भिलाई। ‘न तो श्रीकृष्ण रणछोड़ थे न ही नारद जी चुगलखोर। दोनों की प्रत्येक क्रिया के पीछे गहरी सोच हुआ करती थी। श्रीकृष्ण ने कालयवन More »

भिलाई। सेन्ट्रल एवेन्यू पर धूम मचाने वाली ‘तफरीह’ एक बार फिर प्रारंभ होने जा रही है। महापौर एवं विधायक देवेन्द्र यादव की यह महत्वाकांक्षी योजना More »

भिलाई। इंदु आईटी स्कूल में प्री-प्राइमरी विंग के नर्सरी से केजी-2 तक के नन्हे-मुन्ने बच्चों द्वारा श्रीकृष्ण जन्माष्टमी बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। More »

भिलाई। केपीएस के प्रज्ञोत्सव-2019 में आज शास्त्रीय नृत्यांगनाओं ने पौराणिक कथाओं को बेहद खूबसूरती के साथ मंच पर उतारा। भरतनाट्यम एवं कूचिपुड़ी कलाकारों ने महाभारत, More »

भिलाई। कृष्णा पब्लिक स्कूल कुटेलाभाटा ने 73वां स्वतंत्रता दिवस खुले, स्वच्छंद आकाश में ध्वजारोहण करते हर्षोल्लास के साथ मनाया। इस समारोह में स्कूल की बैण्ड More »

 

Daily Archives: October 20, 2019

मरीज को संक्रमण से बचाने पल्स व आइएमए के तत्वावधान में कार्यशाला का आयोजन

भिलाई। अस्पताल में मरीजों को संक्रमण से बचाने के विभिन्न उपायों एवं तकनीकों पर पल्स हॉस्पिटल भिलाई, आइएमए दुर्ग एवं एकेडमी आॅफ पीडियाट्रिक्स के संयुक्त तत्वावधान में एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। संक्रमण के कारण न केवल मरीज को ज्यादा समय तक अस्पताल में रुकना पड़ता है बल्कि उसके इलाज का खर्च भी बढ़ जाता है। संक्रमण से मरीज की जान भी जा सकती है। कार्यशाला में संक्रमण को रोकने के विभिन्न उपायों की चर्चा की गई।भिलाई। अस्पताल में मरीजों को संक्रमण से बचाने के विभिन्न उपायों एवं तकनीकों पर पल्स हॉस्पिटल भिलाई, आइएमए दुर्ग एवं एकेडमी ऑफ़ पीडियाट्रिक्स के संयुक्त तत्वावधान में एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। संक्रमण के कारण न केवल मरीज को ज्यादा समय तक अस्पताल में रुकना पड़ता है बल्कि उसके इलाज का खर्च भी बढ़ जाता है। संक्रमण से मरीज की जान भी जा सकती है। कार्यशाला में संक्रमण को रोकने के विभिन्न उपायों की चर्चा की गई।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

संतोष रूंगटा कैम्पस में हेग्जावायर ने किया कैम्पस ड्राइव, 172 को मिला मौका

भिलाई। संतोष रूंगटा ग्रुप द्वारा संचालित रूंगटा कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी के कोहका स्थित कैम्पस में चेन्नई की हेग्जावायर आईटीएन कंसल्टेंसी कंपनी ने कैंपस ड्राइव चलाया। 172 स्टूडेन्ट्स ने इस अवसर का लाभ उठाया। कंपनी ने तीन लाख रुपए व अन्य सुविधाओं के साथ जॉब ऑफ़र किया। अभ्यर्थियों का चयन चार स्तरों पर किया गया। हेग्जा वेयर आईटीएन कंसल्टेंसी सविर्सेस ने कैंपस प्लेसमेंट के जरिए दर्जनभर युवाओं का चयन किया है। भिलाई। संतोष रूंगटा ग्रुप द्वारा संचालित रूंगटा कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी के कोहका स्थित कैम्पस में चेन्नई की हेग्जावायर आईटीएन कंसल्टेंसी कंपनी ने कैंपस ड्राइव चलाया। 172 स्टूडेन्ट्स ने इस अवसर का लाभ उठाया। कंपनी ने तीन लाख रुपए व अन्य सुविधाओं के साथ जॉब ऑफ़र किया। अभ्यर्थियों का चयन चार स्तरों पर किया गया। हेग्जा वेयर आईटीएन कंसल्टेंसी सविर्सेस ने कैंपस प्लेसमेंट के जरिए दर्जनभर युवाओं का चयन किया है। 

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

साइंस कालेज में बीएससी एवं एमएससी कैरियर मार्गदर्शन कार्यक्रम

दुर्ग। शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय में विज्ञान संकाय के छात्रों के लिए जिसमें बीएससी एवं एमएससी कैरियर मार्गदर्शन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें संस्था प्रमुख डॉ. आरएन सिंह, डॉ. एमए सिद्दीकी मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे। विशेष वक्ता के रूप में असित पाल सर उपस्थित थे। उन्होंने विद्यार्थियों को विभिन्न प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी के टिप्स दिए।दुर्ग। शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय में विज्ञान संकाय के छात्रों के लिए जिसमें बीएससी एवं एमएससी कैरियर मार्गदर्शन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें संस्था प्रमुख डॉ. आरएन सिंह, डॉ. एमए सिद्दीकी मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे। विशेष वक्ता के रूप में असित पाल सर उपस्थित थे। उन्होंने विद्यार्थियों को विभिन्न प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी के टिप्स दिए।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

स्वरूपानन्द महाविद्यालय में मशरूम उत्पादन पर कार्यशाला का आयोजन

भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपांनद सरस्वती महाविद्यालय में बायोटेक्नोलॉजी एवं वनस्पति शास्त्र विभाग के संयुक्त तत्वावधान में 21 दिवसीय मशरूम प्रशिक्षण कार्यशाला का उद्घाटन डॉ. एम.पी. ठाकुर डायरेक्टर एक्सटेंशन सर्विस आईजीकेवी, रायपुर के मुख्य आतिथ्य में संपन्न हुआ। विशेष अतिथि के रुप में दिनेश सिंह निदेशक जनसेवक समिति (समाज सेवा संस्थान) उपस्थित हुये। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने की।भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपांनद सरस्वती महाविद्यालय में बायोटेक्नोलॉजी एवं वनस्पति शास्त्र विभाग के संयुक्त तत्वावधान में 21 दिवसीय मशरूम प्रशिक्षण कार्यशाला का उद्घाटन डॉ. एम.पी. ठाकुर डायरेक्टर एक्सटेंशन सर्विस आईजीकेवी, रायपुर के मुख्य आतिथ्य में संपन्न हुआ। विशेष अतिथि के रुप में दिनेश सिंह निदेशक जनसेवक समिति (समाज सेवा संस्थान) उपस्थित हुये। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने की।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

कामकाजी महिला अंजली के काव्य संग्रह ‘पढ़ो लिखों दिल से’ का विमोचन

भिलाई। नेहरू नगर निवासी श्रीमती अंजली जैन ने व्यस्तता के बीच अपने जज्बातों को कागज पर उकेरा जो एक कविता संग्रह के रूप में सबके सामने आ गई। शनिवार रात को दुर्ग के होटल रोमन पार्क में उनके काव्य संग्रह 'पढ़ो लिखों दिल से' का विमोचन हुआ पत्रकारों, साहित्यकारों एवं परिजनों के बीच हुआ। कार्यक्रम के दौरान अंजली की कविताओं की इस्पात नगरी के कलाकारों ने सुरमयी प्रस्तुतियां दीं। कविताओं को गीतों का रूप देकर कलाकारों ने उपस्थित अतिथियों की वाहवाही लूटी। भिलाई। नेहरू नगर निवासी श्रीमती अंजली जैन ने व्यस्तता के बीच अपने जज्बातों को कागज पर उकेरा जो एक कविता संग्रह के रूप में सबके सामने आ गई। शनिवार रात को दुर्ग के होटल रोमन पार्क में उनके काव्य संग्रह ‘पढ़ो लिखों दिल से’ का विमोचन हुआ पत्रकारों, साहित्यकारों एवं परिजनों के बीच हुआ। कार्यक्रम के दौरान अंजली की कविताओं की इस्पात नगरी के कलाकारों ने सुरमयी प्रस्तुतियां दीं। कविताओं को गीतों का रूप देकर कलाकारों ने उपस्थित अतिथियों की वाहवाही लूटी। 

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

‘लिबास’ : अनुपयोगी वस्त्रों का करें दान, झोली में आएंगी ढेर सारी खुशियां

भिलाई। जिस गति से हमारे परिधान पुराने होते हैं, उससे भी कहीं अधिक तेजी से हम नए परिधान खरीदते हैं। परिणाम, आलमारियों में, दीवानों-पेटियों में बंद कपड़े - जिन्हें हम अकसर भूल जाते हैं। यदि इन कपड़ों को हम जरूरतमंदों के लिए दान कर दें, तो बदले में हमारी झोली खुशियों से भर सकती है। कुछ ऐसा ही कर रहे हैं ‘लिबास’ के युवा। वे बेकार पड़े परिधानों को एकत्र करते हैं और फिर इच्छुक लोगों को भेंट करते हैं। आगामी शनिवार को इन युवाओं की दीपावली की मिठाई बांटने की भी योजना है।भिलाई। जिस गति से हमारे परिधान पुराने होते हैं, उससे भी कहीं अधिक तेजी से हम नए परिधान खरीदते हैं। परिणाम, आलमारियों में, दीवानों-पेटियों में बंद कपड़े – जिन्हें हम अकसर भूल जाते हैं। यदि इन कपड़ों को हम जरूरतमंदों के लिए दान कर दें, तो बदले में हमारी झोली खुशियों से भर सकती है। कुछ ऐसा ही कर रहे हैं ‘लिबास’ के युवा। वे बेकार पड़े परिधानों को एकत्र करते हैं और फिर इच्छुक लोगों को भेंट करते हैं। आगामी शनिवार को इन युवाओं की दीपावली की मिठाई बांटने की भी योजना है। इसमें भी जन सहयोग अपेक्षित है।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

अविश एडुकॉम के स्टूडेन्ट्स ने डीएसएलआर और मोबाइल से की स्ट्रीट फोटोग्राफी

भिलाई। अविश एडुकॉम के उभरते फोटोग्राफर्स ने फोटोग्राफी को एक नए अंदाज में समझने के लिए स्ट्रीट फोटोग्राफी का अनुभव लिया। प्रसिद्ध छायाचित्रकार अखिलेश भरोस द्वारा आयोजित इस फोटोग्राफी प्रतियोगिता को अविश एडुकॉम ने ही प्रायोजित किया था। स्टूडेंट्स ने डीएसएलआर और मोबाइल कैमरे फोटोग्राफी की तथा सड़क पर जीवन को कैद करने की सफल कोशिश की। स्टूडेन्ट्स के लिए यह पहला मौका था जब वे प्रतिदिन देखे जाने वाले दृश्यों को एक नए नजरिये से देख रहे थे।भिलाई। अविश एडुकॉम के उभरते फोटोग्राफर्स ने फोटोग्राफी को एक नए अंदाज में समझने के लिए स्ट्रीट फोटोग्राफी का अनुभव लिया। प्रसिद्ध छायाचित्रकार अखिलेश भरोस द्वारा आयोजित इस फोटोग्राफी प्रतियोगिता को अविश एडुकॉम ने ही प्रायोजित किया था। स्टूडेंट्स ने डीएसएलआर और मोबाइल कैमरे फोटोग्राफी की तथा सड़क पर जीवन को कैद करने की सफल कोशिश की। स्टूडेन्ट्स के लिए यह पहला मौका था जब वे प्रतिदिन देखे जाने वाले दृश्यों को एक नए नजरिये से देख रहे थे।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

नंदिनी के चित्रों में छत्तीसगढ़ी लोक जीवन की झलक, रायपुर के गौरव गार्डन में प्रदर्शनी आज

दुर्ग। शहर की अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त चित्रकार नंदिनी वर्मा की पेंटिंग्स आज रायपुर के गौरव गार्डन में ‘द लोकल’ कार्यक्रम के तहत प्रदर्शित की गई हैं। उनकी तूलिका छत्तीसगढ़ के ग्रामीण जन जीवन को एक अलग नजरिये से देखती हैं। फ्लो ऑफ़ लाइफ (जीवन-धारा) की उनकी यह अभिव्यक्ति अपने परिवेश से उनके जुड़ाव को रेखांकित करती हैं। इससे पहले उनकी कृतियां देश विदेश की अनेक आर्ट गैलरियों में प्रदर्शित हो चुकी हैं।दुर्ग। शहर की अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त चित्रकार नंदिनी वर्मा की पेंटिंग्स आज रायपुर के गौरव गार्डन में ‘द लोकल’ कार्यक्रम के तहत प्रदर्शित की गई हैं। उनकी तूलिका छत्तीसगढ़ के ग्रामीण जन जीवन को एक अलग नजरिये से देखती हैं। फ्लो ऑफ़ लाइफ (जीवन-धारा) की उनकी यह अभिव्यक्ति अपने परिवेश से उनके जुड़ाव को रेखांकित करती हैं। इससे पहले उनकी कृतियां देश विदेश की अनेक आर्ट गैलरियों में प्रदर्शित हो चुकी हैं।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare