मान समारोह में ‘जीना इसी का नाम है’ व्याख्यान

 भिलाई। मां शारदा सामर्थ्य चैरिटेबल ट्रस्ट में नए सदस्यों के अधिष्ठापन, कृति व्यक्तियों का सम्मान एवं ‘जीना इसी का नाम है’ व्याख्यान का आयोजन किया गया। आमंत्रित वक्ता डॉ आलोक दीक्षित ने इस अवसर पर कहा कि जिसने कृतज्ञ होना सीख लिया, उसे जीवन जीने की कला भी आ जाएगी। माता पिता, धरती, प्रकृति, अपना शरीर, समाज, गुरूजन या जिसके भी सम्पर्क में आने का सौभाग्य हम प्राप्त करते हैं, उनके प्रति हमें कृतज्ञ होना चाहिए।भिलाई। मां शारदा सामर्थ्य चैरिटेबल ट्रस्ट में नए सदस्यों के अधिष्ठापन, कृति व्यक्तियों का सम्मान एवं ‘जीना इसी का नाम है’ व्याख्यान का आयोजन किया गया। आमंत्रित वक्ता डॉ आलोक दीक्षित ने इस अवसर पर कहा कि जिसने कृतज्ञ होना सीख लिया, उसे जीवन जीने की कला भी आ जाएगी। माता पिता, धरती, प्रकृति, अपना शरीर, समाज, गुरूजन या जिसके भी सम्पर्क में आने का सौभाग्य हम प्राप्त करते हैं, उनके प्रति हमें कृतज्ञ होना चाहिए।